यूपी श्रम विभाग योजनाओं कि लिस्ट यहाँ से देखें: क्या हैं फायदे – upbocw.in List

उत्तर प्रदेश की सरकार अपने राज्य के हर एक नागरिक के लिए तरह-तरह की योजना को जारी करता रहता है। जिससे राज्य के हर एक नागरिक को लाभ मिल सके। आपको बता दें, यूपी में श्रमिकों के लिए कई योजनाएं संचालित की जाती है। योजना को शुरू करने का मुख्य लक्ष्य नागरिकों व उनके परिवार को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना है। यूपी श्रम विभाग द्वारा संचालित योजनाओं के लाभार्थी बनने के बाद श्रमिक अपना और अपने परिवार का भरण-पोषण अच्छे से कर सकते है और उनकी आर्थिक स्थिति में भी कुछ सुधार आ सकता है। आज हम आपको योजना से जुडी सभी जानकारी जैसे: यूपी श्रम विभाग योजना 2022 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें, श्रम विभाग की योजनाओं से मिलने वाले लाभ, UP श्रम विभाग योजना लिस्ट आदि के बारे में बताने जा रहे है। अधिक जानकारी जानने के लिए हमारे द्वारा लिखे गए आर्टिकल को अंत तक अवश्य पढ़े।

यूपी श्रम विभाग योजनाओं कि लिस्ट यहाँ से देखें और जानें क्या फायदे हैं - upbocw.in List

यह भी जानें – यूपी श्रमिक मजदूर कार्ड पंजीकरण ऐसे करें।

यूपी श्रम विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की लिस्ट यहां देखें

राज्य में जितने भी श्रमिक श्रेणी से सम्बन्ध रखते है सरकार उन सभी को समय-समय पर लाभ प्रदान करती रहती है और उनके परिवार को कई तरह की सेवाएं व योजनाएं जैसे: बच्चों की शिक्षा से जुडी योजना, स्वास्थ्य सम्बन्धी योजना, बेटी की शादी हेतु योजना और अन्य कई योजना जारी करती रहती है जिससे लाभार्थी के परिवार की आर्थिक मदद की जा सके। इन सभी योजनाओं का लाभ श्रमिक तभी ले सकते है जब वह श्रम विभाग के ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीकरण करेंगे। उत्तर प्रदेश श्रम विभाग द्वारा श्रमिकों को समय-समय पर वित्तीय सहायता राशि भी प्रदान की जाती है जिससे वह आराम से गुजारा कर पाएं। इसके अलावा नागरिकों के लिए आवास की सुविधा भी प्रदान करती है।

आर्टिकल श्रमिक विभाग की योजनाएं
विभाग श्रम विभाग उत्तर प्रदेश
लाभ लेने वाले श्रमिक नागरिक के परिवार
उद्देश्य श्रमिक नागरिकों को अनेक प्रकार
की योजनाओं का लाभ देना
साल 2022
पंजीकरण ऑनलाइन मोड
श्रेणी राज्य सरकारी योजना
आधिकारिक वेबसाइट upbocw.in

यूपी श्रम विभाग योजना का उद्देश्य

यूपी श्रम विभाग योजना का उद्देश्य यह है कि उत्तर प्रदेश में जितने भी गरीब परिवार व आर्थिक रूप से कमजोर परिवार है उन्हें सरकार द्वारा जारी की गयी योजना का लाभ देना। श्रमिक नागरिको की परिवार की स्थिति अच्छी न होने के कारण उन्हें परिस्थियों व समस्याओं का सामना करना पड़ता है और श्रमिक नागरिक अपने परिवार की किसी भी जरुरत को पूरा करने में असमर्थ होते है परन्तु श्रम विभाग द्वारा जारी की गयी योजनाएं नागरिकों को कई सारे लाभ व सुविधाएं प्रदान करेगा। जिसके माध्यम से श्रमिक नागरिक व उनका परिवार अच्छे से अपनी जिंदगी बिता सकेंगे और साथ-साथ बिना किसी मदद के अपने बच्चों की शिक्षा व स्वास्थ्य सम्बन्धी सेवाओं का मुफ्त लाभ भी ले सकेंगे।

यूपी श्रम विभाग द्वारा संचालित योजनाएं और उनके लाभ

  • शिशु हित लाभ योजना के माध्यम से बेटी के जन्म होने के समय लाभार्थी को 12 हजार रुपये और लड़के के जन्म के समय 10 हजार रुपये की आर्थिक वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाएगी। योजना से मिलने वाली राशि बच्चों के 2 साल की आयु तक दी जाएगी। योजना का लाभ प्रदान करने के लिए आवेदक को रजिस्ट्रेशन करवाना बहुत ही जरुरी है। योजना का लाभ केवल श्रमिक नागरिकों के नागरिकों के दो बच्चों को दिया जायेगा।
  • मातृत्व हितलाभ योजना के जरिये जो भी लाभार्थी कामकाजी महिला होंगी वह अपनी डिलीवरी के दौरान निर्धारित किया गया 3 महीने का वेतन धनराशि दी जाएगी। श्रमिक महिला 2 प्रसव के दौरान इसका लाभ प्राप्त कर सकती है और इसके साथ-साथ 1 हजार रुपये की अतिरिक्त राशि चिकित्सा बोनस के रूप में दिया जायेगा। योजना का उद्देश्य पंजीकृत लाभार्थी कर्मकार महिलाओं को प्रसव के समय पौष्टिक आहार की व्यवस्था करवाना है।
  • बालिका मदद योजना के माध्यम से जिस कन्या की आयु 18 साल से अधिक हो जाएगी उन्हें 20 हजार रुपये की राशि अविवाहित होने पर प्रदान की जाएगी। जिस लड़की का पंजीकरण माता-पिता ने आंगनबाड़ी केंद्र में बेटी के जन्म के 1 साल के अंदर ले लिया होगा उसे इसका लाभ मिलेगा। इसके अलावा क़ानूनी रूप से गोद ली बेटी भी योजना का लाभ प्राप्त कर सकेंगे और दूसरी बेटी को भी इस योजना का लाभ तभी ले सकेंगी जब दूसरी बेटी भी लड़की होगी।
  • अक्षमता पेंशन योजना का लाभ देश के उन नागरिकों को प्रदान किया जायेगा जो किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित होंगे। गंभीर बीमारी जैसे: लकवा, कैंसर, कुष्ठ रोग, टुबरक्लोसिस (तपेदिक) और अन्य किसी गंभीर बीमारी जिसकी वजह से श्रमिक नागरिक काम करने में सक्षम नहीं होगा। योजना के तहत 1 हजार रुपये की राशि उन्हें पूरे जीवन तक प्रदान किया जायेगा। श्रम विभाग में जितने भी रजिस्टर्ड यूजर है जो किसी दुर्घटना, बीमारी या स्थायी रूप से 50% या उससे अधिक असक्षम है उन्हें इसका लाभ प्रदान किया जायेगा।
  • मृत्यु एवं विकलांगता सहायता योजना के माध्यम से किसी भी श्रमिक नागरिक की दुर्घटना या मृत्यु हो जाने पर टेम्पेरोरी रूप में 1 लाख रुपये की वित्तीय सहायता राशि एवं सावधि जमा (पीरियड) के रूप में 4 लाख रुपये की वित्तीय सहायता राशि आवेदक के परिवार को प्रदान की जाएगी। इसके अलावा यदि कोई आवेदक पूरी तरह से विकलांग होता है तो उसे 3 लाख रुपये और स्थायी रूप से अपंग होता है तो उसे 2 लाख रुपये दिए जायेंगे।
  • पुत्री विवाह अनुदान योजना का लाभ श्रम विभाग पर सभी पंजीकृत श्रमिकों की बेटियों को दिया जायेगा। योजना के तहत श्रमिकों की बेटियों को शादी के लिए 51000 रुपये की धनराशि प्रदान की जाएगी। यह राशि आवेदक के बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी इसके लिए आवेदक का बैंक खाता होना बहुत जरुरी है जो की आधार कार्ड से लिंक होना अनिवार्य है। इसके लिए अंतरजातीय विवाह हेतु योजना के अंतर्गत 55 हजार रुपये की सहायता राशि दी जाएगी। जितने भी सामूहिक विवाह में 11 जोड़े उपस्थित होंगे उन सभी को 5 हजार की धनराशि बोर्ड द्वारा प्रदान की जाएगी। आवेदक श्रमिक 3 साल तक योजना का सदस्य होना चाहिए और उसका नियमित अंशदान जमा होना चाहिए।
  • अंत्योष्टि सहायता योजना के माध्यम से जिस नागरिक की मृत्यु हो जाती है उसके अंतिम संस्कार करने के लिए 25 हजार रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। यह राशि उसकी श्रमिक नागरिक के परिवार को दी जाएगी जिसने श्रम विभाग में रजिस्ट्रेशन करवाया होगा। यदि किसी श्रमिक ने आत्महत्या की होगी तो ऐसी स्थिति में उसे लाभ प्रदान नहीं किया जायेगा।
  • कौशल विकास तकनीकी उन्नयन एवं प्रमाणन योजना के तहत श्रमिकों के बच्चों को ट्रेनिंग प्रदान की जाती है। व्यवसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग द्वारा प्रशिक्षण दिया जाता है। अगर श्रमिक स्वयं ट्रेनिंग में हिस्सा लेता है तो उन्हें मजदूरी प्रदान की जाएगी। योजना का लाभ रजिस्टर्ड श्रमिक, पत्नी, अविवाहित पुत्री व 21 साल से कम उम्र के लड़को को भी मिलेगा। यदि लाभार्थी की उम्र 21 साल से कम है और ट्रेनिंग के समय 21 साल से अधिक हो जाती है तो भी वह योजना के पात्र समझे जायेंगे।
  • आवास सहायता योजना के माध्यम से श्रमिक परिवार को घर बनाने हेतु 1 लाख रुपये की वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाएगी। यह राशि दो किश्तों में श्रमिकों को दी जाएगी। इसके अलावा अगर श्रमिक का घर है तो सरकार उन्हें घर की मरम्मत के लिए 15 हजार रुपये की आर्थिक सहायता राशि उपलब्ध करवाएगी। योजना का लाभ आवेदक श्रमिक को तभी मिल पायेगा जब उसके पास पक्का मकान नहीं होगा।
  • पेंशन योजना के तहत जितने भी श्रमिक पोर्टल पर पंजीकृत होंगे उन्हें 1 हजार रुपये की वित्तीय राशि उन्हें जीवन भर प्रदान की जाएगी यह राशि उनके बैंक खाते में भेजी जाएगी। कंस्ट्रक्शन वर्कर एक्ट-1996 के अंतर्गत रजिस्टर्ड श्रमिक नागरिक ही पेंशन प्राप्त कर सकेगा।
  • सौर ऊर्जा सहायता योजना के माध्यम से श्रमिक को 2 LED बल्ब, 1 DC टेबल फैन, 1 सोजर पैनल, चार्जिंग कंट्रोलर, 1 मोबाइल चार्जर दिया जायेगा। इन सभी चीजों की गारंटी 5 साल तक की होगी। सभी पंजीकृत श्रमिकों के घरों में सौर ऊर्जा की सहायता स्थापित की जाएगी। योजना हेतु वह नागरिक लाभ ले सकेंगे जिनके बच्चे 9वी से लेकर 12वी में पढ़ रहे होंगे।
  • साइकिल सहायता योजना के तहत जो भी श्रमिक नागरिक साइकिल खरीदना चाहते है उन्हें योजना के तहत 3 हजार रुपये की सब्सिडी राशि प्रदान की जाएगी। योजना का लाभ तभी श्रमिक को मिलेगा जब वह 6 महीने से श्रम विभाग में रजिस्टर्ड होगा।
  • गंभीर बीमारी सहायता योजना का लाभ श्रमिक व उनके परिवार को प्रदान किया जायेगा। योजना के तहत जो भी नागरिक गंभीर बीमारी से पीड़ित है उनकी स्वास्थ्य चिकित्षा का सारा खर्चा बोर्ड द्वारा किया जायेगा। गंभीर बीमारी जैसे: हृदय का ऑपरेशन, गुर्दा ट्रांसप्लांट, लीवर ट्रांसप्लांट, ब्रेन का ऑपरेशन, रीढ़ की हड्डी का ऑपरेशन, पैर के घुटने बदलने का ऑपरेशन, कैंसर का इलाज, एड्स बीमारी का इलाज आदि के लिए सहायता सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी।
  • मेधावी छात्र पुरूस्कार योजना के अंतर्गत सभी पंजीकृत श्रमिकों के बच्चों को प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। जो बच्चे 5 से 8वी कक्षा में 70% या उससे अधिक अंक और जो बच्चे कक्षा 9 से 12 वी एवं अन्य प्रोफेशनल कोर्स में 60% या उससे अधिक मार्क्स प्राप्त करेंगे उन्हें 4 हजार से लेकर 22 हजार रुपये तक की राशि सरकार द्वारा पुरूस्कार के रूप में दी जाएगी।
  • मध्यान्ह भोजन सहायता योजना के अंतर्गत जितने भी श्रमिक नागरिक होंगे जो एक्ट 1996 की धारा-12 के तहत रजिस्टर्ड होंगे। योजना के माध्यम से श्रमिक नागरिक को 10 रुपये में भोजन उपलब्ध करवाया जायेगा। जिससे उन्हें कम मूल्य पर भर पेट भोजन प्राप्त हो पायेगा।
  • आवासीय विद्यालय योजना के माध्यम से श्रमिक नागरिकों के बच्चों को निशुल्क शिक्षा प्रदान की जाएगी। इसके लिए बच्चों की आयु 6 साल से 14 साल के बीच होनी आवश्यक है। योजना का उद्देश्य यह है कि जिन श्रमिकों की घरों की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होती और वह अपने बच्चों को पढ़ने में असमर्थ होते है उनके बच्चों को सरकार मुफ्त में शिक्षा प्रदान करेगी। जिससे उनके बच्चे भी पढ़ लिख कर आत्मनिर्भर बन सकेंगे।
  • खाद्यान सहायता योजना के अंतर्गत हर महीने पंजीकृत श्रमिक के परिवार को 15 दिन का राशन बांटा जायेगा। योजना का लाभ पाने के लिए आवेदक के पास आधार कार्ड उपलब्ध होना अनिवार्य है। योजना के तहत राशन में चावल 5 किलों, चीनी 1 किलो, दाल 11/2 किलों आदि दी जाएगी। योजना का उद्देश्य कर्मकारों को सस्ती दरों में राशन उपलब्ध करवाना है। जिससे उन्हें पौष्टिक भोजन मिल सके।
  • संत रविदास शिक्षा सहायता योजना के तहत लाभार्थी श्रमिकों के बच्चों को पढाई के लिए वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाएगी। जिसमे कक्षा 1 से लेकर मेडिकल कोर्स करवाने के लिए सरकार बच्चों को सहायता प्रदान करेगी। योजना का लाभ पंजीकृत श्रमिकों के बच्चे ही ले सकते है। बच्चों की आयु 25 साल से अधिक नहीं होनी चाहिए। जो भी छात्र 60% से अधिक अंक प्राप्त करेंगे उन्हें इस योजना का पात्र समझा जायेगा। जो बच्चे मेडिकल व इंजीनियरिंग कोर्स कर रहे होंगे उन्हें 8 से 12 हजार की राशि प्रदान की जाएगी।

‎Up Shram Vibhag Yojana List

शिशु हित लाभ योजना पंडित दीनदयाल उपाध्याय चेतना योजना मातृत्व हितलाभ योजना शौचालय सहायता योजना बालिका मदद योजना
चिकित्सा सुविधा योजना अक्षमता पेंशन योजना सौर ऊर्जा सहायता योजना मृत्यु एवं विकलांगता सहायता योजना पुत्री विवाह अनुदान योजना
अंत्योष्टि सहायता योजना कौशल विकास तकनीकी उन्नयन एवं प्रमाणन योजना आवास सहायता योजना पेंशन योजना सौर ऊर्जा सहायता योजना साइकिल सहायता योजना
गंभीर बीमारी सहायता योजना मेधावी सहायता योजना मध्यान्ह भोजन सहायता योजना आवासीय विद्यालय योजना खाद्यान सहायता योजना
संत रविदास शिक्षा सहायता योजना

यूपी श्रम विभाग की योजनाओं के लिए ऐसे आवेदन करें

जो भी श्रमिक नागरिक यूपी श्रम विभाग द्वारा जारी सभी योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते है उन्हें पहले पोर्टल पर जाकर पंजीकरण करवाना आवश्यक है। हम आपको पंजीकरण प्रक्रिया के बारे में बताने जा रहे है। प्रकिया जानने के लिए हमारे द्वारा दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  • आवेदक को सबसे पहले उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट (upbocw.in) पर जाना है।
  • जिसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल कर आजायेगा।
  • होम पेज पर आपको श्रमिक के सेक्शन पर जाकर श्रमिक पंजीयन/संशोधन के दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। UP labour department scheme
  • क्लिक करते ही आपके सामने नया पेज खुल जायेगा।
  • नए पेज पर आपको आधार कार्ड नंबर, आवेदन/पंजीयन नंबर, मंडल, जनपद, मोबाइल नंबर भरना होगा। यूपी लेबर डिपार्टमेंट स्कीम
  • जिसके बाद आपको आवेदन संशोधन करें पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करते ही आपके सामने नए पेज पर फॉर्म प्राप्त होगा।
  • आपको फॉर्म में पूछी गयी जानकारी को भरना होगा और इसके साथ-साथ महत्तवपूर्ण दस्तावेजों को अटैच करना होगा।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक कर देना है।
  • जिसके बाद आपकी श्रम विभाग की योजना हेतु आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

आवेदन/पंजीयन संख्या जानने की प्रकिया

सबसे पहले उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट (upbocw.in) पर विजिट करें। यहाँ आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल कर आजायेगा। होम पेज पर आपको श्रमिक के सेक्शन पर जाकर आवेदन/पजीयन संख्या जाने के दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। क्लिक करते ही आपके सामने नया पेज खुल जायेगा। नए पेज पर आपको पूछी गयी जानकरी जैसे: आधार कार्ड नंबर और मोबाइल नंबर भरना होगा। सभी जानकारी भरने के बाद आपको सर्च बटन पर क्लिक कर देना होगा। क्लिक करते ही आपकी पंजीयन संख्या खुल जाएगी।

पंजीयन की स्थिति की जाँच ऐसे करें

  • आवेदक को सबसे पहले उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल कर आजायेगा।
  • होम पेज पर आपको श्रमिक के सेक्शन पर जाकर पंजीयन की स्थिति के दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने नया पेज खुल जायेगा।
  • नए पेज पर आपको पूछी गयी जानकारी जैसे: पंजीयन संख्या और मोबाइल नंबर भरना होगा। आवेदन की स्थिति उत्तर प्रदेश लेबर डिपार्टमेंट स्कीम
  • इसके बाद आपको सर्च पर क्लिक कर देना है।
  • जिसके बाद आप पंजीयन की स्थिति जाँच सकेंगे।

UP Sramik Vibhag Yojana List से जुड़े प्रश्न/उत्तर

यूपी श्रम विभाग की आधिकारिक वेबसाइट क्या है?

यूपी श्रम विभाग की आधिकारिक वेबसाइट upbocw.in है। आवेदक पोर्टल पर जाकर श्रम विभाग की योजनाओं का लाभ ले सकते है।

श्रम विभाग की योजनाओ की पंजीकरण प्रक्रिया क्या होगी?

श्रम विभाग की योजनाओ की पंजीकरण प्रक्रिया हमने आपको अपने आर्टिकल में विस्तारपूर्वक बता दी है। पंजीकरण प्रक्रिया जानने के लिए हमारे द्वारा लिखे गए लेख को पूरा पढ़े।

उत्तर प्रदेश श्रम विभाग की योजनाओं का लाभ कौन ले सकते है?

उत्तर प्रदेश श्रम विभाग की योजनाओं का लाभ श्रमिक श्रेणी के नागरिक ले सकेंगे। योजनाओं का लाभ वही श्रमिक नागरिक ले सकेंगे जो पोर्टल पर पंजीकृत होंगे।

सरकार ने श्रम विभाग हेतु कितनी योजनाओं को शुरू किया है?

सरकार ने श्रम विभाग हेतु 21 योजनाओं को शुरू किया है। यह योजनाएं श्रमिक नागरिक के लिए राज्य भर में लागू की गयी है।

हमने अपने आर्टिकल में यूपी श्रम विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की लिस्ट के बारे में सभी जानकारियों को विस्तारपूर्वक आपको बता दी है, यदि आपको जानकारी पसंद आयी हो तो आप हमे मैसेज बॉक्स में मैसेज करके बता सकते है। यदि आपको योजना से सम्बंधित कोई भी समस्या या सवाल पूछने है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते है। हम आपके सभी सवालों का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे।

ऐसी ही और भी सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment