Dr. APJ Abdul Kalam Biography, शिक्षा, करियर, जीवन परिचय, पुरस्कार, नेटवर्थ, किताबें

Dr. APJ Abdul Kalam Biography- भारत के राष्ट्रपति और मिसाइल मैन ऑफ़ इंडिया के नाम से विख्यात APJ Abdul Kalam को भला कौन नहीं जनता। APJ Abdul Kalam का पूरा नाम अवुल पकिर जैनुलाब्दीन अब्दुल कलाम है और वह भारत के 11 वें निर्वाचित राष्ट्रपति रह चुके हैं। 15 अक्टूबर 1931 को भारत के दक्षिणी राज्य तमिलनाडु में रामेश्वरम के छोटे से गांव धनुषकोड़ी में जन्में APJ Abdul Kalam हम सभी के लिए किसी रोल मॉडल से कम नहीं है।

Dr. APJ Abdul Kalam Biography, शिक्षा, करियर, जीवन परिचय, पुरस्कार, नेटवर्थ, किताबें
Dr. APJ Abdul Kalam Biography

साल 2002 में भारत के राष्ट्रपति चुने जाने वाले इन महान व्यक्ति का साल 2015 में शिलांग में दिल का दौरा पड़ने के कारण मृत्यु हो गयी थी। भारत में इंजीनियरिंग के क्षेत्र के साथ साथ प्रोफ़ेसर और राष्ट्रपति के पद पर रहने वाले अब्दुल कलाम जी के बारे में आज के इस आर्टिकल में आप जान सकेंगे। आज के इस आर्टिकल में Dr. APJ Abdul Kalam Biography (जीवन परिचय), शिक्षा, करियर,पुरस्कार, नेटवर्थ, किताबें सभी के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाएगी।

Brief Intro of Dr. APJ Abdul Kalam in hindi

भारत के परमाणु ऊर्जा क्षेत्र में अपना अहम योगदान देने के कारण अब्दुल कलाम जी को भारत का मिसाइल मैन के नाम से भी जाना जाता है। परमाणु हथियार कार्यक्रमों में सम्मिलित होने कारण इन्हें भारत के सर्वाेच्च नागरिक पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है। 27 जुलाई 2015 को शिलांग (मेघालय) में 84 साल की आयु में कार्डियक अटैक के कारण इनका निधन हो गया।

नाम APJ Abdul Kalam
APJ Abdul Kalam का पूरा नाम अबुल पाकिर जैनुलाब्दीन अब्दुल कलाम
उपनाम /उपाधि द मिसाइल मैन ऑफ इंडिया
जन्म 15 अक्टूबर, 1931
जन्म स्थान धनुषकोडी गाँव, रामेश्वरम, तमिलनाडु, भारत
धर्म इस्लाम
नागरिकता भारतीय
वैवाहिक स्थिति अविवाहित
व्यवसाय ऐरोस्पेस इंजीनियर, राजनीतिज्ञ, वैज्ञानिक, लेखक एवं प्रोफेसर
मृत्यु 27 जुलाई 2015 (शिलांग (मेघालय),भारत )
मृत्यु का कारण हार्ट अटैक

मुलायम सिंह यादव की जीवनी

एपीजे अब्दुल कलाम प्रारंभिक जीवन

डॉ एपीजे अब्दुल कलाम का पुरा नाम अबुल पाकिर जैनुलाब्दीन अब्दुल कलाम था। इनका जन्म तमिलनाडु के रामेश्वरम में स्थित धनुषकोडी गाँव के एक तमिल मुस्लिम परिवार में 15 अक्टूबर 1931 को हुआ था। इनके पिता का नाम जैनलाब्दीन और इनकी माता का नाम असिंमा था। यह एक गरीब परिवार से थे इनके पिताजी नावों को किराये देने और बेचने का कार्य करते थे। पारिवारिक स्थिति सही नहीं थी किन्तु इनके पिता अब्दुल कलाम और अपने अन्य बच्चों को अच्छी शिक्षा प्रदान करना चाहते थे।

परिवार में माता-पिता के अतिरिक्त इनके कुल 4 भाई बहन थे। अब्दुल कलाम अपने सभी भाई -बहनों में से सबसे छोटे थे। इनके 3 बड़े भाई और 1 बड़ी बहन थी। परिवार की आर्थिक स्थिति सही न होने के कारण डॉ APJ Abdul Kalam ने अपनी छोटी सी आयु में ही परिवार की जिमेदारी को बखूबी समझा और अपने पिता की आर्थिक सहायता के लिए मात्र 10 वर्ष की आयु में घर घर अखबार बेचने का काम शुरू किया। अब्दुल कलाम अपने स्कूल में समान्य विद्यार्थी थे जिनकी रूचि मुख्य रूप से गणित के विषय में थी।

Dr. APJ Abdul Kalam family details (परिवार का विवरण )

माता का नाम (Mothers Name)असिंमा
पिता का नाम (Fathers Name)जैनुलाब्दीन
पत्नी (Wife) नहीं
दादा का नाम पकिर
परदादा का नामअवुल
बहन का नामअसीम जोहरा
भाई का नामकासिम मोहम्मद,
मुस्तफा कमाल,
मोहम्मद मुथु मीरा

अब्दुल कलाम की प्रारंभिक शिक्षा (Dr APJ Abdul Kalam Education)

Dr APJ Abdul Kalam ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा Schwartz Higher Secondary School रामानाथपुरम, तमिलनाडु से पूरी की थी। इस स्कूल से अब्दुल जी ने अपनी 10 वीं की पढ़ाई पूरी की थी। अपने स्कूल के दिनों में अब्दुल कलाम जी अयादुरै सोलोमन से काफी प्रभावित हुए जोकि इनके शिक्षक थे।

हाईस्कूल की पड़ही पूरी हो जाने के बाद इन्होने साल 1954 में तिरुचिरापल्ली के सेंट जोसेफ कॉलेज से फिजिक्स (भौतिक विज्ञान) विषय में बी0एस0सी की डिग्री हासिल की थी। इसके ही अगले साल कलाम जी अपने सपनों को पूरा करने के लिए 1955 में मद्रास चले गये। मद्रास में Institute of Technology in Aerospace Engineering में अपनी शिक्षा ग्रहण की। यहाँ रहते हुए इन्हें Low level attack aircraft का प्रोजेक्ट मिला लेकिन उनके प्रोफेसर को उनका यह प्रोजेक्ट मॉडल पसंद नहीं आया। प्रोफेसर द्वारा अब्दुल जी को नया मॉडल बनाने के लिए 3 दिन का समय दिया गया और मात्र 3 दिन में कलाम जी ने इस नये मॉडल पर दिन रात बहुत मेहनत की जिसके बाद उनके इस मॉडल की प्रोफेसर द्वारा काफी तारीफ की गयी।

अब्दुल कलाम जी का करियर

कलाम जी को अपनी पढ़ाई पूरी कर लेने के बाद 2 विकल्प मिले जिसमे से एक विकल्प रक्षा मंत्रालय (ministry of defense) का और दूसरा वायु सेना (air force) का था। अब्दुल जी वायु सेना में अपना कॅरियर बनाना चाहते थे। इसके लिए कलाम जी इंटरव्यू देने देहरादून आये थे। वायुसेना में 8 शीट थी जिसके लिए इंटरव्यू हुआ था लेकिन कलम जी का रैंक 9 वां था। जिसके कारण उनका वायु सेना में सिलेक्शन नहीं हो पाया।

जिसके बाद कलाम जी ने drdo (Defence Research and Development Organisation) में अपने कॅरियर की शुरुआत की थी।

  • अब्दुल कलाम जी ने madras Institute of Technology in Aerospace Engineering में अपनी डिग्री हासिल करने के बाद साल 1958 में रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) में शामिल हुए।
  • साल 1969 में अब्दुल जी भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन में शामिल हुए जहाँ वह परियोजना निदेशक थे।
  • 1982 में डीआरडीओ में एक बार फिर से शामिल हुए जहाँ उन्होंने कई सफल मिसाइलों के निर्माण के लिए योजना बनाई। उन्हें इन्ही कारणों से भारत का मिसाइल मैन उपनाम से भी जाना जाता है।
  • सन्न 1992 से लेकर 1997 तक अब्दुल कलाम जी रक्षा मंत्री के वैज्ञानिक सलाहकार रहे।
  • 1999 से 2001 में इन्होने कैबिनेट मंत्री के साथ साथ सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार के तौर पर कार्य किया।
  • 1998 में उन्होंने परमाणु हथियारों के परिक्षण में अपनी भूमिका निभाई और देश को परमाणु शक्ति के रूप में मजबूती प्रदान की।
  • इसी साल 1998 में उनके द्वारा एक योजना पेश की गयी जिसे प्रौद्योगिकी विजन 2020′ से जाना जाता था। इसमें उन्होंने भारत को आने वाले 20 वर्षों में विकसित करने के लिए एक रोडमैप का वर्णन किया।
  • जुलाई 2002 में कलाम जी ने भारत के 11 वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली थी। इस पद पर वह 2007 तक रहे।

Dr Abdul Kalam Awards (उपलब्धियां एवं पुरस्कार)

डॉ एपीजे अब्दुल कलाम जी ने अपने जीवन में सभी आयुवर्ग ,धर्म ,जाति के व्यक्तियों को प्रेरित किया है। इनके द्वारा कई प्राप्त किये गगये पुरस्कार और उपलब्धियों ( Dr Abdul Kalam Awards List) की सूची नीचे दी गयी है -

  • साल 1981 में इन्हें भारत सरकार द्वारा पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था।
  • 1990 में पद्म विभूषण
  • 1997 में भारत रत्न और इसी वर्ष 1997 में भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस द्वारा इंदिरा गांधी राष्ट्रीय एकता पुरस्कार से सम्मांनित किया गया।
  • 1998 में भारत सरकार द्वारा वीर सावरकर पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
  • साल 2000 में अल्वारेज शोध संस्थान, चेन्नई द्वारा रामानुजन पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
  • 2008 में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, अलीगढ़ द्वारा डॉक्टर ऑफ साइंस की उपाधि।
  • 2008 में नानयांग टेक्नोलॉजिकल विश्वविद्यालय, सिंगापुर द्वारा डॉक्टर ऑफ इंजीनियरिंग से सम्मानित किया गया ।
  • वर्ष 2009 में वोन कॉम विंग्स अंतरराष्ट्रीय अवार्ड से केलिर्फोनिया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी द्वारा सम्मानित किया गया था।
  • 2009 में ऑकलैंड विश्वविद्यालय द्वारा मानद डॉक्टरेट की उपाधि दी गयी।
  • 2010 में यूनिवर्सिटी ऑफ वाटरलू से डॉक्टर ऑफ इंजीनियरिंग की उपाधि प्राप्त की।
  • वर्ष 2012 में डॉक्टर ऑफ लॉज मानद उपाधि को साइमन फ्रेजर विश्वविद्यालय द्वारा प्रदान किया गया।
  • साल 2014 में अब्दुल जी को एडिनबर्ग विश्वविद्यालय, यूनाइटेड किंगडम संस्था द्वारा डॉक्टर ऑफ साइंस से सम्मानित किये गए।

डॉ एपीजे अब्दुल कलाम की प्रसिद्ध पुस्तकें (Books)

एपीजे अब्दुल कलाम जी ने अपने विचारों को इन पुस्तकों में भी शामिल किया है जो हर व्यक्ति को जीवन में कभी न हार मानने और निरंतर प्रयास करने के लिए प्रेरित करती है। डॉ एपीजे अब्दुल कलाम की प्रसिद्ध पुस्तकें इस प्रकार से हैं -

  • इंडिया 2020: ऐ विज़न फॉर द न्यू मिलेनियम
  • विंग्स ऑफ़ फायर: एन ऑटोबायोग्राफी
  • इग्नाइटेड माइंडस: अन्लेशिंग द पॉवर विथिन इंडिया
  • गाइडिंग सोल्स : डायलॉग्स ओन द पर्पज ऑफ़ लाइफ
  • द लुमिनिउस स्पार्क्स: ए बायोग्राफी इन वर्स एंड कलर्स
  • इन्स्पिरिंग थॉट्स: कोटेशन क्यूटेशन सीरीज
  • स्पिरिट ऑफ़ इंडिया
  • टारगेट 3 बिलियन
  • यू आर बोर्न टू ब्लॉसम: टेक माय जर्नी बियॉन्ड
  • फेलियर टू सक्सेस: लेजेंडरी लिव्स
  • यू आर यूनिक: स्केल न्यू हाइट्स बाए थॉट्स एंड एक्शनस
  • टर्निंग पॉइंट्स: ए जर्नी थ्रू चैलेंजस
  • द साइंटिफिक इंडिया: ए ट्वेंटी फर्स्ट सेंचुरी गाइड टू द वर्ल्ड अराउंड अस
  • मिशन ऑफ़ इंडिया: ए विज़न ऑफ़ इंडिया यूथ
  • गवर्नेंस फॉर ग्रोथ इन इंडिया
  • गवर्नेंस फॉर ग्रोथ इन इंडिया
  • माय जर्नी : ट्रांस्फोर्मिंग ड्रीम्स इनटू एक्शनस
  • द फैमिली एंड द नेशन
  • थॉट्स फॉर चेंज: वी कैन डू इट
  • ब्योंड 2020: ए विज़न फॉर टुमारो इंडिया
  • द गाइडिंग लाइट: ए सिलेक्शन ऑफ़ कोटेशन फ्रॉम माई फेवरिट बुक्स
  • टर्निंग पॉइंट्स: ए जर्नी थ्रू चैलेंजस
  • फोर्ज योर फ्यूचर: कैंडिड , फोर्थराईट, इंस्पाइरिंग
  • मैनिफेस्टो फॉर चेंज
  • इन्डोमिटेवल स्पिरिट
  • फोर्ज योर फ्यूचर: कैंडिड , फोर्थराईट, इंस्पाइरिंग
  • रेगनिटेड: साइंटिफिक पाथवेयस टू ए ब्राईटर फ्यूचर
  • ट्रांस्सन्देंस माई स्पिरिचुअल एक्सपीरियंसीस

Dr. APJ Abdul Kalam death

27 जुलाई, 2015 को जिस समय कलाम जी शिलांग के इन्डियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट के एक कार्यक्रम के दौरान अपना एक रहने योग्य ग्रह पृथ्वी बनाना (Creating a Livable Planet Earth) पर भाषण दे रहे थे।

भाषण शरू होने के 5 मिनट (6:35 p.m. IST) बाद ही वह गिर गए। उन्हें तुरंत ही बेथानी अस्पताल (Bethany Hospital) लेकर जाया गया लेकिन उनकी हालत काफी गंभीर बनी हुयी थी जिस्सके चलते उन्हें ICU में रखा गया। 27 जुलाई, 2015 की शाम 7:45 बजे (IST) अब्दुल कलाम जी की मृत्यु हृदय गति के रुक जाने के कारण हो गयी।

Dr. APJ Abdul Kalam से सम्बंधित प्रश्नोत्तर –

APJ Abdul Kalam का पूरा नाम क्या है ?

APJ Abdul Kalam का पूरा नाम अबुल पाकिर जैनुलाब्दीन अब्दुल कलाम है।

अब्दुल कलाम जी का जन्म कहाँ हुआ था ?

एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म धनुषकोडी गाँव, रामेश्वरम, तमिलनाडु, भारत में 15 अक्टूबर 1931 को हुआ था।

Abdul Kalam जी भारत के कौनसे राष्ट्रपति थे ?

एपीजे अब्दुल कलाम वर्ष 2002 में भारत के 11 वें राष्ट्रपति के रूप में चुने गये थे।

किस वर्ष अब्दुल कलाम जी को विक्रम साराभाई की टीम में नासा भेजने के लिए चुना गया था ?

साल 1963 में डॉ विक्रम साराभाई की टीम में से कलाम जी को NASA भेजने के लिए चुना गया था।

किस वर्ष अब्दुल कलाम जी को DRDO का डायरेक्टर बनाया गया था ?

1982 में कलाम जी को DRDO का डायरेक्टर बनाया गया था।

किस साल एपीजे अब्दुल कलाम जी की देख रेख में भारत का पहला साउंडिंग रॉकेट लॉन्च किया गया था ?

साल 1963 में अब्दुल कलाम जी की देख रेख में भारत का पहला साउंडिंग रॉकेट लॉन्च किया गया था ?

Leave a Comment