अब हो सकेंगे ‘अग्निपथ योजना’ के तहत सेना में भर्ती, अग्निवीर के रूप में भर्ती होंगे युवा

अग्निपथ योजना : जल्द ही सेना में अग्निपथ योजना के तहत युवाओं को तीन साल के लिए सैनिक के रूप में भर्ती करने जा रही है। इन सैनिकों को अग्निवीर के नाम से जाना जाएगा। भारतीय सेना में भर्ती प्रक्रिया में सुधार की ये पहल केंद्र सरकार द्वारा ‘अग्निपथ प्रवेश योजना’ (Agnipath Recruitment Scheme) के नाम से शुरू की जा रही है। इससे रिटायरमेंट और पेंशन का बोझ भी सरकार पर नहीं पड़ेगा। इस का प्रभाव सशस्त्र बलों की आयु प्रोफाइल पर पड़ेगा। इस योजना से औसत आयु में कमी आएगी। इस योजना के तहत तीन वर्षों की नियुक्ति के बाद सभी युवा सिविल सेक्टर / कॉर्पोरेट जगत की नौकरियों में जा सकते हैं।

इंडियन आर्मी अग्निपथ भर्ती योजना

सरकारी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भर्ती किये गए युवाओं को तीन वर्षों की सेवा में अग्निवीर के रूप में जाना जाएगा। तीन साल के कार्यकाल के पूर्ण होने के बाद रक्षा बलों के पास बेहतर प्रदर्शन करने वाले युवाओं को सेवा में आगे भी रखने का प्रावधान किया गया है। शुरूआती योजना के अनुसार रक्षा सेवा में कार्यरत सैनिकों का साल का कार्यकाल पूर्ण होने पर इन अग्निवीरों को निजी क्षेत्र में सिविल नौकरियां प्रदान की जाएंगी। इन अग्निवीरों को सेवा में रखने के लिए कई कंपनियों ने रुचि दिखाई है। इस से उन्हें सैन्य प्रशिक्षण प्राप्त व अनुशासित जवानों को नौकरी पर रखने से बहुत लाभ मिलेगा। हालाँकि अभी इस बारे में अंतिम निर्णय लेने के अंतिम स्तर पर है। सूत्रों के अनुसार अभी तीनों रक्षा बल के सञ्चालन का प्रस्तुतीकरण दे रही है। ऐसा कहा जा रहा है कि शीर्ष नेतृत्व का इस योजना को पूरा समर्थन है।

आर्मी में शुरू होगी कॉन्ट्रैक्ट वाली भर्ती – जानें क्या है टूर ऑफ़ ड्यूटी, कैसे हो सकते है भर्ती

इन्हे मिलेगा मौका

इसमें आवेदन करने वाले युवाओं में उन्हें प्राथमिकता दी जाएगी जो IIT और अन्य प्रोफेशनल स्ट्रीम के युवा होंगे। इन युवाओं को कड़ी ट्रेनिंग देने के बाद जम्मू कश्मीर और पूर्वोत्तर में तैनात किया जाएगा। इन्हे महत्वपूर्ण और संवेदनशील कार्य जैसे की – आतंकी गतिविधियों से निपटना , खुफिया जानकारी जुटाना व सूचना तकनीकी से संबंधित महत्वपूर्ण कार्यों का जिम्मा दिया जाएगा।

2 वर्ष पूर्व पड़ी थी इस योजना की नींव

इस अग्निपथ योजना से संबंधित चर्चा की दो साल पहले नींव पड़ चुकी थी। इसे टूर ऑफ़ ड्यूटी के नाम से जाना जाता है। जिस के तहत सैनिकों की भर्ती एक अल्पकालिक अनुबंध के अंतर्गत की जाएगी। उन्हें प्रशिक्षण दिया जाएगा और देश के अलग अलग संवेदनशील क्षेत्रों में तैनाती दी जाएगी। इसी योजना के अंतर्गत रक्षा बलों के पास विशिष्ट कार्यों के लिए विशेषज्ञों की भर्ती करने का अधिकार भी होगा। बता दें की वर्तमान में तीनों सेनाओं में कुल 1.25 लाख से अधिक रिक्त पद हैं , जिन पर भर्ती की जाएगी। पिछले दो सालों से दुनिया भर में फैले कोरोना महामारी के चलते भर्ती प्रक्रिया आयोजित नहीं की जा सकी थी। लेकिन अब जल्द ही भर्ती प्रक्रिया की शुरुआत की जाएगी।

टीए आर्मी भर्ती रैली TA Army Rally Bharti Schedule

Leave a Comment