हथकरघा बुनकर मुद्रा योजना 2023 | Hathkargha Bunkar Mudra Loan Yojana के लिए आवेदन कैसे करें?

हमारे देश अभी भी कई सारे ऐसे नागरिक है जो जीवन यापन करने के लिए हाथों से वस्त्रों की बुनाई करते है। लेकिन आज कल लोग उन कपड़ों का पहनना पसंद नहीं करते है।

जिस वजह से बुनकरों को आर्थिक तंगी का सामना कर पड़ रहा है। इसलिए सरकार ने देश के बुनकरों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए हथकरघा बुनकर मुद्रा योजना की शुरुआत की है।

इस योजना के माध्यम से बुनकरों को वस्त्र उद्योग के साथ-साथ कम ब्याज दर पर लोन की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। ताकि वह अपने स्वरोजगार की बुनियाद रख सकें। और नए-नए रोजगार के अवसर प्रदान करके अपनी जीवन स्थिति को बेहतर बना सकते है।

हथकरघा बुनकर मुद्रा योजना 2023 | Hathkargha Bunkar Mudra Loan Yojana के लिए आवेदन कैसे करें?
Hathkargha Bunkar Mudra Loan Yojana

देश का कोई भी गरीब और कमजोर नागरिक इस योजना के तहत आवेदन कर सकता है। तो आइये जानते है हथकरघा बुनकर मुद्रा योजना 2023 क्या है? योजना से जुड़ी विभिन्न जानकारी को प्राप्त करने के लिए हमारे आर्टिकल को विस्तारपूर्वक अंत तक पढ़े।

हथकरघा बुनकर मुद्रा योजना 2023

केंद्र सरकार ने देश के आर्थिक रूप से कमजोर और गरीब वर्ग के नागरिकों को आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनने के लिए हथकरघा बुनकर मुद्रा योजना की शुरुआत की है।

इस योजना के तहत हाथों से बने वस्त्रों को बढ़ावा देने, वस्त्र व्यवसाय में वृद्धि करने के लिए बुनकरों को सस्ती ब्याज दर पर लोन दिया जाएगा। योजना के अंतर्गत केंद्रीय वस्त्र मंत्रालय द्वारा लगभग 10 लाख रुपए का लोन केवल 6% ब्याज दर पर प्राप्त करवाया जाएगा।

योजना की सहायता से लोन प्राप्त करके बुनकर क्रेडिट कार्ड या सावधि ऋण के माध्यम से बुनाई के व्यवसाय में शामिल हो पाएंगे। जिससे उनकी आय में अधिक वृद्धि होगी। देश का कोई भी बुनकर इस योजना का लाभ आसानी से प्राप्त कर सकता है।

इसी प्रकार से देश के बुनकरों और कलाकारों की आय में वृद्धि करने के लिए भारत हस्तनिर्मित पोर्टल की शुरुआत की है जहाँ पर कलाकार अपने हाथ से बनाए हुई वस्तु की बिक्री कर सकते है।

Hathkargha Bunkar Mudra Loan Yojana Overview

योजना का नाम हथकरघा बुनकर मुद्रा योजना
वर्ष 2023
योजना का आरंभ केंद्र सरकार द्वारा
लाभ 10 लाख रुपए तक ऋण की सुविधा
लाभार्थी देश के सभी बुनकर
उद्देश्य देश के छोटे बुनकरों को आर्थिक सहायता देकर उन्हें आत्मनिर्भर बनाना
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन /ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइट handlooms.nic.in

Hathkargha Bunkar Mudra Loan Yojana के तहत नियम एवं शर्ते

  • देश का जो भी बुनकर इस योजना के तहत लोन प्राप्त करना चाहते है उनका सिविल स्कोर उत्तम होना चाहिए।
  • यदि लाभार्थी समय-समय पर लोन का भुगतान करता है तो उसे आगे भी लोन की विभिन्न सुविधा दी जाएगी।
  • लाभार्थी अपने अनुसार लोन की क़िस्त का भुगतान मासिक/ तिहाई कर सकते है।
  • लाभार्थी को योजना के अंतर्गत टर्म लोन व कैश क्रेडिट के माध्यम से लोन दिया जाता है।

ऋण की सीमा अवधि एवं ऋण की प्रकृति

स्थायी पूंजी के लिए (सावधि सीमा, Term Limit)अधिकतम 2 लाख रुपये
कार्यशील पूंजी के लिए ( नकद साख सीमा, Cash Credit Card Limit)50000/- से 100000/- तक।
(अधिकतम 5 लाख तक दिया जा सकता है)
कुल (Weaver Term loan + Term Loan)अधिकतम 5 लाख रूपये

हथकरघा बुनकर मुद्रा योजना का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश के विभिन्न बुनकरों को उनकी आवश्यकता के अनुसार ऋण की सुविधा देकर उनका उत्थान एवं कल्याण करना है।

देश में हाथ से बने वस्त्र उद्योग में वृद्धि करने के लिए लोन की सुविधा देकर लोगों को पारम्परिक वस्त्रों के प्रति आकर्षित किया जाएगा। ताकि कमजोर वर्ग के बुनकरों की आय में वृद्धि हो और उनके लिए रोजगार के अवसर पैदा करना।

इस योजना के माध्यम से छोटे बुनकरों का खुद का उद्योग खोलने का अवसर मिलेगा और उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा। इस योजना के तहत ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र में सभी बुनकर आवेदन कर लाभ प्राप्त कर सकते है।

Hathkargha Bunkar Mudra Loan Yojana के लाभ

  • इस योजना के तहत देश के सभी छोटे बुनकरों का भविष्य उज्जवल बनाने के लिए लोन की सुविधा उपलब्ध करवाई गई है।
  • इस योजना की सहायता से सभी बुनकरों को खुद का उद्योग करने का सुनहरा अवसर मिल जाएगा। इसके अलावा प्राप्त लोन की मदद से वह अपने बिज़नेस को विस्तृत कर पायेंगे।
  • वस्त्र उद्योग व्यवसाय में वृद्धि होने से बढ़ती हुई बेरोजगारी को कम किया जा सकता है।
  • योजना के अंतर्गत यदि लाभार्थी विभिन्न शर्तो व नियमों का पालन करता है तो उसे समय-समय पर बहुत ही कम दर पर Loan मिल जाएगा।

हथकरघा बुनकर मुद्रा योजना के लिए पात्रता

  • योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी के पास भारतीय नागरिकता होनी चाहिए।
  • देश का कोई भी बुनकर इस योजना में आवेदन करने के पात्र है।
  • योजना के तहत लाभार्थी को समय-समय पर ब्याज का भुगतान करना होगा यदि वह नहीं कर रहा है तो उसे और सहायता प्रदान नहीं की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत स्वयं सहायता समूह और सयुंक्त देयता समूह आवेदन कर सकते है।
  • बैंक द्वारा लोन लेने के लिए लाभार्थी की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • आवेदक अन्य किसी भी बैंक में डिफ़ॉल्टर नहीं होना चाहिए।

आवेदन हेतु दस्तावेज

  • निवास प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • बैंक खाता वितरण
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

हथकरघा बुनकर मुद्रा योजना में आवेदन ऐसे करें

यदि आप एक बुनकर हो और इस योजना के तहत लोन प्राप्त करना चाहते है तो सबसे पहले आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट handlooms.nic.in पर जाकर सभी जानकारी को प्राप्त कर लेना है।

उसके बाद अपने नजदीकी बैंक से हथकरघा बुनकर मुद्रा योजना का आवेदन फॉर्म प्राप्त कर लेना है। फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी और नियम शर्तो को सही से पढ़ लेना है और मांगे गए सभी दस्तावेज को फॉर्म के साथ अटैक कर देना है।

इसके बाद फॉर्म को बैंक अधिकारी के पास जमा करवा लेना है इस प्रकार से आपका इस योजना में सफलतापूर्वक आवेदन हो जाएगा।

Hathkargha Bunkar Mudra Loan Yojana FAQs-

हथकरघा बुनकर मुद्रा कार्यालय की स्थापना कब हुई?

हथकरघा कार्यालय की स्थापना 20 नवम्बर 1975 को वाणिज्‍य मंत्रालय के अधीन एक संबद्ध गैर-सहभागी कार्यालय के रूप में हुई थी। इसका कार्यालय नई दिल्ली, भारत में स्थित है।

Handloom Weaver Mudra Scheme के अंतर्गत किन-किन वर्गों को लाभ दिया जाएगा ?

इस योजना के अंतर्गत देश के छोटे गरीब व कमजोर वर्ग के नागरिक को लाभ दिया जाएगा।

Hathkargha Bunkar Mudra Loan के तहत बुनकरों को कितना लोन मिलेगा?

योजना में आवेदन करने के बाद लाभार्थी को अधिकतम 10 लाख रुपए तक का लोन 6% ब्याज दर पर दिया जाएगा।

Hathkargha Bunkar Mudra Loan योजना का मुख्य उद्देश्य क्या है?

योजना के अंतर्गत शामिल उम्मीदवार को सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम वर्ग के बुनकरों को वित्तीय सहायता प्रदान करवाना है। ताकि उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार आएं।

हथकरघा बुनकर मुद्रा योजना के तहत क्या बीमा की सुविधा भी दी जाती है?

जी हाँ, लोन दिए जाने पर बीमा कवर करवाया जाता है यदि कभी प्राकृतिक या किसी अन्य वजह से दुकान या उद्योग को नुकसान पहुँचता है तो इसका नुकसान आपका नहीं उठाना पड़ेगा। इसकी पूरी भरपाई बीमा कंपनी द्वारा होगी।

Leave a Comment