Generation Of Computer In Hindi | (कंप्यूटर की पीढ़ियों के बारे में जानिए हिंदी में) 2022

किसी भी वस्तु के विकास के पीछे कई सारे फेक्टर्स काम करते हैं। मनुष्य का विकास भी उसकी समझ और वातावरण में हो रहे बदलाव में ढलने के लिए धीरे धीरे हुआ। हमारी दैनिक जरूरतों में इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का कितना महत्व है यह तो आप सभी जानते ही होंगे। मोबाइल फ़ोन हो या कंप्यूटर हम खुद को इन्हीं से घिरा हुआ पाते हैं।मानव जीवन की बात करें या किसी अन्य वस्तु की सभी में समय परिवर्तन के साथ साथ कई बदलाव देखने को मिलते हैं जो की जरुरी भी है।आज हम इस लेख में मानव जीवन के विकास में अपना योगदान देने वाले कंप्यूटर के बारे में बात करने जा रहे हैं। आज आप कंप्यूटर की पीढ़ियों (Generation Of Computer)के बारे में हिंदी में जान सकेंगे।

वाईफाई फुल फॉर्म इन हिंदी | Types of WiFi जाने यहां

Generation Of Computer
Generation Of Computer

क्या आप जानते हैं कंप्यूटर की पहली पीढ़ी का विकास कब हुआ था ? यदि नहीं तो आज आपको कंप्यूटर की पीढ़ियों (Generation Of Computer In Hindi) के बारे में जानकारी दी जाएगी। तो चलिए जानते हैं कंप्यूटर की पीढ़ियों के बारे में विस्तार से।

Generation Of Computer In Hindi

आर्टिकल का नाम Generation Of Computer (कंप्यूटर की पीढ़ियां)
कंप्यूटर की प्रथम पीढ़ी वर्ष 1946-1956
कंप्यूटर की द्वितीय पीढ़ी वर्ष 1956-1964
कंप्यूटर की तृतीय पीढ़ी वर्ष 1964-1971
कंप्यूटर की चतुर्थ पीढ़ी वर्ष 1971-1985
कंप्यूटर की पंचम पीढ़ी वर्ष 1985 से अब तक
वर्तमान वर्ष 2022 -23

कम्प्यूटर की पीढियां

अब तक कंप्यूटर की पांच पीडियां आ चुकी हैं। पहले इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर कंप्यूटर का अविष्कार सन्न 1945 में हुआ था। इस पहले इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर को इलेक्ट्रॉनिक न्यूमेरिकल इंटीग्रेटर एंड कैलकुलेटर (ENIAC) कहा जाता था। सन्न 1945 से ही कंप्यूटर के आविष्कार की रफ़्तार को नयी दिशा मिली। John Vincent Atanasoff, J. Presper Eckert, और John Mauchly ने 1945 में ENIAC (Electronic Numerical Integrator and Computer) का आविष्कार किया था।

आज के कंप्यूटर की तुलना में पहले के कंप्यूटर काफी भारी और रखरखाव की दृस्टि से पेचीदा हुआ करते थे। कंप्यूटर की पीढ़ियों में आकार ही नहीं बल्कि उनके सञ्चालन और कार्य की गति में भी काफी परिवर्तन आया है। कंप्यूटर की पीढ़ी में समय के साथ हो रहे बदलावों से मानव जीवन के कई कार्यों में सुगमता आयी है। जिस समय कंप्यूटर का विकास हुआ था तो इनके आकार भी काफी बड़े थे पहली पीढ़ी के कम्प्यूटरों में वैक्‍यूम ट्यूब, मैग्‍नेटिक ड्रम, कई सारे एयर - कंडीशनरों का प्रयोग किया जाता था। समय के साथ साथ आज के दौर के कम्प्यूटरों में VLSIC के स्थान पर ULSIC (Ultra Large Scal Integrated Circuit) चिप के माइक्रोप्रोसेसर को उपयोग में लाया जाता है।

Computer Generation Type

GenerationTypeYear
पहली पीढ़ी (First Generation Computer)वेक्यूमट्यूब का प्रयोग
पांच कार्ड पर आधारित
बहुत सारे AC का प्रयोग
1946 -1956
दूसरी पीढ़ी (Second generation computer)ट्रांजिस्टर प्रयोग
अधिक तेज गति
COBOL एवं FORTRAN जैसी भाषाओँ का प्रयोग
प्रिंटर एवं ऑपरेटिंग सिस्‍टम का प्रयोग
1956 -1964
तीसरी पीढ़ी (Third generation Computer)Integrated Circuit or IC का उपयोग 1964 -1971
चौथी पीढ़ी (Fourth generation Computer)VLSI (Very Large Scale Integrated) का उपयोग 1971-1985
पांचवीं पीढ़ी (Fifth generation Computer)ULSIC (Ultra Large Scal Integrated Circuit) का प्रयोग 1985 से लेकर अभी तक 

First Generation of Computer (प्रथम पीढ़ी के कम्प्यूटर )

मानव जीवन को आसान बनाने में अपना योगदान देने वाले कंप्यूटर पहले वजन में काफी भारी हुआ करते थे। कंप्यूटर की पहली पीढ़ी (First Generation of Computer) की बात करें तो इसका समय 1945 से 1955 तक माना जाता है। क्या आप जानते हैं पहले Electronic Computer का अविष्कार किसने किया था ? सन्न 1945 में John Vincent Atanasoff, J. Presper Eckert, एवं John Mauchly ने पहले इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर ENIAC का अविष्कार किया था। यह आविष्कार University of Pennsylvania में किया गया था। इस कंप्यूटर की खास बात यह है की इनमें वैक्यूम ट्यूब का इस्तेमाल किया गया था।

First Generation Computer
First Generation Computer

आकार में बड़े होने के कारण इनका रखरखाव करना मुश्किल था। इन कम्प्यूटरों में 18000 Vacuum Tube लगे हुए थे जिस कारण इनका आकार भी काफी बड़ा था। पहली पीढ़ी के कंप्यूटर आकार में बड़े हुआ करते थे की इनके रखने के लिए बड़े बड़े कमरों की आवश्यकता होती थी। यह कंप्यूटर 1800 वर्ग फ़ीट में फैले हुए थे। 200 किलोवाट की इलेक्ट्रिक पावर के साथ साथ लगभग 70 हजार राजिस्टर्स और 10 हजार कैपेसिटर इन Computer में लगे होते थे।

यदि तुलनात्मक रूप से देखा जाए तो कंप्यूटर की पहली पीढ़ी के मुकाबले आज के दौर की पीढ़ी में काफी अंतर् है। आज के समय में कंप्यूटर के आकार में कमी देखी गयी है। आकार में होने के साथ-साथ आज के दौर के कंप्यूटर कार्य की गति के मुकाबले पहली 4 पीढ़ियों से काफी आगे है।

Examples of First Generation of Computer

  • ENIAC (Electronic numerical integrator and computer)
  • UNIVAC (Universal Automatic Computer)
  • UNIVAC-I
  • EDSAC (Electronic Delay Storage Automatic Calculator)
  • EDVAC (Electronic Discrete Variable Automatic Computer)
  • MARK-I

Second Generation Of Computers (कम्‍प्‍यूटरों की दूसरी पीढ़ी )

second generation of computer
second generation of computer

सन्न 1956 से 1964 तक के कम्प्यूटरों को Computers की Second Generation माना गया है। इन कम्प्यूटर्स में ट्रांजिस्टर को प्रयोग में लाया जाता था। ट्रांजिस्टर पहली पीढ़ी के कंप्यूटर में लगने वाले वैक्यूम ट्यूब से काफी बेहतर थे। Computers की Second Generation में इस्तेमाल किये जाने वाले ट्रांजिस्टर का अविष्कार विलियम शोकले और उनके सहयोगियों द्वारा साल 1947 में किया गया था।

Second Generation के कंप्यूटर First Generation के कम्प्यूटर्स से आकार में छोटे थे। दूसरी पीढ़ी के कम्‍प्‍यूटरों में Cobol, Snobol एवं Fortran जैसे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का विकास हुआ। इतना ही नहीं इस पीढ़ी के कंप्यूटर अधिक समय तक चलने पर अधिक गर्म नहीं होते थे और इनमे डाटा स्टोर करने की क्षमता भी पहले पीढ़ी के कंप्यूटर से अधिक थी। दूसरी कम्प्यूटरों में डाटा को सेव करने के लिए Magnetic Core Memory का उपयोग किया जाता था।

Examples of Second Generation of Computer

  • PDP-I
  • NCR-304
  • IBM-1401
  • IBM-7000
  • IBM-1620

Third Generation of Computer (कंप्यूटर की तीसरी पीढ़ी )

third generation of computer

सन्न 1964 से 1971 तक कंप्यूटर के विकास में तेजी आयी। 1964 से 1971 के बीच आने वाले सभी कम्प्यूटरों को तीसरी पीढ़ी का माना गया है। इस पीढ़ी के कम्प्यूटरों में ट्रांजिस्टर के स्थान पर इंट्रीग्रेटेड सर्किट (IC) का प्रयोग किया गया था। काया आप जानते हैं तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर (Third Generation of Computer) में लगने वाले Integrated Circuit चिप का अविष्कार किसने किया था ?

आपको बता दें की इंट्रीग्रेटेड सर्किट (IC) का सन्न 1958 में जैक किल्बी अविष्कार किया था। इस चिप की सहायता से Third Generation के Computers की कार्य क्षमता में तेजी आयी साथ ही इनके आकार में पहले के कम्प्यूटर की तुलना में काफी कमी आयी। यह आकार में छोटे हो गए थे और इनके द्वारा अधिक डाटा को आसानी से स्टोर किया जाने लगा था। तीसरी पीढ़ी के कम्प्यूटरों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाना भी पहले के मुकाबले आसान हो गया था। Third Generation के Computer में Operating System का प्रयोग किया जाता था।

Examples of Third Generation of Computer

  • IBM 960
  • IBM-370 / 168
  • CDC -1700
  • PDP II
  • TDC-316
  • हनीवेल-6000

Fourth Generation of Computer (कंप्यूटर की चौथी पीढ़ी )

fourth generation of computer

कंप्यूटर के चौथी पीढ़ी की शुरुआत सन्न 1971 से मानी जाती है। 1971 से 1985 तक के कंप्यूटर में  Micro Processor का प्रयोग किया जाने लगा था। Fourth Generation of Computer में Integrated Circuit चिप की जगह VLSI (Very Large Scale Integrated) ने ले ली थी। इस पीढ़ी के कम्प्यूटर्स में GUI यानी  ग्राफिकल यूजर इंटरफ़ेस जैसे Operating System का प्रयोग किया गया था। intel ने 1971 में अपना पहला Micro Processor पेश किया था। माइक्रो कंप्यूटर का अकार इतना छोटा था की इन्हें आप कहीं भी ले जा सकते हैं।

Examples of Fourth Generation of Computer

  • DEC-10
  • STAR-1000
  • IBM-4341
  • PPR-II
  • APPLE-II

Fifth generation of computer (कंप्यूटर की पांचवीं पीढ़ी)

fifth generation of computer

1985 से अब तक के सभी कंप्यूटर को Fifth generation में रखा गया है। पांचवी पीढ़ी के कंप्यूटर की खास बात यह है की इनमें VLSIC की जगह ULSIC (Ultra Large Scale Integrated Circuit) चिप को Micro Processor के तौर पर प्रयोग किया गया है। पांचवी पीढ़ी के कंप्यूटर में AI यानी Artificial Intelligence का प्रयोग हो रहा है। Fifth generation of computer में हाई लेवल लैंग्वेज का उपयोग किया जाता है जैसे- python, C, C++ , java आदि। इस पीढ़ी के कम्प्यूटरों का प्रयोग Engineering, Researches, Defense जैसे कई महत्वपूर्ण क्षेत्रों में किया जाता है।  

Examples of Fifth Generation of Computer

  • Desktop
  • Notebook
  • Ultrabook
  • Chromebook
  • Laptop
  • Palmtop
  • Param 

कंप्यूटर की पीढ़ियों के बारे में अकसर पूछे जाने वाले सवाल (FAQs )-

computer की अब तक कितनी पीढ़ियां हो चुकी है ?

कंप्यूटर की पांच पीढियां हैं। वर्तमान में कंप्यूटर की पांचवी पीढ़ी है।

प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर कैसे हुआ करते थे ?

पहली पीढ़ी के कंप्यूटर में वेक्यूम ट्यूब (Vacuum Tube) का प्रयोग किया जाता था। 1946 से 1956 तक के सभी कंप्यूटर पहली पीढ़ी के कंप्यूटर हैं।

दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटर में किस चीज़ का उपयोग हुआ था ?

सेकंड जनरेशन के कंप्यूटर में ट्रांजिस्टर का उपयोग किया जाने लगा था। 1956 से 1964 तक के कंप्यूटर दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटर हैं।

Second Generation के Computers में लगने वाले ट्रांज़िस्टर का अविष्कार किसने किया था ?

ट्रांज़िस्टर का अविष्कार विलियम शोकले तथा उनके सहयोगी द्वारा सन्न 1947 में अमेरिका में किया गया था। 

तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर की अवधि कब से कब तक थी ?

कंप्यूटर के तीसरी पीढ़ी की अवधि 1965-1971 तक थी। इस जनरेशन के कंप्यूटर में इंटीग्रेटेड सर्किट (आईसी) का उपयोग किया गया था।

third generation Computer कौन से है ?

3rd generation Computer के उदहारण है -IBM 960 ,IBM 370,CDC -1700 ,PDP II

Fourth Generation of Computer कौनसे है ?

IBM-4341,DEC-10 ,STAR-1000 ,PPR-II कंप्यूटर की चौथी पीढ़ी के उदहारण हैं।

चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर में किस चीज़ का उपयोग किया जाता था ?

computer की  Fourth Generation में Integrated Circuit के जगह Very Large Scale Integration (VLSI) का उपयोग किया जाता था।

Fifth Generation of Computer में किन High-level language का उपयोग किया जाता है ?

पांचवी पीढ़ी के कंप्यूटर में C और C ++, Java, .Net आदि का उपयोग किया जाता है।

Leave a Comment