गुड फ्राइडे कब और क्यों मनाया जाता है? जानें इसका इतिहास, महत्व और तथ्य | Good Friday In Hindi

हर साल देशभर में तमाम धर्मों के द्वारा कोई न कोई त्यौहार जरूर मनाया जाता है। हिंदुओं के त्यौहार होली, दिवाली की बात करें या मुस्लिम धर्म में मनाये जाने वाले त्यौहार रमजान, ईद सभी को बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाता है। भारत ही नहीं सभी देशों में ईसाईयों द्वारा हर साल अप्रैल माह में गुड फ्राइडे (Good Friday) मनाया जाता है। यह जश्न का त्यौहार नहीं बल्कि शोक दिवस के रूप में मनाया जाता है।

गुड फ्राइडे कब और क्यों मनाया जाता है?
गुड फ्राइडे कब और क्यों मनाया जाता है? Good Friday In Hindi

ईसाई धर्म में गुड़ फ्राइडे का विशेष महत्त्व है यह दिन प्रभु ईसा मसीह की क़ुरबानी की याद दिलाता है। Good Friday को black Friday, होली फ्राइडे ,ग्रेट फ्राइडे के नाम से भी जाना जाता है। ईसाईयों द्वारा गुड फ्राइडे कब और क्यों मनाया जाता है? गुड़ फ्राइडे का इतिहास,महत्त्व और तथ्य सभी की जानकारी आपको आर्टिकल में दी जाएगी। तो चलिए जानते हैं Good Friday In Hindi के बारे में विस्तार से।

गुड फ्राइडे कब और क्यों मनाया जाता है?

हर साल ईसाई धर्म द्वारा ईस्टर (easter) से पहले आने वाले शुक्रवार (friday) को good friday मनाया जाता है। हर साल गुड फ्राइडे अलग -अलग तिथि पर पड़ता है इसकी कोई निश्चित तिथि नहीं है। ईसाई धर्म में ईस्टर से पहले आने वाले friday को गुड फ्राइडे मनाया जाता है। हर साल ईस्टर को चंद्र कैलेंडर के अनुसार मनाया जाता है।

ब्लैक फ्राइडे या ग्रेट फ्राइडे, गुड फ्राइडे को ही कहा जाता है। यह दिन ईसाईयों के लिए बेहद ख़ास है। इसी दिन यहूदी शासकों द्वारा ईसा मसीह को मानसिक और शारीरिक यातनाएँ दी गयी थी। प्रभु ईसा मसीह को जिस दिन सूली पर लटकाया गया था उस दिन शुक्रवार था। इस दिन ईसा मसीह ने मानव कल्याण के लिए अपनी कुर्बानी दी थी इस कारण यह दिन ईसाईयों के लिए काफी खास है। ईसाई लोग इस दिन को ब्लैक फ्राइडे या ग्रेट फ्राइडे के रूप में भी मानते हैं क्योंकि इसी दिन ईश्वर के दूत ईसा मसीह के शरीर को किलों से ठोककर सूली से लटकाया गया था।

इसे भी जानें : रमजान क्यों मनाया जाता है? क्‍या है रमजान का महत्‍व

Key Highlights of Good Friday In Hindi

आर्टिकल का नाम गुड फ्राइडे कब और क्यों मनाया जाता है?
सम्बंधित धर्म ईसाई
महत्त्व ईसा मसीह को सूली पर चढाने से उनकी मृत्यु का स्मरण करने का पर्व
तिथि ईस्टर रविवार से ठीक पहले पड़ने वाला शुक्रवार
Good Friday date 7 april 2023 (पश्चिमी)
14 अप्रैल (पूर्वी)

Good Friday 2024 कब है ?

ईसाई लोग ईश्वर के दूत प्रभु ईसा मसीह की कुर्बानी वाले दिन को याद करते हुए गुड फ्राइडे या ब्लैक फ्राइडे के रूप में मनाते हैं। good friday को शोक दिवस के रूप में मनाया जाता है क्योंकि प्रभु ईशु को इसी दिन कुछ कटरपंथियों को खुश करने के लिए सूली पर लटकाया गया था। जिस दिन ईसा मसीह को सूली पर लटकाया गया था उस दिन शुक्रवार का दिन था इस दिन प्रभु ईशु को काफी यातनाएं दी गयी जिसके बाद उनकी मौत हो गयी थी। अपनी मौत के 3 दिन बाद प्रभु ईशु फिर से जीवित हो उठे जिस दिन प्रभु ईसा मसीह जीवित हुए उस दिन को ईस्टर कहते हैं।

हर साल गुड फ्राइडे या ब्लैक फ्राइडे को ईस्टर के पहले वाले शुक्रवार को मनाया जाता है। गुड फ्राइडे की कोई निश्चित तिथि नहीं है यह प्रत्येक वर्ष ईस्टर रविवार से पहले शुक्रवार के दिन ही मनाया जाता है। इस साल Good Friday 2024 को 29 मार्च को मनाया जायेगा।

इसे भी पढ़े : हिंदी कैलेंडर अप्रैल [चैत्र – वैशाख] 2080

गुड फ्राइडे का इतिहास (good Friday History)

  • आज से लगभग 2000 वर्ष पहले प्रभु ईसा मसीह द्वारा जेरूसलम में सभी लोगों को अहिंसा ,भाईचारे और शांति का पाठ पढ़ाया गया था
  • वह ईश्वर के दूत थे जिनका जन्म मानव कल्याण के लिए हुआ था।
  • प्रभु ईसा मसीह का स्वयं को ईश्वर का दूत कहते थे लेकिन यहूदी कटरपंथी के धर्मगुरुओं को उनका यह सब कार्य बिलकुल भी सहन नहीं हुआ जिस कारण उन्होंने ईसा मसीह का काफी विरोध किया था।
  • धर्मगुरुओं को ईशु पर मसीह वाली कोई भी बात नजर नहीं आयी इस कारण कट्टरपंथी धर्मगुरुओं द्वारा इस बात की शिकायत रोमन गवर्नर पिलातुस से की गयी थी। पिलातुस ने यहूदियों को खुश करने के लिए उनके आदेश को मानकर ईसा मसीह को क्रूस पर लटकाये जाने का आदेश दिया।
  • क्रूस पर लटकाते समय ईशु मसीह को कई प्रकार की यातनाएँ दी गयी थी। उनके सर पर काँटों का ताज पहनाया गया, उनके ऊपर थूका गया, कोड़े मारे गए और भी कई अमानवीय यातनाएं दी गयी थी।
  • कई प्रकार की यातनाओं को सहने के बाद प्रभु ईशु की मौत हो गयी जिस दिन उनकी मृत्यु हुई थी उस दिन शुक्रवार (friday) था जिस कारण इस दिन को याद करते हुए good Friday या black friday मनाया जाता है।
  • अपनी मृत्यु के बाद ईसा मसीह फिर से जीवित हो उठे यह वही दिन है जिसे ईसाई लोग ईस्टर के रूप में मानते हैं।

कैसे मनाया जाता है ‘Good Friday’

  • गुड फ्राइडे या ब्लैक फ्राइडे के दिन ईसाई लोग चर्च जाते हैं।
  • गुड फ्राइडे की तैयारी प्रार्थना और उपवास के रूप में 40 दिन पूर्व ही शुरू कर दी जाती है।
  • इस दौरान ईसाई लोगों द्वारा सात्विक भोजन पर अधिक जोर दिया जाता है।
  • इस दिन ईसाई लोग गिरजाघर /चर्च जाकर प्रार्थना करते हैं।
  • चर्च में इस दिन शाम को करीबन 3 बजे के आसपास प्रार्थनाओं और सभाओं का आयोजन किया जाता है।
  • ईसाई लोग इस दिन फ़ास्ट रखते हैं और चर्च में जाकर सूली पर चढ़ाने के लिए जुलुस निकालते हैं और शोक मानते हैं।
  • इस दिन गिरजाघरों में घंटियां नहीं बजाने की परम्परा भी है।

black Friday या Good Friday का मतलब क्या है ?

ईसाई लोग प्रभु ईशु की कुर्बानी को याद करते हुए हर साल ईस्टर रविवार के पहले शुक्रवार को गुड फ्राइडे या ब्लैक फ्राइडे के रूप में मनाते हैं। black Friday या Good Friday को होली फ्राइडे या ग्रेट फ्राइडे भी कहा जाता है। यह वही दिन है जब इशु मसीह ने ईश्वर से उनके साथ बुरा व्यवहार करने वालों को क्षमा करने की बात कही थी। इशु को 6 घंटों तक सूली पर लटकाया गया था।

Good Friday का महत्त्व (importance)

पवित्र धर्मविधि पर संविधान sacrosanctum concilium के आर्टिकल 110 के अनुसार कैथलिक चर्चों में गुड फ्राइडे या ईस्टर ईव को पास्का व्रत के रूप में मानते हैं। गुड फ्राइडे की धर्मविधि में 3 भाग शामिल हैं जो इस प्रकार से है -शब्द की धर्मविधि, क्रॉस की पूजा या प्रार्थना और पवित्र भोज। गुड फ्राइडे का दिन सभी ईसाईयों के लिए काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि यह दिन ईसाई धर्म के संस्थापक और ईश्वर के दूत ईशु मसीह की कुर्बानी का दिन है।

good friday के दिन ही ईसा मसीह ने कई प्रकार की यातनाओं को सहने के बाद अपने प्राण त्यागे थे उनकी इस क़ुरबानी की याद में हर साल अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार अप्रैल महीने में Good Friday या black friday मनाया जाता है।

great friday or Good Friday facts (तथ्य)

  • इस दिन ईसाई धर्मग्रंथों के अनुसार प्रभु ईसा मसीह को सूली पर चढ़ाया गया था।
  • जिस दिन ईसा मसीह सूली पर चढ़ाये गए थे उस दिन फ्राइडे था जिसकी याद में ईसाई लोग great friday or Good Friday मनाते हैं।
  • प्रभु ईशु अपनी मौत के 3 दिन बाद जीवित हो उठे उस दिन रविवार था इस दिन को ईसाई लोग ईस्टर मनाते हैं।
  • गुड फ्राइडे को ब्लैक फ्राइडे, ग्रेट फ्राइडे, होली फ्राइडे के नाम से भी जाना जाता है।
  • इस दिन ईसाई धर्म के लोग काले कपड़े पहनकर अपना शोक व्यक्त करते हैं और प्रभु ईसा मसीह से अपनी पापों के लिए माफ़ी मांगते हैं।
  • चर्च में इस दिन ईसाई लोग प्रार्थना करते हैं और प्रसाद के रूप में मीठी रोटी खाते हैं। इस दिन चर्च में घंटे नहीं बजाये जाते हैं।
  • ईसाई समुदाय ब्लैक फ्राइडे के दिन से पहले 40 दिनों का फ़ास्ट रखते हैं। कुछ लोग शुक्रवार को उपवास रखते है जिसे लेंट कहा जाता है।
  • किन्हीं स्थानों में इस दिन -रात के समय प्रभु यीशु की छवि को लेकर यात्रा निकाली जाती है।
  • आज के ही दिन ईसाई समाज सामाजिक कार्यों के लिए चंदा और दान देते हैं।

Good Friday से सम्बंधित अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQs)-

गुड फ्राइडे को किन नामों से जाना जाता है ?

ईसाई समाज में good Friday को ब्लैक फ्राइडे ,होली फ्राइडे ,ग्रेट फ्राइडे के नाम से भी जाना जाता है।

good friday का अर्थ क्या है ?

गुड फ्राइडे का ईसाई समुदाय में अधिक महत्व है क्योंकि इसी दिन प्रभु यीशु मसीह को कई प्रकार की यातनाएँ देकर सूली पर लटकाया गया था जिस कारण इस दिन की याद में good friday मनाया जाता है। गुड फ्राइडे ईसाई लोगों के लिए शोक का दिन है। good friday का दिन यीशु मसीह की कुर्बानी से जुड़ा हुआ है।

29 मार्च 2024 को क्या है ?

इस साल 2024 में गुड फ्राइडे 29 मार्च को मनाया जायेगा।

Leave a Comment