सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाए टॉप 10 तरीकों से 900 तक करें CIBIL Score | kaise badhaye

जैसा की आप सभी जानते ही होंगे की किसी भी लोन को प्राप्त करने के लिए CIBIL Score (क्रेडिट स्कोर) का क्या महत्त्व है। किसी बैंक द्वारा लोन तभी दिया जाता है जब आपका सिविल स्कोर अच्छा होगा।

किसी भी व्यक्ति को उसके CIBIL Score के आधार पर ही बैंक द्वारा लोन ऑफर किया जाता है यदि आपका सिबिल स्कोर अच्छा नहीं है तो आपको कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। सिबिल स्कोर अच्छा नहीं होने पर बैंक द्वारा आपको लोन देने से मना कर दिया जायेगा।

यदि आपका स्कोर अच्छा रहा और लोन मिल गया तो आप विभिन्न तरह के बैंक लोन ले सकते है आज के समय में कार लोन लेना सबसे अच्छा और आसान है लेकिन क्या आप जानते हो कार लोन में कितना इंटरेस्ट मिल रहा है। ये जानना भी बहुत जरुरी है।

सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाए टॉप 10 तरीकों से 900 तक करें CIBIL Score | kaise badhaye
सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाए टॉप 10 तरीकों से 900 तक करें CIBIL Score

आज आपको इस लेख में सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाए या सिबिल स्कोर कैसे सुधारे इसके बारे में जानकारी दी जाएगी साथ ही आप 10 तरीकों से 900 तक CIBIL Score kaise badhaye यह भी आसानी से जान सकेंगे। तो आइये जानते है उन 10 तरीकों के बारे में जिनसे आप अपना CIBIL Score बढ़ा सकेंगे।

क्या होता है सिबिल स्कोर?

सिबिल स्कोर या क्रेडिट स्कोर एक 3 अंकों वाली संख्या होती है जोकि 300 से 900 के बीच होती है। आप क्रेडिट स्कोर को वित्तीय साख भी कहा जाता है यह आपके वित्त शाखा से जुड़ा होता है।

क्रेडिट स्कोर अच्छा होने पर आप आसानी से बैंक या कंपनी से लोन ले सकते हैं। इसलिए आपके लिए यह आवश्यक हो जाता है की आप अपना क्रेडिट स्कोर अच्छा बनाये रखें।

किसी भी व्यक्ति का सिबिल स्कोर को सिबिल नाम की एक कंपनी तय करती है जिसका पूरा नाम ट्रांसयूनियन सिबिल लिमिटेड है।

सिबिल कंपनी क्या है ?

साल 2000 में शुरू हुई CIBIL कंपनी यानि ट्रांसयूनियन सिबिल लिमिटेड एक ऐसी एजेंसी है जो क्रेडिट रिपोर्ट और स्कोर तय करती है।

क्रेडिट कार्ड से जुडी किसी प्रकार के किये जाने वाले भुगतान से जुड़ा हुआ विवरण सिबिल कंपनी के माध्यम से ही देखा जाता है। और किसी व्यक्ति को लोन दिया जायेगा या नहीं यह इसी माध्यम से तय किया जाता है।

CIBIL score range

सिबिल स्कोर की रेंज 300 से 900 के बीच होती है जिसमे 300 सबसे कम और 900 सबसे अधिक है। किन्हीं व्यक्तियों का सिबिल स्कोर 300 से नीचे हो सकता है तो किन्हीं का 900 तक लेकिन ये रेंज क्या है जो लोन लेने की पात्रता को तय करती है चलिए जानते हैं –

  • 300 से नीचे सिबिल स्कोर : CIBIL score 300 से कम होने पर आपको कोई भी bank loan नहीं देना चाहेगा। बैंक ऐसे सिबिल स्कोर वाले व्यक्ति को किसी भी प्रकार के लोन देने से बचेंगे।
  • 300 से 450 के बीच : ये score भी ज्यादा सही नहीं माना जाता। यदि आप इस सिबिल स्कोर के व्यक्ति हैं तो इसे एक चेतावनी समझकर अपने EMIs को समय पर चुकाना शुरू करें। ताकि आपके क्रेडिट स्कोर में सुधार हो सके।
  • 450 से 600 के बीच सिबिल स्कोर : यह भी ठीक ठाक है। इसे ज्यादा अच्छा स्कोर या ज्यादा खराब स्कोर नहीं मन जा सकता। ऐसे सिबिल score वालों को कुछ कुछ बैंक loans दे सकती हैं।
  • 600 से 750 के बीच सिबिल स्कोर: यह काफी अच्छा score है जिन व्यक्तियों का क्रेडिट स्कोर 600 से 750 के बीच होता है उन्हें आसानी से बैंक loans ऑफर करती है।
  • 750 से 900 के बीच सिबिल स्कोर:  ऐसे व्यक्ति जिन्होंने perfect financial track record maintain किया होता है उनका credit score इस range में आता है। ऐसे में Bank आपको बड़ी राशि का लोन /amount देने तैयार रहती हैं।

सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाए ?

यदि आपका सिबिल स्कोर 300 के करीब है तो आपको लोन नहीं मिल पायेगा। 300 से 600 तक के सिबिल स्कोर को डाउन माना जाता है। यदि आपका सिबिल स्कोर 750 है तो यह थोड़ा बेहतर माना जाता है।

किसी लोन को प्राप्त करने के लिए आपको किसी भी प्रकार की दिक्कत न हो इसके लिए आपका सिबिल स्कोर 900 होना चाहिए। कुल मिलकर आपका सिबिल स्कोर 750 से ऊपर होना चाहिए तभी आप लोन का लाभ मिल सकेगा।

इन टॉप 10 तरीकों से 900 तक करें अपना CIBIL Score

  1. सिबिल स्कोर अच्छा रखना चाहते हैं तो आपको अपने लोन की किस्त को समय पर जमा करना होगा। ऐसा न करने पर सिबिल स्कोर पर बुरा प्रभाव पड़ेगा।
  2. आपको अपने भुगतान रिमाइंडर को सेट कर लेना चाहिए और लिमिट में प्रयोग करें।
  3. लंबे समय की लोन को सावधानीपूर्वक ले।
  4. क्रेडिट कार्ड को आवश्यकतानुसार काम में ले अनावश्यक नहीं।
  5. जब आपको लोन लेने की ज्यादा आवश्यकता न हो तो इससे बचें।
  6. अपने EMI का भुगतान समय पर करें और अपने क्रेडिट कार्ड के भुगतान के किस्त को समय पर चुकाएँ।
  7. एक समय में एक से ज्यादा लोन लेने से बचें।
  8. यदि आपके क्रेडिट स्कोर में कोई गलती हो तो उसे ठीक कराएं।
  9. अपने क्रेडिट स्कोर को कम टाइम पीरियड में बार बार चेक करना भी आपके क्रेडिट स्कोर को कम करता है।
  10. अपने क्रेडिट लिमिट का उपयोग एक सीमा के भीतर करें। आपको अपने क्रेडिट की कुल सीमा का 30% से ज्यादा का उपयोग नहीं करना चाहिए।

सिबिल स्कोर बढ़ाने के उपाय

  • अपने ऋण / लोन या क्रेडिट कार्ड के राशि का भुगतान समय पर करें।
  • असुरक्षित ऋण से बचें जैसे व्यक्तिगत ऋण ,क्रेडिट कार्ड आदि।
  • लोन बकाया को समय पर जमा कराये।
  • क्रेडिट सीमा या ऋण सीमा का उपयोग सोच समझ कर करें।
  • क्रेडिट स्कोर में कोई गलतिया है तो उन्हें ठीक कराये
  • क्रेडिट कार्ड की बकाया राशि को समय पर जमा करवाएं
  • क्रेडिट कार्ड की सिबिल को किसी भी प्रकार से खराब न होने दें।
  • हर साल अपने क्रेडिट कार्ड के स्कोर की जाँच करें।
  • लंबे समय का लोन लें ताकि आप कम EMI का भुगतान आसानी से कर सकें जिससे EMI डिफ़ॉल्ट होने के चान्सेस कम होंगे।
  • CIBIL स्कोर एरर की जाँच करें क्यूंकि कई बार CIBIL रिपोर्ट में एरर आ जाती है जिससे आपका CIBIL स्कोर कम हो जाता है।
  • एक साल में अपने सिबिल रिपोर्ट को जरूर चेक करें।

इन पैरामीटर के आधार पर तय होता हैं CIBIL Score

क्रेडिट स्कोर कम होने के कई कारण होते हैं। लेकिन CIBIL Score के कम होना की मुख्य वजह है खराब क्रेडिट हिस्ट्री। यदि आपका सिबिल स्कोर कम है तो आपको इसकी वजह का पता होना जरुरी है की यह किस वजह से कम हुआ है। निम्नलिखित पैरामीटर के आधार पर CIBIL Score तय किया जाता है। –

  • पेमेंट हिस्ट्री – 30%
  • क्रेडिट एक्सपोजर – 25%
  • क्रेडिट टाइप एंड ड्यूरेशन – 25%
  • अन्य – 20%

भारत की सिबिल स्कोर मुहैया करने वाली क्रेडिट ब्यूरो कंपनी

भारत में कुल 4 कंपनी क्रेडिट ब्यूरो के तौर पर कार्य कर रही हैं और यह कंपनियां सिबिल स्कोर मुहैया कराती हैं –

  1.  ट्रांसयूनियन सिबिल लिमिटेड (TransUnion Cibil Limited) – इस कंपनी की स्थापना साल 2000 में हुयी थी।
  2. Equifax (इक्विफैक्स) – इस कंपनी की स्थापना वर्ष 2010 में हुयी थी।
  3. Experian (एक्स्पेरियन) – इस कंपनी की स्थापना वर्ष 2006 तथा इसे लाइसेंस साल 2010 में प्राप्त हुआ।
  4. CRIF Highmark – इस कंपनी की स्थापना वर्ष 2010 में की गयी।

ऐसे करें अपना सिबिल स्कोर चेक

हर व्यक्ति जो लोन लेना चाहता है उसे अपने सिबिल स्कोर के बारे में जानकारी होनी चाहिए। CIBIL score 750 से अधिक होने पर लोन approve होता है। CIBIL Score पता करने के लिए आपको नीचे दिए गए स्टेप्स को जान लेना चाहिए –

  • आप अपना सिबिल स्कोर ऑनलाइन myscore.cibil.com पर जाकर जान सकते हैं।
check your cibil score
  • इस दिए गए वेबसाइट के लिंक पर क्लिक कर आप वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।
  • वेबसाइट पर विजिट करते ही आपके स्क्रीन पर एक फॉर्म आपको नजर आएगा यहाँ पर basic information जैसे अपना name, address, contact number और PAN details.भरें।
  • इसके बाद कुछ सवाल के जबाब देने होंगे जो की आपके लोन और क्रेडिट कार्ड के विषय में आपसे किये जायेंगे।
  • अब इन जानकारी के आधार पर आपके CIBIL को कैलकुलेट किया जायेगा और आपकी credit report तैयार होगी।
  • सभी जानकारी भर लेने के बाद अब वेबसाइट द्वारा आपकी सिबिल स्कोर की जानकारी मिल जाएगी।

CIBIL Score kaise badhaye इससे सम्बंधित कुछ प्रश्नोत्तर –

हम अपना CIBIL Score कैसे बढ़ाएं ?

आप अपने सिबिल स्कोर को कुछ बातों को ध्यान में रख आसानी से बादः सकेंगे। अपने सिबिल स्कोर को सही रखने के लिए समय पर EMI का भुगतान करें। अपने क्रेडिट कार्ड के बिल को समय पर चुकाएँ। कोई भी कर्ज /लोन सोच समझ के लें। एक से अधिक अनसिक्योर्ड लोन लेने से बचें।

भारत की क्रेडिट ब्यूरो कंपनी कौन सी हैं?

ट्रांसयूनियन सिबिल लिमिटेड , Equifax ,Experian , CRIF Highmark भारत में कुल चार कंपनी क्रेडिट ब्यूरो के तौर पे काम करती है और सिबिल स्कोर मुहया करती है

सिबिल स्कोर की range कितनी होती है ?

सिबिल स्कोर की range 300 से 900 तक के बीच की होती है।

CIBIL का पूरा नाम क्या है ?

इस का पूरा नाम Credit Information Bureau of India Limited है।

CIBIL Score को सुधारने के लिए आवेदन करने के कितने दिन बाद सिबिल कंपनी अपना जबाब देती है ?

जब किसी व्यवक्ति द्वारा सिबिल कंपनी में अपने क्रेडिट स्कोर को सुधारने हेतु आवेदन किया जाता है तो सिविल कंपनी अपनी तरफ से लगभग 1 महीने के अंदर इसका जवाब आपको देती है।

सिबिल स्कोर कितना होना चाहिए ?

क्रेडिट स्कोर /सिबिल स्कोर 750 से ऊपर सही माना जाता है। आपका क्रेडिट स्कोर जितना अधिक होगा आपको लोन लेने में उतनी ही आसानी होगी।

Leave a Comment