ट्रांसजेंडर क्या होता है? Transgender Meaning In Hindi

Transgender क्या होता है – आज हम ऐसे टॉपिक के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं जिसके बारे में कई बार लोग पब्लिकली बात नहीं करना चाहते या फिर इस बारे में खुल कर बात नहीं करते हैं। हम सभी जानते हैं की इंसान शरीर की बनावट और गुप्तांगों के तौर पर दो लिंग में विभाजित होता है जैसे Male (लड़का) और Female लड़की ये दोनों ही अपनी एक आइडेंटिटी (पहचान) रखते हैं। पर आज हम आपको बताने जा रहे हैं की ट्रांसजेंडर क्या होता है।

यह भी देखें :- भारत की जनसंख्या कितनी है ?

Transgender क्या होता है?
ट्रांसजेंडर क्या होता है? Transgender Meaning In Hindi

आज के इस लेख में हम आपको Transgender क्या होता है? और Transgender का हिंदी में (Transgender Meaning In Hindi) क्या मतलब होता है। साथ ही आपको इस आर्टिकल के माध्यम से ट्रांसजेंडर के बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी। ट्रांसजेंडर से जुडी जानकारी को समझने के लिए आपको आर्टिकल को पूरा पढ़ना होगा।

ट्रांसजेंडर का अर्थ क्या होता है (Transgender Meaning In Hindi)

आप लोगों के मन में ट्रांसजेंडर, लेस्बियन, गे, बाईसेक्सुअल, इंटरसेक्स आदि के बारे में जानने की जिज्ञासा जरूर होगी। आज यहाँ हम आपको Transgender के बारे में जानकारी दे रहे हैं। ट्रांसजेंडर को हिंदी में (Transgender Meaning In Hindi) परलैंगिक कहा जाता है। ऐसे व्यक्ति जिसका लिंग उसके जन्म के समय के नियत लिंग से मेल नहीं खाता है। ट्रांसजेंटर में ट्रांस मेन, ट्रांस वीमेन, इंटरसेक्स और जेंडर Queer आते हैं। साथ ही ट्रांसजेंडर में किन्नर और हिंजड़े भी शामिल किये गए हैं।

कौन होते है ट्रांसजेंडर ? (Transgender क्या होता है?)

सुप्रीम कोर्ट ने भारतीय कानून में ट्रांसजेंडर को तीसरे लिंग के रूप में अप्रैल 2014 को घोषित किया है। Transgender समुदाय जैसे ट्रांस मेन, ट्रांस वीमेन, इंटरसेक्स और जेंडर Queer का भारतीय इतिहास में कई बार वर्णन हुआ है। एक ट्रांसजेंडर व्यक्ति वह है जिनका लिंग उनके जन्म के समय के लिंग से मेल नहीं खाता है। समाज ट्रांसजेंडरों को हीन भाव से देखता है और उनसे घृणा करने लगता है।

भारत में ट्रांसजेंडरों को उनके अधिकार दिलाने के लिए कई प्रयास किये हैं। आपको बता दें की साल 2014 में संस्था नेशनल लीगल सर्विसेज अथॉरिटी और भारत सरकार के बीच एक मुकदमे के फैसला को सुनाते हुए सुप्रीम कोर्ट ने ट्रांसजेंडर को ”थर्ड जेंडर” (Third Gender) यानी तीसरे लिंग के रूप में माना।

परलैंगिक या ट्रांसजेंडर

ऐसे सभी लोग Transgender (ट्रांसजेंडर) में आते हैं जिनका बिहेवियर उनके जन्म के समय के लिंग के बिलकुल विपरित जैसा होता है। आप इसे ऐसे समझ सकते हैं की कोई व्यक्ति जिसका जन्म एक पुरुष (male) के रूप में हुआ था परन्तु उसका बिहेवियर उसके लिंग से बिलकुल अलग है यानी उसका जन्म लड़के के रूप में हुआ लेकिन उसका बिहेवियर महिलाओं/लड़कियों जैसा है। ऐसे ही कोई व्यक्ति जो जन्म के समय तो लड़की थी लेकिन उसका बिहेवियर लड़कों/पुरुषों जैसा होता है। ऐसे व्यक्ति (Male, female) Transgender (ट्रांसजेंडर) कहे जाते हैं।

कितने टाइप के होते हैंTransgender”

Transgender क्या होता है और Transgender में कितनी श्रेणियां आती हैं ? यह सवाल भी आपके मन में होगा। आपको बता दें की Transgender की भी कई श्रेणियां होती हैं जिनमे से एक Cross Dressers Transgender और दूसरे आते हैं Transsexual इनके बीच Heterosexual, Bisexual, Lesbian और Gay होते हैं।

Cross Dressers

Cross Dressers Transgender में ऐसे Transgender व्यक्ति होते हैं जो अपने लिंग के विपरीत कपडे पहना या उसके विपरीत कार्यों को करना पसंद करते हैं। यानी लड़के होने पर लड़की का कपडा /ड्रेस पहनना पसंद करते हैं। आप इसे ऐसे समझ सकते हैं की किसी इंसान का जन्म लड़के / पुरुष के रूप में तो हुआ है पर वह खुद को महिला या लड़की जैसा महसूस करता है और महिलाओं या लड़कियों की तरह के कपड़ा पहने, उसे Cross Dresser कहा जाता है।

इसी तरह से जब कोई लड़की /महिला खुद में पुरुषों या लड़कों जैसे व्यवहार को महसूस करती है और उनकी ही तरह कपडे पहनने लगे ऐसे व्यक्ति Cross Dresser Transgender की श्रेणी में आते हैं या इन्हें Cross Dressers Transgender कहा जाता है।

Transsexual

दूसरे आते हैं Transsexual यह ऐसे Transgender होते हैं जो जन्म के बाद अपना लिंग बदलवा देते हैं। अपने लिंग को बदलवाना वाला व्यक्ति के लिए Transsexual शब्द का प्रयोग किया जाता है। यह व्यक्ति जन्म के समय के लिंग से विपरीत लिंग के लिए अपनी मेडिकल सर्जरी करवाते हैं।

Transsexual में ऐसे व्यक्ति आते हैं जो जन्म के समय पुरुष होते हैं और अपनी मेडिकल सर्जरी करवाकर अपने लिंग को बदलवाकर स्त्री बन जाते हैं या फिर ऐसे व्यक्ति जो जन्म के समय लड़की होते हैं और बाद में अपनी मेडिकल सर्जरी करवाकर लड़का बन जाते हैं। ऐसे सभी व्यक्ति Transsexual कहा जाता है। इनके बीच अपनी शादी या प्यार के लिए लिंग का चुनाव करने के आधार पर Heterosexual, Lesbian, Bisexual और gay में बांटा गया है।

M-F-M-

इस श्रेणी में ऐसे लोग आते हैं जिनका जन्म पुरुष के तौर पर हुआ है पर यह लोग खुद की सर्जरी कराकर बाद में महिला बन जाते हैं और उसका झुकाव /आकर्षण किसी पुरुष (male) की तरफ होता है। ऐसे Transgender Heterosexual कहे जाते है और ऐसे ही व्यक्ति या महिला जिसका लगाव किसी महिला/लड़की की तरफ होता है तो उसे Lesbian(लेस्बियन ) कहा जाता है। यदि उस इंसान का लगाव दोनों लिंगों की ओर यानि लड़की और लड़का दोनों की तरफ होता है तो वह Bisexual कहे जाते हैं।

F-M-F

इसमें ऐसे व्यक्ति आते हैं जो जन्म के समय स्त्री/लड़की होते हैं। और यह जन्म के बाद खुद की सर्जरी कराकर पुरुष में बदल देते हैं। आम भाषा में यह कहा जा सकता है की कोई स्त्री या लड़की जो पुरुष बन जाये और उसका झुकाव या आकर्षण महिलाओं की तरफ होता है। तो उसे Heterosexual कहा जाता है।

इसके ही विपरीत अगर उसका लगाव किसी लड़के /पुरुष की और होता है तो वह Gay कहलाता है। यदि इस इंसान का आकर्षण दोनों लिंगों जैसे; स्त्री ,पुरुष (male female) की और है तो ऐसे व्यक्ति Bisexual कहलाते हैं।

थर्ड जेंडर क्या है ?

आपने LGBTIQ समुदाय के बारे में कई बार सुना होगा। L, G, B, T, I और Q का क्या मतलब है यह आपको पता होना चाहिए। यहां L का मतलब होता है Lesbian (लेस्बियन) ,G का मतलब होता है Gay और B का मतलब होता है Bisexual ,T का मतलब होता है Transgender, I का मतलब होता है Intersex ,Q का मतलब होता है Queer-Questioning ये सभी थर्ड जेंडर में ही आते हैं।

L- Lesbian
G- Gay
B- Bisexual
T- Transgender
I- Intersex
Q- Queer-Questioning

ट्रांसजेंडर के अधिकार

Transgender के अधिकारों के लिए साल 2014 में नालसा के फैसले के तहत विचार पहली बार किया गया था। भारत के संविधान के आर्टिकल 14, अनुच्छेद 15,अनुच्छेद 16 और अनुच्छेद 21 में ट्रांसजेंडर्स को भी सामान अधिकार दिए गए हैं। इस तीसरे लिंग जिसे ट्रांसजेंडर कहा जाता है सुप्रीम कोर्ट के एक आदेश के अनुसार इन्हें अपना लिंग निर्धारित करने का अधिकार है।

यह फर्क होता है किन्नर या ट्रांसजेंडर में

किन्नर किसे कहते हैं – हिंजड़ा (किन्नर) उन्हें कहा जाता है जो न तो स्त्री /महिला /लड़की (female) होते हैं और न ही पुरुष /लड़का (male) इनके जननांग ऐसे नहीं होते या पूरी तरह से विकसित नहीं होते जिसके आधार पर इन्हें male या female कहा जा सके। इनके जननांग न तो स्त्री और न ही पुरुष के होते हैं।

इसके विपरीत ट्रांसजेंडर की श्रेणी में ऐसे लोग आते हैं जो जन्म के समय के सामान्य लड़का या लड़की होते हैं किन्तु बाद में जैसे जैसे बड़े होते हैं वह खुद को अपने प्राकृतिक लिंग से विपरीत मानते हैं। ऐसे लोग खुद को अपने उस लिंग का नहीं मानते या समझते जिस लिगं के रूप में उनका जन्म हुआ है। ट्रांसजेंडर (पारलैंगिक) वह व्यक्ति (स्त्री ,पुरुष ) होता है जिसे उसके प्राकृतिक लिंग से नहीं बल्कि उसके दूसरे लिंग से जाना जाता है। जिसने सर्जरी द्वारा अपने लिंग का परिवर्तन किया हो।

ट्रांसजेंडर क्या होता है (Transgender Meaning In Hindi) FAQs –

ट्रांसजेंडर किसे कहते हैं ?

ट्रांसजेंडर वह व्यक्ति होता है।

ट्रांसजेंडर किन दो शब्दों से मिलकर बना है ?

Transgender दो शब्दों से मिलकर बना है -जिसमे Trans का मतलब होता है उस पार या दूसरे स्थान पर या किसी अन्य अवस्था में होना और gender का मतलब होता है लिंग। इस प्रकार से Transgender का मतलब होता है

किस वर्ष भारतीय कानून द्वारा ट्रांसजेंडर को ‘तीसरे लिंग के रूप में घोषित किया गया?

अप्रैल 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने भारतीय कानून में ट्रांसजेंडर को ‘तीसरे लिंग’ घोषित किया है।

क्या ट्रांसजेंडर्स को अपना लिंग निर्धारित करने का अधिकार होता है ?

जी हाँ !ट्रांसजेंडर को अपना लिंग निर्धारति करने का अधिकार होता है।

इंटरसेक्स किसे कहा जाता है ?

ऐसे लोग जिनका जन्म के समय लिंग स्पष्ट नहीं होता। यानी वह स्त्री हैं या पुरुष पहचान पाना मुश्किल होता है। ऐसे लोगों के लिंग को डॉक्टर निर्धारित करते हैं।

अंतरास्ट्रीय ट्रांसजेंडर दिवस किस तिथि को मनाया जाता है ?

31 मार्च को हर साल अंतराष्ट्रीय ट्रांसजेंडर दिवस मनाया जाता है।

यदि कोई व्यक्ति स्वयं को ”ट्रांसजेंडर ” के रूप में इंगित करना चाहता है तो वह इसके लिए क्या करे?

एक ट्रांसजेंडर इंसान यदि ट्रांसजेंडर के रूप में अपनी पहचान चाहता है तो उसे खुद को ट्रांसजेंडर के रूप में इंगित करने के लिए अपना आवेदन जिला मजिस्ट्रेट से करना होगा।

NCT -National Council for Transgender Persons का गठन कब किया गया?

NCT का गठन ट्रांसजेंडर Persons (Protection of Rights) Act], 2019 के तहत किया गया है।

तीसरे लिंग में कौन कौन शामिल हैं ?

तीसरे लिंग (थर्ड जेंडर’) में ट्रांसजेंडर’,‘ट्रांससेक्सुअल’ ,‘इंटर-सेक्स’, और ‘क्रॉस-ड्रेसर’ को शामिल किया गया है।

Leave a Comment