UP Scholarship Big Update: इन छात्रों पर होगी क़ानूनी कार्यवाही, देखें क्या है पूरा मामला

UP Scholarship Big Update: योगी सरकार के माध्यम से इस बार स्कॉलरशिप को लेकर बड़ा कदम उठाया गया है। यह कदम स्कॉलरशिप में होने वाली फर्जीवाड़ा में रोकथाम करने के लिए उठाये गए है। योगी सरकार के तहत स्कॉलरशिप लेने वाले सभी विद्यार्थियों की जांच करने के निर्देश विभाग को दिए गए है। इसके साथ ही जिन विद्यार्थियों के माध्यम से फर्जी तरीके से स्कॉलरशिप का लाभ प्राप्त किया जा रहा है ,उन सभी छात्राओं पर सरकार के माध्यम से कानूनी कार्यवाही की जाएगी। इसके साथ ही ऐसे छात्र-छात्राओं से भी स्कॉलरशिप राशि वापस ली जाएगी जिनके द्वारा छात्रवृति योजनाओं का लाभ तो प्राप्त किया जा रहा है लेकिन स्कूल की फीस जमा नहीं की जा रही है।

इन छात्रों पर होगी क़ानूनी कार्यवाही

यूपी स्कॉलरशिप लेने वाले सभी विद्यार्थियों के जांच करने के आदेश योगी सरकार के माध्यम से विभाग को दिए गए है। ऐसे में यदि किसी विद्यार्थी ने फर्जी तरीके से स्कॉलरशिप स्कीम का लाभ प्राप्त किया है तो ऐसे विद्यार्थियों पर सरकार के तहत क़ानूनी कार्यवाही शुरू की जाएगी। और उन्हें अब तक स्कीम के अंतर्गत दी गयी राशि का पूरा पैसा उनसे वापस लिया जायेगा। विद्यार्थियों से पैसा वापस लेने की प्रक्रिया समाज कल्याण विभाग के माध्यम से पूरी की जाएगी। राज्य में ऐसे कई सारे छात्र-छात्राएं है जिनके द्वारा फर्जी तरीके से सरकार से प्रतिमाह के रूप में स्कॉलरशिप राशि का लाभ लिया जा रहा है। इन सभी फर्जी मामलों में रोकथाम करने हेतु योगी सरकार के द्वारा जांच करने के निर्देश विभाग को दिए गए है।

इसके साथ ही राज्य में एसटी ,एससी ,ओबीसी एवं अन्य वर्ग के कई ऐसे विद्यार्थी है जिनके द्वारा स्कॉलरशिप का लाभ तो प्राप्त किया जा रहा है लेकिन स्कूल फीस जमा नहीं की जा रही है। ऐसे विद्यार्थियों के द्वारा स्कॉलशिप का लाभ फर्जी तरीके से प्राप्त करने हेतु छात्रवृति हेतु अलग बैंक विवरण एवं कॉलेज में अलग बैंक विवरण देने का मामला सामने आया है। इस संबंध में यह सूचना भी मिली है की स्कॉलरशिप राशि को दूसरे अकाउंट से निकालकर कॉलेज परिषर को दूसरे अकाउंट का विवरण प्रदर्शित किया जाता है।

यूपी स्कॉलरशिप फर्जीवाड़ा

उत्तर प्रदेश छात्रवृति योजनाओं में फर्जीवाड़ा रोकने के लिए विभाग के माध्यम से दस्तावेज सत्यापन की प्रक्रिया को मजबूती से किया जा रहा है। इस प्रक्रिया के आधार पर यदि डाक्यूमेंट्स वेरिफिकेशन में किसी प्रकार की कोई गड़बड़ी पाई जाती है विद्यार्थियों को इसका कोई लाभ नहीं दिया जायेगा। स्कॉलरशिप प्रक्रिया को पारदर्शी बनाने के लिए एवं पात्र लाभार्थी स्टूडेंट्स को योजना का लाभ प्रदान करने हेतु यह प्रक्रिया अपना एक सहयोग प्रदान करेगी।

उत्तर प्रदेश राज्य में विभिन्न श्रेणियों के ऐसे कई छात्र-छात्राएं है जिनके द्वारा छात्रवृति का लाभ लेने के लिए फर्जी प्रमाण पत्रों का इस्तेमाल किया जाता है। फर्जी प्रमाण पत्र का उपयोग करने वाले सभी विद्यार्थियों की अब विभाग के तहत सख्ती से जांच कर उनपे क़ानूनी कार्यवाही की जाएगी। राज्य में स्कॉलरशिप से जुड़े कई फर्जी मामले ऐसे सामने आये है। स्कॉलरशिप से जुड़े फर्जी मामलो को रोकने के लिए यूपी सरकार के माध्यम से निरंतर प्रयास किये जा रहे है।

UP Free Laptop Yojana Status: बन गई फ्री लैपटॉप की जिलेवार सूची, ऐसे होगी चेक

ऐसी ही और भी सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment