शुष्क बागवानी योजना 2023: जाने 50% अनुदान के लिए कैसे करे आवेदन

बिहार सरकार द्वारा किसानों की आय में वृद्धि करने के लिए निरंतर आधुनिक प्रयास किए जाते है, हाल ही में सरकार ने राज्य के किसानों का उत्थान एवं कल्याण करने हेतु शुष्क बागवानी योजना को शुरू किया है।

इस योजना के माध्यम से किसानों का आर्थिक एवं सामाजिक विकास करने के लिए उनके खेती की मेड़ पर पेड़ लगाने पर 50% तक की सब्सिड़ी प्रदान की जाएगी।

शुष्क बागवानी योजना 2023: जाने 50% अनुदान के लिए कैसे करे आवेदन
Shushk Bagwani Yojana

किसान को अपनी लागत का पूरा हिसाब सरकार को देना होगा और सरकार के द्वारा निर्धारित शर्तों व नियमों को पूरा करने के बाद ही किसान इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते है। योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन आवेदन करवाना अनिवार्य है।

तो आइये जानते है शुष्क बागवानी योजना 2023 क्या है ? योजना से जुड़ी सभी जानकारी को प्राप्त करने के लिए हमारे आर्टिकल को ध्यानपूर्वक अंत तक पढ़े।

शुष्क बागवानी योजना 2023

बिहार सरकार द्वारा किसानों का विकास करने के लिए शुष्क बागवानी योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना के अंतर्गत किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए मेड़ पर पेड़ लगाने पर 50% का अनुदान दिया जाएगा।

इस योजना का लाभ शुष्क खेती करने वाले किसानों को मिलेगा। इसके अलावा किसान अनेक फलदार पौधे जैसे -बेर, कटहल, आंवला, अनार,नीम्बू , जामुन आदि के पेड़ लगाने पर योजना का लाभ प्राप्त सकते है।

शुष्क बागवानी योजना 2023: जाने 50% अनुदान के लिए कैसे करे आवेदन

अनुदान राशि को सीधे किसान के बैंक खाते में DBT के माध्यम से ट्रांसफर कर दिए जाएंगे। किसान को सब्सिड़ी देने से उनके कारोबार में वृद्धि होगी जिससे उनकी आय में बढ़ोतरी होगी।

बिहार राज्य के किसान बीज निगम पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन करके कम दाम पर अच्छी किस्म के बीज प्राप्त कर सकते है। अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

Shushk Bagwani Yojana Overview

योजना का लाभ शुष्क बागवानी योजना 2023
राज्य बिहार
विभाग कृषि विभाग
लाभार्थी राज्य के किसान
लाभ खेत की मेड़ पर पेड़ लगाने हेतु 50% अनुदान की सुविधा देना
उद्देश्य किसानों का कल्याण करने हेतु आर्थिक स्थिति में सुधार करना
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट horticulture.bihar

Shushk Bagwani Yojana के उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के शुष्क खेती करने वाले किसानों को फलदार एवं अन्य प्रकार के पौधों को मेड़ पर लगाने पर लगान की रकम का 50% अनुदान दिया जाएगा।

ऐसा करने से उनके आर्थिक जीवन में सुधार आएगा अनुदान राशि मिलने से उनके व्यापार में वृद्धि होगी जिससे वह अच्छी आय कमा पाएंगे। इस योजना के तहत किसानों को आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनाया जाएगा ताकि वह कृषि क्षेत्र से जुड़े रहे।

शुष्क बागवानी योजना के लिए जरुरी दिशा-निर्देश

पौधों के प्रकार पौधों की संख्या पेड़ के बीच की दूरी अंश की राशि
कटहल10010×100
जामुन1568×80
बेल1568×80
आवंला2786×60
बेर2786×60
नींबू4005×50
अनार4005×50
मीठा नींबू4005×50

बिहार शुष्क बागवानी योजना के लाभ

  1. बिहार सरकार द्वारा राज्य के किसानों को खेती के प्रति आकर्षित करने के लिए शुष्क बागवानी योजना को आरंभ किया गया है।
  2. राज्य के जिन किसानों के पास न्यूनतम 1 हेक्टेयर से लेकर 4 हेक्टेयर जमीन वह इस योजना के तहत आवेदन करके मुनाफा कमा सकते है।
  3. खेत की मेड़ पर पेड़ लगाने पर किसानों को कुल लागत का 50% एवं अधिकतम 30 हजार रुपए अनुदान प्रदान किया जाएगा।
  4. किसानों की आय में वृद्धि करने एवं पर्यावरण प्रदूषण को कम करने में ये योजना कारगर सीध होगी।
  5. लाभार्थी को योजना का लाभ प्राप्त करवाने के लिए लगभग 2400 किसानों को प्रशिक्षण दिया जाएगा।
  6. इस योजना का आरम्भ राज्य के 38 जिलों में किया जाएगा।
  7. योजना का लाभ अधिक-से अधिक किसानों तक पहुंचाने के लिए खेती के मेड़ पर ड्रिप लगवाए जाएंगे। जिससे सिंचाई करने में आसानी होगी।
  8. योजना के अंतर्गत दी जाने वाली अनुदान राशि को 3 साल से 3 किस्तों में भेजी जाएगी।
  9. सरकार द्वारा किसान को पहले साल की 18 हजार रुपए क़िस्त प्रदान की जाएगी। दूसरे साल 6 हजार रूपए और तीसरे साल 6 हजार रुपए प्रदान किए जाएंगे।

शुष्क बागवानी योजना के लिए पात्रता

  • योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी को बिहार राज्य का निवासी होना चाहिए।
  • लाभार्थी का किसान होना अनिवार्य है।
  • किसान के पास खुद की जमीन होनी चाहिए जो की न्यूनतम 1 हेक्टेयर होनी चाहिए।
  • किसान का खाता आधार कार्ड से लिंक होना अनिवार्य है।
  • किसान के खेतों में ड्रिप सिंचाई उपकरण की स्थापना अनिवार्य रूप से होनी चाहिए।
  • आवेदक के खेतों में सिंचाई व्यवस्था होनी चाहिए।

Shushk Bagwani Yojana के लिए जरुरी दस्तावेज

योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए नीचे बताएं गए सभी दस्तावजों का होना अनिवार्य है जो कि इस प्रकार से है –

  • निवास प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता वितरण
  • जमीन के दस्तावेज
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

शुष्क बागवानी योजना के तहत रजिस्ट्रेशन ऐसे करें

  • सर्वप्रथम आवेदक को योजना की ऑफिसियल वेबसाइट horticulture.bihar पर जाना है।
  • अब आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ पर आपको “उद्योग निदेशालय अंतर्गत संचालित योजनाओं का लाभ देने हेतु online पोर्टल” के ऑप्शन पर क्लिक करना है।

शुष्क बागवानी योजना 2023: जाने 50% अनुदान के लिए कैसे करे आवेदन

  • अब एक नया पेज ओपन हो जाएगा जहाँ पर आपको “सूक्ष्म सिंचाई अधिकारिक शुष्क बागवानी योजना आवेदन करें” के ऑप्शन पर क्लिक करना है।

Shushk Bagwani Yojana

  • इसके बाद नया पेज ओपन होगा जहाँ पर योजना से जुड़ी कुछ जानकारियां होगी उन्हें ध्यानपूर्वक पढ़ लेने के बाद Agree and Continue के ऑप्शन पर क्लिक करना है।

शुष्क बागवानी योजना 2023: जाने 50% अनुदान के लिए कैसे करे आवेदन

  • अब आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आ जायेगा जहाँ पर आपको पूछी गई सभी जानकारी को सही से दर्ज करना है और मांगे गए दस्तावेज को फॉर्म के साथ अटैच कर लेना है।
  • इसके बाद Submit के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रकार से आप शुष्क बागवानी योजना में सफलतापूर्वक आवेदन कर सकेंगे।

Shushk Bagwani Yojana से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल-

शुष्क बागवानी योजना क्या है ?

किसानों को कृषि कार्य के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए खेती की मेड़ पर पेड़ लगाने पर कुल लागत का 50% तक अनुदान दिया जाएगा। जिसका लाभ प्राप्त करके वह अपनी आय में वृद्धि कर सकते है।

Shushk Bagwani Yojana का लाभ लेने के लिए किसान के पास कितनी भूमि होनी चाहिए ?

इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए किसान के पास न्यूनतम 1 हेक्टेयर से लेकर 4 हेक्टेयर तक की भूमि होनी चाहिए।

Shushk Bagwani Yojana की आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट horticulture.bihar है।

शुष्क बागवानी योजना के तहत किसान कौन-कौन से पेड़ लगा सकते है ?

इस योजना के तहत किसान जामुन, अनार, बेर, बेल, कटहल,निम्बू, आवंला, मीठा निम्बू आदि पेड़ लगा सकते है।

शुष्क बागवानी योजना का मुख्य उद्देश्य क्या है ?

किसानों का भविष्य उज्जवल बनाने एवं उनके कार्य क्षेत्र में वृद्धि करने करने के लिए इस योजना को आरंभ किया गया है। ताकि वह अधिक से अधिक पेड़ लगा के अपनी आय में वृद्धि कर पाएं और आत्मनिर्भर होकर अपने कारोबार का विस्तार कर सकें।

Leave a Comment