यूपी श्रमिक मजदूर कार्ड पंजीकरण: UP Shramik Majdur Card Online renewal uplmis

यूपी श्रमिक मजदूर कार्ड पंजीकरण: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वार राज्य के सभी श्रमिक वर्ग के नागरिकों को सरकार द्वारा जारी योजनाओं के लाभ प्रदान करने के लिए ऑनलाइन श्रमिक पंजीकरण की सुविधा प्रदान की गए है, जिसके माध्यम से उत्तर प्रदेश के पंजीकृत मजदूरों को श्रमिक मजदूर कार्ड जारी करवाए जाएँगे। इसके लिए श्रमिकों को श्रम विभाग उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट पर अपना ऑनलाइन पंजीकरण करवाना अनिवार्य होगा, जिसके बाद ही उन्हें श्रमिक मजदूर कार्ड द्वारा बहुत सी सरकारी योजनाओं में रोजगार के अवसर प्राप्त हो सकेंगे। यूपी श्रमिक मजदूर कार्ड पंजीकरण से सम्बंधित सभी जानकारी जैसे श्रमिक पंजीकरण क्या है ? इसके लाभ, विशेषताएँ, पंजीकरण प्रक्रिया आदि हम आपको अपने लेख के माध्यम से प्रदान करने जा रहें हैं, राज्य के जो भी UP Shramik
Majdur Card Online माध्यम से श्रमिक कार्ड बनवाने के लिए पंजीकरण करना चाहते हैं, वह इस लेख को पूरा अवश्य पढ़ें।

यूपी श्रमिक मजदूर कार्ड पंजीकरण: UP Shramik Majdur Card Online renewal uplmis

Table of Contents

UP Shramik Card Panjikaran

दोस्तों जैसा की आप सब जानते हैं, की यूपी सरकार द्वारा राज्य के श्रमिक वर्ग के नागरिकों को रोजगार के बहुत से अवसर प्रदान करने के लिए (NREGA, उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना) जैसी योजनाओं के माध्यम से लाभ प्रदान किया जाता है, जिससे राज्य के उन सभी मजदूरों को रोजगार प्राप्त हो सकेगा जो लॉकडाउन के चलते बेरोजगार हो गए थे, इसे देखते हुए सरकार द्वारा चलाई जा रही इन योजनाओं का लाभ श्रमिकों को प्रदान करने के लिए यूपी सरकार ने राज्य के मजदूर नागरिकों को श्रमिक पंजीकरण की ऑनलाइन सुविधा श्रम विभाग की वेबसाइट www.uplabour.gov.in पर प्रदान की है। इस सुविधा का लाभ कोई भी निर्माण क्षेत्र मे काम कर रहें हैं या दिहाड़ी मजदूरी कर रहें, प्लम्बर, इलेक्ट्रिक, निर्माण स्थल पर चौकीदारी करने वाले श्रमिक खुद को पोर्टल पर पंजीकृत कर सरकारी योजना का लाभ आसानी से प्राप्त कर सकेंगे।

राज्य के पंजीकृत आवेदकों को श्रमिक मजदूर कार्ड प्रदान किये जाएँगे, जिसके माध्यम से वह अपने राज्य में जिस भी कार्य क्षेत्र में वर्ष के 90 दिन कार्य कर चुके हैं, उस कार्य के अन्तर्गत वह अपने श्रमिक कार्ड द्वारा रोजगार प्राप्त कर सकेंगे। उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण प्रक्रिया अभी जारी हैं राज्य के जो भी आवेदक श्रमिक, सरकारी योजनाओं में रोजगार प्राप्त करना चाहते हैं। तो वह श्रमिक मजदूर कार्ड प्राप्त करने के लिए पोर्टल पर अपना पंजीकरण करवा सकते हैं।

उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड

आर्टिकल उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण
सम्बंधित विभाग श्रमिक विभाग
साल 2022
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
लाभ श्रमिक मजदूर कार्ड
लाभार्थी राज्य के श्रमिक
उद्देश्य पंजीकृत आवेदकों को श्रमिक कार्ड
द्वारा रोजगार प्रदान करना
आधिकारिक वेबसाइट www.uplabour.gov.in

UP Bijli Bill Mafi Yojana: बिजली बिल माफ़ करेगी योगी सरकार, जानें क्या करना होगा

यूपी श्रमिक पंजीकरण का मुख्य उद्देश्य

सरकार द्वारा श्रमिक पंजीकरण की सुविधा प्रदान करने का मुख्य उद्देश्य पोर्टल के माध्यम से श्रमिकों को ऑनलाइन श्रमिक मजदूर कार्ड जारी करवाना है, जिससे राज्य के सभी बेरोजगार श्रमिकों और प्रवासी मजदूरों को रोजगार मिल सकेगा और वह ऑनलाइन माध्यम से घर बैठे ही अपना पंजीकरण करवा सकेंगे। योजना का लाभ प्राप्त कर राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर श्रमिक परिवारों की स्थिति में भी सुधार लाया जा सकेगा, जिससे श्रमिकों को अपने परिवार के भरण-पोषण हेतु एक जगह से दूसरी जगह काम की तलाश में नहीं भटकना पडेगा। इसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार राज्य के पंजीकृत मजदूरों को Shramik Majdur Card द्वारा योजना के अंतर्गत रोजगार प्रदान करती है, जिससे राज्य में बेरोजगारी की समस्याओं को खत्म किया जा सकेगा।

श्रमिक पंजीकरण करने के बाद सभी पंजीकृत कामगार नागरिकों को सरकार की तरफ से विभिन्न श्रमिक श्रेणी योजनाओं का लाभ प्रदान किया जायेगा। श्रम विभाग में पंजीकृत हो जाने बाद श्रमिक श्रेणी के अंतर्गत आने वाले परिवार कई योजना से मिले वाली सुविधाओं का लाभ प्राप्त कर सकते है।

उत्तर प्रदेश श्रमिक मजदूर कार्ड पंजीकरण से जुड़े लाभ

यूपी श्रमिक कार्ड बनवाने हेतु पंजीकरण करने वाले श्रमिक को मिलने वाले लाभ की जानकारी आवेदक यहाँ से प्राप्त कर सकते हैं।

  • उत्तर प्रदेश के श्रमिक वर्ग के नागरिक अब श्रम विभाग की वेबसाइट पर ऑनलाइन माध्यम से श्रमिक मजदूर कार्ड बनवाने हेतु आवेदन कर सकेंगे।
  • पंजीकृत श्रमिक नागरिकों को अपने यूपी श्रमिक कार्ड द्वारा सरकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सकेंगे।
  • आवेदक मजदूरों और उनके परिवारों को चिकित्सा और बच्चों की पढ़ाई के लिए आर्थिक सहायता भी प्रदान की जाती है।
  • श्रमिक कार्डधारकों के परिवार में बच्चे के जन्म होने पर मातृत्व योजना के तहत बेटे के जन्म पर परिवार को 10000 और बेटी के जन्म पर 12000 रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है।
  • राज्य के श्रमिकों को भवन की मरम्मत के लिए 15000 रूपये और आवास निर्माण के लिए 1 लाख रूपये तक की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • पंजीकृत कार्डधारक श्रमिक परिवार की दो बेटियों को शादी के लिए कन्या विवाह योजना के अंतर्गत 55000 रूपये की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाती है।
  • श्रमिक परिवारों को एलईडी बल्ब सब्सिडी दरों पर प्रदान किए जाते हैं।
  • आवेदक श्रमिक के बच्चों को शिक्षा पूरी करने के लिए भी कक्षा स्तर अनुसार आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है जैसे :-
    • कक्षा 5 से 7 तक के छात्रों के लिए – 4000 रूपये
    • कक्षा 8 से 10 तक के छात्रों के लिए – 5000 रूपये
    • कक्षा 9 से 12 तक के छात्रों के लिए – 8000 रूपये की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाती है।
  • श्रमिक परिवार को राशन की सुविधा भी प्रदान की जाती है। यह सुविधा पंजीकृत परिवारों को ही दी जाती है, जिसमे उन्हें दो रूपये किलो राशन जैसे (गेहूँ, चावल) प्रदान किये जाते है।

पंजीकृत कार्डधारक श्रमिक को मिलेगा इन योजनाओ का लाभ

श्रमिक पंजीकरण के अंतर्गत कार्डधारक को बहुत सी योजनाओं में रोजगार के अवसर प्राप्त होते हैं, जिनकी सूची नीचे टेबल में दी गई है।

1. निर्माण श्रमिक भोजन सहायता योजना10. मातृत्व हितलाभ योजना
2. चिकित्सा सुविधा योजना 11. कन्या विवाह योजना
3. निर्माण कामगार अन्ते यष्टि योजना12. अक्षमता पेंशन योजना
4. कौशल विकास तकनीकी योजना13. सोर ऊर्जा सहायता योजना
5. आवास सहायता योजना14. निर्माण कामगार बालिका मदद योजना
6. शिशु हितलाभ योजना 15. पेंशन सहायता योजना
7. संत रविदास शिक्षा सहायता योजना16.आवासीय विद्यालय योजना
8. निर्माण कामगार मृत्यु सहायता योजना17. गंभीर बीमारी सहायता योजना
9. विकलांगता सहायता योजना18. मेधावी छात्र पुरुस्कार योजना

श्रमिक पंजीकरण के अंतर्गत इन श्रमिकों को मिलेगा रोजगार

श्रमिक पंजीकरण के अंतर्गत निर्धारित कार्य करने वाले श्रमिक अपना पंजीकरण कर सकेंगे।

निर्माण स्थल पर चौकीदारी करने वाले श्रमिक, सड़क निर्माण का कार्य करने वाले, भवन निर्माण का कार्य करने वाले, चूना बनाने वाले मजदूर, चट्टान तोड़ने वाले, छप्पर छाने वाले श्रमिक, पत्थर तोड़ने वाले, लोहार का काम करने वाले, इट भट्टों पर इट का निर्माण करने वाले, बांध प्रबंधक का कार्य करने वाले श्रमिक, राजमिस्त्री का काम करने वाले, मोची का कार्य करने वाले, मजदूर जो पुताई का काम करते हैं, सीमेंट/पत्थर ढोने का काम करने वाले, हथोड़ा चलाने वाले, कुँआ खोदने का कार्य करने वाले, सुरंग निर्माण करने वाले, प्लम्बर, खिड़की/ दरवाज़ों पर डिजाइन बनाने वाले श्रमिक, इमारतों का कार्य करने वाले श्रमिक।

श्रमिक कार्ड पंजीकरण हेतु आवश्यक दस्तावेज

उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण हेतु आवेदक के पास सभी महत्त्वपूर्ण दस्तावेज होने आवश्यक है, जिसकी जानकारी आप यहाँ से प्राप्त कर सकते हैं।

1. आवेदक का आधारकार्ड6. परिवार रजिस्टर की नकल
2. आवासीय प्रमाण पत्र7. परिवार के सदस्यों के आधारकार्ड की फोटोकॉपी
3. राशन कार्ड8. मोबाइल नंबर
4. जाति प्रमाण पत्र (Caste Certificate)9. पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
5. आय प्रमाण पत्र (Income Certificate)10. बैंक की पासबुक

यूपी श्रमिक पंजीकरण हेतु निर्धारित पात्रता

यूपी श्रमिक पंजीकरण की पात्रता को पूरा करने वाले श्रमिकों को ही श्रमिक मजदूर कार्ड जारी किये जाएँगे, इसके लिए जो श्रमिक अपना श्रमिक मजदूर कार्ड बनवाने हेतु आवेदन करना चाहते है, वह इसकी पात्रता की जानकारी पढ़कर ही आवेदन करें।

  • आवेदक श्रमिक उत्तर प्रदेश के ही नागरिक होने चाहिए।
  • श्रमिक पंजीकरण करने वाले परिवार के मुखिया का ही श्रम कार्ड बनाया जाता है।
  • यूपी श्रमिक पंजीकरण करने के लिए आवेदक की आयु 18 से 60 वर्ष के बीच होनी चाहिए, तभी उन्हें श्रम कार्ड जारी किये जाएँगे।
  • श्रमिक पंजीकरण हेतु आवेदक श्रमिक के पास सभी महत्त्वपूर्ण दस्तावेज होने आवश्यक है।
  • राज्य के जिन श्रमिकों ने वर्ष के 90 दिन मजदूरी का कार्य किया हो केवल उन्हें ही श्रमिक कार्ड प्रदान किये जाएँगे।
  • आवेदक श्रमिक का बैंक में खाता होना अनिवार्य है।
  • श्रमिक कार्ड के आधार पर ही नागरिकों कई सुविधाओं का लाभ प्राप्त करने में सहायक होंगे।

यूपी श्रमिक कार्ड रजिस्ट्रेशन कैसे करे ?

राज्य के वह श्रमिक जो श्रमिक कार्ड प्राप्त करने के लिए पंजीकरण करना चाहते हैं, वह दी गई प्रक्रिया को पढ़कर आवेदन कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आवेदक श्रमिक विभाग की आधिकारिक वेबसाइट www.uplabour.gov.in पर जाएँ।
  • अब आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ होम पेज पर आपको ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन एंड रिन्यूवल का विकल्प दिखाई देगा, आपको इसपर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने नए पेज पर लेबर एक्ट मैनेजमेंट सिस्टम की वेबसाइट आ जाएगी, जिसमे दिए गए दिशा-निर्देशों को आपको ध्यानपूर्वक पढ़ना होगा।
  • अब आपको लॉगिन आईडी दर्ज करके लॉगिन करना होगा।
  • अब अगले पेज में आपको न्यू रजिस्ट्रेशन के विकल्प का चयन करना होगा। श्रमिक-ऑनलाइन-पंजीकरण
  • इसके बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी आपको ध्यानपूर्वक भरनी होगी।
  • सारी जानकारी भरने के बाद फॉर्म में माँगे गए सभी दस्तावेजों को अपलोड करके आपको इसे सबमिट कर देना होगा।
  • जिसके बाद आपकी आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

रजिस्ट्रेशन नंबर वैरिफाई करनी की प्रक्रिया

रजिस्ट्रेशन नंबर वैरिफाई करने के लिए आवेदक दी गई प्रक्रिया को पढ़कर नंबर वैरिफाई कर सकते हैं।

  • आवेदक सबसे पहले श्रमिक विभाग की आधिकारिक वेबसाइट www.uplabour.gov.in पर जाएँ।
  • अब आपकी स्क्रीन पर होम पेज आ जाएगा।
  • यहाँ आपको Whats New के विकल्प पर वेरीफाई रजिस्ट्रेशन नंबर के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको क्लिक हेयर टू वेरीफाई रजिस्ट्रेशन नंबर के विकल्प पर क्लिक करना होगा। वेरीफाई-रजिस्ट्रेशन-नंबर
  • क्लिक करने के बाद अगले पेज पर आपको एक्ट का चयन करके, रजिस्ट्रेशन नंबर दर्ज कर देना होगा। पंजीकरण-संख्या-वेरीफाई
  • अब आपको इसे सबमिट कर देना होगा।
  • इसके बाद आप रजिस्ट्रेशन नंबर वैरिफाई कर सकेंगे।
आवेदन स्थिति जानने की प्रक्रिया

श्रमिक कार्ड हेतु आवेदन करने वाले श्रमिक अपने आवेदन स्थिति की जाँच दी गई प्रक्रिया को पढ़कर कर सकते हैं ,

  • सबसे पहले आवेदक श्रमिक विभाग की आधिकारिक वेबसाइट www.uplabour.gov.in पर जाएँ।
  • अब आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ होम पेज पर आपको बिल्डिंग एंड अदर कंस्ट्रक्शन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको स्कीम्स के विकल्प पर स्कीम एप्लीकेशन स्टेटस के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • जिसके बाद आपके सामने नया पेज खुलकर आ जाएगा, यहाँ आपको योजना आवेदन संख्या और पंजीयन संख्या दर्ज करनी होगी।
  • अब आपको सबमिट के बटन पर क्लिक कर देना होगा, जिसके बाद आपकी आवेदन स्थिति खुलकर आ जाएगी।
यूपी श्रमिक कार्ड रजिस्ट्रेशन आवेदन-स्थिति-जाँच

यूपी श्रमिक कार्ड रजिस्ट्रेशन शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया

श्रमिक पंजीकरण से सम्बंधित कोई भी समस्या होने पर आवेदक इसकी शिकायत दी गई प्रक्रिया को पढ़कर दर्ज कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आवेदक इसकी आधिकारिक वेबसाइट uplabour.gov.in पर जाएँ।
  • यहाँ होम पेज पर आपको ग्रीवेंस का विकल्प दिखाई देगा।
  • इसके बाद आपके सामने नया पेज खुलकर आ जाएगा, यहाँ आपको ऐड न्यू ग्रीवेंस के विकल्प पर क्लिक करना होगा। शिकायत-दर्ज-प्रक्रिया
  • अब अगले पेज पर आपके सामने ग्रीवेंस फॉर्म खुलकर आ जाएगा, जिसमे पूछी गई सभी जानकारी जैसे ग्रीवेंस, ग्रीवेंस का प्रकार, नाम, लिंग, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर, जिला, पता, दस्तावेज और दिए गए कैप्चा कोड दर्ज कर देना होगा। शिकायत-पंजीकरण-फॉर्म
  • इसके बाद आपको इसे सबमिट कर देना होगा।
  • जिसके बाद आपकी शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

ग्रीवेंस की स्थिति जाँच करने की प्रक्रिया

आवेदक शिकायत दर्ज करने के बाद अपनी शिकायत की स्थिति की जाँच दी गई प्रक्रिया को पढ़कर फॉलो कर सकते हैं।

  • आवेदक सबसे पहले इसकी आधिकारिक वेबसाइट uplabour.gov.in पर विजिट करें।
  • यहाँ होम पेज पर आपको ग्रीवेंस के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब नए पेज में आपको ग्रीवेंस संख्या दर्ज करनी होगी। शिकायत-स्थिति-जाँच-प्रक्रिया
  • ग्रीवेंस संख्या दर्ज करके आपको Go के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपकी ग्रीवेंस स्थिति खुलकर आ जाएगी।

श्रमिक पंजीकरण ऑफलाइन आवेदन प्रक्रिया

राज्य के वह श्रमिक जो श्रमिक मजदूर कार्ड बनवाने हेतु ऑनलाइन आवेदन नहीं करना चाहते, वह ऑफलाइन माध्यम से भी आवेदन कर सकते हैं, इसके लिए उन्हें श्रम विभाग में कार्यालय में जाना होगा। कार्यालय से आपको आवेदन फॉर्म प्राप्त करना होगा, फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी आपको सही से भरनी होगी और माँगे गए सभी दस्तावेजों को फॉर्म के साथ अटैच कर देना होगा। जिसके बाद आपको अपने फॉर्म को कार्यालय में ही जमा कर देना होगा, इस तरह आपकी आवेदन प्रकिया पूरी हो जाएगी।

श्रमिक/मजदूर कार्ड पंजीकरण से जुड़े प्रश्न/उत्तर
श्रमिक पंजीकरण क्या है ?

श्रमिक पंजीकरण उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जारी योजना है, जिसके अंतर्गत सरकार राज्य के श्रमिक वर्ग के नागरिकों को सरकारी योजनाओं का लाभ प्रदान करने हेतु श्रमिक मजदूर कार्ड जारी करवाती है, जिससे श्रम विभाग के पोर्टल पर आवेदन करने वाले श्रमिकों को श्रमिक कार्ड के माध्यम से उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जारी योजनाओं में रोजगार के बहुत से अवसर प्राप्त हो सकेंगे।

उत्तर प्रदेश ऑनलाइन श्रमिक पंजीकरण करने हेतु इसकी आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

उत्तर प्रदेश ऑनलाइन श्रमिक पंजीकरण करने हेतु लेबर डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट www.uplabour.gov.in है।

श्रमिक मजदूर कार्ड धारकों को क्या-क्या लाभ प्रदान किये जाते हैं ?

श्रमिक मजदूर कार्ड धारकों को सरकारी योजना में रोजगार प्राप्त होता है साथ ही परिवार को सब्सिडी दरों पर राशन, चिकित्सा की सुविधा और बच्चों को शिक्षा पूरी करने के लिए आर्थिक सहायता भी प्रदान की जाती है।

Shramik Majdur Card बनवाने हेतु आवेदक की क्या पात्रता निर्धारित की गई है ?

Shramik Majdur Card बनवाने हेतु आवेदक श्रमिक यूपी के स्थाई निवासी होने चाहिए, जिनकी आयु 18 से 60 वर्ष के बीच होनी आवश्यक है, साथ ही यह श्रमिक कार्ड केवल परिवार के मुखिया का ही बनाया जाएगा और राज्य के जिन भी श्रमिकों ने वर्ष के 90 दिन मजदूरी का कार्य किया होगा केवल उन्हें ही श्रमिक कार्ड प्रदान किये जाएँगे।

यूपी मजदूर श्रमिक कार्ड बनवाने के लिए किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी ?

श्रमिक कार्ड बनवाने के लिए आवेदक के पास उनका आधारकार्ड, आवासीय प्रमाण पत्र, राशन कार्ड, जाति प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, परिवार रजिस्टर की नकल, परिवार के सदस्यों के आधारकार्ड की फोटोकॉपी, मोबाइल नंबर, पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ, बैंक की पासबुक आदि दस्तावेज होने आवश्यक है।

श्रमिक पंजीकरण करने वाले आवेदक कौन सी योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सकेंगे ?

पंजीकृत श्रमिक अपने श्रम कार्ड के माध्यम से निर्माण श्रमिक भोजन सहायता योजना, चिकित्सा सुविधा योजना, निर्माण कामगार अन्ते यष्टि योजना, संत रविदास शिक्षा सहायता योजना, मातृत्व हितलाभ योजना, निर्माण कामगार बालिका मदद योजना, पेंशन सहायता योजना, मेधावी छात्र पुरुस्कार योजना, सोर ऊर्जा सहायता योजना आदि योजनाओं का लाभ प्राप्त हो सकेगा।

क्या श्रमिक नागरिकों को पंजीकरण करवाना अनिवार्य है ?

हाँ सनिर्माण बोर्ड में श्रमिक नागरिकों को पंजीकृत होना अनिवार्य है। पंजीकृत के आधार पर ही वह सभी योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सकते है।

यह भी जानें –

Leave a Comment