जल जीवन हरियाली योजना 2021 : ऑनलाइन आवेदन, Jal Jeevan Hariyali फॉर्म

जल-जीवन-हरियाली-योजना

जल जीवन हरियाली योजना : यह कहावत तो आपने सुनी होगी की जल है तो जीवन है। बता दें की इसी को ध्यान में रखते हुए , बिहार राज्य के माननीय मुख्यमंत्री नितीश कुमार द्वारा 26.10.2019 में जल जीवन हरियाली योजना को शुरू करवाया गया है। जिसके अंतर्गत राज्य में पेड़ो को लगाने के लिए, छोटे तालाब और कुंओ का बनाने का कार्य करना ही योजना का लक्ष्य है। योजना के अंदर 5 चीजों पर ध्यान केंद्रित किया गया है जैसे: तालाबों(pond), आहार पाइन (जहाँ वर्षा का जल जमा होता है), रेन वाटर हार्वेस्टिंग, पौधे लगाना, और कुंओ का निर्माण सरकार द्वारा किया जायेगा। इस पूरे अभियान पर बिहार सरकार द्वारा जल जीवन हरियाली योजना 2021 में साल 2022 तक पूरे देश में 24 हजार 524 करोड़ रुपये का खर्चा आएगा। राज्य में रह रहे किसानो को सरकार 75500 रुपये की सब्सिडी मदद राशि के रूप में प्रदान करेगी जिससे उन्हें तालाब, कुंआ, खेतो की सिंचाई का कार्य करने में दिक्कत न हो। यदि आप भी योजना से मिलने वाले लाभों को प्राप्त करने के लिए इसका आवेदन करना चाहते है तो आप को इसके लिए बिहार राज्य की आधिकारिक वेबसाइट http://dbtagriculture.bihar.gov.in पर जाना होगा।

राज्य के 280 ब्लॉक्स जल की कमी होने की वजह से प्रभावित हुए है। क्यूंकि भूमि का जलस्तर कई राज्य के जिलों में काफी हद तक नीचे व कम होता चला गया है। इस बात में जरा भी संदेह नहीं है की अगर अभी भी पर्यावरण को संतुलित रखने के लिए कोई भी कदम नहीं उठाया गया तो हमारी प्रकृति को नष्ट होने में ज्यादा समय नहीं लगेगा। हम आपको अपने लेख में इससे सम्बंधित जानकारी जैसे: जल जीवन हरियाली योजना का उद्देश्य, योजना से मिलने वाले लाभ एवं उनकी विशेषताएं, योजना के तहत किये जाने वाले काम, योजना हेतु पात्रता, ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया,आवेदन की स्थिति/प्रिंट कैसे जाने आदि के बारे में विस्तार पूर्वक बताएँगे। सम्बंधित जानकारी जानने के लिए इस आर्टिकल को अंत तक अवश्य पढ़े।

जल जीवन हरियाली योजना 2021

यह आप सभी भी जानते है कि आज के समय में प्रकर्ति का विनाश होता जा रहा है इसकी वजह है कि आये दिन कई पेड़ काटे जा रहे है, जिसके कारण गर्मी के बढ़ते नदियाँ, तालाब सूखते जा रहे है। जिससे हमे साँस लेने में भी परेशानियाँ आने लगी है, जल जीवन हरियाली की कमी के कारण हमे कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पढ़ रहा है तरह की बीमारियों से झूझ रहे है। इसी को देखते हुए बिहार सरकार ने पर्यावरण को संतुलित रखने के लिए पर्याप्त मात्रा में जल और प्रकृति में हरियाली बनाये रखने के लिए जल जीवन हरियाली योजना को आरंभ किया गया। पिछले 2 सालों में 1 करोड़ पौधे MNREGA योजना के अंतर्गत लगाए गए है। और इस साल 43.62 लाख पौधे लगाए जायेंगे। जिसके तहत कृषि विभाग ने किसानों की परेशानियों को देखते हुए सिंचाई के लिए तालाब को निर्माण करने की योजना आरम्भ की है। इसके अलावा योजना से कई तरह के लाभ उन्हें दिए जायेंगे।

योजना नाम जल जीवन हरियाली योजना
के द्वाराबिहार राज्य के माननीय मुख्यमंत्री नितीश कुमार जी द्वारा
योजना का उद्देश्यकिसानों को सब्सिडी प्रदान करना व राज्य में तालाब,
पौधे रोपण, कुँआ आदि का निर्माण करके साफ पर्यावरण बनाना
लाभ लेने वालेराज्य के किसान लोग
प्रक्रियाऑनलाइन मोड
मदद राशि75500 रुपये
योजना के अंतर्गत कुल खर्चा24524 करोड़ रुपये
शुरुवात26.10.2019
आधिकारिक वेबसाइटhttp://dbtagriculture.bihar.gov.in/

जल जीवन हरियाली योजना का उद्देश्य

योजना का उद्देश्य यही है की वह पर्यावरण को और अधिक महत्व दे सके, जिससे देश में कृषि उत्पादन बढ़ सके। जल जीवन हरियाली अभियान का उद्देश्य जलवायु परिवर्तन में सुधार करना, पर्यावरण को दूषित होने से बचाना, पशु-पक्षियों का जीवन बचाना और देश में अधिक से अधिक हरियाली उपजाऊ करना है। इसके साथ-साथ अधिक से अधिक पेड़ो को लगाना इसका लक्ष्य है क्यूंकि पेड़ो के होने से हम 700 किलो ऑक्सीजन प्राप्त कर सकते है। जिससे हमे साँस लेने में कोई भी परेशानियाँ नहीं आएगी। साथ साथ किसानों की इनकम को दोगुना करकर उनको और अधिक आत्म निर्भर बनाना भी इसका उद्देश्य है। इसके अलावा योजना के अन्तर्गत बारिश के दौरान आने वाले पानी को स्टोर कर के रखा जायेगा ताकि वह सिंचाई के काम आ सके।

योजना से मिलने वाले लाभ एवं उनकी विशेषताएं

  • योजना के अंतर्गत बिहार राज्य के किसानों को लाभ मिलेगा।
  • पहाड़ी क्षेत्र में डैम व छोटी नदियों का निर्माण किया जायेगा।
  • राज्य में रह रहे किसानों को 75500 रूपए की सब्सिडी की मदद तालाब, कुँवे, व सिंचाई के कार्य के निर्माण हेतु दिए गए है।
  • जल जीवन हरियाली योजना के तहत 43.62 लाख पौधे लगाए जायेंगे।
  • राज्य में पेड़ लगाने के साथ ही सिंचाई के लिए बारिस का पानी स्टोर कर के रखा जायेगा।
  • 2022 तक 24 हजार 524 करोड़ रुपये का खर्चा सरकार द्वारा योजना हेतु किया जायेगा।
  • किसानों की मदद से खेतो के लिए सिंचाई का प्रबंध किया जायेगा।
  • राज्य में ज्यादा से ज्यादा पेड़ो का रोपण करने से पर्यावरण प्रदूषित नहीं होगा।
  • तालाब का निर्माण कार्य करने के लिए किसानों को सरकार 90% का अनुदान देगी।

jal jeevan hariyali योजना के तहत किये जाने वाले काम

  1. राज्य के सभी सार्वजनिक कुंओ को रेनोवेट(मरम्मत) करवाना।
  2. तालाब, छोटे गड्ढे, आदि का पुनः निर्माण का कार्य करवाना।
  3. छोटी-छोटी नदियों, नालों में एवं पहाड़ी क्षेत्रों में पानी को स्टोर करके रखना ताकि वह भविष्य में काम आ सके।
  4. योजना के अन्तर्गत राज्य में नए जल स्रोतों(sources) का निर्माण कार्य करना और जिन नदियों में अधिक पानी है वहां का पानी ऐसे क्षेत्रों में पहुँचाना जहाँ का जल स्तर बहुत कम हो।
  5. भवनों में जल संचयन संरचना(water harvesting plant) बनवाना।
  6. योजना द्वारा सौर ऊर्जा(solar energy) को और बढ़ावा देंगे जिससे सभी भवनों पर सोलर पैनल लगवाए जायेंगे और सभी इसका लाभ ले सकेंगे।
  7. अधिक से अधिक पौधे लगाने का कार्य किया जायेगा।
  8. राज्य में रह रहे लोगो को योजना के कार्य के बारे में अवगत किया जायेगा।
  9. सार्वजनिक वाटर हार्वेस्टिंग प्लांट स्ट्रक्चर द्वारा अतिक्रमण(कब्जे) से मुक्त करना।
महत्तवपूर्ण डाक्यूमेंट्स (For jal jeevan hariyali scheme)
आवेदक का आधार कार्ड अनिवार्यमूलनिवास प्रमाण पत्र
बैंक अकाउंट नंबर व IFSC कोडबैंक पास बुक
राशन कार्डइनकम सर्टिफिकेट
पासपोर्ट साइज फोटोरजिस्टर्ड मोबाइल नंबर
पहचान पत्र जैसे: वोटर id कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस आदिजमीन के कागज

योजना हेतु पात्रता क्या होगी?

जल जीवन हरियाली योजना का आवेदन करने के लिए आपको इसकी पात्रता जाननी होगी, जिससे आप इसका आसानी से आवेदन कर पाएंगे। पात्रता इस प्रकार से है:

  • आवेदन करने के लिए आवेदक बिहार का मूलनिवासी होना चाहिए।
  • राज्य के किसानों को 1 एकर की जमीन की सिंचाई करने के लिए सरकार द्वारा सब्सिडी के रूप में मदद राशि दी जाएगी।
  • योजना का लाभ पाने के लिए किसानो को दो भागों में बांटा गया है।
    • व्यक्तिगत श्रेणी(Individual category): इस श्रेणी में उन किसानों को रखा गया है जो की 1 एकर जमीन में सिंचाई करना चाहते है
    • सामूहिक श्रेणी (Group category ): इस श्रेणी में उन्हें रखा गया है जिनके पास 1 एकर से कम जमीन होगी। 1 एकर या 1 इकाई की सिंचाई के लिए किसान अपना समूह बनाकर सिंचाई कर सकते है और योजना के पात्र बन सकते है।
  • वह किसान जो 5 हेक्टर एरिया का लाभ एक साथ लेना चाहते है तो उन्हें मूल्य की पूरी सब्सिडी सरकार द्वारा दी जाएगी।
  • जीविका समहू(LIVELIHOOD GROUP) FPO(फार्मर प्रोडूसर आर्गेनाईजेशन) वाले भी इस योजना हेतु आवेदन कर सकते है।

जल जीवन हरियाली योजना 2021 ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया

योजना का आवेदन करने के लिए हमारे द्वारा दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  • आवेदक सबसे पहले बिहार कृषि विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • अब आपके सामने इस तरह का होम पेज खुल कर आ जायेगा। कृषि-विभाग-बिहार-जलजीवन-हरियाली-योजना-रजिस्ट्रेशन-प्रक्रिया
  • होम पेज पर आप नीचे जाकर जल जीवन हरियाली के अंदर आवेदन करें पर क्लिक करें। बिहार-जल-जीवन-हरियाली-आवेदन-करें
  • नए पेज पर आप किसान का समूह या स्वयं किसान में से किसी एक ऑप्शन पर टिक करें।
  • यदि आप किसान का समूह द्वारा पर टिक करते है तो आपको समूह द्वारा चयनित किसान प्रमुख का रजिस्ट्रेशन नंबर भरना है जो की 13 अंको का होगा।
    स्कीम-जल-जीवन-हरियाली-ऑनलाइन-आवेदन-कैसे-करें
  • और यदि आप स्वयं किसान पर टिक करते है तो आपको किसान का 13 अंको का पंजीकरण नंबर भरना है। ऑनलाइन-एप्लीकेशन-प्रोसेस-टू-फिल-जल-जीवन-हरियाली-योजना
  • इसके बाद आप सर्च के ऑप्शन पर क्लिक कर दें।
  • अब आपके सामने नए पेज पर फॉर्म खुल जायेगा।
  • इसमें आपको पूछी गयी सभी जानकारी जैसे: किसान का नाम, पिता का नाम, पंचायत का नाम, आधार नंबर, ईमेल एड्रेस,मोबाइल नंबर आदि सभी को भरना है।
  • अब आप GET OTP पर क्लिक करें।
  • जिसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आपको OTP प्राप्त होगा, जिसे आपको आवेदन फॉर्म में भरना है।
  • सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • आपकी आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

आवेदन की स्थिति/प्रिंट कैसे जाने

आवेदक अपनी आवेदन स्थिति जानना चाहते है और एप्लीकेशन फॉर्म को प्रिंट करना चाहते है तो आप दिए गए स्टेप्स को ध्यान से पढ़े।

  1. आपको कृषि विभाग बिहार की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएं।
  2. होम पेज पर आप आवेदन की स्थिति/प्रिंट करें के ऑप्शन पर जाकर जल जीवन हरियाली आवेदन प्रिंट करें पर क्लिक करें।
    आवेदन-स्थिति-देखें-jal-jeevan-hariyali-yojna
  3. नए पेज पर आप रजिस्ट्रेशन नंबर भरें व किसान का समूह या स्वयं किसान में से किसी एक ऑप्शन पर टिक करें।jal-jeevan-hariyali-abhiyan-awedan-pavti
  4. अब आप SEARCH के ऑप्शन पर क्लिक कर दें।
  5. जिसके बाद आपके सामने एप्लीकेशन स्टेटस आप देख पाएंगे और आप इसे प्रिंट भी कर सकते है।

रजिस्ट्रेशन फॉर्म में सुधार कैसे करें?

यदि आपने अपने पंजीकरण फॉर्म में कोई गलती की हो और आप उसे सुधारना चाहते है, तो आप दिए गए स्टेप्स को फॉलो करके अपनी गलती सही कर सकते है

  • आवेदक सबसे पहले बिहार कृषि विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आ जायेगा।
  • होम पेज पर आप विवरण संशोधन पर क्लिक करके पंजीकरण सुधार की जाँच पर क्लिक करें।vivran-sanshodhan-jaljeevan-hariyali-scheme
  • नए पेज पर आप पंजीकरण संख्या को भरें। जल-जीवन-हरियाली-स्कीम-रजिस्ट्रेशन-डिटेल्स -सुधार
  • अब आप सर्च के ऑप्शन पर क्लिक कर दें।
  • इसके बाद आपके सामने आपका आवेदन फॉर्म खुल जायेगा, आप इसमें अपनी गलती का सुधार कर लें।
  • इसके बाद आप सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक कर दें।

हेल्पलाइन नंबर

यदि आपको कोई भी समस्या है या किसी भी प्रकार की शिकायत है तो आप दिए गए हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करके अपनी समस्या का समाधान कर सकते है या आप ईमेल ID में ईमेल भेज कर अपनी शिकायतों व परेशानियों के बारे में बता सकते है।

टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर0612-2233555
ईमेल IDdbtcellagri@gmail.com

इसके अलावा आप ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर संपर्क करें में DBT संपर्क नंबर पर क्लिक करें, जिसके बाद आपके सामने कांटेक्ट डिटेल्स आ जाएँगी। जिसके माध्यम से आप संपर्क कर सकते है। contact-detais-jal-jeevan-hariyali-yojna

जलजीवन हरियाली योजना सम्बंधित प्रश्न/उत्तर

योजना की शुरुवात कब और किसके द्वारा की गयी?

बिहार राज्य के माननीय मुख्यमंत्री नितीश कुमार द्वारा 26.10.2019 में जल जीवन हरियाली योजना को शुरू करवाया गया है।

जल जीवन योजना को शुरू करवाने का क्या उद्देश्य है?

जल जीवन हरियाली अभियान का उद्देश्य जलवायु परिवर्तन में सुधार करना, पर्यावरण को दूषित होने से बचाना, पशु-पक्षियों का जीवन बचाना और देश में अधिक से अधिक हरियाली उपजाऊ करना है। इसके अंतर्गत राज्य में पेड़ो को लगाने के लिए, छोटे तालाब और कुंओ का बनाने का कार्य करना ही योजना का लक्ष्य है

किसानो को कितने रुपये की सब्सिडी मडसद के रूप में दी जा रही है?

राज्य में रह रहे किसानों को 75500 रूपए की सब्सिडी की मदद तालाब, कुँवे, व सिंचाई के कार्य के निर्माण हेतु दिए जा रहे है, ताकि उन्हें किसी तरह की परेशानी न झेलना पढ़े।

Important News: 👉 Cowin Covid Vaccine Registration started from 1st March 2021.

योजना का लाभ कौन ले सकते है?

योजना का लाभ बिहार राज्य के किसान ले सकते है उन्हें सरकार द्वारा मदद राशि प्रदान की जाएगी। सरकार का एक मात्र लक्ष्य यह भी है कि वह उनकी आय में वृद्धि ला सके।

आवेदन फॉर्म भरने के लिए क्या क्या दस्तावेज चाहिए होंगे?

1 बैंक पास बुक
2 पासपोर्ट साइज फोटो
3 आवेदक का आधार कार्ड
4 रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर
5 भूमि के कागजाद

हमारे द्वारा लिखे गए लेख में हमने जल जीवन हरियाली योजना के बारे में सभी जानकारी आपको बता दी है, यदि आपको जानकारी पसंद आयी हो तो आप हमे बता सकते है और अगर योजना से सम्बंधित कोई भी समस्या या सवाल आपको पूछने है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते है। हम आपके सभी सवालों का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे।

Leave a Comment