UPI 2.0 क्या है? यह कैसे काम करता है? जानिए UPI के नए फीचर्स और फायदे

आजकल हर चीज ऑनलाइन हो गयी है। भारत समेत कई देशों में ऑनलाइन ट्रांजेक्शन का चलन काफी बढ़ा है। साल 2016 में upi की शुरुआत हुई थी। 2016 के बाद से ही भारत में ऑनलाइन लेनदेन में काफी बढ़ोतरी हुयी है। भारत एक ऐसा देश है जो ऑनलाइन पेमेंट के साथ में दुनिया के अन्य देशों से आगे है। ऑनलाइन भुगतान की सुविधा को सरकार द्वारा और भी आसान बना दिया गया है। 2016 के बाद से साल 2018 में भारत सरकार ने UPI का नया वर्जन UPI 2.0 लांच किया है। आज की इस पोस्ट में जानते हैं UPI 2.0 क्या है? और कैसे काम करता है ?

UPI 2.0 क्या है?
UPI 2.0 क्या है?

लेकिन क्या आप जानते हैं यूपीआई के नए वर्जन UPI 2.0 की क्या खास बातें हैं ? UPI 2.0 क्या है? आज हम आपको इस नए वर्जन के बारे में बताएँगे साथ ही साथ आपको UPI के नए फीचर्स और फायदे भी इस आर्टिकल में जानने को मिलेंगे। तो चलिए जानते हैं UPI 2.0 क्या है? और यह कैसे काम करता है।

UPI 2.0 क्या है ?

UPI (Unified Payments Interface) को 2016 में पहली बार लांच किया गया था। इसके बाद साल 2018 में यूपीआई का नया वर्जन UPI 2.0 को मुंबई में आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल द्वारा लांच किया गया था। UPI 2.0 को national payments corporation of india (NPCI) द्वारा UPI के नए फीचर्स के साथ तैयार किया गया है।

जैसे की आप सभी जानते ही होंगे यूपीआई (यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफ़ेस) एक इंस्टेंट रियल टाइम पेमेंट सिस्टम है जिसे national payments corporation of india द्वारा विकसित किया गया है। यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफ़ेस यानी UPI को आरबीआई (reserve bank of india) द्वारा रेगुलेट किया जाता है। UPI के नए वर्जन 2.0 में आपको कई सारी सुविधाएँ दी गयी हैं। साथ ही आपको UPI 2.0 में बेहतर सिक्योरिटी फीचर्स और ओवर ड्राफ्ट की सुविधा दी गयी है।

यह भी जानें गांव का बिजनेस आइडिया | Village Business Ideas

Key Highlights of UPI 2.0

UPI का पूरा नाम Unified Payments Interface (यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफ़ेस)
UPI की सुविधा ऑनलाइन पेमेंट ,मनी ट्रांसफर की सुविधा
यूपीआई की शुरुआत की गयी 11 अप्रैल 2016
UPI 2.0 लांच किये जाने का वर्ष 2018
UPI के नए वर्जन पर कर करने वाली संस्था का नाम national payments corporation of india (NPCI)
UPI 2.0 लांच किसके द्वारा किया गया RBI गवर्नर उर्जित पटेल द्वारा
NPCI ऑफिसियल वेबसाइट https://www.npci.org.in/

PhonePe Loan Offer: ऐसे लें फोन पे ऐप से लोन, यहाँ जानें पूरी प्रक्रिया

UPI 2.0 कैसे काम करता है?

जैसे की आप सभी जानते हैं की किसी भी ऑनलाइन पेमेंट को करते समय हमे सबसे अधिक चिंता मनी सेक्योरिटी की रहती है। लेकिन अब UPI के नए वर्जन के लांच होने से आपको सेक्योरिटी से जुडी किसी भी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के साथ मिलकर UPI 2.0 वर्जन को पहले से अधिक बेहतर बनाया है। अब आप पहले से अधिक तेजी से और सिक्योर ऑनलाइन ट्रांजेक्शन कर सकेंगे।

देश के 10 से भी अधिक बैंक जैसे SBI, ICICI Bank, HDFC Bank, Yes Bank, Axis Bank, IDBI bank, HSBC आदि इस नए वर्जन के साथ पार्टिसिपेट कर रहे हैं। अब आप मोबाइल बिल पेमेंट ,DTH, OTT प्लेटफॉर्म और क्रेडिट कार्ड आदि के लिए आप ऑटो-पे के ऑप्शन चुन सकेंगे।

e-RUPI Digital Payment: Check Benefits, Working & Download e Rupi App

UPI 2.0 का लाभ

  • सभी ग्राहक UPI (Unified Payments Interface) के माध्यम से अपने फ़ोन बिल ,बिजली बिल,लोन की EMI आदि का भुगतान कर सकते हैं। इस सुविधा को UPI 2.0 के तहत दिया गया है।
  • अब इस नए यूपीआई वर्जन में आपको लोन, इंश्योरेंस, म्यूचुअल फंड का भुगतान आसानी से कर सकेंगे।
  • UPI 2.0 में आपको ऑटो-पे की सुविधा दी गयी है जिसमें आप बिना रिमाइंडर लगाए ऑटो -पे फीचर की सहायता से भुगतान कर सकते हैं।
  • UPI 2.0 के ऑटो -पे फीचर से यह फायदा होगा की आपको लेट फीस या पेनल्टी जैसी चीजों से छुटकारा मिलेगा।
  • यूपीआई द्वारा हमे डायरेक्ट बैंक से पेमेंट करने की सुविधा दी जाती है।
  • upi से पेमेंट करते समय आपको अपने कार्ड, नेटबैंकिंग या आईएफएससी कोड, वॉलेट पासवर्ड आदि का विवरण नहीं भरना होता है।
  • आप कभी भी कहीं भी अपने मोबाइल फ़ोन की सहायता से 24 घंटे पेमेंट कर सकते हैं।
  • UPI 2.0 में आपको टू फेक्टर ऑथेंटिकेशन होती है।
  • upi को बैंक से रजिस्टर करने पर आपको एक यूनिक वर्चुअल एड्रेस दिया जाता है। जिसमें आपसे बैंक की डिटेल्स को नहीं माँगा जाता है।

जानिए UPI के नए फीचर्स

आपको UPI 2.0 में कई नए फीचर्स देखने को मिलेंगे जैसे-

  • UPI 123Pay
  • UPI Autopay
  • UPI से Credit Card जोड़ने की सुविधा
  • Offline Wallet
  • डिजिटल करेंसी

1.UPI 123Pay द्वारा बिना इंटरनेट और स्मार्टफोन के यूपीआई पेमेंट

आप बिना इंटरनेट और स्मार्टफोन के आप upi के माध्यम से पेमेंट कर सकेंगे। UPI के इस नए वर्जन में UPI 123Pay को लॉन्च किया गया है जिसकी सहायता से आप बिना इंटरनेट के भी पेमेंट अपने मोबाइल से कर सकेंगे। अपने कीपैड मोबाइल पर UPI पेमेंट के लिए आपको कॉल करनी होगी जिसके बाद आपको जरुरी जानकारियां देनी होती हैं। अब आपके कीपैड मोबाइल फ़ोन को upi अकाउंट से जोड़ दिया जाता है।

2.UPI Autopay

इस फीचर की सहायता से अब स्वयं ही भुगतान हो जायेगा। दरसल यह एक ऑटोमेटिक बिलिंग पेमेंट सिस्टम है जिसके उपयोग से आप बिजली बिल, EMI मोबाइल रिचार्ज और डिजिटल रिचार्ज जैसी ही अन्य जरुरी सेवाओं के लिए भुगतान आसानी से UPI Autopay की सहायता से कर सकते हैं।

EMI मोबाइल रिचार्ज और डिजिटल रिचार्ज आदि ऐसी सेवायें हैं जिन्हें महीने महीने में आपको भुगतान करना पड़ता है। EMI के मामले में समय पर भुगतान न करने से आपको एक्स्ट्रा चार्ज देना पड़ता था लेकिन अब UPI के नए फीचर Autopay से यह भुगतान ऑटोमेटिक हो जायेगा और आपको लेट फीस और पेनल्टी जैसी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।

3.UPI से जोड़ सकेंगे आप अपना Credit Card

UPI के नए वर्जन 2.0 में यूपीआई अकाउंट से क्रेडिट कार्ड को जोड़ने की सुविधा दी गयी है। यानि की अब आप इस फीचर से यूपीआई पेमेंट के लिए Buy Now, Pay Later जैसी सुविधा का लाभ ले सकेंगे। आप Credit Card के उपयोग से यूपीआई  से आसान तरीके से ऑनलाइन शॉपिंग कर इसका भुगतान बाद में कर सकते हैं।

4. नए वर्जन UPI 2.0 में कर सकेंगे Offline Wallet का इस्तेमाल

आपको इस नए वर्जन यानी यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफ़ेस 2.0 में ऑफलाइन वॉलेट की सुविधा दी गयी है। आप यूपीआई पेमेंट के इस फीचर से अपनी सुविधानुसार पैसे Offline Wallet में ऐड कर सकते हैं और इन पैसे को जरूरत पड़ने पर ऑफलाइन पेमेंट के लिए उपयोग में ला सकते हैं।

5. UPI से जुड़ेंगे डिजिटल रूपए 

देश में सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी को रिटेल सेवाओं के लिए शुरू किया गया है। इस फीचर्स में आपको अपनी यूपीआई आईडी में अपने बैंक खाते के माध्यम से डिजिटल करेंसी के लेनदेन की सुविधा दी गयी है।

UPI 2.0 से जुड़े अकसर पूछे जाने वाले सवाल (FAQs)-

NPCI का पूरा नाम क्या है ?

NPCI की फुल फॉर्म national payments corporation of india (NPCI) है।

national payments corporation of india (NPCI) को कब बनाया गया था ?

national payments corporation of india (NPCI) को साल 2008 में बनाया गया था।

यूपीआई का पूरा नाम क्या है ?

UPI का full form Unified Payments Interface है।

यूपीआई 2.0 क्या है ?

UPI 2.0 यूपीआई का नया वर्जन है। इसे 2018 में मुंबई में आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल द्वारा लांच किया गया था।

UPI की शुरुआत कब हुई ?

भारत में UPI की शरुआत 2016 से हुयी थी।

Leave a Comment

Join Telegram