UGC Two Degree: एक साथ दो डिग्री कर सकते हैं या नही, UGC ने बताया नियम

UGC Two Degree: देश के जो भी छात्र एक साथ दो डिग्री लेना चाहते है उन सभी के लिए एक ख़ुशी की खबर है। जी हां, यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन (विश्वविद्यालय अनुदान आयोग) द्वारा छात्र अब दो फुल टाइम डिग्री प्रोग्राम कोर्स में एक साथ एडमिशन ले सकेंगे। इस बात की घोषणा यूजीसी के चेयरमैन प्रोफेसर एम जगदीश कुमार ने मंगलवार को की। बता दें यह बदलाव न्यू एजुकेशन पॉलिसी के अनुसार की गयी है। चलिए जानते है इससे जुडी अन्य सभी जानकारियों को।

यूजीसी एवं अन्य उच्च शिक्षा नियामकों की तरफ से दोनों कोर्स को एक सामान मान्यता प्रदान की जाएगी। सरकार द्वारा नई शिक्षा निति के तहत अपनी इच्छा अनुसार पढाई करने के लिए अधिकतम आज़ादी दी गयी है जिससे बच्चे समय पर अपनी शिक्षा पूरी कर सकते है।

ugc announounce to allows to pursue two degree programmes simultaneously

छात्र चुन सकते है अपने अनुसार डिग्री और इंस्टीटूट

बता दें, यह स्कीम लेक्चर बेस्ड प्रोग्राम के लिए एप्लीकेबल है इसकी जानकारी यूजीसी के चेयरमैन द्वारा प्रदान की गयी है। कोर्स के लिए छात्रों को केवल -UGC और अदर रेगुलेटर को इन्फॉर्म करना बहुत जरुरी है। वह अपने अनुसार डिग्री या इंस्टिट्यूट सेलेक्ट कर सकेंगे। यूजीसी द्वारा जल्द ही एक डिटेल्ड नोटिफिकेशन और नियमावली जारी की जाएगी।यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन द्वारा इसके दिशा निर्देशों को 13 अप्रैल को यूजीसी की आधिकारिक वेबसाइट पर अपलोड किया जायेगा। छात्र इससे जुडी सभी जानकारियों को जानने के लिए अपने मोबाइल व कंप्यूटर के माध्यम से ऑनलाइन पोर्टल पर जा सकते है।

UGC Two Degree Process

UGC के रूल्स के हिसाब से पहले विद्यार्थियों को दो फुल कोर्सेस प्रोग्राम को एक साथ करने की पर्मिशन नहीं थी। इससे पहले छात्र केवल ऑनलाइन/पार्ट टाइम या डिप्लोमा कोर्सेस के साथ एक फुल टाइम डिग्री ही प्राप्त कर सकते थे। परंतु अब नई शिक्षा नीति के अनुसार छात्र दो फुल टाइम डिग्री जेसे: BA या BSC एवं BCOM, MCOM, MSC एवं MBA आदि को एक साथ कर सकते है। इसके अलावा अगर कोई छात्र ITI कर रहा होगा तो वो भी डिप्लोमा या हिस्ट्री से जुड़ा कोई भी कोर्स, डाटा साइंस डिप्लोमा भी कर सकते है।

कर सकते है तीन तरीके से दो फुल टाइम कोर्स

यदि कोई छात्र दो फुल टाइम कोर्स को करने की सोच रहे है तो वह तीन तरीके से इसे कर सकते है।

  • पहला कि वह दोनों फूल टाइम कोर्सेस को फिजिकल मोड में पूरा कर सकते है लेकिन शर्त यह होगी कि दोनों कोर्सेस का समय सेम ना हो।
  • दूसरा तरीका ये है कि वह एक कोर्स फिजिकल तरीके से और दूसरा ऑनलाइन मोड से कर सकते है।
  • तीसरा तरीका यह है कि वह एक साथ ऑनलाइन मोड से दोनों डिग्री कोर्सेस को पूरा कर सकते है।

नहीं होंगे MPhil और PHD प्रोग्राम योजना में शामिल

प्रोफेसर कुमार ने यह साफ़-साफ़ कहा है कि एमफिल और पीएचडी प्रोग्राम भले ही दोनों मास्टर्स प्रोग्राम है लेकिन यह दोनों एक योजना के तहत नहीं किये जा सकेंगे।

ऐसी ही और भी सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment