छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना: ऑनलाइन आवेदन (CG Godhan Nyay) लाभ व पात्रता

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना। Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana। छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना ऑनलाइन आवेदन। CG Godhan Nyay Yojana Online Apply।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना: छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा किसानों की स्थिति में सुधार लाने व उनकी आय को दोगुना करने के लक्ष्य से कई तरह की योजनाओ का संचालन किया जाता है, ऐसी ही एक योजना की शुरुआत राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी द्वारा 20 जुलाई 2020 को छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के नाम से की गई है। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा राज्य के किसानों व पशुपालकों से गाय के गोबर की खरीद कर उन्हें रोजगार दिया जाएगा, इसके लिए सरकार किसानों से 2 रूपये प्रति किलो गोबर की खरीद कर इससे वर्मी कम्पोस्ट खाद का उत्पाद करेगी जिसका उपयोग खेतों में फसलों की वृद्धि के लिए किया जाएगा, छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना राज्य के पशुपालक किसानों व महिलाओं के लिए रोजगार के माध्यम से आय का बेहतर साधन बन सकेगी।

Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana में आवेदन करने वाले नागरिकों को ही योजना का लाभ प्राप्त हो सकेगा, इसके लिए राज्य के जो भी नागरिक योजना में आवेदन की प्रकरिया को पूरा करना चाहते हैं वह छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना में आवेदन के लाभ, पात्रता, दस्तावेज व आवेदन प्रक्रिया की जानकारी यहाँ लेख के माध्यम से जान सकेंगे।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना
Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana

जाने क्या है छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राज्य में गो पालन को प्रोत्साहन देने के लिए पशुपालन करने वाले किसानों से गोबर की खरीद कर उनकी आय में करने के लिए छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना का आरम्भ किया गया है, इस योजना के अंतर्गत गोपालन करने वाले किसानों के लिए रोजगार के नए साधन में वृद्धि से राज्य में आवारा पशुओं की संख्या को कम करने में मदद मिलेगी और किसानों को प्रति किलो गोबर की खरीद पर 2 रूपये का लाभ प्रदान किया जाएगा। जिसके लिए योजना में दो चरणों चलाए जाएँगे, जिसमे पहले चरण में राज्य के 2240 गोशालाओं को योजना से जोड़ा जाएगा और दूसरे चरण में पशुपालको से गाय के गोबर की खरीद वर्मी कम्पोस्ट खाद, बिजली या पेंट बनाने के लिए किया जाएगा।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के माध्यम में राज्य के किसान गो पशुपालन के लिए प्रोत्साहित हो सकेंगे, जिससे राज्य में दूध उत्पादन को बढ़ावा मिल सकेगा, इसके साथ ही गोबर के विक्रय से होने वाले लाभ से पशुपालक अपने अनुपयोगी गाय को बाहर आवारा भटकने के लिए नहीं छोड़ेंगे। इसके लिए वह योजना में आवेदन कर सरकार को गोबर बेच सकेंगे और बेहतर आय अर्जित कर सकेंगे। छत्तीसगढ़ गोधन योजना के तहत राज्य में आदर्श गौठानों और आजीविका केंद्रों के स्थापित होने से राज्य की महिलाओं ने अभी तक अलग-अलग कार्यों में अपनी भूमिका निभाकर गोबर से वर्मी कम्पोस्ट खाद का निर्माण कर आर्थिक रूप से स्वावलंबन बनकर आगे बाद पाई है।

CG Godhan Nyay Yojana : Details

योजना का नाम छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना
शुरू की गई मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी द्वारा
श्रेणी राज्य सरकारी योजना
साल 2022
आवेदन माध्यम ऑनलाइन/ऑफलाइन प्रक्रिया
योजना के लाभार्थी राज्य के गौ पालक किसान
उद्देश्य किसानों की आय में वृद्धि करना
आधिकारिक वेबसाइट www.cgstate.gov.in

छत्तीसगढ़ गोधन योजना 2022

इस योजना के तहत राज्य सरकार का मुख्य लक्ष्य राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार को बढ़ावा देकर अतिरिक्त आय के अवसरों को बढ़ावा देने के लिए किया गया है। जिसके माध्यम से पशुपालकों के लिए नए आय के श्रोत बढ़ सकेंगे इसके लिए राज्य के जो भी पशुपालन करने वाले किसान योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं वह छत्तीसगढ़ गोधन योजना 2022 में आवेदन की प्रक्रिया को पूरा कर योजना का लाभ ले सकेंगे। इस योजना में आवेदन के लिए सरकार द्वारा गोधन योजना मोबाइल ऐप की शुरुआत की गई है, जिसके माध्यम से आवेदक योजना में आवेदन कर सकेंगे। आवेदक किसानों द्वारा विक्रय गोबर से सरकार स्वयं सहायता महिलाओं को रोजगार देकर उन्हें आर्थिक रूप से शसक्त बनने में सहयोग करेगी, जिससे गोबर से खाद का निर्माण कर सरकारी समितियों द्वारा वर्मी कम्पोस्ट खाद का विक्रय किया जाएगा।

गोधन न्याय योजना में 8000 महिलाओं को मिली आजीविका

राज्य सरकार द्वारा शुरू इस योजना के अंतर्गत अभी तक सरकार द्वारा पशुपालकों से 96 करोड़ रूपये के गोबर की खरीद की जा चुकी है जिसमे पशुपालकों से की गई गोबर की खरीद पर स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को गोबर के वर्मी कम्पोस्ट खाद्य बनाने के लिए रोजगार प्राप्त हो सका है, यह लाभ राज्य की SHG में शामिल 8000 महिलाओं को प्राप्त हुआ है, इससे न केवल उन्हें आजीविका का नया साधन मिल सका बल्कि पशुपालक किसानों को खेती के अतिरिक्त गाय के गोबर के विक्रय से आय का नया साधन भी प्राप्त हो सका है।

इस योजना में माध्यम से सरकार द्वारा खरीदे गए गोबर से किसानों की फसलों के बेहतर उत्पादन के लिए बिना किसी कैमिकल के जैविक खाद के पहुँचाने के साथ-साथ, गोबर का उपयोग बिजली बनाने के लिए भी किया जाएगा, इसके लिए ईधन बनाने के लिए पिछले एक साल में सरकार द्वारा किसानों से 50 क्विंटल गोबर की खरीद की गई है। इससे बिजली का ग्रीन एनर्जी के उत्पादन कर पर्यायवरण को सुरक्षित किया जा सकेगा और बिजली को उत्पन्न से पर्यायवरण में ग्लोबल वार्मिंग की समस्या को भी कम किया जा सकेगा।

गोथन को ग्रामीण औद्योगिक पार्क के रूप में किए गए विकसित

योजना में विकसित गोथनो के माध्यम से खाद का उत्तपादन किया जाता है, यह उत्पादन कम से कम 6 क्विंटल तक होता है। इन गोथनो को बड़े स्तर पर विकसित कर अधिक खाद से किसानों को लाभ पहुँचाने के लिए राज्य के मुख्यमंत्री जी द्वारा गौथनों को ग्रामीण औद्योगिक पार्क बनाने के लिए का निर्णय लिया गया है, इससे यदि गोथनो में 20 लाख क्विंटल खाद का उत्पादन किया जाता है और इसे बाजारों में विक्रय किया जाता है तो इससे कम से कम 2 हजार करोड़ रूपये की आय उत्पन्न की जा सकेगी। यानी सरकार द्वारा विकसित औद्योगिक पार्क से खाद का उत्पादन को बड़े स्तर पर पहुँचाया जा सकेगा। जिससे राज्य में महिलाओं को गोथन से जोड़कर उनके लिए रोजगार के अवसर बढ़ाए जा सकेंगे, इससे महिलाएँ स्वावलंबी होकर अपने खर्चे खुद से उठा सकेंगी और इससे कृषि क्षेत्र से जुड़े किसानों को जैविक उर्वरक द्वारा बेहतर लाभ प्राप्त हो सकेगा।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना में महिलाओं को मिला लाभ

गठन समूहों द्वारा जैविक खाद का आरम्भ शुरू किए जाने से किसानों तक खाद का वित्तरण शुरू कर दिया गया है, योजना के अंतर्गत अभी तक 1 लाख 70 हजार गोबर का क्रय किया जा चुका है, जिसमे पशुपालकों को सरकार द्वारा 21,4400 रूपये की राशि प्रदान की गई है। जिस पर महिलाओं द्वारा वर्मी कम्पोस्ट खाद के उत्पादन पर 42 हजार रूपये का लाभ अर्जित किया गया है। जिससे राज्य की महिलाएँ को रोजगार प्राप्त कर आत्मनिर्भर होने में मदद मिली है।

Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana Update

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा गोधन न्याय योजना के अंतर्गत राज्य में पशुपालकों से गोबर की खरीद कर उनके योजना का लाभ प्रदान करना आरम्भ कर दिया गया है, योजना में अभी तक राज्य के 65,694 पशुपालकों द्वारा योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए रजिस्ट्रेशन किया जा चुका है। जिसमे सरकार द्वारा अभी तक राज्य के 46,764 लाभार्थियों से 82711 क्विंटल गोबर की खरीद कर उसका उत्पादन का काम शुरू कर दिया गया है। पशुपालन करने वाले किसानों से गोबर की खरीद पर गोबर की धनराशि सहकारी बैंकों के जरिये किसानों के खातों में डीबीटी के माध्यम से ट्रांसफर करवा दी गई है।

छत्तीसगढ़ गोधन योजना के लाभ एवं विशेषताएँ

गोधन योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदकों को योजना में आवेदन करना आवश्यक है, जिसमे आवेदक पशुपालकों को मिलने वाले लाभ की जानकरी कुछ इस प्रकार है।

  • इस योजना का आरम्भ राज्य सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में रह रहे पशुपालकों की आय में वृद्धि करने और उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार करने के लिए किया गया है।
  • गोधन न्याय योजना में माध्यम से सरकार किसानों व पशुपालन करने वाले किसानों को पशुपालन के लिए प्रोत्साहन प्रदान करेगी।
  • योजना के तहत सरकार द्वारा गो पालन करने वाले किसानों से गोबर की खरीद कर उसका उपयोग जैविक खाद बनाने के लिए किया जाएगा।
  • राज्य के किसानों को प्रतिकिलो गोबर की खरीद पर 2 रूपये का लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत राज्य में 20 हजार से अधिक शहर व गाँव को सम्मिलित किया गया है।
  • राज्य में योजना के तेत वर्मी कम्पोस्ट खाद का विक्रय सहकारी समितियों द्वारा किया जाएगा।
  • योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में पशुपालकों के लिए गोबर का विक्रय एक रोजगार के रूप में बेहद ही फायदेमंद साबित होगा।
  • राज्य की स्वयं सहायता समूह से जुडी महिलाओं योजना के तहत गोबर से वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाने के लिए रोजगार उपलब्ध हो सकेगा।
  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए पशुपालक घर बैठे ही अपने मोबाइल फ़ोन से योजना का एप्प्लिकेशन डाउनलोड करके योजना में आवेदन कर सकेंगे।
  • इस योजना के माध्यम से 2240 गोशालाओं को योजना में शामिल कर कुछ समय बाद 2800 गोथनों का निर्माण किया जाएगा।
  • योजना के माध्यम से पशुपालन के क्षेत्र में अधिक जागरूकता लाई जा सकेगी, जिससे पशुपालक अपने अनुपयोगी पशुओं को आवारा भटकने के लिए नहीं छोड़ेंगे।
  • गोधन न्याय योजना के तहत शहरों में घूम रहे आवारा पशुओं की रोक थाम से लेकर गोबर के क्रय और वर्मी खाद के उत्पादन तक की पूरी व्यवास्था नगरीय प्रसाशन द्वारा की जाएगी।
  • योजना के माध्यम से किसानों की आय में वृद्धि हो सकेगी और वर्मी कम्पोस्ट खाद का उपयोग कर वह बेहतर खेती का उत्पाद कर अधिक लाभ अर्जित कर सकेंगे।

गोधन न्याय योजना का उद्देश्य

राज्य सरकार द्वारा गोधन योजना को आरम्भ करने का मुख्य उद्देश्य राज्य में पशुपालन को बढ़ावा देकर किसानों की आय में वृद्धि करना है, देश में ऐसे बहुत से ग्रामीण या शहरी क्षेत्र के पशुपालन करने वाले किसान अपने गाय या जानवरों को बूढ़े होने पर अनुपयोगी समझकर आवारा छोड़ देते हैं जिससे आवारा पशु रास्तों गन्दगी फैलाने या खाने की तलाश में यहाँ -वहाँ भटकते रहते हैं, ऐसे में पशुओं को हित में और किसानों को खेती के अलावा दूसरा आय का श्रोत प्रदान करने के लिए राज्य सरकार गोधन न्याय योजना के माध्यम से किसानों से गोबर की खरीद कर उन्हें पशुपालन के लिए प्रोस्ताहित कर रही है, जिससे उन्हें भी गोबर के विक्रय से लाभ मिल सकेगा। इसके साथ ही गोबर से बनाए गए वर्मी कम्पोस्ट खाद या ईंधन से किसानों की खेती को बेहतर करने के लिए जैविक खाद प्राप्त हो सकेगी और गोबर से जैविक खाद बनाने वाली महिलाओं के लिए भी रोजगार के अवसर बढ़ सकेंगे।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना की पात्रता

गोधन योजना में आवेदन के लिए आवेदक को इसकी निर्धारित पात्रताओं को पूरा करना आवश्यक है, जिसे पूरा करने वाले नागरिक ही योजना में आवेदन कर सकेंगे, जिसकी जानकारी कुछ इस प्रकार है।

  • इस योजना में आवेदन के लिए आवेदक छत्तीसगढ़ के स्थाई निवासी होने चाहिए।
  • राज्य के गो पशुपालन करने वाले किसान योजना में आवेदन कर सकेंगे।
  • जिन आवेदकों द्वारा योजना में आवेदन किया गया है, उन्हें अपने पशुओं की संख्या दर्ज करवानी होगी।
  • गोधन न्याय योजना में आवेदन के लिए आवेदक के पास सभी महत्त्वपूर्ण दस्तावेज होने आवश्यक है।
  • योजना में राज्य के बड़े व्यापारी व जमींदार योजना में आवेदन के पात्र नहीं होंगे।

CG Godhan Nyay Yojana में आवेदन हेतु आवश्यक दस्तावेज

इस योजना में आवेदन के लिए आवेदक को कुछ महत्त्वपूर्ण दस्तावेजों की आवश्यकता होगी, बिना पूरे दस्तावेजों के आवेदन प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकेगी इसके लिए योजना से जुड़े सभी महत्त्वपूर्ण दस्तावेजों की जानकारी कुछ इस प्रकार है।

  • आवेदक का आधारकार्ड
  • स्थाई निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • वोटर आईडी
  • बैंक की पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना का आरम्भ राज्य सरकार द्वारा हाल ही में किया गया है, लेकिन अभी योजना में आवेदन के लिए इसकी आधिकारिक वेबसाइट जारी नहीं की गई है। तब तक राज्य के जो भी पशपालक किसान योजना में आवेदन करना चाहते हैं, तो वह गोधन न्याय योजना के जारी मोबाइल ऐप को डाउनलोड कर योजना में आवेदन की प्रक्रिया को पूरा कर सकेंगे।

  • इसके लिए आवेदक को अपने मोबाइल पर गूगल प्ले स्टोर ओपन करना होगा।
  • अब यहाँ सर्च बॉक्स में आपको छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना ऐप को टाइप कर सर्च के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • जिसके बाद आपकी स्क्रीन पर योजना की एप्प्लीकेशन खुलकर आ जाएगी।
  • यहाँ आपको इनस्टॉल के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इनस्टॉल पूरा हो जाने के बाद आपके मोबाइल पर ऐप डाउनलोड हो जाएगा।
  • जिसके बाद आपको मोबाइल ऐप ओपन करके छत्तीसगढ़ न्याय योजना के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपकी स्क्रीन पर योजना का आवेदन फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ आप फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी भरकर, उसमे माँगे गए सभी दस्तावेजों को फॉर्म के साथ अपलोड करके सबमिट के बटन पर क्लिक कर देना होगा।
  • जिसके बाद योजना में आपकी आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना से जुड़े प्रश्न/उत्तर

CG Godhan Nyay Yojana क्या है और इसे कब शुरू किया गया ?

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी द्वारा 20 जुलाई 2020 को शुरू की गई योजना है, जिसके माध्यम से सरकार पशुपालन करने वाले किसानो को पशुपालन के लिए प्रोस्ताहित कर उनकी आय में वृद्धि करेगी।

योजना में शामिल आवेदकों को सरकार द्वारा क्या लाभ प्रदान किया जाएगा ?

योजना के माध्यम से आवेदक पशुपालन करने वाले किसानों से सरकार द्वारा गोबर की खरीद की जाएगी, यह लाभ प्रतिकिलो गोभर पर 2 रूपये किसान को दिया जाएगा।

क्या योजना के माध्यम से महिलाओं को भी रोजगार मिल सकेगा ?

इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा पशुपालन करने वाले किसानों से खरीदे गए गोबर का वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाने के लिए महिलाओं को रोजगार प्रदान किया जाएगा, जिससे वह भी आर्थिक रूप से सशक्त हो सकेंगी।

गोधन न्याय योजना के अंतर्गत राज्य के कितने गाँव और शहरों को शामिल किया गया है ?

गोधन न्याय योजना के अंतर्गत राज्य के 20 हजार से अधिक गाँव और शहरों को सरकार द्वारा शामिल किया गया है।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना में अभी तक कितने क्विंटल गोबर की खरीद राज्य सरकार द्वारा की जा चुकी है ?

योजना में अभी तक 46,764 लाभार्थियों से 82711 क्विंटल गोबर की खरीद राज्य सरकार द्वारा की जा चुकी है।

इस योजना के माध्यम में आवेदन के लिए इसकी आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

योजना में आवेदन के लिए सरकार द्वारा आधिकारिक वेबसाइट जारी नहीं की गई लेकिन गोधन न्याय योजना मोबाइल एप्लीकेशन जारी किया गया है, जिसे डाउनलोड कर आवेदक योजना में आवेदन कर सकेंगे।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना से संबंधित सभी जानकारी हमने आपको अपने लेख के माध्यम से प्रदान करवा दी है और हमे उम्मीद है की यह जानकारी आपके लिए बहुत उपयोगी होगी, इसके लिए यदि आपको हमारा लेख पसंद आए या इससे संबंधित कोई प्रश्न पूछना हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में अपना प्रश्न पूछ सकते हैं, हम आपके प्रश्नों का उत्तर देने की पूरी कोशिश करेंगे।

उत्तर प्रदेश फ्री लैपटॉप योजना का ऑनलाइन आवेदन शुरू, जल्दी करें अप्लाई

ऐसी ही और भी सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment