हरियाणा मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व कार्यान्वयन प्रक्रिया

हरियाणा मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा 22 सितंबर 2021 को हुई मंत्रिमंडल की बैठक में Haryana Mukhymantri Bagwani Beema Yojana शुरू करने का निर्णय लिया गया, इस योजना के तहत राज्य के किसान नागरिकों को बागवानी फसलों में प्राकृतिक आपदाओं से हुई हानि के लिए बीमा कवर प्रदान किया जायेगा। फसलों में हुई नुकसान से राहत प्रदान करने हेतु यह योजना राज्य स्तरीय रूप में लागू की गयी है। तो आइये जानते है की हरियाणा राज्य के किसान नागरिक किस प्रकार इस स्कीम का लाभ ले सकते है। हमारे इस लेख में हरियाणा मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन एवं कार्यान्वयन प्रक्रिया से संबंधी जानकारी को साझा किया गया है।

Haryana Mukhymantri Bagwani Beema Yojana

हरियाणा मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व कार्यान्वयन प्रक्रिया
Haryana Mukhymantri Bagwani Beema Yojana

Haryana Mukhymantri Bagwani Beema Yojana सरकार के द्वारा 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। किसानों को विभिन्न तरह की कृषि योजनाओं से लाभांवित करने के लिए समय-समय पर केंद्रीय एवं राज्य स्तरीय योजनाएं शुरू की जाती है। ऐसी ही एक योजना हरियाणा सरकार के द्वारा अपने राज्य के किसानों के लिए शुरू की गयी है। जिसमें किसानों को फसलों में हुए आर्थिक नुकसान के लिए राहत प्रदान की जाएगी। इस योजना के अनुसार बागवानी फसलों में अत्यधिक वर्षा के कारण ,सूखेग्रस्त से ,बाढ़ ,तूफ़ान ,फसल में बीमारी लगने या अन्य कारणों से हुई आर्थिक हानि के लिए बीमा कवर प्रदान किया जायेगा। हरियाणा मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना के तहत कुल 21 तरह की फल और सब्जियों और पान मसालों की फसलों को कवर किया जायेगा।

MBBY के माध्यम से किसानों को फलों की फसल में 1 हजार रूपये की प्रीमियम का भुगतान करना होगा। इसी के साथ पान मसालों की फसल के लिए 750 रूपये प्रीमयम का भुगतान करना होगा। इस प्रीमियम राशि के आधार पर फसलों में हुए नुकसान के लिए उन्हें 30 से 40 हजार रूपये का आश्वाशन बीमा प्रदान किया जायेगा। हरियाणा सरकार के द्वारा किसानों को बीमा का लाभ प्रदान करने के लिए सर्वे किया जायेगा। इस सर्वे के आधार पर फसल नुकसान की 4 श्रेणियां निर्धारित की जाएगी। जिसमें से 25 प्रतिशत ,50 प्रतिशत ,75 प्रतिशत और 100 प्रतिशत के रूप में श्रेणियाँ तय की जाएगी।

हरियाणा मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना

किसानों को बागवानी फसलों में प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान में राहत प्रदान करने हेतु हरियाणा के मुख्यमंत्री जी के द्वारा मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना के तहत 21 फसलों का बीमा कवर किया जायेगा। बागवानी किसानों को विभिन्न फ़ैक्टरों के कारण भारी वित्तीय नुकसान को झेलना पड़ता है। जिसमें से फसलों में अचानक बिमारी फैलने ,कीटों के संक्रमण जैसे जैविक कारक ,बे मौसम बारिश ,ओलावृष्टि ,सूखा ,पाला अत्यधिक तापमान जैसे जैविक शामिल है। बागवानी फसल आश्वाशन योजना के रूप में यह योजना तैयार की गयी है जिसका नाम एमबीबीवाई रखा गया है।

इस योजना हेतु किसानों को मेरी फसल मेरा ब्यौरा (MFMB) पोर्टल में अपनी फसल और क्षेत्र का पंजीकरण करते समय योजना का विकल्प चुनना होगा। पोर्टल में किसानों को फसल बीमा योजना का लाभ प्रदान करने हेतु मौसमवार फसल बीमा पंजीकरण की अवधि समय के अनुसार निर्धारित की जाएगी। यह योजना व्यक्तिगत क्षेत्र पर लागू की जाएगी। यानी की फसल हानि का आंकलन व्यक्तिगत क्षेत्र स्तर पर किया जायेगा। इसके साथ ही प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत राज्य और जिला स्तरीय समितियां राज्य एवं जिला स्तर में नजर और समीक्षा एवं विवादों का समाधान करेगी।

एमबीबीवाई

योजना का नामहरियाणा मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना
योजना शुरू की गयी हरियाणा सरकार
वर्ष 2022
लाभार्थीहरियाणा के किसान
लाभ किसानों को बागवानी फसलों में प्राकृतिक आपदा
से हुए नुकसान के लिए बीमा कवर प्रदान करना
उद्देश्यउच्च जोखिम वाली बागवानी फसलों के लिए किसानों को प्रोत्साहित करना
बीमा कवर हेतु प्रीमियम का भुगतान सब्जी एवं मसालों के लिए 750 रुपये एवं फलों के लिए 1000 रुपये
बीमा कवर30000 एवं 40000 रूपये
रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन,ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइट hortharyana.gov.in

MMBY मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना के उद्देश्य

एमबीबीवाई – योजना का मुख्य उद्देश्य है राज्य के किसान नागरिकों को उच्च जोखिम वाली बागवानी फसलों की खेती करने के लिए प्रोत्साहित करना। किसानों को प्राकृतिक आपदा में हुए नुकसान की भरपाई करने के लिए आर्थिक भरपाई करने के लिए यह एक विशेष योजना हरियाणा सरकार के द्वारा किसानों के लिए शुरू की गयी है। फसल बीमा कवर का लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों को इस योजना के तहत फसल के आधार पर प्रीमियम राशि का भुगतान करना होगा। यह योजना किसानों को फसल में हुए नुकसान से बचाने के लिए महत्वपूर्ण योजना है। यह योजना किसानो की आय में वृद्धि करने के साथ-साथ उनकी आर्थिक स्थिति में भी सुधार करने में सहयोग करेगी। प्राकर्तिक आपदा से हुई हानि की पूरी भरपाई अब राज्य सरकार के द्वारा की जाएगी इस सुविधा के आधार पर किसान व्यक्ति उच्च जोखिम वाली बागवानी फसलों की खेती करने के लिए प्रोत्साहित होंगे।

हरियाणा मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना हेतु बजट

MBBY– के माध्यम से हरियाणा सरकार के द्वारा किसानों को लाभांवित करने हेतु योजना के कार्यान्वयन के लिए 10 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित की गयी है। यह हरियाणा सरकार के द्वारा शुरू की गयी एक राज्य स्तरीय योजना है जो किसानों के लिए राज्य भर में लागू की गयी है। इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना किसानों के लिए एक स्वैछिक होगा। यह किसानों को बागवानी फसलों में उच्च जोखिम वाली फसलों को करने के लिए प्रोत्साहित करेगी। बागवानी फसलों में कुल मिलाकर 21 फसलों हेतु बीमा कवर किसानों को प्रदान किया जायेगा। किसान व्यक्ति नीचे दिए गए विवरण के आधार पर देख सकते है की बीमा हेतु कौन सी फसलों को शामिल किया गया है।

  • अमरुद
  • बेर
  • कीनू
  • आम
  • लहसन
  • हल्दी
  • मूली
  • पत्ता गोभी
  • शिमला मिर्च
  • हरी मिर्च
  • टमाटर
  • प्याज
  • आलू
  • फूलगोभी
  • मटर
  • भिंडी
  • लौकी
  • करेला
  • गाजर
  • बैंगन

Haryana Mukhymantri Bagwani Beema Yojana के लाभ एवं विशेषताएं

  • हरियाणा राज्य सरकार के द्वारा किसानों को बागवानी फसलों में हुए नुकसान में राहत प्रदान करने हेतु यह योजना 25 सितंबर 2021 को शुरू की गयी।
  • पान मसाले ,फलों की फसल ,एवं सब्जियों के फसल में हुई आर्थिक हानि के लिए किसानों को योजना के तहत बीमा कवर प्रदान किया जायेगा।
  • प्रतिकूल मौसम एवं कीटों के कारण हुई हानि में किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए यह एक महत्वपूर्ण योजना है।
  • एमबीबीवाई के तहत कुल मिलाकर 21 फसलों का बीमा कवर किसानों को प्रदान किया जायेगा।
  • बीमा कवर हेतु किसानों को फसलों के अनुसार प्रीमियम का भुगतान करना होगा ,जैसे सब्जी और पान मासलो की फसल के लिए 750 रुपये का प्रीमियम और फलों की फसल के लिए 1 हजार रूपये प्रीमियम राशि का भुगतान करना होगा।
  • MBBY के माध्यम से किसानों को आश्वाशन बीमा के रूप में फसलों के आर्थिक नुकसान के लिए 30 हजार रुपये से लेकर 40 हजार रुपये का बीमा कवर प्रदान किया जायेगा।
  • किसानों को यह बीमा राशि प्रति एकड़ के अनुसार लेने का लाभ मिलेगा।
  • इस योजना के अंतर्गत राज्य में बागवानी फसल के क्षेत्र में वृद्धि होगी।
  • बीमा दावे से निपटने के लिए राज्य स्तर में सर्वें किया जायेगा। इस सर्वें के लिए नुकसान की भरपाई के लिए 4 श्रेणियां तय की जाएगी।
  • मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना का लाभ उठाने के लिए किसानों को मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल में पंजीकरण करना होगा।
  • इस योजना के संचालन हेतु 10 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया गया है।

MMBY योजना के पैरामीटर

  • ठण्ड
  • बाढ़
  • हेलस्ट्राम
  • बारिश
  • आग लगना आदि।

Haryana Mukhymantri Bagwani Beema Yojana Clame

  • मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना के अंतर्गत क्लेम राशि का निपटान करने के लिए सरकार के द्वारा सर्वे का आयोजन किया जायेगा।
  • इस सर्वे के आधार पर क्लेम के लिए चार श्रेणी निर्धारित की जाएगी ,जो 25 ,50 ,75 और 100 प्रतिशत के रूप में अलग-अलग विभाजित होगी।
  • किसानों के लिए MBBY योजना वैकल्पिक रखी गयी है।
  • बागवानी फसल की खेती करने वाले सभी राज्य के किसान बीमा कवर का लाभ लेने के लिए इस योजना का लाभ ले सकते है।
  • सब्जियों की फसल में हुई हानि के लिए 30 हजार रुपये एवं फलों की फसल के लिए 40 हजार रुपये बीमा कवर प्रदान किया जायेगा।

मुख्यमंत्री बागवानी योजना हेतु पात्रता

  • केवल हरियाणा राज्य के मूल निवासी किसान नागरिक ही इस योजना का लाभ उठा सकते है।
  • मुख्यमंत्री बीमा योजना का लाभ लेने के लिए किसानों द्वारा बागवानी फसल के खेती की जानी चाहिए।
  • बीमा कवर हेतु किसानों को फसलों के लिए प्रीमियम का भुगतान करना होगा।

एमबीबीवाई हेतु दस्तावेज

  • किसान की फसल ब्योरे से संबंधित विवरण
  • आवासीय प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • मोबाईल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • वार्षिक आय प्रमाण पत्र

हरियाणा मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन ऐसे करें?

राज्य के किसान नागरिक हरियाणा मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना हेतु नीचे दिए गए स्टेप्स के आधार पर आवेदन कर सकते है।

  • मुख्यमंत्री बागवानी फसल बीमा योजना में आवेदन करने के लिए hortharyana.gov.in की आधिकारिक वेबसाइट में विजिट करें।
  • वेबसाइट में विजिट करने के पश्चात होम पेज में SFACH Portal में क्लिक करें। हरियाणा मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन
  • अब नए पेज में बागवानी में अनुदान एवं अन्य सेवाओं के विकल्प में क्लिक करें।
  • इसके पश्चात Register Farmer के विकल्प में क्लिक करें। हरियाणा मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन
  • अब आपकी स्क्रीन में आवेदन फॉर्म खुलकर आएगा। हरियाणा मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन
  • आवेदन फॉर्म में पूछी गयी सभी महत्वपूर्ण जानकारी को दर्ज करें।
  • जैसे व्यक्तिगत जानकारी ,एड्रेस से संबंधित जानकारी ,बागवानी फसल का विवरण आदि।
  • सभी महत्वपूर्ण विवरण भरने के बाद किसान व्यक्ति को आवेदन फॉर्म के साथ गए दस्तावेजों को अपलोड करना है।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म को सबमिट करें।
  • इस तरह से आप बागवानी फसलों में आवेदन की प्रक्रिया को पूरा कर सकते है।

मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना से संबंधित प्रश्न उत्तर

हरियाणा एमबीबीवाई योजना की शुरुआत कब की गयी ?

हरियाणा राज्य सरकार के द्वारा 25 सितंबर 2021 को एमबीबीवाई योजना की शुरुआत की गयी है।

MBBY योजना के अंतर्गत कौन से किसान नागरिकों को बीमा कवर प्रदान किया जायेगा ?

राज्य के उन सभी किसान नागरिकों को MBBY के अंतर्गत बीमा कवर प्रदान किया जायेगा जो बागवानी फसलों की खेती करते है एवं जिनकी फसल प्राकृतिक आपदा के कारण ख़राब हुई है।

क्या बीमा कवर हेतु किसानों को मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना हेतु प्रीमियम राशि का भुगतान करना होगा ?

जी हाँ किसानों को बागवानी फसलों में प्राकृतिक आपदा के कारण हुए नुकसान के लिए प्रीमियम राशि का भुगतान करना होगा। यह प्रीमियम राशि प्रति एकड़ के हिसाब से किसानों को 5 प्रतिशत के रूप में जमा करनी होगी।

बागवानी फसलों में हुए आर्थिक नुकसान का आंकलन करने के लिए सरकार के द्वारा किस तरह से सर्वे किया जाता है ?

बागवानी फसलों में हुए आर्थिक नुकसान के लिए सर्वें के आधार पर फसलों का आंकलन किया जाता है। इस आँकलन में फसलों के बीमा क्लेम करने के लिए चार श्रेणियों में विभजित किया गया है। 25,50,75 और 100 प्रतिशत के आधार पर किसानों को यह क्लेम राशि प्रदान की जाती है।

हरियाणा मुख्यमंत्री बागवानी फसल बीमा योजना में कितनी फसलों को बीमा कवर हेतु शामिल किया गया है ?

किसान नागरिकों को हरियाणा मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना के अंतर्गत 21 फसलों का बीमा लेने का लाभ मिलेगा जिसमें ,फल ,सब्जी और मासलों की फसलों को शामिल किया गया है।

Leave a Comment