April Fools’ Day 2023: अप्रैल फूल दिवस इतिहास, कैसे और क्यों मनाया जाने लगा अप्रैल फूल डे?

हर साल अप्रैल माह की पहली तारीख को ”अप्रैल फूल” मनाया जाता है। भारत ही नहीं दुनियाभर में इस दिन लोग अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ प्रैंक करते हैं। April Fools’ Day के बच्चे ही नहीं बड़े बुजुर्ग भी अपने परिवार दोस्तों को इस दिन मुर्ख बनाने के लिए प्लानिंग करते हैं। यह एक तरीके से मस्ती मजाक करने और एक -दूसरे को बेवकूफ बनाने वाले दिन के तौर पर जाना जाता है। April Fools’ Day भारत की उपज नहीं है लेकिन यह भारत के साथ साथ कई यूरोपियन देशों में भी बड़े ही उत्साह के साथ मनाया जाता है।

April Fools' Day: अप्रैल फूल दिवस इतिहास, जानें कैसे और क्यों मनाया जाने लगा अप्रैल फूल डे?
April Fools’ Day; कैसे और क्यों मनाया जाता है

क्या आपने कभी सोचा है अप्रैल फूल दिवस की शुरुआत कैसे हुयी? क्या इसके पीछे कोई कहानी या घटना है तो चलिए जानते हैं अप्रैल फूल दिवस का इतिहास और इसे कैसे और क्यों मनाया जाता है इसके बारे में विस्तार से।

हिंदी कैलेंडर अप्रैल 2023 [चैत्र – वैशाख] 2080

अप्रैल फूल दिवस क्या है?

हर साल अप्रैल महीने की शुरुआत को मुर्ख दिवस या fools day मनाया जाता है। विश्व के लगभग सभी देशों में यह दिन 1 अप्रैल को मनाया जाता है जिसमें परिवार ,दोस्त और रिश्तेदारों को बेवकूफ बनाने का काम किया जाता है। विभिन्न संस्कृतियों द्वारा इस दिवस को कई वर्षों से मनाया जाता है लेकिन April Fools’ Day की उत्त्पत्ति कहाँ हुयी यह आज भी रहस्य बना हुआ है।

अप्रैल फूल डे एक प्रकार का ऐसा दिन हैं जब सभी के साथ आप मजाक कर सकते हैं एक दूसरे को बेवकूफ बना सकते हैं प्रेंक कर सकते हैं जोकि 1 अप्रैल के दिन मनाया जाता है। लेकिन अप्रैल फूल दिवस मनाये जाने के पीछे कोई सटीक कहानी नहीं है इसे मनाये जाने के पीछे कई कहानियां मौजूद हैं।

IPL 2023 Schedule, Venue, Points Table

Brife details of April Fools’ Day 2023

आर्टिकल का नाम April Fools’ Day कैसे और क्यों मनाया जाता है।
April Fools’ Day हर साल 1 अप्रैल
अन्य नाम ALL Fools’ day
मनाया जाता है लगभग सभी देशों में ,विशेष रूप से पश्चिमी देशों में
उद्देश्य एक दूसरे के साथ मस्ती मजाक करना
एक दूसरे को बेवकूफ बनाना
कार्यकम अवधि एक या दो दिन (1 -2 अप्रैल)

कैसे और क्यों मनाया जाने लगा अप्रैल फूल डे?

दुनिया भर में अप्रैल फूल्स डे 1st April को मनाया जाता है लेकिन इसका कोई सबूत आज तक नहीं मिला है कि 1 अप्रैल को ही मुर्ख दिवस क्यों मनाया जाता है। हालाँकि कई ऐसी कहानियां प्रसिद्ध हैं जिनके घटित होने से अप्रैल माह की पहली थी को फूल्स डे के रूप में मनाया जाने लगा। आपने कई ऐसी किस्से कहानियां को सुना होगा जो अप्रैल फूल मनाये जाने के पीछे की कारणों को बताता है लेकिन क्या आप जानते हैं अप्रैल फूल्स डे को मानाने की शुरुआत कहाँ से और कैसे हुयी थी?

दरअसल साल 1392 को चासर के कैंटरबरी टेल्स में ”नन्स प्रीस्ट्स टेल” में सिन मार्च बिगन थर्टी डेज एंड टु’ नाम के शीर्षक का उल्लेख किया गया था। उस समय के इंग्लैंड के राजा रिचर्ड की बोहेमिया की एन के के साथ सगाई की सालगिरह ककी घोषणा की थी जिसे 32 मार्च 1381 को मनाया जाना था लेकिन इसका लोगों ने गलत मतलब 32 मार्च को 1 अप्रैल के रूप में निकाला था जबकि चॉसर का मतलब मार्च के महीने के 32 दिन बाद यानी 2 मई था। इस कहानी के अनुसार लोगों के बेवकूफ बन जाने के कारण भी 1 अप्रैल को ‘April Fool day‘ मनाया जाने लगा।

अप्रैल फूल दिवस का इतिहास

हर साल 1 अप्रैल को ‘April Fools’ Day’ मनाया जाता है लेकिन इसी दिन यह दिवस क्यों मनाया जाता है इसके पीछे कई कहानियां हैं। अप्रैल फूल दिवस या मुर्ख दिवस की उत्त्पत्ति कहाँ से हुयी इसका कोई सटीक जबाब आज तक नहीं मिला है। लेकिन इतिहास में कई ऐसी घटनाएं शामिल हैं जो इसकी शुरुआत के पीछे की वजह को स्पष्ट करती हैं।

कुछ इतिहासकार अप्रैल फूल दिवस की शुरुआत 1582 से मानते हैं। 1582 में जब जूलियन कैलेंडर को छोड़कर ग्रेगेरियन कैलेंडर को फॉलो करना शुरू किया था उस समय ऐसे कई लोग थे जिन्हें इसकी जानकारी नहीं मिली या उन्हें यह जानकारी मिलने में देरी हुयी। उस समय कुछ लोग जूलियन कैलेंडर के हिसाब से अपना नया साल मना रहे थे। जूलियन कैलेंडर के अनुसार नया साल मार्च महीने की अंतिम सप्ताह में आता था। ऐसे लोग जो अभी भी जूलियन कैलेंडर का अनुसरण कर रहे थे उन्होंने इस दिन नया साल मनाया लेकिन ग्रेगेरियन कैलेंडर के अनुसार उस समय अप्रैल महीना शुरू हुआ था और जूलियन कैलेंडर को फॉलो करने वालों को उस समय अप्रैल फूल नाम से चिढ़ाया जाने लगा था।

रमजान क्यों मनाया जाता है? क्‍या है रमजान का महत्‍व

मुर्ख या अप्रैल फूल दिवस से जुडी कुछ कहानी (April Fools’ Day story)

कई इतिहासकार यह भी मानते हैं की मार्च के अंत में प्राचीन रोम में एक त्यौहार ‘लारिया’ मनाया जाता था। इस त्यौहार में रोम के रहने वाले लोग एक दूसरे को चिढ़ाने के लिए अलग -अलग तरीके की वेशभूषा पहना करते थे जिसका सम्बन्ध इजिप्ट के तीन महान हस्तियों आइसिस ,ओसिरिस और सेठ से था।

मुर्ख दिवस यानी April Fools’ Day को मनाये जाने के पीछे एक और कहानी प्रचलित है जिसके अनुसार जब नॉर्दन हेमिसपियर में अप्रैल महीने में बसंत का पहला दिन होता है तो प्रकृति में पेड़ -पौधे पर नए पाटों और फूलों को देख सभी लोग आश्चर्य में पड़ जाते हैं उनके इस आश्चर्य को देखते हुए वहां अप्रैल फूल डे मनाया जाने लगा था।

April Fools’ Day history in hindi

18 वीं शताब्दी तक अप्रैल फूल डे पुरे ब्रिटैन में फ़ैल चुका था। 19 वीं शताब्दी तक April Fools’ Day Day काफी प्रचलित हो गया था। स्कॉटलैंड में अप्रैल फूल दिवस को त्यौहार के रूप में 2 दिन का मनाया जाने लगा था। इसमें पहले दिन honting the gowk जिसमें लोग एक छोटे से सफर में जाया करते थे। यहाँ पर gowk का मतलब कोयल या मुर्ख इंसान से था। honting the gowk के अगले दिन टेली डे मनाया जाता था। इस दिन लोगों के साथ अलग अलग तरीके के प्रैंक्स किये जाते थे।

दुनिया भर में अन्य मुर्ख दिवस (Fool’s Days Around the World)

अधिकतर देशों में अप्रैल फूल्स डे 1 april को ही मनाया जाता है। भारत की बात की जाए तो यहाँ भी april fools day को बड़े स्तर पर सेलिब्रेट किया जाता है कुछ मामलों में यह दिन बसंत त्योहारों की शुरुआत से सम्बंधित है। कुछ इतिहासकार का मानना है की मुर्ख दिवस यानि अप्रैल फूल डे की शुरुआत 16 वीं शताब्दी में फ़्रांस से हुयी थी। फ़्रांस में एक मुर्ख व्यक्ति को पॉयसन डी’विल या “अप्रैल फ़िश” कहा जाता है। कई देशों में बड़े स्तर पर नागरिकों को इस दिन मुर्ख बनाये जाने के लिए नकली खबर भी छाप दी जाती हैं।

  • ईरान में नए साल (नौरोज) के 13 वें दिन मुर्ख दिवस या अप्रैल फूल मनाया जाता है।
  • फ्रांस में 1 अप्रैल को पॉयसन डी’विल या “अप्रैल फ़िश” के रूप मेंअप्रैल फूल्स डे मनाया जाता है।
  • स्पेनिश भाषी देशों में 28 दिसंबर को ‘डे ऑफ द होली इनोसेंट्स”के रूप में मुर्ख दिवस के रूप में मनाया जाता है।
  • कोरिया की मोनार्क ऑफ़ जोसियन डायनेस्टी, साल के पहले स्नोवी डे के अवसर पर अपनी फॅमिली दोस्तों के संग झूठ बोलने और बेवकूफ बनाने की छूट दी गयी है।
  • डेनमार्क में 1 मई को मुर्ख दिवस मनाया जाता है। 1 मई को डेनमार्क में ‘माज -काट’ के रूप में जाना जाता है। जो अप्रैल फूल्स डे के सम्मन होता है।

अप्रैल फूल दिवस से जुड़े अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQs)-

भारत में अप्रैल फूल डे की शुरुआत कब हुयी थी ?

देश में April Fools’ Day की शुरुआत 19 वीं सदी में ब्रिटिशर्स ने की थी।

मुर्ख दिवस april fool day कब मनाया जाता है ?

April Fools’ Day हर साल अप्रैल महीने की पहली तारीख को मनाया जाता है।

अप्रैल फूल दिवस 2023 कब है ?

April Fools’ Day 2023 शनिवार 1 अप्रैल को है।

इस दिन April Fools’ Day को अन्य किन नामों से जानते हैं ?

अधिकतर सभी देशों में April Fools’ Day मनाया जाता है। अप्रैल फूल दिवस को मुर्ख दिवस, ALL Fools’ day के नाम से भी जानते हैं।

Leave a Comment

Join Telegram