मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना: (કિસાન સહાય) ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया, पंजीकरण स्टेटस

मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना: Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री विजय रुपानी द्वारा शुरू की गयी थी। इस योजना की शुरुआत प्रदेश के किसानों को ध्यान में रखकर की गयी है। बता दें ये योजना किसानों की फसल का नुक्सान होने पर उसके नुकसान की भरपाई करने के लिए लायी गयी है। जिससे किसानों की आय में कोई कमी न हो। आप की जानकारी के लिए बता दें की किसानों की फसलों का नुकसान यदि प्राकृतिक आपदा की वजह से होता है तो ऐसी स्थिति में मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के अंतर्गत राज्य सरकार उनके नुक्सान की भरपायी करेगी। आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आप को Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana के बारे में बताएंगे। साथ ही इस से जुडी सभी आवश्यक जानकरी भी प्रदान करेंगे, जैसे की – योजना में आवेदन कैसे करें? योजना के लाभ, पात्रता और आवश्यक दस्तावेजों के बारे में भी जानकारी देंगे। कृपया जानने के लिए इस लेख को पूरा पढ़ें।

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana

मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना: (કિસાન સહાય) ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया, पंजीकरण स्टेटस
Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana

Gujarat Kisan Sahay Yojana को प्रदेश के किसानों के हित में शुरू की गयी है। तत्कालीन मुख्यमंत्री द्वारा इस योजना की शुरुआत की घोषणा 10 अगस्त 2020 में की गयी थी। किसान सहायता योजना के माध्यम से राज्य सरकार प्रदेश के किसानों की फसलों के खराब होने पर उन्हें मुआवज़ा देगी। बता दें की यदि किसानों की फसलें प्राकृतिक आपदा के चलते 33 से 60 फ़ीसदी तक खराब होती है तो ऐसी स्थिति में उन्हें 1 हेक्टेयर पर 20 हजार रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। वहीँ यदि उनकी फसल 60 प्रतिशत से भी अधिक खराब होती है तो उन किसानों को 25000 रूपए प्रति हेक्टेयर के हिसाब से मुआवज़ा दिया जाएगा। बता दें की प्राकृतिक आपदा में सूखा पड़ना , अधिक बारिश होना या फिर बहुत ही कम बारिश होने की स्थिति को शामिल किया गया है।

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana Highlights

योजना का नाम मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना
संबंधित राज्य गुजरात
लाभार्थी किसान वर्ग
वर्तमान वर्ष 2022
योजना का उद्देश्य किसानों को आर्थिक सहायता देना
लांच की गयी तत्कालीन मुख्यमंत्री विजय रुपानी
आवेदन मोड ऑफलाइन / ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट अभी जारी नहीं

मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना लाभ के बारे में जाने

  1. Gujarat Kisan Sahay Yojana एक प्रकार की क्रॉप इंश्योरेंस स्कीम है जिसमें किसान द्वारा उगाई गयी फसलों पर इंश्योरेंस कवरेज दिया जाता है।
  2. यदि किसी किसान की फसल 33 प्रतिशत से लेकर 60 प्रतिशत तक प्राकृतिक आपदा के कारण खराब होती है तो 1 हेक्टेयर पर 20 हजार रूपये तक की वित्तीय सहायता मिलेगी।
  3. यदि किसानों की फसल 60 प्रतिशत से अधिक खराब होती है तो उन्हें 25000 रूपए प्रति हेक्टेयर के हिसाब से मुआवज़ा दिया जाएगा।
  4. गुजरात किसान योजना के चलते अब किसान बिना किसी दबाव और परेशानी के निश्चिन्त होकर खेती कर सकेंगे।
  5. किसानों का खेती छोड़ किसी अन्य व्यवसाय में पलायन कम होगा।
  6. योजना से किसानों को फसल के नुक्सान होने पर भी किसी प्रकार का आर्थिक दबाव का सामना नहीं करना पड़ेगा।
  7. किसान फसल योजना के अंतर्गत लगभग 56 लाख किसानों को लाभ मिलेगा।
  8. प्राकृतिक आपदा आने पर सरकार किसानों को हुए नुकसान की भरपाई कर देगी।

Gujarat Kisan Sahay Yojana में कैसे और कब मिलेगा लाभ?

गुजरात किसान सहाय योजना में प्रदेश के किसानो को लाभ मिलेगा। जिस के लिए राज्य सरकार ने कुछ नियमों का निर्धारण किया है। जिस के अंतर्गत किसान योजना के तहत मुआवज़ा राशि प्राप्त कर सकते हैं। बता दें की इन नियमों में तीन परिस्थियाँ शामिल की गयी है जिस के अंतर्गत किसान लाभ प्राप्त कर सकते हैं। आइये जानते हैं इस बारे में –

  1. सूखा पड़ने पर : जिन क्षेत्रों में बारिश न होती हो या फिर 10 इंच से कम बारिश होती हो। या फिर फिर ऐसे क्षेत्र जहां मानसून के मौसम में भी बारिश न हो रही हो। ऐसे सभी क्षेत्रों में खेती करने वाले किसानों को गुजरात किसान सहाय योजना का लाभ मिलेगा।
  2. बेमौसम की बारिश : यदि किसानों की फसल बेमौसम बरसात की वजह से बर्बाद होती है तो किसान gujrat kisan sahay yojana में आवेदन कर सकता है। नियम के अनुसार लगातार 2 दिन बेमौसम बरसात होती है तो किसान खराब हुई फसल के एवज़ में मुआवज़े की राशि के लिए क्लेम कर सकता है।
  3. बहुत अधिक बारिश होने पर : यदि किसी क्षेत्र में बहुत अधिक वर्षा होती है तो किसान फसल के नुकसान के लिए सरकार से वित्तीय सहायता प्राप्त कर सकता है। बता दें की अगर किसी क्षेत्र में  48 घंटे से अधिक मात्रा में बरसात होती है तो फसल को बहुत नुकसान पहुँचता है। जिसके लिए किसानो को योजना के तहत मुआवजा दिया जाता है।

गुजरात किसान सहाय योजना के उद्देश्य

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना प्रदेश के किसानों के लिए शुरू की गयी है। बता दें की योजना के अंतर्गत किसानों को उनकी फसल खराब होने पर सरकार द्वारा मुआवजा प्रदान किया जाएगा। योजना की शुरुआत के पीछे राज्य सरकार का उद्देश्य प्रदेश के किसानों की आर्थिक मदद करना है जिससे वो किसी प्रकार के दबाव में ना रहे। अधिकतर देखने को मिलता है की देश में अलग अलग हिस्सों पर प्राकृतिक आपदाओं के कारण किसानों की फसलें खराब हो जाती हैं। जिससे उन्हें बहुत नुक्सान उठाना पड़ता है। और यही नहीं इसकी वजह से उन्हें वित्तीय समस्या का सामना करना पड़ता है। जिस के चलते उन्हें अपनी मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ती हेतु भी कोई साधन नहीं रह जाता। ऐसे में उनकी एकमात्र आय का साधन भी खत्म हो जाने पर आत्महत्या जैसे कदम उठाने पड़ते हैं। या फिर उन्हें एक निश्चित आय के स्रोत की तलाश में खेती को छोड़ना पड़ता है। इन्ही सब बातों का ध्यान रखते हुए सरकार ने इस योजना की शुरुआत की है। जिससे समय पड़ने पर सरकार किसानों को ऐसे वक्त पर सहायता कर सके।

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana में ये हैं जरुरी दस्तावेज

किसान सहाय योजना में आवेदन करते समय आप को कुछ आवश्यक दस्तावेजों की जरुरत पड़ेगी। जिन्हे आप Gujarat Kisan Sahay Yojana में आवेदन पूर्व तैयार कर लें। ये हैं आवश्यक दस्तावेज –

  • आवेदक का मूल/ स्थायी निवास प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • जमीन संबंधी दस्तावेज
  • पहचान पत्र
  • बैंक अकाउंट नंबर
  • प्राधिकरण द्वारा जांचे जाने वाले 8-ए अकाउंट के डॉक्‍युमेंट्स जमा करने होंगे।

मुख्यमंत्री किसान सहाय (કિસાન સહાય) पात्रता शर्तें यहाँ जानें

Gujarat Kisan Sahay Yojana मुख्यतः किसानों की फसल खराब होने पर नुक्सान की भरपाई के लिए लायी गयी है। लेकिन इस योजना में लाभ लेने के लिए किसानों को कुछ पात्रता मानदंडों को पूरा करने की आवश्यकता होगी।

  • इच्छुक आवेदकों को गुजरात राज्य का स्थायी निवासी होना आवश्यक है।
  • मान्यता प्राप्त किसान : जो भी किसान राज्य में मान्यता प्राप्त हैं ( वन अधिकार अधिनियम के अनुसार 8-ए धारक खाता रखने वाले किसान ) वो इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
  • जिन किसानों की फसल 33 प्रतिशत से 60 प्रतिशत तक प्राकृतिक आपदा के कारण खराब हुई हो , उन किसानों को इस योजना के तहत लाभ दिया जाएगा।
  • पहचान पत्र – मुआवज़े के लिए आवेदन करने पर उपयुक्त पहचान पत्र दिखाना आवश्यक है।

किसान सहाय योजना (કિસાન સહાય) में ऐसे करें आवेदन

कृपया ध्यान दें गुजरात के किसान भाइयों की मदद के लिए सरकार ने इस योजना की शुरुआत की थी। जिस में ऑनलाइन मोड में आवेदन के लिए आधिकारिक वेब पोर्टल की शुरुआत की जानी थी। ऐसा बताया गया है कि गुजरात का राजस्व विभाग uBesidesportal लांच करेगा , जिससे सभी किसान आसानी से ऑनलाइन माध्यम से आवेदन कर सकेंगे। हालाँकि अभी तक वेबसाइट को शुरू नहीं किया गया है। लेकिन बता दें की इस के बावजूद सभी पात्रता रखने वाले किसान Kisan Sahay Yojana में आवेदन कर सकते हैं। इस के लिए सभी किसानों को वर्तमान में ऑफलाइन मोड में आवेदन की सुविधा उपलब्ध है। आइये जानते हैं की आप इस किसान सहाय योजना में कैसे आवेदन कर सकते हैं।

गुजरात प्रदेश के सभी इच्छुक किसान मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना में पंजीकरण हेतु ई ग्राम केंद्र पर जा सकते हैं। और योजना के तहत निर्धारित किये गए सभी आवश्यक दस्तावेजों को प्रस्तुत करना होगा। और वहां से आप अपना पंजीकरण करवा सकते हैं। आप की जानकारी के लिए बताते चलें की ये सुविधा खरीफ सीजन की फसलों के लिए उपलब्ध है।

Gujarat Kisan Sahay Yojana से संबंधित प्रश्न उत्तर

मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना क्या है ?

इस योजना को गुजरात किसान योजना के नाम से भी जाना जाता है , जिसे प्रदेश के किसानों के लिए लाया गया है। इस योजना में किसानों की फसल प्राकृतिक आपदा की वजह से खराब होने पर उन्हें मुआवज़ा राज्य सरकार देती है।

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana में मिलने वाली मुआवज़ा राशि कितनी है ?

यदि किसानों की फसल 33 फ़ीसदी से लेकर 60 फ़ीसदी तक खराब होती है तो उन्हें 20 हजार रूपए प्रति हेक्टेयर के हिसाब से प्रदान की जाती है। वही अगर नुकसान 60 फ़ीसदी से अधिक होता है तो 25 हजार रूपए प्रति हेक्टेयर प्राप्त होता है जो 4 हेक्टेयर के लिए होता है।

मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना में कैसे आवेदन कर सकते हैं ?

यदि आप भी इस योजना में आवेदन करना चाहते हैं तो आप को ई ग्राम केंद्र में जाना होगा।जहाँ आप अपने सभी आवश्यक दस्तावेजों को साथ लेकर अपना पंजीकरण करवा सकते हैं।

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana में आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज कौन से हैं ?

आप को मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना में आवेदन के लिए इन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। – आधार कार्ड , पासपोर्ट साइज फोटो , स्थायी निवास प्रमाण पत्र , मोबाइल नंबर , बैंक खाता नंबर

हमने इस आर्टिकल के माध्यम से आप को मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना (Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana) के बारे में सभी आवश्यक जानकारी दे दी है। उम्मीद करते हैं आप को ये जानकारी उपयोगी लगेगी। यदि आप को इस बारे में कुछ और जानना हो या इस संबंध में कोई समस्या हो तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स के माध्यम से हमसे संपर्क कर सकते है।

यदि आपको ये जानकारी पसंद आयी है और आप आगे भी ऐसी ही जानकारियां और योजनाओं के बारे में पढ़ना चाहते हैं तो आप हमारी इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं। अपनी वेबसाइट के माध्यम से हम आप को ऐसी ही जानकारियां उपलब्ध कराते रहेंगे।

Leave a Comment