‘मुख्यमंत्री प्रवासी श्रमिक उद्यमिता विकास योजना | Pravasi Shramik Entrepreneurship Development Scheme

मुख्यमंत्री प्रवासी श्रमिक उद्यमिता विकास योजना– : हाल ही में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा अपना 5वां बजट पेश किया गया हैं। पहली बार यूपी सरकार का 5वां बजट पेश किया गया हैं। सीएम योगी ऐसे पहले मुख्यमंत्री हैं जिन्होंने अपने कार्यकाल में 5वां बजट पेश किया हैं। वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना द्वारा बताया गया कि इस बार पूर्ण रूप से पेपरलेस बजट तैयार किया गया हैं। 2021-22 वित्तीय वर्ष के बजट की घोषणा वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना द्वारा की गयी। प्रवासी श्रमिक उद्यमिता विकास योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा प्रवासी श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध करने का निर्णय किया गया हैं। Pravasi Shramik Udhyamita Vikas Yojana 2021 अन्य राज्य से आये हुए श्रमिकों को आय का साधन उपलब्ध कराने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री द्वारा शुरू की गयी हैं। इस योजना का लाभ दूसरे राज्य से आये श्रमिकों को प्रदान किया जायेगा।

श्रमिक-उद्यमिता-विकास-योजना

Mukhyamantri Pravasi Shramik Udhyamita Vikas Yojana 2021 की केवल अभी तक घोषणा ही की गयी हैं और इस योजना पर किये जाने वाले खर्च के बजट के विषय में बताया गया हैं। यदि आप भी इस योजना के लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको इस योजना हेतु आवेदन फॉर्म भरना होगा। अभी तक इस योजना हेतु आधिकारिक वेबसाइट जारी नहीं की गयी है और न ही योजना आवेदन संबंधी किसी प्रकार की कोई सूचना दी गयी हैं। वेबसाइट जारी कर दिए जाने पर हमारे लेख के माध्यम से आपको सूचित कर दिया जायेगा और योजना का आवेदन करने की प्रोसेस भी आपको बता दी जाएगी।

यूपी श्रमिक मजदूर कार्ड पंजीकरण

मुख्यमंत्री प्रवासी श्रमिक उद्यमिता विकास योजना 2021

यूपी सरकार द्वारा हाल ही में अपना 5वां बजट पेश किया गया हैं जिसमे उन्होंने Mukhyamantri Pravasi Shramik Udhyamita Vikas Yojana 2021 के लिए 100 करोड़ रुपए बजट में शामिल हैं। मुख्यमंत्री द्वारा शुरू की गयी इस योजना के तहत बेरोजगार व प्रवासी श्रमिकों को रोजगार के अवसर दिए जायेंगे। इस योजना के अंतर्गत श्रमिकों को स्वरोजगार की सुविधा भी उपलब्ध करायी जाएँगी। इस योजना का लाभ उठाने के लिए आपको ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

प्रवासी श्रमिक उद्यमिता विकास योजना

राज्य के प्रवासी श्रमिक मजदूरों को योजना के अंतर्गत शामिल किया गया है जो पलंबर ,इलेक्ट्रीशियन ,दर्जी ,ड्राइवर ,रंगाई ,बुनाई ,आदि कार्य करते है। इन सभी श्रमिक नागरिकों को प्रवासी श्रमिक योजना के माध्यम से बैंकों के तहत परियोजनाओं का वित्त पोषण किया जायेगा। योजना के तहत लाभार्थी श्रमिक नागरिकों को स्वरोजगार शुरू करने के लिए लोन राशि प्रदान की जाएगी। अंशदान के रूप श्रमिक में नागरिकों को 5 फीसदी स्वयं का अंशदान जमा करना होगा। इसके साथ ही अपना स्वरोजगार एवं ऋण की प्राप्ति हेतु श्रमिक कामगार को आठवीं पास होना अनिवार्य है। 10 लाख से अधिक लोन लेने वाले श्रमिक कामगारों को 10वीं पास होना अनिवार्य है।

Pravasi Shramik Entrepreneurship Development Scheme 2021 Overview

हम आपको प्रवासी श्रमिक उद्यमिता विकास योजना के कुछ मुख्य तथ्यों के विषय में सूचित करने जा रहें हैं। आप नीचे दी गयी सारणी के माध्यम से Pravasi Shramik Yojana 2021 से जुडी सूचना प्राप्त कर सकते हैं –

योजना का नाम मुख्यमंत्री प्रवासी श्रमिक उद्यमिता विकास योजना
राज्य उत्तर प्रदेश
योजना आरम्भ करने वाले यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ
उद्देश्य प्रवासी श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराना
लाभार्थी प्रवासी मजदूर/श्रमिक
लाभ श्रमिकों को रोजगार के साधन प्राप्त
योजना हेतु बजट राशि 100 करोड़ रुपए
साल 2021
आधिकारिक वेबसाइट जल्द ही जारी की जाएगी

प्रवासी श्रमिक उद्यमिता विकास योजना 2021 के क्या उद्देश्य हैं ?

इस योजना का उद्देश्य विभिन्न प्रदेशो से लौटे मजदूरों व कारीगरों को रोजगार उपलब्ध करना हैं। उन सभी श्रमिकों को रोजगार व स्वरोजगार का अवसर दिया जायेगा जो दूसरे राज्यों से वापिस आये हैं। जिन श्रमिकों को लॉक-डाउन के कारण अपने प्रदेश से काफी समय तक दूर रहना पड़ा हैं और जिनके पास आय का कोई साधन नहीं हैं। इस प्रकार के नागरिको को इस योजना के तहत रोजगार प्रदान करना हैं। इस प्रकार मुख्यमंत्री द्वारा शुरू की गयी इस योजना का उद्देश्य मजदूरों को आजीविका का साधन देना हैं ताकि उन्हें आर्थिक संकट का सामना न करना पड़े। इस योजना के माध्यम से प्राप्त रोजगार के द्वारा मजदूर नागरिक अपने परिवार का पालन पोषण अच्छे से कर सकेंगे।

इस योजना के माध्यम से प्रवासी मजदूर श्रेणी के नागरिकों को स्वरोजगार जैसी गतिविधियों के साथ जोड़ा जायेगा। जिससे वह अपने क्षेत्र अपने ही राज्य में रहकर अच्छी आमदनी को प्राप्त कर सकते है। श्रमिक नागरिक अपना व्यवसाय शुरू करने के साथ अन्य-नागरिकों को भी रोजगार देने में सक्षम होंगे। आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के प्रवासी श्रमिक नागरिकों को स्थिति में सुधार लाने के लिए यूपी सरकार के द्वारा प्रवासी श्रमिक उद्यमिता विकास योजना को शुरू किया गया जिसके तहत अब सभी प्रवासी मजदूर नागरिकों को लाभान्वित किया जायेगा।

प्रवासी श्रमिक उद्यमिता विकास योजना से लाभान्वित श्रमिक

Mukhyamantri Pravasi Shramik Udhyamita Vikas Yojana के अंतर्गत प्रदेश के सभी श्रमिकों को लाभ प्रदान किया जाएगा। सरकार द्वारा मजदूरी करने वाले नागरिको को इस योजना से जोड़कर बहुत ही अच्छा काम किया हैं। औद्योगिक विकास की राह में सबसे अधिक योगदान श्रमिकों द्वारा दिया जाता हैं। रोजगार व स्वरोजगार के अवसर देने हेतु योगी आदित्यनाथ द्वारा प्रवासी योजना के अंतर्गत रोजगार से जोड़ने का कार्य किया गया हैं। सभी श्रमिक नागरिक इस योजना का आवेदन कर सकेंगे। योजना का आवेदन करने हेतु पोर्टल का निर्माण किया जा रहा हैं।

Pravasi Shramik Entrepreneurship Development Scheme 2021 के अतिरिक्त एक अन्य योजना की घोषणा की गयी हैं। जिसका नाम मुख्यमंत्री दुर्घटना बीमा योजना हैं। इस योजना के लिए 12 करोड़ रुपए बजट का प्रावधान रखा गया हैं। इस योजना का उद्देश्य श्रमिकों सुरक्षा बीमा प्रदान करना हैं। दुर्घटना बीमा योजना के अंतर्गत असंगठित क्षेत्रों में काम कर रहें श्रमिकों को लाभान्वित किया जायेगा।

यूपी मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना 2021

UP Pravasi Shramik Entrepreneurship Development Scheme Eligibility

योजना में आवेदन करने के लिए आप को इस योजना के तहत निर्धारित की गयी पात्रता सह्रतों को पूरा करना होगा। आइये जानते है ये पात्रता शर्तें हैं क्या ?

  • प्रवासी श्रमिक उद्यमिता विकास योजना में आवेदन करने के लिए ये आवश्यक है की आवेदक उत्तर प्रदेश राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना के तहत श्रमिक श्रेणी के लोग ही आवेदन कर सकते हैं।
  • जो श्रमिक covid महामारी के दौरान बेरोजगार होकर घर वापस लौटे हैं , वो सभी इस योजना के अंतर्गत आवेदन के पात्र माने जाएंगे।

Shramik Udhyamita Vikas Yojana में आवश्यक दस्तावेज

इस योजना प्रवासी श्रमिक उद्यमिता विकास योजना में आवेदन करने के लिए आप को कुछ आवश्यक दस्तवेजों की जरुरत पड़ेगी। इन दस्तावेजों की एक सूची हम आप को इस लेख में उपलब्ध करा रहे हैं।

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • स्थायी निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक अकाउंट संबंधित जानकारी
  • मोबाइल नंबर
  • आवेदक का श्रमिक कार्ड
  • आवेदनकर्ता का आय प्रमाण पत्र।
  • पते से संबंधित जानकारी
  • एफिडेविट स्वरोजगार शुरू करने के लिए।

Mukhyamantri Pravasi Shramik Udhyamita Vikas Yojana Apply Process

मुख्यमंत्री प्रवासी श्रमिक योजना का आवेदन करने हेतु अभी कोई जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गयी हैं और न ही इसकी आधिकारिक वेबसाइट अभी तक जारी की गयी हैं। सरकार द्वारा Pravasi Shramik Udhyamita Vikas Yojana की आधिकारिक वेबसाइट जारी करने के बाद आपको हमारे लेख के माध्यम से इस योजना का ऑनलाइन आवेदन करने की प्रोसेस पूर्ण विस्तार से बतायी जाएगी। योजना संबंधी अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे लेख से जुड़े रहिये।

श्रमिक उद्यमिता विकास योजना संबंधित प्रश्न उत्तर

श्रमिक उद्यमिता विकास योजना किसके द्वारा शुरू की गयी हैं ?

Shramik Udhyamita Vikas Yojana का शुभारम्भ उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा किया गया हैं।

Pravasi Shramik Udhyamita Vikas Yojana के लिए कितना बजट प्रस्तावित किया गया हैं ?

Mukhyamantri Shramik Udhyamita Vikas Yojana हेतु सरकार द्वारा 100 करोड़ रुपए का बजट प्रस्तावित किया गया हैं। इसकी घोषणा वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना द्वारा हाल ही में की गयी हैं।

प्रवासी श्रमिक योजना का पूरा नाम क्या हैं?

इस योजना का पूरा नाम मुख्यमंत्री प्रवासी श्रमिक उद्यमिता विकास योजना हैं। प्रवासी श्रमिक योजना उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री द्वारा संचालित की गयी हैं। इस योजना के विषय में यूपी बजट की घोषणा के समय सूचित किया गया हैं।

श्रमिक उद्यमिता विकास योजना के अंतर्गत क्या लाभ दिया जायेगा ?

प्रदेश से लौटे मजदूरों को इस योजना के तहत रोजगार और स्वरोजगार प्रदान किये जायेंगे ताकि उन्हें आर्थिक संकट का सामना न करना पड़े और वह अपने परिवार का पालन-पोषण अच्छे से कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री श्रमिक उद्यमिता विकास योजना की घोषणा किसके द्वारा की गयी ?

वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना द्वारा बजट की घोषणा करते समय इस योजना के विषय में बताया गे और इस योजना के लिए प्रस्तावित बजट के विषय में भी सूचना दी गयी हैं। श्रमिक उद्यमिता विकास योजना के लिए 100 करोड़ रुपए का बजट का प्रावधान किया गया हैं।

मुख्यमंत्री श्रमिक उद्यमिता विकास योजना आवेदन करने हेतु आधिकारिक वेबसाइट क्या हैं ?

क्योंकि इस योजना की घोषणा हाल ही में की गयी हैं इसलिए इस योजना के लिए अभी तक कोई आधिकारिक वेबसाइट उपलब्ध नहीं करायी गयी हैं। जल्द ही योजना आवेदन करने हेतु आधिकारिक वेबसाइट जारी कर दी जाएगी।

यह योजना मुख्यमंत्री द्वारा किस उद्देश्य से शुरू की गयी हैं ?

श्रमिक उद्यमिता विकास योजना आरम्भ करने का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का उद्देश्य प्रदेश से लौटे मजदूरों या श्रमिकों को आय का साधन उपलब्ध कराना हैं।

हेल्पलाइन नंबर

यदि आप प्रवासी श्रमिक उद्यमिता विकास योजना 2021 के विषय में किसी प्रकार की अन्य सूचनाओं के विषय में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करके संबंधित प्रश्न पूछ सकते हैं। हमारे द्वारा आपके प्रश्न का उत्तर अवश्य दिया जाएगा। आशा करते हैं हमारे द्वारा दी गयीसूचनायें आपके लिए लाभकारी सिद्ध होंगी और आप इस योजना के विषय में सभी आवश्यक जानकारी प्राप्त कर सकेंगे।

Leave a Comment