दिल्ली भूलेख: ऑनलाइन जमाबंदी खतौनी नकल ऐसे निकालें , Delhi Bhulekh Khasra Khatauni

 in Hindi | delhi bhulekh khatauni | delhi bhulekh online | delhi bhulekh | ऑनलाइन जमाबंदी खतौनी नकल | In Hindi | दिल्ली भूलेख ऑनलाइन खतौनी नकल 

दिल्ली राज्य के नागरिकों को सभी प्रकार की सुविधाएं प्रदान करने के लिए सरकार हर एक प्रयास करती रहती है जिससे उन्हें ज़्यादा परेशानियों का सामना न करना पड़े। दिल्ली सरकार ने नागरिकों के लिए एक ऑनलाइन पोर्टल की शुरुवात की है जिसका नाम है दिल्ली भूलेख (Delhi Bhulekh)। इसे इंद्रप्रस्थ भूलेख भी कहा जाता है। इसका संचालन राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग द्वारा किया जाता है। इस पोर्टल पर नागरिक अपनी जमीन से जुडी सभी जानकारियों को आसानी से जान सकेंगे। आपको बता दें यह एक कंप्यूटर के माध्यम से बनाया गया प्रोजेक्ट है जिसमे जमीन से जुडी सभी प्रकार की जानकारी आपको प्रदान होगी। अगर आप भी इसका लाभ पाना चाहते है और भूमि का विवरण देखना चाहते है तो इसके लिए आपको पोर्टल की आधकारिक वेबसाइट https://dlrc.delhigovt.nic.in पर जाना होगा।

delhi-bhulekh-online-check

यह पोर्टल राज्य में रह रहे सभी नागरिकों के लिए बहुत ही लाभकारी साबित होगा। हम आपको दिल्ली भूलेख से सम्बंधित सभी जानकारी जैसे: दिल्ली भूलेख ऑनलाइन जमाबंदी खतौनी नक़ल कैसे चेक करें, Delhi Bhulekh Portal ऑनलाइन जमाबंदी नक़ल चेक कैसे करें, पोर्टल से मिलने वाले लाभ, उद्देश्य आदि के बारे में बताने जा रहे। यदि आप जानकारी जानना चाहते है तो इसके लिए आपको आर्टिकल को अंत तक पढ़ना होगा।

Delhi Bhulekh Khasra Khatauni 2021

नागरिक दिल्ली भूलेख पोर्टल पर भूमि से जुडी जानकारी जैसे: भूलेख दिल्ली, जमाबंदी, भूमि के क्षेत्र फल, खसरा, खतौनी, भूमि नक्शा की जानकारी आदि सभी के रिकॉर्ड भी देख सकते है। इससे नागरिक के साथ किसी भी प्रकार की धोखाधड़ी नहीं होगी और कोई जबरन किसी की भूमि पर मालिकाना हक़ भी नहीं जता पायेगा। आवेदक को अब अपनी भूमि से जुडी जानकारी जानने का लिए कही भी इधर-उधर कार्यालय में नहीं भटकना पड़ेगा। वह केवल अपने मोबाइल व कंप्यूटर के जरिये ऑनलाइन द्वारा पोर्टल पर जाकर जानकारी प्राप्त कर सकते है और आप चाहे तो इसे डाउनलोड भी कर सकते है । सभी राज्य में सभी कार्य डिजिटल माध्यम द्वारा ही पूरे किया जा रहे है। भूमि लैंड रिकार्ड्स को भारत देश के राज्य में तरह-तरह के नामो से भी जाना जाता है जो इस प्रकार से है: 1. जमाबंदी 2. भूमि का ब्यौरा 3. खेत एवं जमीन के कागज 4.भूमि अभिलेख 5.भूमि खाता आदि

राज्य दिल्ली
आर्टिकल दिल्ली भूलेख (Delhi Bhulekh Khasra Khatauni)
विभाग राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग
लाभ लेने वाले राज्य के नागरिक
उद्देश्य नागरिको को ऑनलाइन माध्यम
द्वारा जमीन से जुडी जानकारी प्रदान करना
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन मोड
श्रेणी राज्य सरकारी योजना
आधिकारिक वेबसाइट https://dlrc.delhigovt.nic.in

दिल्ली भूलेख पोर्टल बनाने का उद्देश्य

दिल्ली राज्य में रह रहे नागरिकों के लिए सरकार ने भूलेख पोर्टल को शुरू किया इसको जारी करने का उद्देश्य यही है कि राज्य में रह रहे नागरिको को ऑनलाइन माध्यम द्वारा सुविधा प्रदान हो सके ताकि उन्हें अपनी जमीन से जुडी जानकारी के लिए इधर उधर कार्यालयों में चक्कर न काटना पड़े क्यूंकि पहले के नागरिकों को जमीन से जुडी जानकारी के लिए कई दिन तक कार्यालय के चक्कर काटने पड़ते थे और कई मुसीबतों और परेशानियों का सामना करना पड़ता था जिससे उनके समय और पैसे दोनों की खपत होती थी पर अब वह केवल इंद्रप्रस्थ भूलेख पोर्टल पर जानकर अपनी जमीन से सम्बंधित जानकारी को आसानी से देख सकते है।

ऑनलाइन जमाबंदी खतौनी नकल के लाभ एवं विषेशताएं – Delhi Bhulekh Record

दिल्ली भूलेख पोर्टल से मिलने वाले लाभ एवं विषेशताएं इस प्रकार से है:

  • पोर्टल से मिलने वाले लाभों के केवल दिल्ली राज्य के नागरिक ही ले सकते है।
  • स्वयं की भूमि वाले नागरिक ही अपनी भूमि की जानकारी पोर्टल पर जान सकेंगे।
  • ऑनलाइन माध्यम से आवेदन करने पर आवेदक के समय और पैसे दोनों की बचत हो सकेगी।
  • आवेदक अपने मोबाइल व कंप्यूटर के जरिये ऑनलाइन पोर्टल पर जा सकते है।
  • नागरिकों को अब जमीन से जुडी किसी भी प्रकार की जानकारी जानने के लिए कार्यालय या पटवारी के पास नहीं जाना पड़ेगा।
  • इंद्रप्रस्थ पोर्टल पर नागरिक भूलेख दिल्ली, जमाबंदी, खसरा, खतौनी, भूमि नक्शा की जानकारी आदि सभी के रिकॉर्ड भी देख सकते है।
  • राज्य के अंतर्गत आने वाले 23 जनपद में रहने वाले सभी नागरिकों के जमीन की जानकारी पोर्टल पर उपलब्ध करवाई गयी है।
  • पोर्टल पर सभी जिले के गांव की लिस्ट अलग-अलग तैयार की गयी है।
  • अब कोई भी नागरिक किसी के साथ धोखाधड़ी नहीं कर पायेगा और न ही किसी की जमीन पर कब्ज़ा और मालिकाना हक़ नहीं जाता पायेगा।
  • नागरिक को भूमि नक्शा देखने के लिए खसरा नंबर और जमा नंबर भरना होगा।
  • जमाबंदी और भू-नक्शा का प्रिंट आवेदक आसानी से निकाल सकते है।

दिल्ली भूलेख ऑनलाइन जमाबंदी खतौनी नक़ल कैसे चेक करें?

अगर आप दिल्ली भूलेख ऑनलाइन जमाबंदी खतौनी नक़ल चेक करना चाहते है तो हम आपको इसकी देखने की प्रक्रिया के बारे में बताने जा रहे है। प्रक्रिया जानने के लिए हमारे द्वारा दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  • आवेदक को सबसे पहले दिल्ली सरकार की इंद्रप्रस्थ भू-लेख की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • यहाँ आपके समाने वेबसाइट का होम पेज खुल कर आजायेगा।
  • होम पेज पर आप खसरा खतौनी विवरण के दिए गए ऑप्शन पर क्लिक कर दें। delhi-bhulekh
  • क्लिक करने के पश्चात आपके समने नया पेज खुल जायेगा।
  • नए पेज पर आप स्क्रीन पर जनपद के नाम की सूची, गांव का नाम व तहसील के नाम देख सकेंगे।
  • अब आप अपने अनुसार जनपद को सेलेक्ट करें और व्यू रिकार्ड्स पर क्लिक कर दें। Delhi bhulekh khasra khatoni online check
  • क्लिक करते ही नए पेज पर अपना खाते का प्रकार, गांव का नाम सेलेक्ट करें और सर्च ऑप्शन में खाता नंबर या व्यक्ति का नाम (खाता-खतौनी चेक करने हेतु) में से किसी एक ऑप्शन को सेलेक्ट कर भर दें। delhi-bhulekh-online-check
  • जिसके बाद आप व्यू खाता डिटेल्स पर क्लिक कर दें।
  • क्लिक करते ही आपके स्क्रीन पर खसरा खतौनी की नक़ल आप देख सकेंगे, आप चाहे तो इसे डाउनलोड भी कर सकते है।

ऑनलाइन जमाबंदी नक़ल चेक कैसे करें?

  • सबसे पहले आवेदक को दिल्ली सरकार की इंद्रप्रस्थ भू-लेख की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके समाने वेबसाइट का होम पेज खुल कर आजायेगा।
  • होम पेज पर आप जमाबंदी विवरण के दिए गए ऑप्शन पर क्लिक कर दें।
  • क्लिक करने के पश्चात आपके समने नया पेज खुल जायेगा।
  • नए पेज पर आप अब आप अपने अनुसार जनपद को सेलेक्ट करें और व्यू रिकार्ड्स पर क्लिक कर दें।
  • क्लिक करने के पश्चात नए पेज पर आप खाते का प्रकार, गांव का नाम, जमाबंदी नंबर को भर दें।
  • अब आप सर्च पर क्लिक कर दें।
  • स्क्रीन पर आपकी जमाबंदी की नक़ल खुल कर आजायेगी।

दिल्ली भू-नक्शा ऑनलाइन चेक करने की प्रक्रिया

आज हम आपको भूमि का नक्शा कैसे देखें इसके बारे में बताने जा रहे है, यदि आप भू नक्शा ऑनलाइन देखना चाहते है तो आप दिए गए स्टेप्स को ध्यानपूर्वक पढ़े।

  1. सर्वप्रथम आवेदक को दिल्ली भूलेख की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करना होगा।
  2. अब आप होम पेज पर भू-नक्शा के दिए गए ऑप्शन पर क्लिक कर दें।delhi-bhunaksha
  3. क्लिक करने के पश्चात आपके समने नया पेज खुल जायेगा।
  4. यहाँ दिल्ली राज्य का पूरा मैप प्रदान किया गया होगा।
  5. अब आप खसरा इनफार्मेशन पर क्लिक करें, क्लिक करते ही आपको पूछी गयी जानकारी जैसे: अपना जिला, रेक्टेंगल, डिवीज़न, विलेज, खसरा आदि को सेलेक्ट करना है। bhunaksha-delhi-online-check
  6. इसके बाद आपको व्यू ओनरशिप डिटेल्स पर क्लिक कर दें। bhulekh-delhi-online-check
  7. क्लिक करने के पश्चात भू-नक्शा आपकी स्क्रीन पर आप देख सकते है।

दिल्ली भू-लेख खाता खतौनी लिंक

राज्य में जितने भी जिले है उन सभी के भूमि की जानकारी हमने तालिका में प्रदान की है। आवेदक दिए गए लिंक पर क्लिक करके खता खतौनी की नक़ल आसानी से प्राप्त और डाउनलोड कर सकते है।

सीरियल नंबर डिस्ट्रिक्ट सब डिवीज़न लिंक
1सेंट्रल सिविल लाइन्स रिकॉर्ड देखें
2ईस्ट मयूर विहार रिकॉर्ड देखें
3नई दिल्ली वसंत विहार रिकॉर्ड देखें
4नार्थ मॉडल टाउन रिकॉर्ड देखें
5नार्थ अलीपुर रिकॉर्ड देखें
6नार्थ नरेला रिकॉर्ड देखें
7नार्थ ईस्ट करावल नगर रिकॉर्ड देखें
8नार्थ ईस्ट यमुना विहार रिकॉर्ड देखें
9नार्थ वेस्ट कंझवाला रिकॉर्ड देखें
10शाहदरा शाहदरा रिकॉर्ड देखें
11शाहदरासीमापुरी रिकॉर्ड देखें
12साउथ मेहरोली रिकॉर्ड देखें
13साउथ साकेत रिकॉर्ड देखें
14साउथ ईस्ट डिफेन्स कॉलोनी रिकॉर्ड देखें
15साउथ ईस्टकालकाजी रिकॉर्ड देखें
16साउथ ईस्टसरिता विहार रिकॉर्ड देखें
17साउथ वेस्ट कपाशेरा रिकॉर्ड देखें
18साउथ वेस्ट द्वारिका रिकॉर्ड देखें
19साउथ वेस्टनजफगढ़ रिकॉर्ड देखें
20वेस्ट पंजाबी बाघ रिकॉर्ड देखें
21वेस्ट पटेल नगर रिकॉर्ड देखें
22नार्थ ईस्ट सीलमपुररिकॉर्ड देखें
23 नार्थ वेस्ट रोहिणी रिकॉर्ड देखें

दिल्ली भूलेख से जुड़े प्रश्न/उत्तर

भूलेख का अर्थ क्या है?

भूलेख का अर्थ है भूमि का पूरा विवरण, जिसके माध्यम से नागरिक अपनी जमीन पर मालिकाना हक़ जाता सकते है और कोई उनकी जमीन पर जबरदस्ती कब्ज़ा नहीं कर सकता क्यूंकि पोर्टल पर भूमि के मालिक का नाम, पता आदि सभी का रिकॉर्ड रखा जाता है।

दिल्ली भूलेख की आधिकारिक वेबसाइट क्या होगी?

दिल्ली भूलेख की आधिकारिक वेबसाइट https://dlrc.delhigovt.nic.in है।

भू-अभिलेख और भू -नक्शा क्या होता है?

भू-अभिलेख में नागरिक की भूमि के बारे में लिखित में जानकारी प्रदान की जाती है और भू-नक्शा में नागरिक अपनी जमीन का पूरा मैप आसानी से देख सकते है आवेदक को नक्शे में जमीन की डिटेल्स, जमीन के मालिक की पूरी जानकारी आदि दी गयी होती है।

खसरा-खतौनी का उपयोग कहाँ किया जाता है?

1.अगर कोई अन्य नागरिक आपकी जमीन पर कब्ज़ा करना चाह रहा है और आपके पास खसरा खतौनी की नक़ल है तो आप आसानी से अपनी जमीन पर अपना मालिकाना हक़ जता सकते है, इससे आपके साथ धोखाधड़ी नहीं हो पायेगी।
2. अगर आपको बैंक से लोन लेना है या किसी भी प्रकार का बीमा करवाना हो तो आपको खसरा खतौनी की जररूत पड़ सकती है
3. जमीन की रजिस्ट्री करते समय
4. किसान भाइयों को अगर किसान क्रेडिट कार्ड हेतु आवेदन करना होगा तो उन्हें खसरा खतौनी चाहिए होगी
5. दिल्ली सरकार से मिलने वाली स्कीम में

दिल्ली खसरा नंबर कैसे जाने?

खसरा नंबर जानने के लिए सबसे पहले ROR रिपोर्ट्स edistrict.delhigovt.nic.in पर जाएं। जिसके बाद आपको यहाँ पूछी गयी जानकारी जैसे: रजिस्ट्रेशन ID या यूजर ID, मोबाइल नंबर, जिला, सब डिवीज़न, विलेज आदि को सेलेक्ट करें। अब आप दिए गए ऑप्शन जैसे: बाय खाता नंबर/ बाय खसरा नंबर / बाय नेम में से किसी एक को चुन लें और कैप्चा कोड भरके सबमिट कर दें। जिसके बाद आपकी सभी जानकारी आ जाएगी। जिसे आप डाउनलोड करके प्रिंट निकाल लें।

यदि आपको दिल्ली भूलेख से सम्बंधित जानकारी पसंद आयी हो तो आप हमे कमेंट करके बता सकते है। इससे सम्बंधित जानकारी अगर आपको पूछनी होगी तो आप कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते है। हम आपके सभी सवालो का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे।

Leave a Comment