e-RUPI Digital Payment: Check Benefits, Working & Download e Rupi App

देश के विकास के लिए सरकार सभी प्रयास करती रहती है। हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने सभी कार्यों को सरल बनाने के लिए डिजिटल माध्यम का प्रयोग किया है जिससे सभी कार्य आसानी से हो जाते है। और नागरिकों को भी प्रधानमंत्री जी द्वारा देश के हित और विकास के किये गए कार्यों से लाभ प्राप्त हुआ है। प्रधानमंत्री जी ने 2 अगस्त 2021 को e-RUPI डिजिटल पैमेंट पलटफोर्म की शुरुवात की है। इसके माध्यम से आवेदक आसानी से डिजिटल माध्यम से भुगतान कर सकेंगे। अपने UPI प्लेटफार्म पर नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ़ इंडिया ने डिजिटल पैमेंट प्लेटफार्म को लांच किया है।

पीएम डिजिटल हेल्थ मिशन कार्ड कैसे बनवाएं

e-RUPI digital payment
e-RUPI digital payment

यह डिजिटल सेवा नागरिकों के लिए बहुत ही लाभकारी साबित होगी। आज हम आपको e-RUPI डिजिटल पैमेंट से जुडी सभी जानकारियों जैसे: ई-आरयूपीआई डिजिटल भुगतान मोबाइल एप डाउनलोड कैसे करें, e-RUPI Digital Payment क्या है, इससे मिलने वाले लाभ, ई-रुपी डिजिटल पैमेंट को शुरू करने का उद्देश्य आदि के बारे में बताने जा रहे है। यदि आप भी जानकारी जानना चाहते है तो आप हमारे द्वारा लिखे गए आर्टिकल को अंत तक अवश्य पढ़े।

e-RUPI Digital Payment (e-RUPI डिजिटल भुगतान)

आपको बता देते है की e-RUPI डिजिटल पेमेंट प्लेटफार्म द्वारा देश के नागरिक किसी भी तरह का भुगतान ऑनलाइन माध्यम द्वारा आसानी से कर सकते है। इसमें एक QR कोड, SMS स्ट्रिंग से रिलेटेड e-वाउचर्स प्रदान किये जायेंगे। जिनको नागरिकों के मोबाइल पर भेजा जायेगा। अब आवेदक बिना किसी इंटरनेट बैंकिंग, डेबिट, क्रेडिट कार्ड या अन्य डिजिटल पेमेंट जैसे: फ़ोन पे, गूगल पे या पेटीएम के बगैर ही भुगतान कर सकेंगे। डिपार्टमेंट ऑफ़ फाइनेंसियल सर्विसेज, मिनिस्ट्री ऑफ़ हेल्थ एंड फॅमिली वियर और नेशनल हेल्थ एथोरिटी भी e-RUPI डिजिटल पेमेंट प्लेटफार्म को बनाने में सहयोगी रही है। यह प्लेटफार्म डिजिटल माध्यम से बिना किसी फिजिकल इंटरफ़ेस के बगैर होगा।

आर्टिकल e-RUPI डिजिटल पेमेंट
के द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी
लाभ लेने वाले राज्य के नागरिक
उद्देश्य डिजिटल माध्यम से भुगतान की सुविधा प्रदान करना
साल 2021
आधिकारिक वेबसाइट https://www.npci.org.in

ई-रुपी डिजिटल पैमेंट से मिलने वाले लाभ

  • यह एक तरह का प्रीपेड वाउचर का काम करेगा यानी आवेदक को केवल टैप और पे (भुगतान) करना है।
  • ई-रुपी डिजिटल पैमेंट करने के लिए आपको किसी भी इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग की आवश्यकता नहीं होगी।
  • सफलता पूर्वक भुगतान होने पर ही सर्विस प्रोवाइडर को पैसे प्राप्त हो जायेंगे।
  • यह डिजिटल प्लेटफार्म कैशलेस और कॉन्टैक्टलेस होगा।
  • इस प्लेटफार्म का प्रयोग सेवाएं प्रदान करने के लिए भी किया जायेगा जो दवा और पोषण संबंधी सहायता प्रदान करने के लिए भी है।
  • वॉचर्स को ग्राहकों के मोबाइल पर भेजा जायेगा जिससे वह आसानी से भुगतान कर सकेंगे लेकिन वाउचर का इस्तेमाल सिर्फ एक बार किया जा सकता है।
  • किसी भी तरह के कल्याण कार्यक्रम हेतु कर्मचारी भी e-RUPI का लाभ ले सकते है।
  • e-RUPI के माध्यम से किसी भी तरह का फिजिकल (शाररिक) हस्तक्षेप नहीं हो सकेगा। यह सर्विस प्रोवाइडर और लाभार्थियों को सीधा कनेक्ट कर सकेगा और सभी तरह की फिजिकल इंटरफ़ेस को खत्म कर देगा।

ई-रुपी डिजिटल पैमेंट को शुरू करने का उद्देश्य

e-RUPI डिजिटल भुगतान शुरू करने का उद्देश्य यह है कि यह बहुत ही सुरक्षित और सरल है। नागरिक बिना किसी इंटरनेट या नेट बैंकिंग बगैर भी इसका उपयोग आसानी से कर सकते है। जैसा की आप जानते है की आज तक सरकार और बाकि दूसरे इंस्टीटूशन (संस्थान) कई लाभ पाने व सुविधा हेतु पैसे देती है लेकिन अब उन्हें पैसे देने की जरुरत नहीं है। पैसे की जगह वह वाउचर को जारी कर सकेंगे। लाभार्थी इन वॉचर्स का उपयोग इन सभी कार्यो के लिए कर सकता है जैसे: स्वास्थ्य, पोषण, शिक्षा, आदि के लिए इसका प्रयोग कर सकते है। भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा वॉचर्स का सत्यापन किया गया है।

e-RUPI digital payment

ई-रुपी डिजिटल पैमेंट का उपयोग

कंस्यूमर्स के लिए हॉस्पिटल्स के लिए कॉर्पोरेट्स के लिए
इस प्लेटफार्म में नागरिकों के लिए
पैम्नेट प्रोसेस कॉन्टैक्टलेस होगी। केवल दो स्टेप्स का पालन करना होगा। भुगतान प्रक्रिया को पूरा करने के लिए किसी भी डिजिटल भुगतान एप की आवश्यकता नहीं होगी और बैंक खाता ग्राहकों को अपनी प्राइवेसी बनाये रखने के लिए किसी भी प्रकार की पर्सनल इनफार्मेशन देनी की जरुरत नहीं होगी।
यह एक तरह का प्रीपेड वाउचर है जो की सरल और सुरक्षित है। वाउचर को आसानी से रीडीम्ड किया जा सकेगा। हॉस्पिटल्स को अब पैसा सँभालने की आवश्यकता नहीं होगी। अब ई-रूपी डिजिटल के द्वारा भुगतान किया जा सकता है क्यूंकि यह वाउचर वेरिफिकेशन कोड के माध्यम से ऑथोराइस किया गया है। कर्मचारियों को भी यह वॉचर्स बांटे जायँगे उनकी भलाई हेतु वॉचर्स सुरक्षित और कॉन्टैक्टलेस द्वारा दिए जायेंगे। कर्मचारी वॉचर्स भी ट्रैक कर सकते है क्यूंकि इसमें लेनदेन डिजिटल माध्यम से पूरा होगा।

NPCI द्वारा नागरिकों के लिए प्रदान की जाने वाली अन्य सेवाएं

  • UPI यूनिफाइड पैमेंट इंटरफ़ेस (एकीकृत भुगतान इंटरफ़ेस)
  • रुपये एंड पैमेंट (RUPAY)
  • BHIM भारत इंटरफ़ेस फॉर मनी
  • NACH नेशनल ऑटोमेटेड क्लीयरिंग हाउस (राष्ट्रीय स्वचालित समशोधन गृह)
  • इमीडियेट पेमेंट सर्विस (तत्काल भुगतान सेवा)
  • NETC नेशनल इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन (राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक ट्रोल संग्रह)
  • BHIM आधार
  • AEPS आधार इनेबल्ड पैमेंट सिस्टम (आधार सक्षम भुगतान प्रणाली)
  • NFS नेशनल फाइनेंसियल स्विच (राष्ट्रीय वित्तीय स्विच)
  • CTS (चेक ट्रंकेशन सिस्टम)

ई-आरयूपीआई डिजिटल भुगतान मोबाइल एप डाउनलोड करें

  • आवेदक को सबसे पहले गूगल प्ले स्टोर पर जाना है।
  • जिसके बाद आपको सर्च पर जाकर e-RUPI डिजिटल पेमेंट मोबाइल एप लिखना होगा।
  • अब आपको सर्च पर क्लिक कर देना है।
  • जिसके बाद आपके सामने कई सारे एप की लिस्ट खुल जाएगी।
  • आपको यहाँ पहले ऑप्शन पर क्लिक करना होगा
  • जिसके बाद आपको इनस्टॉल बटन पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के पश्चात ई-आरयूपीआई डिजिटल भुगतान मोबाइल एप सक्सेसफुल्ली डाउनलोड हो जायेगा।

ई-आरयूपीआई वाउचर को रीडीम्ड(REDEEMED) करने की प्रक्रिया

सबसे पहले आवेदक को सर्विस प्रोवाइडर आउटलेट पर e-RUPI QR कोड या SMS दिखाना होगा। इसके बाद विक्रेता को यह कोड या SMS को स्कैन करना है। जिसके बाद लाभार्थी के पास एक OTP प्राप्त होगा। यह OTP सर्विस प्रोवाइडर को बताना होगा। जिसे बॉक्स में भरना होगा। जिसके बाद सर्विस प्रोवाइडर को प्रोसीड बटन पर क्लिक कर देना है। जिसके बाद सेवा प्रोवाइडर का भुगतान कर दिया जायेगा।

विभाग से संपर्क करें

यदि आपको किसी भी तरह से कोई भी परेशानी होती है तो आप सीधा विभाग से संपर्क कर सकते है।

  • आवेदक को सबसे पहले नेशनल पैमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ़ इंडिया के आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • जिसके बाद आपके सामने योजना का होम पेज खुल जायेगा।
  • होम पेज पर आपको गेट इन टच के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • जिसके बाद नए पेज पर आपको नाम, ईमेल ID, संपर्क करें, विषय, डिटेल्स और कैप्चा कोड को भरना है।
  • इसके बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक कर देना है।
  • जिसके बाद आप आसानी से विभाग से सम्पर्क कर सकेंगे।

e-RUPI डिजिटल पैमेंट से जुड़े प्रश्न/उत्तर

यदि नागरिक के पास भुगतान हेतु अन्य सेवायें जैसे: फ़ोन पे, गूगल पे आदि है तो उसे e-RUPI डिजिटल पैमेंट का इस्तेमाल करने की क्या आवश्यकता है?

कई बार ऐसा होता है कि फ़ोन पे या गूगल पे या अन्य नेट बैंकिंग सेवाओं द्वारा भुगतान करने पर आपका ट्रांज़ैक्शन बीच में ही रुक जाता है क्यूंकि आपका इंटरनेट सही से नहीं चल पाता परन्तु e-RUPI डिजिटल पैमेंट द्वारा भुगतान करने पर ऐसा नहीं होगा क्यूंकि इसके लिए आपको किसी भी प्रकार की इंटरनेट सेवा की जरूरत नहीं होगी। आपको केवल टैप और पे करना होगा।

e-RUPI डिजिटल पैमेंट का उपयोग किस तरह से किया जा सकता है?

e-RUPI डिजिटल पैमेंट का उपयोग करने के लिए सबसे पहले आपको SMS द्वारा E-वाउचर प्राप्त होगा, जिस पर आपको क्लिक करना होगा और क्लिक करते ही आपका भुगतान हो जायेगा।

e-RUPI डिजिटल पैमेंट की शुरुवात किसके द्वारा और कब की गयी?

e-RUPI डिजिटल पैमेंट की शुरुवात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 2 अगस्त 2021 को की गयी।

क्या e-RUPI डिजिटल पैमेंट का इस्तेमाल देश का कोई भी नागरिक कर सकता है?

जी हाँ, e-RUPI डिजिटल पैमेंट का इस्तेमाल देश का कोई भी नागरिक आसानी से कर सकता है।

हमारे द्वारा लिखे गए आर्टिकल में हमने e-RUPI डिजिटल पैमेंट से सम्बंधित सभी जानकारियों को हिंदी में विस्तारपूर्वक बता दिया है, यदि आपको जानकारी पसंद आयी हो तो आप हमे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते है।

हेल्पलाइन नंबर

अगर आप को इससे सम्बंधित किसी प्रकार की परेशानी या समस्या होगी तो आप हमारे द्वारा दिए गए हेल्पलाइन नंबर 18001201740 पर कॉल करके अपनी समस्या का हल जान सकते है।

Leave a Comment