यूपी महिला सामर्थ्य योजना ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म व पंजीकरण प्रक्रिया

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा महिला सामर्थ्य योजना द्वारा महिलाओं को सशक्त करने की ओर एक उल्लेखनीय कदम उठाया गया है। योजना को महिलाओं को रोजगार हेतु प्रोत्साहित करने के लिए शुरू किया जाएगा। जिससे महिलाएं आत्मनिर्भर बन सकेंगी। महिला सामर्थ्य योजना में आप ऑनलाइन आवेदन करके इस योजना का लाभ ले सकते हैं। आइये जानते हैं किस प्रकार से यूपी राज्य की महिलायें Mahila Samarthya Yojana में ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

uttar pradesh  Mahila Samarthya Yojana
UP Mahila Samarthya Yojana

UP महिला सामर्थ्य योजना

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गयी यूपी महिला सामर्थ्य योजना महिलाओं के सशक्तिकरण हेतु है। जिससे उत्तर प्रदेश की महिलाएं भी सशक्त बन सकें और उनका विकास हो। इस योजना के माध्यम से राज्य सरकार द्वारा महिलाओं को उनके आस-पास उपलब्ध/स्थानीय संसाधनों के हिसाब से कुटीर उद्योगों की शुरुआत करने को प्रेरित किया जाएगा।

इसके अलावा महिलाओं को अपने कुटीर उद्योगों द्वारा उत्पादित वस्तुओं को बेचने के लिए भी सरकार बाजार उपलब्ध कराएगी। जहाँ महिलाएं आसानी से अपना समान बेचकर कुछ आय प्राप्त कर सकेंगी। UP Mahila Samarthya Yojana के लिए सरकार द्वारा 200 करोड़ का बजट निर्धारित करने की घोषणा की गयी है।

यूपी महिला सामर्थ्य योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

अगर आप भी इस योजना में भाग लेना चाहते हैं तो आपको अभी थोड़ी और प्रतीक्षा करनी होगी। आपकी जानकारी के लिए बता दें की राज्य सरकार द्वारा अभी इस योजना यूपी महिला सामर्थ्य योजना की घोषणा ही की गयी है। इसके क्रियान्वयन हेतु अभी तैयारियां जारी हैं।

जैसे ही ये प्रक्रिया पूरी होगी आवेदन हेतु आवेदन पत्र जारी कर दिए जाएंगे। आवेदन पत्र जारी होते ही हम अपने इस आर्टिकल के माध्यम से आपको सूचित कर देंगे।

इसके अलावा इस योजना से सम्बन्धित अन्य सभी जानकारियां भी आपके साथ साझा करेंगे। आप तब तक हमारे वेबसाइट से जुड़े रहे। और इसके अलावा हमारी वेबसाइट पर अन्य लेखों के माध्यम से भी इसी तरह उत्तर प्रदेश व अन्य राज्यों की योजनाओं के बारे में भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

UP Mahila Samarthya Yojana कैसे काम होगा?

  • इस योजना के अंतर्गत 200 विकास खंडों में महिला सामान्य सुविधा केंद्र खोले जाएंगे।
  • ये पहले चरण के दौरान होंगे। इन केंद्रों में महिलाओं को विभिन्न प्रशिक्षण दिया जाएगा। जैसे सामान्य उत्पादन और उसकी तकनीकी, विकास, पैकेजिंग, लेवेलिंग और बारकोडिंग इत्यादि की सुविधा प्रदान की जाएगी।
  • इसके अलावा उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए सामान्य जागरूकता, सेमिनार, एक्स्पोज़र, परामर्श कार्यक्रम, कार्यशाला और प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।
  • इन सुविधा केंद्रों का 90 प्रतिशत का खर्चा राज्य सरकार द्वारा उठाया जाएगा।
  • योजना के अंतर्गत द्विस्तरीय कमिटी का गठन किया जाएगा।
  • इनमें से एक कमिटी राज्य स्तर पर गठित की जाएगी और दूसरी जिला स्तर पर कार्य करेगी।
  • जिला स्तर पर कार्य करने वाली कमिटी की अध्यक्षता जिले के डिस्ट्रिक्ट मेजिस्ट्रेट द्वारा की जाएगी।

सामर्थ्‍य योजना का उद्देश्य

  • Mahila Samarthya Yojana का उद्देश्य महिलाओं के जीवन स्तर को और बेहतर बनाना है ताकि सभी महिलाएं बेहतर जीवन जी सकें।
  • इस योजना के माध्यम से उत्तर प्रदेश की महिलाओं को रोजगार के प्रति प्रेरित किया जाएगा ताकि वो अपने लिए आय का एक साधन उत्पन्न कर सकें।
  • महिलाओं को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाना।
  • इससे महिलाएं सशक्त बनेंगी और महिला सशक्तिकरण में इस योजना का बहुत बड़ा योगदान होगा।
  • योजना के माध्यम से महिलाओं को उपलब्ध संसाधनों में ही कुटीर उद्योग लगाने और साथ ही बाजार भी उपलब्ध कराने की व्यवस्था भी की है।
  • इसके अलावा उन्हें उद्योगों से सम्बंधित प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।
यूपी महिला सामर्थ्‍य योजना

महिला सामर्थ्‍य योजना यूपी के लाभ एवं विशेषताएं

  • योजना देश भर में चल रही महिला सशक्तिकरण मुहिम को आगे बढ़ाते हुए उत्तर प्रदेश में भी शुरू की गयी है।
  • योजना के अंतर्गत प्रदेश की सभी महिलाओं को रोजगार करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।
  • सरकार प्रदेश की सभी महिलाओं को आय का साधन जुटाने में सहायता करेगी।
  • स्थानीय महिलाओं को स्वयं का कुटीर उद्योग शुरू करने के लिए प्रेरित किया जायेगा।
  • इन कुटीर उद्योगों के माध्यम से महिलाओं द्वारा उत्पादित विभिन्न वस्तुओं को सरकार द्वारा बाज़ार उपलब्ध कराया जाएगा।
  • उत्तर प्रदेश सरकार ने योजना के क्रियान्वयन के लिए 200 करोड़ रुपयों का बजट की घोषणा की है।
  • उत्तर प्रदेश की Mahila Samarthya Yojana के तहत महिलाओं को प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से सभी महिलायें अपनी रुचि के हिसाब से विभिन्न प्रशिक्षण पा सकेंगी।
  • इस योजना के अंतर्गत खोले जाने वाले विभिन्न सुविधा केंद्रों का 90 प्रतिशत खर्चा राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

पात्रता

  • ये योजना केवल महिलाओं के लिए हैं। इसलिए इसमें सिर्फ महिलाएं ही भाग लेने की पात्रता रखेंगी।
  • योजना सिर्फ उत्तर प्रदेश के निवासियों के लिए ही है।

दस्तवेज़ों की सूची

  • आधार कार्ड
  • मूल निवासी / स्थायी निवास प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • बैंक खाता विवरण
  • मोबाइल नंबर
  • मतदाता प्रमाण पत्र

यूपी महिला सामर्थ्य योजना से सम्बंधित प्रश्न उत्तर

UP Mahila Samarthya Yojana उद्देश्य हैं ?
Mahila Samarthya Yojana का उद्देश्य महिलाओं के जीवन स्तर को बेहतर बनाना है। महिलाओं को रोजगार के प्रति प्रेरित किया जाएगा।

यूपी महिला सामर्थ्य योजना में क्या पात्रता तय की गयी है
यह योजना यूपी राज्य की महिलाओं के लिए हैं।

इस योजना में कौन-कौन से दस्तावेज़ों की आवश्यकता पड़ेगी ?
आधार कार्ड, मूल निवासी, स्थायी निवास, राशन कार्ड, आय प्रमाण पत्र, पासपोर्ट फोटोग्राफ, बैंक विवरण, मोबाइल नंबर ,मतदाता प्रमाण पत्र की आवश्यकता होगी।

Leave a Comment