UP CM Fellowship Program 2023: Apply Online यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा राज्य के युवाओं को UP CM Fellowship Program के तहत लाभ दिया जायेगा। जैसे की आप जानते ही हैं यूपी राज्य में सरकार द्वारा कई योजनाओं को छात्रों के लिए चलाया गया है जिसमे से एक मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना है।

इस योजना के माध्यम से प्रदेश के शोध कार्य में दिलचस्पी रखने वाले चयनित युवाओं का सहयोग सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं में लिया जायेगा। UP CM Fellowship Program राज्य के युवाओं की प्रतिभा के साथ साथ प्रदेश की तरक्की को नया आयाम देगी।

पी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना आवेदन
UP CM Fellowship Program

CM Fellowship Program क्या है और राज्य के युवा किस प्रकार से UP CM Fellowship Program में Online Apply कर सकेंगे और इस योजना का क्या लाभ युवाओं को होगा सभी के बारे में आपको इस लेख के मध्याम से बता दिया जायेगा। तो चलिए जानते हैं यूपी राज्य के Fellowship Program 2023 के बारे में विस्तार से।

यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना क्या है ?

उत्तर प्रदेश राज्य सरकार द्वारा UP CM Fellowship Yojana को शुरू किया गया है जिसके माध्यम से राज्य के 100 युवाओं को 34 जनपदों के 100 विकास खंडों के लिए चयनित किया जायेगा।

इस प्रोग्राम का लाभ राज्य के रिसर्च विद्यार्थी उठा सकेंगे। प्रोग्राम के तहत शोधार्थी /विद्यार्थियों का चयन कर उन्हें राज्य की विभिन्न योजनाओं की नीति ,किर्यान्वयन ,प्रबंधन के कार्य में सरकार का सहयोग देने के लिए किया जायेगा।

राज्य के युवाओं को राज्य और केंद्र की योजनाओं में भागीदारी मिलेगी। साथ ही इस प्रोग्राम के तहत युवाओं की प्रतिभा के साथ प्रदेश की तरक्की हो सकेगी।

इसी प्रकार से उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा छात्रों के लिए मेधावी छात्र पुरस्कार योजना को भी संचालित किया जा रहा है।

UP Mukhymantri Fellowship Program 2023: Apply Online

यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना में आवेदन करने के लिए नीचे दी गये प्रक्रिया को फॉलो करें –

  • सबसे पहले Mukhymantri Fellowship Yojana की ऑफिसियल वेबसाइट cmfellowship.upsdc.gov.in पर विजिट करें।
  • अब वेबसाइट का होम पेज आपके सामने होगा।
  • अब आपको होम पेज पर मौजूद दिशा निर्देश को पढ़ें।
  • सभी दिशा-निर्देशों को अच्छे से पढ़ लेने के बाद आपको इसके नीचे दिए गए Proceed के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप Proceed बटन पर क्लिक करते हैं आपके सामने एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल कर आ जायेगा।
  • अब आपको इस फॉर्म में पूछी गयी सभी जरुरी जानकारियों को भरना होगा ;जैसे अपना नाम, लिंग, जन्मतिथि, नागरिकता,माता-पिता का नाम, शैक्षिक योग्यता, मोबाइल नंबर, पता आदि।
  • अब आपको अपने सिग्नेचर ,और अपनी पासपोर्ट साइज फोटो को अपलोड करना है साथ ही दी गयी जानकारी को एक बार सही से जाँच लेना है।
  • सभी प्रक्रिया होने पर अंत में आपको submit के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपका सबमिट कर लेने के बाद रजिस्ट्रेशन का प्रोसेस पूरा हो गया है।

UP Mukhymantri Fellowship yojana में लॉगिन कैसे करें?

  1. इसके लिए आपको आपको Mukhymantri Fellowship Program की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करना होगा।
  2. जैसे ही आप वेबसाइट पर विजिट करेंगे आपके सामने इसका होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  3. होम पेज पर आपको स्क्रीन के दाहिनी ओर एक लॉगइन सेक्शन दिखाई देगा। मुख्यमंत्री फेलोशिप प्रोग्राम लॉगिन
  4. इस लॉगिन सेक्शन पर आपको अपना एप्लीकेशन नंबर और अपना पासवर्ड और कैप्चा कोड को कैप्चा बॉक्स में सही से दर्ज कर लेना है ।
  5. अब आपको login बटन पर क्लिक कर देना है।
  6. अब आप सफलतापूर्वक पोर्टल पर लॉगिन हो जायेंगे।

Key Highlights of UP CM Fellowship Program 2023

योजना का नामउत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना
CM Fellowship Program से सम्बंधित राज्य उत्तर प्रदेश
सम्बंधित विभाग नियोजन विभाग ,उत्तर प्रदेश
लाभार्थी राज्य के विद्यार्थी /शोधार्थी
कार्यक्रम का उद्देश्य प्रदेश के युवाओं को राज्य सरकार के साथ नीति ,प्रबंधन ,क्रियान्वयन के कार्यों में सहयोग हेतु अवसर प्रदान करना
योजना के तहत चयनित होने वाले शोधकर्ता विद्यार्थियों की संख्या 100
UP CM Fellowship Program की ऑफिसियल वेबसाइट cmfellowship.upsdc.gov.in
साल 2023

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना के उद्देश्य

इस योजना का उद्देश्य राज्य से ऐसे विद्यार्थियों का चयन करना है जिन्होंने मान्यता प्राप्त संस्थानों से अपने स्नातक की डिग्री 60 प्रतिशत अंक या इससे अधिक अंकों से प्राप्त की हो या उच्च शिक्षा प्राप्त की हो।

मुख्यमंत्री फेलोशिप कार्यक्रम को शुरू इसी उद्देश्य से किया गया है की राज्य के विकास खण्डों में योजनाओं के सर्वेक्षण और अध्ययन आदि के कार्यों के शोधार्थियों का चयन किया जा सके।

CM Fellowship Program में चयनित हुए छात्रों को 30 हजार रुपए का पारिश्रमिक दिए जाने के साथ साथ उन्हें विभिन स्थानों में टूर के लिए 10 हजार रुपए प्रदान किये जाएंगे।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना का यही उदेश्य है की राज्य के युवाओं को सरकार के साथ नीति बनाने ,प्रबंधन और क्रियान्वयन के काम में सहयोग का अवसर प्रदान किया जाए।

फेलोशिप प्रोग्राम के लाभ (Benefits)

  • योजना में राज्य के विकासखण्डों में योजनाओं की नीति ,प्रबंधन के लिए कार्यक्रम के अंतर्गत शोध कार्य में लगे विद्यार्थियों का सिलेक्शन किया जायेगा।
  • ऐसे आवेदक जो योजना के माध्यम से चयनित किये जायेंगे उन्हें 30,000 रुपए हर महीने दिए जाएंगे।
  • इतना ही नहीं रिसर्चर (शोध कार्य में लगे विद्यार्थी ) को 30 हजार के अतिरिक्त विभिन्न क्षेत्रों में टूर के लिए 10,000 रुपए हर माह दिए जायेंगे।
  • साथ ही साथ उत्तर प्रदेश की इस फेलोशिप प्रोग्राम के माध्यम से रिसर्च के काम में लगे हुए छात्रों को विभाग की योजना और कार्य ,योजना की मॉनिटरिंग हेतु टेबलेट खरीदने के लिए 15,000 एकमुश्त दिए जायेंगे।
  • CM Fellowship Program up के माध्यम से चयनित शोधार्थी को विकास खंड में रहने के लिए आवास की सुविधा भी दी जाएगी।
  • चयनित आवेदक को इस कार्यक्रम के तहत एक साल में 12 दिन के अवकास की अनुमति दी जाएगी।
  • युवाओं की प्रतिभा के साथ साथ राज्य की उन्नति हो सकेगी।
  • जनहित योजनाओं में प्रशासन की मदद युवा कर सकेंगे।

यूपी फेलोशिप प्रोग्राम में इन क्षेत्रों में कार्य करने वालों का होगा चयन

Fellowship Program up में जाने-माने संस्थान या विश्वविद्यालय में निम्नलिखत क्षेत्रों में अध्ययन करने वाले विद्यार्थी /शोधार्थी का सिलेक्शन किया जायेगा –

  1. कृषि, ग्रामीण विकास, पंचायती राज से जुड़े क्षेत्र
  2. वन ,पर्यावरण और जलवायु
  3. शिक्षा ,स्वास्थ्य ,स्वच्छ्ता,पोषण और कौशल विकास
  4. ऊर्जा और नवीनीकरण ऊर्जा
  5. पर्यटन एवं संस्कृति
  6. डेटा साइंस ,आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस, आईटी ,आई.टी.ई.एस ,जैव प्रौद्योगिकी ,मशीन लर्निंग डेटा गवर्नेंस
  7. बैंकिंग ,वित्त और राजस्व ,लोक नीति और गवर्नेंस तथा अन्य क्षेत्र
  8. आवश्यकता पढ़ने पर अन्य क्षेत्रों पर भी इस प्रोग्राम के तहत विचार किया जा सकता है।

UP Fellowship Program हेतु पात्रता

  • Fellowship Program का लाभ लेने के लिए आवेदक को उत्तर-प्रदेश राज्य का निवासी होना जरुरी है।
  • राज्य के ऐसे विद्यार्थी जिन्होंने प्रमुख संस्थानों /महाविद्यालय से ग्रेजुएशन पूरी कर ली हो हो और उनके ग्रेजुएशन में कम से कम 60 प्रतिशत अंक आये हों।
  • आवेदनकर्ता विद्यार्थी की आयु 40 से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • ऐसे छात्र इस प्रोग्राम के लिए पात्र होंगे जिन्होंने ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट या पीएचडी की हो।
  • ऊपर दिए गए क्षेत्रों जैसे -कृषि, ग्रामीण विकास, पंचायती राज आदि में उसे कार्य करने अनुभव (experience) होना चाहिए। और इन क्षेत्र में कार्य के अनुभव का कोई प्रूफ भी साथ होना चाहिए।
  • राज्य के आवेदक के पास कंप्यूटर स्किल्स का होना आवश्यक है।
  • आवेदक को information and communication technology की स्किल भी प्राप्त होनी चाहिए।
  • Data Analysis में एक्सपीरियन्स रखने वाले आवेदक विद्यार्थीयों को वरीयता दी जाएगी।
  • इस प्रोग्राम के तहत फील्ड वर्क का कार्य अधिक किया जायेगा तो ऐसे में आवेदक को फील्ड वर्क में काम करने की इच्छा होनी जरुरी है।
  • आवेदकों द्वारा 500 शब्द का स्टेटमेंट ऑफ़ पर्पस अपलोड किया जाना जरुरी है। नहीं तो आपका आवेदन रिजेक्ट किया जा सकता है।

Important Documents for UP Fellowship Program

ग्रेजुएशन मार्क्स सर्टिफिकेटजाति प्रमाण पत्र
आधार कार्ड पासपोर्ट साइज फोटो
ईमेल आईडीनिवास प्रमाणपत्र
मोबाइल नंबर आय प्रमाण पत्र
कंप्यूटर या आईटी से संबंधित प्रमाण पत्र

मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना की महत्वपूर्ण शर्तें

  1. सीएम फेलोशिप प्रोग्राम एक फुल टाइम प्रोग्राम है। इसलिए चयन किये जाने वाले शोधार्थी के लिए यह जरुरी हो जाता है की वह फेलोशिप योजना की अवधि में किसी दूसरे रोजगार या कोई फुल टाइम स्टडी ,assignment न कर रहा हो।
  2. आवेदक को यह ध्यान देना होगा की इस प्रोग्राम के कार्यकाल के पुरे हो जाने आप पेरमनानेन्ट सर्विस या नौकरी /रोजगार की कोई गारंटी नहीं दी जाएगी।
  3. फेलोशिप योजना के तहत चयन किये गए शोधार्थियों के लिए ऑफिस टाइम वही रहेगा जो उस कार्यालय के अन्य कर्मचारियों के लिए होगा।
  4. चयनित छात्रों को यह ध्यान रखना होगा की उन्हें ओवर टाइम काम करने या यात्रा करने की आवश्यकता हो सकती है।
  5. विद्यार्थियों को ऑफर लेटर मिलने के 30 वर्किंग डे में सम्बंधित कार्यालय में अपना योगदान देना होगा यदि ऐसा नहीं किया जाता तो आपका सिलेक्शन रिजेक्ट हो सकता है।
  6. फेलोशिप कार्यक्रम के अवधि के दौरान विद्यार्थी /शोधार्थी को किसी भी राजनीतिक आंदोलन (Political movement) में भाग लेने की कोई अनुमति नहीं होगी।
  7. जिला या विकास खंड स्तर पर तैनात शोधार्थी को लंबा भ्रमण करना पड सकता है।
  8. फेलोशिप प्रोगाम के समय शोध विद्यार्थी को मेडिकल सर्टिफिकेट लेकर जाना जरुरी है। आवेदक के चयन के बाद पुलिस द्वारा सत्यापन किया जायेगा।
  9. मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना के सञ्चालन और इस कार्यक्रम को मैनेज करने का काम नियोजन विभाग करेगा।
  10. शोधार्थियों का चयन में AKTU ,NIUA ,UPAAM जैसी संस्था अपना सहयोग प्रदान करेगी।

इस मानकों के आधार पर होगी ऑब्जेक्टिव स्कोरिंग

स्क्रीनिंग कमेटी ऑब्जेक्टिव स्कोरिंग नीचे दिए गए स्टेंडर्ड के अनुसार करेगी –

क्रम संख्या विवरण अधिकतम अंक (maximum marks)
A उच्चतम शैक्षिक योग्यता (Highest educational qualification)25
1 graduation (स्नातक) 15
2 postgraduate (स्नातकोत्तर20
3 Phd (पूर्ण /थीसिस प्रस्तुत )25
B अन्य विविध मानदंड 15
1 किसी प्रतिष्ठित संस्थान /विश्वविद्यालय से डिग्री 3
2 राष्ट्रीय /अंतराष्ट्रीय प्रकाशनों में प्रकाशित शोध कार्य या लेख 3
3 राष्ट्रीय /अंतराष्ट्रीयसंस्थान या मंच द्वारा दिए जाने वाले पुरस्कार 3
4 संगठननों के साथ स्वयंसेवा 3
5 कोई अन्य उपलब्धि 3
C प्रसांगिक कार्य का अनुभव 10
1 6 महीने से 2 साल का अनुभव 5
2 2 साल से अधिक का अनुभव
(ध्यान रहे पीएचडी डिग्री को कार्य अनुभव में नहीं आएगी )
10
कुल अंक 50

इसका आलावा व्यक्तिगत साक्षात्कार 25 अंक का होगा। इंटरव्यू के समय युवाओं के सामान्य ज्ञान का आंकलन किया जाएगा।

इंटरव्यू के बाद युवाओं के एप्लीकेशन फॉर्म के साथ में अटैच किये गए उद्देश्य का विवरण का संज्ञान लेते हुए अभ्यर्थियों को 25 अंकों में से स्कोर किया जाएगा। इसके बाद 100 युवाओं को इस प्रोग्राम की नियम एवं शर्तों के आधार पर ही चुना जायेगा।

100 आकांक्षात्मक विकास खंडों की सूची

जनपद आकांक्षात्मक विकास खंड
अम्बेडकर नगरभीटी
भियांव
टाण्डा
अमेठीजगदीशपुर
जामों
शुकुलबाजार
बलिया बांसडीह
चिलकहर
गरवार
हनुमानगंज
मनियर
पन्दह
रसड़ा
सोहावं
बाँदा बबेरु
बिसण्डा
कमासिन
महोबा कबरई
बहेड़ी
फतेहगंज
मझगांव
रिच्छा (दमखौदा)
शेरगढ़
पीलीभीत पूरनपुर
बस्ती हरैया
कुदरहा
सल्टौवा
गोपालपुर
विक्रमजोत
संतकबीरनगरबघौली
पौली
सांथा
बिजनोर कोतवाली
नजीबाबाद
बंदायू अम्बियापुर
आसफपुर
कादरचौक
सलारपुर
उसवां
वजीरगंज
गाजीपुर देवकली
मरदाह
रेवतीपुर
सादात
बाराछवार 
बिरनो
देवरिया गौरी बाजार
गोरखपुर बांसगांव
ब्रह्मपुर
कैंम्पियरगंज
कुशीनगर विष्णुपुरा
जालौन जालौन
रामपुरा
ललितपुर मंडवारा
एटा अनगढ़
जैथरा
सकीट
फर्रुखाबाद नवाबगंज
राजेपुर
जौनपुर मछली शहर
रामपुर
संतर विदास नगर औराई
कौशाम्बी कौशांबी
मंझनपुर
प्रयागराज बहरिया
कोरांव
मण्डा
महाराजगंज महाराजगंज
मिठौरा
नौतनवा
निचलौल
पनियरा
परथावल
गोण्डा बाभनजोत
पन्धरी
कृपाल
रुपईडीह
बाराबंकी निंदूरा
पुरेडलई
मिर्जापुर हलिया
मरिहन (पटेहरा)
नगर सिटी
पहाड़ी
राजगढ़
खीरी बांकेगंज
धौरहरा
ईसानगर
रमियाबेहड़
हरदोई सण्डीला
सीतापुर बिसवां
संभल राजपुरा
संभल
असमोली
बनियाखेड़ा
गुन्नौर
जुवई
पवांसा
रामपुर सैदनगर
अलीग़ढ गंगीरी
कासगंज गंगीरी
गंजडुंडवारा
सौरों

Important Links

सीएम फेलोशिप कार्यक्रम गाइड लाइन हिंदी पीडीएफ के लिए यहाँ क्लिक करें –cmfellowship.upsdc.gov.inGuidelines
सीएम फेलोशिप कार्यक्रम गाइड लाइन इंग्लिश पीडीएफ के लिए यहाँ क्लिक करें –cmfellowship.upsdc.gov.inGuidelines
UP Fellowship Program official website (आधिकारिक वेबसाइट ) पर जाने के लिए यहाँ क्लिक करें –cmfellowship.upsdc.gov.in

UP CM Fellowship Program 2023 से सम्बंधित अकसर पूछे जाने वाले सवाल (FAQs)

CM Fellowship Program की ऑफिसियल वेबसाइट क्या है ?

मुख्यमंत्री फेलोशिप प्रोग्राम की आधिकारिक वेबसाइट cmfellowship.upsdc.gov.in है।

उत्तर -प्रदेश फेलोशिप प्रोग्राम के माध्यम से चयनित युवाओं को कितनी धनराशि दी जाती है ?

फेलोशिप प्रोग्राम उत्तरप्रदेश के अंतर्गत चयनित युवाओं को 30 हजार रुपए तथा टूर के लिए 10,000 रुपए हर माह दिए जाते हैं।

यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना को किसके द्वारा शुरू किया गया है ?

फेलोशिप योजना को उत्तरा प्रदेश राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा शुरू किया गया है।

UP Fellowship Program में क्या योग्यता मांगी गयी है ?

राज्य के ऐसे युवा जिन्होंने ग्रेजुएशन (60 प्रतिशत अंक) के साथ या पोस्ट ग्रेजुएट या पीएचडी की हो। योजना में आवेदन कर सकते हैं।

उत्तर प्रदेश फेलोशिप प्रोग्राम के तहत चयनित युवाओं को कितने दिनों का प्रशिक्षण दिया जाता है ?

CM Fellowship Program के माध्यम से चयनित छात्रों को 14 दिनों की ट्रेनिंग दी जाती है।

Leave a Comment