महिला एवं किशोरी सम्मान योजना 2022: उद्देश्य व कार्यान्वयन प्रक्रिया, लाभ

महिला एवं किशोरी सम्मान योजना 2022– हरियाणा राज्य सरकार के माध्यम से योजना की शुरुआत की गयी है। यह योजना वर्ष 2020 में हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा वीडियों कॉन्फ्रेसिंग के जरिये किया गया इस योजना के अंतर्गत महिलाओं के स्वास्थ्य को लेकर उन्हें जागरूक किया जायेगा। महिलाओं के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए योजना के कार्यान्वयन हेतु 30.80 करोड़ रूपये का बजट निर्धारित किया गया है। इस योजना से लाभान्वित करने के लिए 10 वर्ष की आयु से लेकर 45 वर्ष की आयु वाली महिलाओं को शामिल किया गया है।

आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से महिला एवं किशोरी सम्मान योजना 2022: उद्देश्य व कार्यान्वयन प्रक्रिया, लाभ से संबंधित जानकारी को साझा करने जा रहे है। अतः इस योजना से संबंधी सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त करने के लिए आप हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े।

महिला एवं किशोरी सम्मान योजना 2022

Women and Kishori Samman Yojana– के अंतर्गत महिलाओं के स्वास्थ्य को लेकर शुरू की गयी एक महत्वपूर्ण पहल है। जिसमें 10 वर्ष की आयु से लेकर बालिकाओं को एवं 45 वर्ष तक की आयु वाली महिलाओं को योजना का लाभ देने के लिए शामिल किया गया है। इस योजना के अंतर्गत महिलाओं को प्रतिमाह 6 सैनिटरी नैपकिन प्रदान किये जायेंगे। महिला एवं किशोरी सम्मान योजना के अंतर्गत सैनिटरी नैपकिन बालिकाओं एवं महिलाओं को आँगनबाड़ी केंद्र ,एवं स्कूलों के माध्यम से उपलब्ध करवाएं जायेंगे। महिला एवं बाल विकास विभाग के द्वारा योजना का संचालन किया जा रहा है। हरियाणा सरकार के माध्यम से इस योजना का लाभ राज्य के 22.50 लाख किशोरी एवं महिलाओं को योजना का लाभ दिया जायेगा।

Women and Kishori Samman Yojana

योजना का नाम महिला एवं किशोरी सम्मान योजना
योजना की शुरुआत हरियाणा सरकार
वर्ष 2022
लाभार्थीहरियाणा के नागरिक
योजना का उद्देश्य गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाली किशोरी
एवं महिलाओं को मुफ्त में सैनिटरी नैपकिन प्रदान करना
ऑफिशियल वेबसाइटअभी उपलब्ध नहीं है

Mukhyamantri Bagwani Bima Yojana

हरियाणा महिला एवं किशोरी सम्मान योजना के उद्देश्य

Haryana Mahila and Kishori Samman Yojana- का मुख्य उद्देश्य है महिलाओं के मासिक धर्म के प्रति उन्हें स्वास्थ्य के लिए जागरूक करना। मासिक धर्म के समय में उन्हें स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने के लिए हरियाणा सरकार के तहत किशोरी एवं महिलाओं को सैनिटरी नैपकिन प्रदान किये जायेंगे। इस प्रक्रिया के आधार पर मासिक धर्म से होने वाली बिमारियों से महिलाओं को मुक्ति मिलेगी। महिलाओं के बेहतर स्वास्थ्य के लिए यह एक महत्वपूर्ण मुहीम हरियाणा सरकार के द्वारा शुरू की गयी है। सैनिटरी नैपकिन का इस्तेमाल करने से मासिक धर्म में महिलाओं को बेहतर सुविधा प्राप्त होती है। इसके आलावा महिलाओं को स्वछता के कमी के कारन होने वाली बिमारियों से छुटकारा मिलता है। इस योजना के तहत लाभार्थी महिलाओं को निशुल्क रूप में सैनिटरी नैपकिन वितरण किये जाते है।

Haryana Mahila and Kishori Samman Yojana की विशेषतायें

  • महिलाओं एवं बालिकाओं को हरियाणा महिला एवं किशोरी सम्मान योजना का लाभ प्रदान किया जायेगा।
  • उन सभी महिलाओं को योजना का लाभ दिया जायेगा जो गरीबी रेखा के नीचे अपना जीवन यापन कर रहे है।
  • 10 से 45 वर्ष वाली महिलाओं को महीने में 6 सैनिटरी नैपकिन वितरण किये जायेंगे।
  • मासिक धर्म से होने वाली बिमारियों के लिए किशोरी एवं महिलाओं को योजना के अंतर्गत जागरूक किया जायेगा।
  • योजना के कार्यान्वयन हेतु हरियाणा सरकार के द्वारा 30 करोड़ 80 लाख रुपये का बजट निर्धारित किया गया है।
  • महिला एवं बाल विकास विभाग के द्वारा योजना का संचालन किया जायेगा।

महिला एवं किशोरी सम्मान योजना हेतु योग्यता

  • इस योजना का लाभ लेने के लिए केवल हरियाणा राज्य के मूल निवासी नागरिक इसका लाभ उठा सकते है।
  • गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार की महिलाएं एवं बालिकाएं इस योजना का लाभ ले सकते है।
  • 10 वर्ष की आयु की बालिकाएं एवं 45 वर्ष की आयु से कम वाली सभी महिलाएं योजना के तहत लाभ लेने हेतु योग्य है।

सैनिटरी नैपकिन हेतु कार्यान्वयन प्रक्रिया

Haryana Mahila and Kishori Samman Yojana के अंतर्गत बालिकाओं को सैनिटरी नैपकिन उनके स्कूल से वितरण किये जायेंगे। साथ ही महिलाओं को दिए जाने वाले सैनिटरी नैपकिन महिला एवं किशोरी सम्मान योजना के अंतर्गत आँगनबाड़ी केन्द्रो से वितरण किये जायेंगे। योजना के तहत लाभार्थियों को 1 वर्ष की अवधि तक योजना का लाभ दिया जायेगा। जिसमें प्रत्येक माह के अनुसार उन्हें 6 सैनिटरी नैपकिन वितरण की जाएगी।

Leave a Comment