उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना: बच्चों को 1200 रुपये मिलेंगे- जल्दी करें आवेदन

उत्तर प्रदेश राज्य के माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2022 को शुरू किया है। यह योजना यूपी राज्य के श्रमिक परिवार के बच्चों के लिए बनायीं गयी है जो उनके लिए बहुत ही उपयोगी साबित होगी। श्रम विभाग द्वारा योजना को संचालित किया जाता है। योजना के तहत राज्य के श्रमिकों के बच्चों, दिव्यांग बच्चों व अनाथ बच्चों को शिक्षा प्रदान करने के लिए राज्य सरकार आर्थिक मदद प्रदान करेगी। बल श्रमिक विद्या योजना के अंतर्गत लड़कों को हर महीने 1000 रुपये और बालिकाओं को 1200 रुपये की मदद राशि दी जाएगी। इसके अलावा श्रमिक परिवार के बच्चे जो कि कक्षा 8वी, 9वी, 10वी में पास हो जायेंगे उन्हें उत्तर प्रदेश की सरकार द्वारा हर साल 6 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि भी दी जाएगी। अगर आप भी योजना का लाभ पाना चाहते है और आवेदन करना चाहते है तो आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना: बच्चों को 1200 रुपये मिलेंगे- जल्दी करें आवेदन
उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना: बच्चों को 1200 रुपये मिलेंगे- जल्दी करें आवेदन

हम आपको योजना से सम्बंधित जानकारी जैसे: मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना का आवेदन कैसे करें, UP Bal Shramik Vidya Yojana 2022 से मिलने वाले लाभ, पात्रता, आवश्यक दस्तावेज, उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना क्या है आदि के बारे में बताने जा रहे है, अगर आप जानकारी जानना चाहते है तो आप हमारे द्वारा आर्टिकल को अंत तक अवश्य पढ़े।

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2022

उत्तर प्रदेश बल श्रमिक विद्या योजना के अंतर्गत राज्य के 2000 गरीब श्रमिक परिवार के बच्चों को लाभ प्रदान किया जायेगा। इसके अलावा जिनके माता-पिता नहीं होंगे या जिनके माता पिता में से कोई एक होगा, माता पिता किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित होंगे या जो बच्चे विकलांग होंगे उनको भी योजना में शामिल किया गया है। योजना के माध्यम से बच्चों की जिंदगी में सुधार आ सकेगा और वह पढ़ाई में और अधिक रूचि दिखा सकेंगे। योजना के तहत छोटे बच्चे जिनकी उम्र 8 साल से 18 साल के बीच है उनकी आर्थिक स्थिति ठीक न होने की वजह से उन्हें मजदूरी का काम करना पड़ता है। इसी को देखते हुए सरकार ने यह योजना शुरू की ताकि बच्चे आसानी से अपनी पढाई जारी रख सके। आवेदक आसानी से अपने मोबाइल व कंप्यूटर के जरिये ऑनलाइन माध्यम से योजना का आवेदन कर सकते है इससे उनका समय और पैसे दोनों की बचत हो पायेगी।

राज्य उत्तर प्रदेश
योजना मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना
साल 2022
विभाग श्रम विभाग
लाभ लेने वाले राज्य के श्रमिक नागरिक
वित्तीय सहायता राशि छात्र को 1000 रुपये और छात्रा को 1200 रुपये
योजना की शुरुआत 12 जून 2020
उद्देश्य श्रमिकों के बच्चों को वित्तीय राशि प्रदान करना
श्रेणी राज्य सरकारी योजना
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन मोड
आधिकारिक वेबसाइट http://uplabour.gov.in

बाल श्रमिक विद्या योजना का उद्देश्य

सीएम बाल श्रमिक विद्या योजना 2022 का उद्देश्य यह है कि राज्य के कई ऐसे मजदूर लोग है जिनका जीवन व्यापन बहुत मुश्किल से चल पाता है। ऐसे लोग अपने बच्चों को पढ़ाने में असमर्थ होते है और जो अपने बच्चों को पढ़ते भी है तो उनकी की पढाई जारी रखने के लिए पैसे नहीं जुटा पाते जिससे उन्हें बच्चों की पढाई बीच में ही रोकनी पढ़ जाती है और बच्चों को मजदूरी का काम करने पर मजबूर होना पढता है लेकिन इस योजना से सरकार श्रमिक परिवार के बालक को 1000 रुपये और बालिका को 1200 रुपये की सहायता प्रदान करेगी। इससे बाल श्रमिक जैसे अपराध पर रोक भी लग पायेगी और बच्चे पढ़ लिखकर आत्मनिर्भर बन सकेंगे।

बाल श्रमिक विद्या योजना कब शुरू हुई

यूपी सरकार द्वारा सीएम बाल श्रमिक विद्या योजना 12 जून 2020 में शुरू हुई। मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी ने इसकी शुरुआत श्रमिक निषेध दिवस पर की। यह योजना शुरू करने का केवल यही लक्ष्य निर्धारित किया गया है श्रमिक परिवार के बच्चों की जिंदगी में सुधार आ सके उन्हें बाल मजदूरी न करना पढ़े और वह अपनी पढाई पूरी कर सके और अपने पैरों पर खड़े हो सके।

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2021 आवेदन

यूपी मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2022 से मिलने वाले लाभ एवं विषेशताएं

  • उत्तर प्रदेश राज्य के जितने भी श्रमिक नागरिक है जो गरीब परिवार से सम्बन्ध रखते है उनके बच्चों को सरकार योजना का लाभ प्रदान करेगी।
  • योजना के अंतर्गत श्रमिक परिवार के बालक को हर महीने 1000 रुपये और बालिका को 1200 रुपये की सहायता राशि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदान किये जायेंगे।
  • ऑनलाइन माध्यम से आवेदन करने पर आवेदक के समय और पैसे दोनों बच पाएंगे।
  • आवेदक आसानी से अपने मोबाइल व कंप्यूटर के द्वारा ऑनलाइन माध्यम से योजाना का आवेदन कर सकेंगे।
  • आवेदक को सबसे पहले पोर्टल पर अपना पंजीकरण करवाना अनिवार्य है।
  • योजना के पहले स्टेप में राज्य के 2000 बालक व बालिकाओं को शामिल करने का एलान किया गया है।
  • बाल श्रमिक विद्या योजना का सफल परिक्षण के आधार पर राज्य के कुल 10 जिलों में शुरू की गयी थी।

UP Bal Shramik Vidya Yojana की चयन प्रक्रिया

  • जिनकी जमीन नहीं है और महिला प्रमुख परिवारों के बच्चों के सिलेक्शन के लिए 2011 की जनगणना लिस्ट का इस्तेमाल किया जायेगा।
  • योजना के तहत बच्चों की पहचान लेबर डिपार्टमेंट के अधिकारियों के सर्वेक्षण द्वारा, ग्राम पंचायतों द्वारा, स्थानीया निकाय द्वारा व चाइल्ड लाइन्स व विद्यालय समिति द्वारा की जाएगी।
  • अगर बच्चे के माता पिता गंभीर बीमारी से ग्रषित है, तो ऐसे बच्चों को पहली प्रायोरिटी (प्राथमिकता) दी जाएगी। इसमें मेडिकल ऑफिसर द्वारा सर्टिफिकेट देना होगा।

योजना हेतु पात्रता

अगर आप भी योजना का आवेदन करना चाहते है तो सबसे पहले आपको इसकी पात्रता के बारे में जानकारी होनी बहुत जरुरी है। यदि आपको पात्रता का पता होगा तो आपको आवेदन करने में आसानी होगी। हम आपको योजना हेतु पात्रता के बारे में बताने जा रहे है आप दिए गए पॉइंट्स को पढ़े।

  • योजना का आवेदन वही कर सकते है जो उत्तर प्रदेश राज्य के मूलनिवासी होंगे।
  • योजना के तहत जिनकी आयु 8 साल से 18 साल है उन्हें इस योजना में शामिल किया गया।
  • आवेदक के पास आवेदन करते समय अपने पास सभी ओरिजिनल दस्तावेज व फोटोकॉपी होनी चाहिए।

आवश्यक दस्तावेज

आवेदन फॉर्म भरने के लिए आवेदकों को कुछ जरूरी दस्तावेजों की आवश्यकता होगी जिनके बारे में आप नीचे दी गयी सारणी के माध्यम से सूचना प्राप्त कर सकते है। दस्तावेज की सूची इस प्रकार से है:

आधार कार्ड रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर वोटर ID कार्ड
मूलनिवास प्रमाणपत्र पासपोर्ट साइज फोटो ड्राइविंग लाइसेंस
राशन कार्ड

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2022 का आवेदन कैसे करें?

जो भी आवेदक उत्तर प्रदेश बाल श्रमिक विद्या योजना का आवेदन करना चाहते है और इसका लाभ प्राप्त करना चाहते है उन्हें अभी थोड़ी प्रतीक्षा करनी होगी क्यूंकि सरकार द्वारा अभी कुछ समय पहले इस योजना को शुरू किया गया है और योजना का आवेदन करने की ऑनलाइन प्रक्रिया को अभी सरकार ने जारी नहीं किया है। जैसे ही योजना की ऑनलाइन आवेदन प्रकिया शुरू होगी हम आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से सूचित कर देंगे, जिसके बाद आप आसानी से योजना का आवेदन कर सकते है और इससे मिलने वाले लाभ और सहायता राशि को भी प्राप्त कर सकते है।

UP सीएम बाल श्रमिक विद्या योजना 2022 से जुड़े प्रश्न/उत्तर

छात्रों को कितने रुपये की सहायता राशि दी जाएगी और इसके अतिरिक्त और क्या लाभ दिया जायेगा?

योजना के तहत श्रमिक परिवार के शिक्षा हेतु प्रतिमाहिने बालक को 1000 रुपये और बालिका को 1200 रुपये की सहायता राशि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदान किये जायेंगे। इसके अतिरिक्त जो बचे 8, 9, 10वी कक्षा में पास होंगे उन्हें सरकार 6000 रुपये की प्रोत्साहित राशि भी प्रदान करेगी, जिससे बच्चे पढाई में और अधिक रुचि दिखा सकेंगे।

क्या बाल श्रमिक विद्या योजना का आवेदन अन्य राज्य के श्रमिक परिवार के बच्चे भी कर सकते है?

जी नहीं, बाल श्रमिक विद्या योजना का आवेदन अन्य राज्य के श्रमिक परिवार के बच्चे नहीं कर सकते है, केवल उत्तर प्रदेश राज्य के मूलनिवासी गरीब नागरिक योजना का आवेदन कर सकते है।

बाल श्रमिक विद्या योजना क्या है?

बाल श्रमिक विद्या योजना को शुरू इसलिए किया गया क्यूंकि राज्य में गरीब परिवार के लोगों के बच्चे को शिक्षा हेतु वित्तीय राशि प्रदान करना है ताकि वह अपनी शिक्षा पूरी कर सके ,इससे बच्चों के लिए शिक्षा का बुनियादी ढांचा और मजबूत हो सके।

UP मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2022 का आवेदन करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट क्या होगी?

UP मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2022 का आवेदन करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट http://uplabour.gov.in है।

योजना की आवेदन प्रक्रिया क्या है?

योजना की आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन मोड द्वारा पूरी की जाएगी। आपको बता दें अभी योजना की ऑनलाइन आवेदन सरकार द्वारा जारी नहीं की गयी जैसे ही ऑनलाइन प्रकिया पोर्टल पर जारी की जाएगी हम आपको सूचित कर देंगे।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना की शुरुवात कब और किसके द्वारा की गयी?

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना की शुरुवात 12 जून 2020 को हुई और यह योजना यूपी के मुख्यमंत्री आदित्य नाथ जी द्वारा शुरू की गयी।

योजना का लाभ किसे प्रदान किया जायेगा?

योजना का लाभ गरीब श्रमिक परिवार के बच्चों, जिनके माता-पिता नहीं होंगे या जिनके माता पिता में से कोई एक होगा, माता पिता किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित होंगे या जो बच्चे विकलांग होंगे उन्हें इस योजना के तहत वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

हमने आपको अपने लेख में उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2022 से जुडी सभी जानकरियों को हिंदी भाषा में बता दिया है, हमे उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई के बारे में जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। यदि इससे सम्बंधित कोई सवाल आपको पूछने है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। हमारी टीम आपके पूछे गए सवालो का जवाब देने की पूरी कोशिश करेगी।

Leave a Comment