भूलेख उत्तराखंड: खसरा खतौनी,भू नक्शा/भू अभिलेख, जमाबंदी नकल देवभूमि उत्तराखंड

भूलेख उत्तराखंड | UK खसरा खतौनी | जमाबंदी नकल उत्तराखंड | भूलेख पोर्टल | उत्तराखंड भूलेख ऑनलाइन पोर्टल

उत्तराखंड में रह रहे नागरिको के लिए राज्य सरकार ने उनके हित में कई तरह की सुविधाएं प्रदान की है जिसमे एक और दी जाने वाली सुविधा लोगो के बहुत उपयोगी साबित होगी। उत्तराखंड राज्य सरकार द्वारा भूलेख उत्तराखंड पोर्टल की शुरुवात की गयी है। इसके माध्यम से वह अपनी जमीन से जुड़े सभी चीजों को ऑनलाइन माध्यम द्वारा देख पाएंगे। हम आपको इससे सम्बंधित जानकारी जैसे: खसरा खतौनी क्या होती है, पोर्टल को बनाने का उद्देश्य एवं लाभ, जमाबंदी नक़ल, भू-नक्शा नक्शा देखने की प्रक्रिया का विवरण आदि आपको बताने जा रहे है. यदि आप भी अपनी भूमि सम्बंधित जानकारी देखना चाहते है तो आपको इसकी ऑफिसियल वेबसाइट bhulekh.uk.gov.in पर जाना होगा।

आज के समय में देश के विभिन्न राज्य डिजिटल माध्यम से पोर्टल सुविधाओं की शुरुवात कर रही है, जिससे लोगो को आसानी से अपनी जमीन से सम्बंधित जानकारी प्राप्त हो जाएगी। उन्हें अपनी भूमि की जानकारी जानने के लिए किसी भी कार्यालय के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे और न ही उनके साथ जमीन हेतु धोखाधड़ी होगी। इस पोर्टल द्वारा नागरिक अपनी भूमि से सम्बंधित जानकारी अपने घर बैठे या कही से भी अपने मोबाइल या कंप्यूटर से ऑनलाइन माध्यम द्वारा देख सकते है। सम्बंधित जानकारी के लिए दिए गए आर्टिकल को पूरा अंत तक अवश्य पढ़े।

उत्तराखंड भूलेख खसरा खतौनी, भू नक्शा/भू अभिलेख, जमाबंदी नकल

भूलेख और भू अभिलेख में आपको अपनी जमीन के बारे में लिखित में एक जानकारी होती है जिसे खाता भी बोला जाता है। भू नक्शा होता है, जो कि आपकी जमीन का मैप दर्शाता है, इसके अंदर कई जानकारी उपलब्ध होती है नक़्शे के अंदर आप भूमि की डिटेल्स, जमीन के मालिक की पूरी डिटेल्स आसानी से देख सकते है। खसरा एक बहुत ही जरुरी जमीन का लिखित डॉक्यूमेंट है इसमें आपको भूमि का नंबर, जगह का क्षेत्रफल और वहां की भौगोलिक (geographical) कंडीशन को बताता है। इसके अलावा इसके अंदर आप जमीन के मालिक का नाम आदि की जानकारी भी जान सकते है। खतौनी एक प्रकार का भूमि अभिलेख है यह एक क़ानूनी दस्तावेज माना जाता है कई जगह में इसकी जरुरत होती है। इसे पटवारी द्वारा बनाया जाता है। इसे बही खता भी कहा जाता है। जिसमे जमीन की सारी जानकारी उपलब्ध होती है। आप पोर्टल द्वारा अपनी जमीन से जुडी जानकारी, खसरा खतौनी, जमीन का मैप आदि डाउनलोड कर सकते है।

बता देते है, की जमाबंदी, भूमि का ब्यौरा, खेत अथवा जमीन के कागजात, भूमि अभिलेख, भूमि खाता यह सभी भूमि रिकार्ड्स है, जिन्हे अलग अलग राज्य में अलग अलग नामो से जाना जाता है।

योजना नाम उत्तराखंड भूलेख पोर्टल
उदेश्य डिजिटल माध्यम से राज्य के लोगो को
जमीन से जुडी जानकारी ऑनलाइन प्रदान करवाना
लाभ लेने वाले उत्तरखंड राज्य के लोग
प्रक्रिया ऑनलाइन देखने की प्रक्रिया
विभाग राजस्व विभाग
श्रेणी राज्य सरकारी योजना
आधिकारिक वेबसाइट bhulekh.uk.gov.in
भूलेख-उत्तराखंड-खसरा-खतौनी

भूलेख उत्तराखंड पोर्टल बनाने का उद्देश्य

राज्य में रह रहे लोगो के लिए सरकार ने इस योजना के अंतर्गत बड़ी पहल की शुरुवात की। इसका उद्देश्य यही है कि देश में रह रहे नागरिको को ऑनलाइन माध्यम द्वारा सुविधा प्रदान हो सके ताकि उन्हें अपनी जमीन से जुडी जानकारी के लिए इधर उधर कार्यालयों में चक्कर न काटना पड़े। वह केवल उत्तराखंड भूलेख पोर्टल पर जानकर अपनी जमीन से सम्बंधित जानकारी को आसानी से देख सकते है।

उत्तराखंड राशन कार्ड लिस्ट 2021

योजना के लाभ

  • उत्तराखंड के मूलनिवासी ही इस योजना का लाभ ले सकते है।
  • पोर्टल के माध्यम से नागरिको के समय और पैसे दोनों ही बच पाएंगे।
  • राज्य के लोगो को अपनी जमीन से जुडी जानकारी जानने के लिए पटवारी एवं कार्यालय नहीं जाना पड़ेगा।
  • जमीन से सम्बंधित सभी चीजों का ब्यौरा अब भूलेख उत्तराखंड पोर्टल में आसानी से देखने को मिल जायेगा, जिसे नागरिक घर बैठे देख पाएंगे।
  • भविष्य में लोन लेने के लिए आप अपनी जमीन की नक़ल को आसानी से दिखा सकते है।
  • अब उत्तराखंड के लोग पोर्टल द्वारा जमाबंदी, भू नक्शा, सभी जानकारी का प्रिंट आउट भी निकल कर रख सकते है। जिससे वह भविष्य में इनका उपयोग कर सकते है।
  • खसरा नंबर और जमा नंबर डालकर आवेदक अपना जमीन का नक्शा आसानी से देख सकते है।

खसरा खतौनी कहाँ-कहाँ उपयोग की जाती है?

  • यदि कोई आपकी जमीन पर कब्ज़ा करना चाहे और आपके पास खसरा खतौनी की नक़ल उपलब्ध है तो आप अपनी जमीन पर मालिकाना हक़ जमा सकते है।
  • खसरा खतौनी मदद से आप बैंक के कोई भी काम जैसे: लोन,बीमा आदि करा सकते है।
  • अगर आपको जमीन की रजिस्ट्री करनी होगी तो आपको खतरा खतौनी की जरुरत होगी।
  • किसानों को यदि अपना किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना होगा तब इसकी आवश्यकता होती है।
  • यदि सरकार द्वारा किसानो के लिए कोई भी योजना की शुरुवात की जाती है तो वहां खसरा खतौनी की जरुरत होती है।

भूलेख उत्तराखंड ऑनलाइन देखने की प्रक्रिया

यदि आप भी अपनी जमीन से जुडी जानकारी को देखना चाहते है तो आप को कही भी जाने की आवश्यकता नहीं है आप सीधा घर बैठे अपने मोबाइल व कंप्यूटर से इसे देख सकते है ऑनलाइन देखने की प्रक्रिया इस प्रकार से है:

  1. सबसे पहले आप उत्तराखंड राज्य की आधिकारिक वेबसाइट bhulekh.uk.gov.in पर जाये।
  2. जिसके बाद आपके सामने इस तरह का होम पेज खुलेगा। UTTARAKHAND-BHULEKH-ONLINE-PRAKRIYA
  3. होम पेज पर आप पब्लिक ROR(रिकॉर्ड ऑफ़ राइट) के ऑप्शन पर जाये और क्लिक करें। ONLINE-AWEDAN-PRKRIYA
  4. नए स्क्रीन पर आप सबसे पहले अपना जनपद चुनेBHUMI-SAMBANDHIT-JANKARI-DEKHNE
  5. जनपद चुनने के बाद आपको अपनी तहसील को चुनकर सेलेक्ट करना है। HOW-TO-CHECK-ONLINE-LAND-RECORDS
  6. अब आप अपने गावं को सेलेक्ट करके ग्राम चुने। आप अपने गावं के पहले अक्षर से भी अपना ग्राम चुन सकते है। LAND-RECORDS-CHECK-ONLINE
  7. आप अपनी जमीन की जानकारी दिए गए ऑप्शंस: खसरा/गाटा द्वारा, खाता संख्या द्वारा, रजिस्ट्री संख्या द्वारा, म्युटेशन दिनांक द्वारा, विक्रेता द्वारा, क्रेता द्वारा, खातेदार के नाम द्वारा देख सकते है। ONLINE-CHECK-BHUMI-RECORDS
  8. अब आप खोजें पर क्लिक करें। आप इन सब में से किसी का भी चयन करके अपनी खसरा खतौनी की नक़ल आसानी से देख सकते है।

AUTHORIZED/CERTIFIED COPY(अधिकृत कॉपी) कैसे प्राप्त करें

आपके सभी जमीन की रिकॉर्ड की कॉपी जो पूरी तरह से प्रमाणित की गयी होती है, उसे अधिकृत प्रतिलिपि कहा जाता है जिसमे आपके जमीन से सम्बंधित सभी ब्यौरा शामिल होता है। आप जमीन के रिकॉर्ड की जानकारी, भू-नक्शा, खसरा खतौनी नक़ल, आदि को डाउनलोड व प्रिंट भी कर सकते है परन्तु इन्हे आप सर्टिफाइड कॉपी नहीं कह सकते।

आपको बता दें, AUTHORIZED कॉपी प्राप्त करने के लिए आपको अपने नजदीकी तहसील में जाना होगा। जहाँ आपको अधिकृत कॉपी(प्रमाणित प्रति) लेने के लिए भुगतान शुल्क देना होगा। यदि आप अधिकृत कॉपी का पहला पेज निकलवाना होगा तो आपको 15 रुपये देने होंगे और यदि आपको इसके बाकी पेज निकलवाने होंगे तो आपको 5 रुपये का शुल्क देना होगा।

उत्तराखंड परिवार रजिस्टर नकल ऑनलाइन

भूलेख उत्तराखंड पोर्टल पर लॉगिन कैसे करें?

  • लॉगिन करने के लिए सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • होम पेज पर आपको इस तरह के ऑप्शन दिखाई देंगे: बोर्ड ऑफ़ रेवेनुए एडमिनिस्ट्रेटिव लॉगिन, डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेटिव लॉगिन, तहसील एडमिनिस्ट्रेटिव लॉगिन, तहसील म्युटेशन लॉगिन, स्वामित्व यूजर लॉगिन, तहसील रिपोर्ट लॉगिन, डिस्ट्रिक्ट विलेज मैपिंग लॉगिन। भूलेख-उत्तराखंड-खसरा-खतौनी
  • आप इन सब में से किसी भी ऑप्शन पर जाकर क्लिक कर सकते है।
  • क्लिक करने के बाद नए पेज पर आप अपना यूजर नाम, पासवर्ड, और कैप्चा कोड भरें। BHULEKH-UTTARKHAND-LOGIN-PRAKRIYA
  • अब आप लॉगिन पर क्लिक कर दें।
  • इसके बाद आपकी लॉगिन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

CONVERSION (डाटा रूपांतरण) एंड अपलोड कैसे करें?

  • उत्तराखंड राज्य भूलेख पोर्टल की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएं।
  • इसके बाद होम पेज खुलेगा।
  • होम पेज पर आप CONVERSION AND UPLOAD पर क्लिक करें। DATA-RUPANTARAN-AWM-UPLOAD-KARNE-KI-PRKRIYA
  • नए पेज पर आप अपना यूजर नाम और पासवर्ड भरकर कैप्चा कोड को भरें। LOGIN-PROCESS-CONVERSION-AND-UPLOAD
  • अब आप लॉगिन के ऑप्शन पर क्लिक कर दें।

स्वामित्व डाटा डिटेल्स देखें?

स्वामित्व डाटा डिटेल्स देखने के लिए आप सबसे पहले धिकारिक वेबसाइट पर जाएं। होम पेज पर आप निचे दिए गए स्वामित्व स्टेटस पर क्लिक करें। जिसके बाद नए पेज पर कर्म संख्या, तहसील, ग्राम, कोड, प्रॉपर्टी काउंट की सभी जानकारी देख सकते है।
CHECK-SWAMITVA-STATUS-ONLINE

संपर्क हेतु फ़ोन नंबर व अड्रेस

यदि आपको उत्तराखंड भूलेख से सम्बंधित और अधिक जानकारी जाननी है, तो आप हमारे द्वारा दिए गए फ़ोन नंबर पर कॉल करके अपनी परेशानियों व जानकारी को जान सकते है।

राजस्व विभाग पता सेक्रेट्रिएट, सुभास रोड देहरादून
फ़ोन नंबर 0135-2669221
पता मसूरी बाईपास रिंग रोड, लाडपुर
भूलेख उत्तराखंड से सम्बंधित प्रश्न उत्तर
उत्तराखंड खसरा खतौनी की जानकारी कैसे देख सकते है?

आप खसरा खतौनी की जानकारी ऑनलाइन माध्यम द्वारा दी गयी आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर देख सकते है। सरकार द्वारा दी गयी पोर्टल सुविधा से आप इसमें अपनी जमीन का नक्शा, भूमि अभिलेख, भूमिधारक का नाम, खसरा नंबर आदि सभी चीजों को देख पाएंगे।

मुझे अपनी जमीन से जुडी जानकारी को देखने के लिए किन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी?

ऑनलाइन माध्यम से अपनी भूमि जानकारी जान ने के लिए आपके पास अपना खसरा नंबर व भूमि धारक का नाम आपको पता होना जरुरी है।

उत्तराखंड भूलेख पोर्टल द्वारा भू-नक्शा कैसे देख कर सकते है

भू-नक्शा डाउनलोड करने हेतु आपको उत्तराखंड भूलेख पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपको डिस्ट्रिक्ट विलेज मैपिंग लॉगिन पर क्लिक करना है जिसके बाद आपका लॉगिन पेज खुल जायेगा और आप भू नक्शा ऑनलाइन माध्यम द्वारा आसानी से देख सकते है।

उत्तराखंड भूलेख पोर्टल किसके द्वारा बनाया गया है? और इस पोर्टल को बनने का क्या उद्देश्य है?

राजस्व विभाग द्वारा उत्तराखंड भूलेख पोर्टल बनाया गया है। और इस पोर्टल को बनाने का यही उद्देश्य है , कि अब राज्य के नागरिको को भूमि की जानकारी हेतु इधर उधर कार्यालय या पटवारिओं के पास नहीं जाना पड़ेगा। वह इस पोर्टल के माध्यम से घर बैठे इस सुविधा का लाभ ले सकेंगे।

मुझे रिकॉर्ड ऑफ़ राइट्स की सर्टिफाइड कॉपी कहा से प्राप्त होगी?

सर्टिफाइड (अधिकृत) कॉपी प्राप्त करने के लिए आपको अपने नजदीकी तहसील के भूमि रिकॉर्ड कंप्यूटर सेंटर में जाना होगा। जहाँ आपको अधिकृत कॉपी (प्रमाणित प्रति) लेने के लिए भुगतान शुल्क देना होगा।

उत्तराखंड भूलेख विवरण आप कितने तरीकों से देख सकते है?

बोर्ड ऑफ़ रेवेनुए एडमिनिस्ट्रेटिव लॉगिन, डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेटिव लॉगिन, तहसील एडमिनिस्ट्रेटिव लॉगिन, तहसील म्युटेशन लॉगिन, स्वामित्व यूजर लॉगिन, तहसील रिपोर्ट लॉगिन, डिस्ट्रिक्ट विलेज मैपिंग लॉगिन इन सभी ऑप्शन द्वारा अपनी जमीन सम्बंधित विवरण को देख सकते है।

यदि आपको उत्तराखंड भूलेख से सम्बंधित जानकारी पसंद आयी हो तो आप हमे कमेंट करके बता सकते है। इससे सम्बंधित जानकारी अगर आपको पूछनी होगी तो आप कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते है। हम आपके सभी सवालो का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे।

Leave a Comment