(PKVY) परम्परागत कृषि विकास योजना 2022 : ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व लॉगिन

केंद्र सरकार द्वारा परम्परागत कृषि विकास योजना 2022 की शुरुआत की गयी है। यह योजना में किसानों के विकास के लिए की गयी है। योजना के माध्यम से किसान भाईयों को जैविक खेती (organic farming) करने का लक्ष्य सरकार ने प्रदान किया है। जैविक खेती के माध्यम से कृषि क्षेत्र का विकास और अधिक बढ़ पायेगा। जैविक खेती से मिटटी की फर्टिलिटी और अधिक बढ़ सकेगी। बिना किसी केमिकल व पेस्टीसाइड्स का प्रयोग कर आर्गेनिक फार्मिंग द्वारा अच्छी फसल का उत्पादन करना योजना का लक्ष्य है। सरकार ने 4 सालों में 1197 करोड़ राशि किसानों को प्रदान की है। Paramparagat Krishi Vikas Yojana का पंजीकरण करने के लिए किसानों को आधिकारिक वेबसाइट pgsindia-ncof.gov.in पर जाना होगा।

(PKVY) परम्परागत कृषि विकास योजना 2022 : ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व लॉगिन
(PKVY) परम्परागत कृषि विकास योजना 2022 : ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व लॉगिन

हम आपको योजना से सम्बंधित सभी जानकारियों जैसे: परम्परागत कृषि विकास योजना का आवेदन कैसे करें,  Paramparagat Krishi Vikas Yojana 2022 के लाभ एवं विषेशताएं, आवश्यक दस्तावेज, PKVY हेतु पात्रता, उद्देश्य बारे में बताने जा रहे है यदि आप और अधिक जानकारी जानना चाहते है तो आप हमारे द्वारा लिखे गए आर्टिकल को अंत तक अवश्य पढ़े।

परम्परागत कृषि विकास योजना 2022

इस योजना के माध्यम से कृषि क्षेत्र में विकास के लिए ट्रेडिशनल नॉलेज (पारम्परिक ज्ञान) और मॉडर्न साइंस (आधुनिक विज्ञान) दोनों के माध्यम से जैविक खेती का उपयोग किया जायेगा। सरकार देश के किसानों को इसके लिए आर्थिक मदद भी प्रदान करेगी। सरकार किसानों को जैविक खेती करने हेतु 36 महीने यानि 3 साल के लिए कुल 50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। जिसमे प्रति हेक्टर जैविक कीटनाशक, आर्गेनिक फ़र्टिलाइज़र एवं बीज के लिए 31000 रुपये, मूलवर्धक (वैल्यू एड्रेस) व सेल्स हेतु 8800 प्रति हेक्टर दिया जायेगा।

योजना नाम परम्परागत कृषि विकास योजना
के द्वारा भारत सरकार
मंत्रालय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय भारत सरकार
लाभ लेने वाले राज्य के किसान नागरिक
उद्देश्य जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए आर्थिक
सहायता राशि प्रदान करना
साल 2022
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन व ऑफलाइन मोड
सहायता राशि 50 हजार रुपये
श्रेणी केंद्र सरकारी योजना
आधिकारिक वेबसाइट https://pgsindia-ncof.gov.in

Paramparagat Krishi Vikas Yojana का उद्देश्य

योजना का उद्देश्य यह है कि देश के किसान को जैविक खेती हेतु प्रोत्साहित करना। यदि किसान जैविक खेती करेंगे तो उससे मिटटी में और अधिक उर्वरता (फ़र्टिलिटी) बढ़ेगी। जिससे गुड क्वालिटी सॉयल के लिए किसान भाइयों को किसी प्रकार का रासायनिक व पेस्टिसाइड्स का प्रयोग नहीं करना पड़ेगा और इससे जिस किसी की भी खेती की जाएगी वह स्वस्थ और न्यूट्रियस (पौष्टिक) होगा। इस योजना से किसानो की आय में भी वृद्धि होगी और उन्हें भी जैविक खेती की और अधिक जानकारी प्राप्त हो सकेगी।

PVKY स्टेटिस्टिक्स

एक्टिव रीजनल कौंसिल 334
टोटल ग्रुप 26,007
एप्रूव्ड ग्रुप 26,007
टोटल किसान 9,24,450
एप्रूव्ड फार्मर 9,10,476
नॉट एप्रूव्ड फार्मर 13,974
टोटल सर्टिफिकेट 21,41,473
एप्रूव्ड सर्टिफिकेट 9,39,466
नॉट एप्रूव्ड सर्टिफिकेट 12,02,007

परम्परागत कृषि विकास योजना से मिलने वाले लाभ व विषेशताएं

परम्परागत कृषि विकास योजना से मिलने वाले लाभ जानने के लिए दिए गए पॉइंट्स को पूरा पढ़े।

  • परम्परागत कृषि विकास योजना के तहत अच्छी क्वालिटी की मिटटी का उत्पाद होगी और अधिक फर्टिलिटी होगी।
  • योजना के तहत किसानों की आय में वृद्धि हो सकेगी।
  • आवेदक को योजना का लाभ लेने के लिए पंजीकरण करना आवश्यक है।
  • इस योजना से मिलने वाली आर्थिक सहायता राशि किसान भाइयों के बैंक खाते में भेजी जाएगी।
  • ऑनलाइन माध्यम से आवेदन करने पर आवेदक किसान के समय और पैसे दोनों बच सकेंगे।
  • आवेदक अपने मोबाइल व कंप्यूटर के माध्यम से योजना का आवेदन कर सकेंगे।
  • जैविक खेती को और अधिक बढ़ावा देने के किसानों आर्थिक सहायता राशि भी दी जाएगी।
  • आवेदक किसान के पास अपना स्वयं का बैंक खाता होना बहुत जरुरी है, जो की आधार कार्ड से होना बहुत जरुरी है।
  • योजना के माध्यम से सरकार किसानों को जैविक खेती करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे।

Paramparagat Krishi Vikas Yojana हेतु पात्रता

अगर आप भी योजना का आवेदन करना चाहते है तो आपको इसकी पात्रता का पता होना बहुत आवश्यक है जिसके बाद ही आप आवेदन कर सकेंगे। योजना हेतु पात्रता जानने के लिए दिए गए पॉइंट्स को पूरा पढ़े।

  1. केवल किसान नागरिक ही इस योजना का आवेदन कर सकेंगे।
  2. आवेदक किसान भारत राज्य का मूलनिवासी होना आवश्यक है।
  3. योजना का आवेदन 18 साल से ऊपर के किसान नागरिक कर सकते है।
  4. परम्परागत कृषि विकास योजना का आवेदन करते आवेदक के पास अपने सभी दस्तावेज होने जरुरी है।
आवश्यक दस्तावेज

योजना का आवेदन करने के लिए आवेदक को आवश्यक दस्तावेजों की जानकारी का पता होना बहुत जरुरी है। हम आपको आवश्यक दस्तावेजों के बारे में जानकारी बताने जा रहे है जो इस प्रकार से है:

आधार कार्ड रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर मूल निवास प्रमाणपत्र
जन्म प्रमाणपत्र आय प्रमाणपत्र आयु प्रमाणपत्र
बैंक पासबुक बैंक अकाउंट नंबर व IFSC कोड राशन कार्ड

परम्परागत कृषि विकास योजना का आवेदन कैसे करें?

अगर आप भी पंजीकरण करना चाहते है तो आपको पंजीकरण प्रक्रिया का पता होना बहुत जरुरी है। हम आपको योजना की आवेदन प्रक्रिया के बारे में जानकारी देने जा रहे है। जानकारी जानने के लिए दिए गए स्टेप्स को पूरा पढ़े।

  • आवेदक को सबसे पहले परम्परागत कृषि विकास योजना की आधिकरिक वेबसाइट पर जाना है।
  • जिसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल कर आजायेगा। PARAMPRAGAT-KRISHI-VIKAS-YOJANA
  • होम पेज पर आपको अप्लाई नाउ पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने नया पेज खुल जायेगा।
  • नए पेज पर आपको फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारियों जैसे: नाम, मोबाइल नंबर, लिंग, पता आदि को भरना है।
  • और अब आपको फॉर्म में पूछी गयी जानकारी को भरना है।
  • सभी जानकारी भरने के पश्चात एक बार फॉर्म को दोबारा पढ़ लें और यदि कोई गलती हो तो उसका सुधार कर लें।
  • जिसके बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक कर दें।
  • क्लिक करने के बाद आपकी पंजीकरण प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

ऑफलाइन माध्यम से आवेदन करने के लिए आवेदक को अपने निजी कार्यालय में जाना है। आवेदक कार्यालय जाकर पंजीकरण कर सकते है और इससे मिलने वाला लाभ प्राप्त कर सकते है।

लॉगिन प्रक्रिया

  • लॉगिन करने के लिए आप योजना की आधिकरिक वेबसाइट पर विजिट करें।
  • यहाँ आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल कर आजायेगा।
  • होम पेज पर आपको लॉगिन के दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आपको यूजर नेम, पासवर्ड और कैप्चा कोड को भरना होगा। pkvy login process
  • जिसके बाद लॉगिन के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।
  • क्लिक करते ही आप लॉगिन हो पाएंगे।

PKVY से जुडी जानकारी प्राप्त करने की प्रक्रिया

योजना से जुडी जानकारी जानने के लिए दिए गए स्टेप्स को पूरा पढ़े।

  • सबसे पहले परम्परागत कृषि विकास योजना की आधिकरिक वेबसाइट पर जाना है।
  • जिसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल कर आजायेगा।
  • होम पेज पर आपको अबाउट KVPY पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने कई ऑप्शन आ जायेंगे जिसके बाद जानकारी आप स्क्रीन पर देख सकेंगे।
कांटेक्ट डिटेल्स कैसे देखें
  • सर्वप्रथम आपको परम्परागत कृषि विकास योजना की आधिकरिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल कर आजायेगा।
  • होम पेज पर आपको कांटेक्ट डिटेल्स पर क्लिक करना है।parampragat-Krishi-vikas-yojana online awedan
  • जिसके बाद आपके सामने नया पेज खुल जायेगा।
  • नए पेज पर आपको स्क्रीन पर कांटेक्ट डिटेल्स दिखाई देंगी

कृषि परम्परागत विकास योजना से जुड़े प्रश्न/उत्तर

कृषि परम्परागत विकास योजना में किसानों को कितने रुपये की धनराशि व कितने समय के लिए प्रदान की जाएगी?

कृषि परम्परागत विकास योजना में किसानों को 50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता धनराशि 3 साल के लिए प्रदान की जाएगी।

PKVY क्या है?

योजना के माध्यम से किसान भाईयों को जैविक खेती करने का लक्ष्य सरकार ने प्रदान किया है। जैविक खेती के माध्यम से कृषि क्षेत्र का विकास और अधिक बढ़ पायेगा और अच्छी गुणवणता वाली मिटटी की उवर्रता बढ़ेगी।

Krishi Paramparagat Vikas Yojana का आवेदन करने की आधिकारिक वेबसाइट क्या है?

कृषि परम्परागत विकास योजना का आवेदन करने की आधिकारिक वेबसाइट https://pgsindia-ncof.gov.in है।

योजना की आवेदन प्रक्रिया क्या है?

आवेदक योजना का आवेदन ऑनलाइन तथा ऑफलाइन मोड द्वारा कर सकते है। अगर आप ऑनलाइन माध्यम से आवेदन करते है तो आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना है और अगर आप ऑफलाइन से आवेदन करते है तो आपको सम्बंधित कार्यालय जाकर आवेदन कर सकते है।

योजना का संचालन किसके द्वारा किया जाता है?

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा योजना का संचालन किया जाता है।

क्या इस योजना का आवेदन देश के सभी नागरिक किसान कर सकते है?

जी हाँ, कृषि परम्परागत विकास योजना का आवेदन देश के सभी नागरिक किसान कर सकते है और इसका लाभ प्राप्त कर सकते है।

हमने अपने आर्टिकल में परम्परागत कृषि विकास योजना से सम्बंधित सभी जानकारियों को हिंदी भाषा में विस्तारपूर्वक बता दिया है, यदि आपको जानकारी पसंद आयी हो तो आप हमे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते है या इससे सम्बंधित कोई भी सवाल या जानकारी आपको जाननी है तो आप हमे मैसेज कर सकते है। हम आपके सभी सवालों के जवाब देने की जरूर कोशिश करेंगे।

Leave a Comment