ASEAN Full Form in Hindi : ASEAN किसे कहते है ? | पूरी जानकारी

ASEAN Full Form- दुनिया में कई सारे देश है जिनमें से कुछ विकसित देशों की श्रेणी में आते है और कुछ विकासशील। समय-समय पर कई देश मिलकर एक समूह या संगठन का निर्माण करते हैं जिसका उद्देश्य सभी देशों को साथ लाना और उनका आर्थिक और सामाजिक विकास कर अंतराष्ट्रीय स्तर पर शांति कायम करना है। ASEAN भी इनमें से एक है। आपने कई संगठनों का नाम सुना होगा जैसे -BRICS, SAARC, NATO, ASEAN आदि। इन सभी समूहों में कुछ चुनिंदा देश ही सदस्य होते हैं। इसी प्रकार ASEAN भी कई देशों का एक समूह है। क्या आप जानते हैं आसियान कितने देशों का समूह है ?

ASEAN Full Form in Hindi
ASEAN Full Form in Hindi

डीआरडीओ क्या है, इसके कार्य व उदेश्य (DRDO का फुल फॉर्म)

आज हम आपको ASEAN के बारे में जानकारी देंगे क्या आप जानते हैं आसियान का पूरा नाम क्या है (ASEAN Full Form in Hindi) यदि नहीं तो कोई बात नहीं आज के इस लेख में हम आपको ASEAN किसे कहते है ? इसकी पूरी जानकारी प्रदान करेंगे। तो चलिए जानते हैं ASEAN के बारे में विस्तार से।

ASEAN किसे कहते है ?

कॉम्पिटिटिव एग्जाम हो या सामान्य ज्ञान कभी न कभी आपसे ऐसे सवाल पूछ लिए जाते हैं जिनके बारे में आपको पूरी जानकारी नहीं होती है। वैसे तो कई ऐसे संगठन हैं जिनमे विकसित और विकासशील देशों का समूह शामिल है और उनका अपना एक संगठन होता है जिसे कई नामों से जाना जाता है। विश्व में कई प्रमुख संगठन हैं जैसे -ASEAN ,सार्क ,नाटो आदि।

ASEAN को एशिया-प्रशांत के कॉलोनियल कंट्री के बीच बढ़ते तनाव को कम करने के लिए स्थापित किया गया है। इस संगठन द्वारा इस संगठन द्वारा सदस्य देशों के राजनीतिक तथा सामाजिक स्थिरता को बनाये रखने का कार्य किया जाता है। आसियान में दक्षिण-पूर्व एशियाई देश शामिल है।

key points of ASEAN

आर्टिकल का नाम ASEAN Full Form in Hindi
ASEAN किसे कहते है ?
ASEAN की स्थापना 8 अगस्त 1967 में थाईलैंड बैंकॉक में
आसियान का मुख्यालय जकार्ता (इंडोनेशिया)
उद्देश्य सदस्य देशों के बीच आर्थिक विकास और समृद्धि को बढ़ावा देना
संस्थापक सदस्य थाईलैंड ,इंडोनेशिया ,मलेशिया ,फिलीपींस ,सिंगापुर
ASEAN सदस्य 10 देश
प्रेक्षक राष्ट्र -2
आसियान आदर्श वाक्य One Vision, One Identity, One Community

ASEAN Full Form in Hindi

ASEAN का पूरा नाम (full form of ASEAN in english) -Association of Southeast Asian Nations है हिंदी में आसियान का पूरा नाम दक्षिण पूर्वी एशियाई राष्ट्रों का संगठन है। आसियान का आदर्श वाक्य वन विजन, वन आइडेंटिटी, वन कम्युनिटी (एक दृष्टि, एक पहचान, एक समुदाय) है। हर साल 8 अगस्त को आसियान दिवस मनाया जाता है।

आसियान की स्थापना

आसियान घोषणापत्र पर संस्थापक राष्ट्रों जैसे मलेशिया, इंडोनेशिया,फिलीपींस, सिंगापुर और थाईलैंड द्वारा हस्ताक्षर किये जाने के साथ 8 अगस्त 1967 में ASEAN (दक्षिण पूर्वी एशियाई राष्ट्रों का संगठन) की स्थापना की गयी थी। 1990 के दशक में इस संगठन में सदस्य देशों की संख्या में इजाफा हुआ।

ASEAN के सदस्य देशों की सूची

  1. थाईलैण्ड ( स्थापना वर्ष - 8 अगस्त 1967 )
  2. सिंगापुर ( स्थापना वर्ष - 8 अगस्त 1967 )
  3. मलेशिया ( स्थापना वर्ष - 8 अगस्त 1967 )
  4. फ़िलीपीन्स ( स्थापना वर्ष - 8 अगस्त 1967 )
  5. इण्डोनेशिया ( स्थापना वर्ष - 8 अगस्त 1967 )
  6. ब्रुनेई ( स्थापना वर्ष - 8 जनवरी 1984 )
  7. वियतनाम ( स्थापना वर्ष - 28 जुलाई 1995 )
  8. लाओस ( स्थापना वर्ष - 23 जुलाई 1997 )
  9. म्यान्मार ( स्थापना वर्ष - 23 जुलाई 1997 )
  10. कम्बोडिया ( स्थापना वर्ष - 30 अप्रैल 1999 )

1967 में आसियान घोषणापत्र में 5 संस्थापक राष्ट्रों द्वारा हस्ताक्षर किया गया था जिसके बाद आसियान की स्थापना हुयी। ASEAN के पांच संस्थापक राष्ट्र निम्नलिखित हैं -

  1. थाईलैण्ड
  2. सिंगापुर
  3. मलेशिया
  4. फ़िलीपीन्स
  5. इण्डोनेशिया

आसियान शिखर सम्मेलन सूची

वर्ष देश मेजबान नेता
23-24 फरवरी 1976इण्डोनेशिया राष्ट्रपति सुहार्तो
4-5 अगस्त 1977मलेशिया प्रधानमंत्री तुन हुसैन ओन
14-15 दिसम्बर 1987 फिलीपींस राष्ट्रपति कोराज़ोन एक्विनो
27‒29 जनवरी 1992सिंगापुर प्रधानमंत्री गोह चोक टोंग
14‒15 दिसम्बर 1995 थाईलैंड प्रधानमंत्री बन्हार्न सिल्प -अर्चा
15‒16 दिसम्बर 1998 वियतनाम प्रधानमंत्री फान वान खाई
5‒6 नवम्बर 2001ब्रुनेई सुल्तान हसनल बोल्कियाह
4‒5 नवम्बर 2002 कम्बोडिया प्रधानमंत्री हुन सेन
7‒8 अक्टूबर 2003 इण्टोनेशिया राष्ट्रपति मेगावती सुकर्णोपुत्री
29‒30 नवम्बर 2004लाओसप्रधानमंत्री बोन्हंग वोराचित
12‒14 दिसम्बर 2005 मलेशिया प्रधानमंत्री अब्दुल्ला अहमद बादवाई
11‒14 जनवरी 2007फिलीपींस राष्ट्रपति ग्लोरिया मकपगल अरोयो
18‒22 नवम्बर 2007सिंगापुरप्रधानमंत्री ली सियन लूंग
27 फरवरी-1 मार्च 2009 थाईलैंड प्रधानमंत्री अभिसित वेज्जाजिवा
10-11 अप्रैल 2009 थाईलैंडप्रधानमंत्री अभिसित वेज्जाजिवा
23-25 अक्टूबर 2009 थाईलैंड प्रधानमंत्री अभिसित वेज्जाजिवा
8-9 अप्रैल 2010 वियतनाम प्रधानमंत्री गुयेन टंन डुंग
28-31 अक्टूबर 2010 वियतनाम प्रधानमंत्री गुयेन टंन डुंग
7-8 मई 2011 इण्डोनेशियाराष्ट्रपति सुसीलो बाम्बांग युद्धोयोनो
14-19 नवम्बर 2011 इण्डोनेशियाराष्ट्रपति सुसीलो बाम्बांग युद्धोयोनो
3-4 अप्रैल 2012 कम्बोडिया प्रधानमंत्री हुन से
17-20 नवम्बर 2012 कम्बोडिया प्रधानमंत्री हुन से
24-25 अप्रैल 2013 ब्रुनेई सुल्तान हसनल बोल्कियाह
9-10 अक्टूबर 2013ब्रुनेई सुल्तान हसनल बोल्कियाह
10-11 मई 2014 म्यांमार राष्ट्रपति यू थेन सेन
10-12 नवम्बर 2014 म्यांमार राष्ट्रपति यू थेन सेन
26‒27 अप्रैल 2015 मलेशिया प्रधानमंत्री नजीब रज़ाक
18-22 नवम्बर 2015 मलेशिया प्रधानमंत्री नजीब रज़ाक
6-8 सितम्बर 2016 लाओस प्रधानमंत्री थोंगलुन सिसौलिथ
6-8 सितम्बर 2016 लाओस प्रधानमंत्री थोंगलुन सिसौलिथ
28-29 अप्रैल 2017 फिलीपींस राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते
10-14 नवम्बर 2017 फिलीपींस राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते
अप्रैल 2018 सिंगापुरप्रधानमंत्री ली सियन लूंग
11-15 नवम्बर 2018 सिंगापुर प्रधानमंत्री ली सियन लूंग
20-23 जून 2019 थाईलैंड प्रधानमंत्री प्रयुत चन ओचा
31अक्टूबर- 4नवम्बर 2019 थाईलैंडप्रधानमंत्री प्रयुत चन ओचा
26 जून 2020वियतनाम प्रधानमंत्री गुयेन जुआन फुक
12-15 नवम्बर 2020 वियतनामप्रधानमंत्री गुयेन जुआन फुक
26-28 अक्टूबर 2021ब्रूनेई सुल्तान हसनल बोल्कियाह
12 मई 2022
कम्बोडिया प्रधानमंत्री हुन सेन

इन तीन स्तम्भों पर काम करता है आसियान

  • आसियान आर्थिक समुदाय
  • आसियान राजनीतिक-सुरक्षा समुदाय
  • आसियान सामाजिक-सांस्कृतिक समुदाय

ASEAN का उद्देश्य

  1. आसियान यानी दक्षिण पूर्व एशियाई देशों का समूह इसलिए स्थापित किया गया ताकि इस संगठन में शामिल देशों के बीच आपसी तालमेल और शांति बनी रहे।
  2. ASEAN द्वारा सदस्य देशों के बीच एकता कायम रखने का प्रयास किया जाता है जिससे सभी सदस्य देश एक दूसरे के विकास में अपना सहयोग दे सकें।
  3. आसियान का मुख्य उद्देश्य सभी देशों करे बीच आर्थिक सहायता और सहयोग की भावना पैदा करना है।
  4. राजनीतिक और सामाजिक विकास और शिक्षा, तकनीकी ज्ञान, वैज्ञानिक क्षेत्र में सभी सदस्य देशों को उचित सहायता प्रदान करना है।
  5. आर्थिक ,सामाजिक ,सांस्कृतिक ,वैज्ञानिक और प्रशासनिक क्षेत्रों में जनता के हितों से जुड़े मुद्दों पर अपना सहयोग प्रदान करना।
  6. इतना ही नहीं कृषि व्यापार और उद्योग के क्षेत्र में विकास में भागीदारी सुनिश्चित करना और लोगों के जीवन स्तर में सुधार हेतु अपना सहयोग प्रदान करना।

ASEAN किसे कहते है से जुड़े अकसर पूछे जाने वाले सवाल (FAQs)-

आसियान का पूरा नाम क्या है ?

ASEAN का फुल फॉर्म -Association of Southeast Asian Nations है जिसे हिंदी में  दक्षिण पूर्वी एशियाई राष्ट्रों का संगठन कहा जाता है।

किस वर्ष ASEAN की स्थपना की गयी थी ?

8 अगस्त 1967 में ASEAN की स्थपना थाईलैंड की राजदानी बैंकॉक में की गयी थी।

किस वर्ष आसियान ने एशियाई क्षेत्रीय फोरम (ARF) की स्थापना की ?

1994 में आसियान ने एशियाई क्षेत्रीय फोरम (ARF)की स्थापना की थी।

कौन कौन से देश आसियान के संस्थापक सदस्य देश हैं ?

थाईलैंड ,इंडोनेशिया ,मलेशिया ,फिलीपींस ,सिंगापुर आसियान के संस्थापक सदस्य देश थे।

दक्षिण पूर्वी एशियाई राष्ट्रों का संगठन ASEAN के सदस्य देशों की संख्या कितनी है ?

आसियान के 10 सदस्य देश हैं।

Association of Southeast Asian Nations (ASEAN) का मुख्यालय कहाँ है ?

ASEAN का मुख्यालय इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में है।

क्या ब्रुनेई आसियान का सदस्य है ?

जी हाँ ! ब्रूनई आसियान का सदस्य है। ब्रूनई को 8 जनवरी 1984 में ASEAN का मेंबर बनाया गया था।

Leave a Comment