Solar Panel Business: शुरू करें सोलर पैनल का बिज़नेस, होगी छप्पर फाड़ कमाई

Solar Panel Business: यदि आप घर बैठे ही बिजनेस की शुरुआत कर अच्छी कमाई करना चाहते हैं, तो आप अपने घर की छतों में सोलर पैनल बिजनेस की शुरुआत कर हर महीने सौर ऊर्जा से बनाने वाली बिजली को ग्रिड में बेचकर लाखों की कमाई कर सकेंगे। आज के समय में सोलर पैनल की डिमांड काफी बढ़ है, हर महीने पारम्परिक बिजली के बिल से राहत पाने के लिए लोग अपने घर की छतों में सोलर पैनल को स्थापित करके निःशुल्क बिजली का लाभ प्राप्त कर रहें हैं या अपने बिजनेस (Solar Panel Business) की शुरुआत के लिए बड़े पैमाने पर सोलर प्लांट स्थापित कर उत्पन्न होने वाली बिजली को DISCOM में बेचकर प्रति यूनिट के आधार पर बेची गई बिजली से अच्छी खासी कमाई कर रहें हैं।

Solar Panel Business

इस सोलर पैनल बिजनेस की शुरुआत करने के लिए सरकार की और से भी चलाई जा रही बहुत सी योजनाओं में नागरिकों को अक्षय ऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा देने हेतु सोलर पैनल की खरीद पर सब्सिडी का लाभ प्रदान किया जाता है, इसके अलावा बैंकों द्वारा भी सोलर पैनल के बिजनेस की शुरुआत के लिए लोन की सुविधा प्रदान की जाती है।

सोलर पैनल बिजनेस इतनी लागत में करें शुरू

सोलर पैनल बिजनेस की शुरुआत करने के लिए यदि आपके घर या कार्यालय की छतों बड़े पैमाने पर इन्हे स्थापित करने के लिए काफी जगह है तो आप इन्हे लगवाकर हर महीने बेहतर कमाई कर सकेंगे। आज एक किलोवॉट सोलर पैनल की कीमत करीब 1 लाख रूपये के करीब है, ऐसे में बहुत सी राज्य सरकारें नागरिकों को सोलर पैनल की खरीद के लिए चलाई जा रही योजनाओं के तहत अलग-अलग सब्सिडी का लाभ प्रदान करवाती है, जिससे सब्सिडी मिलने पर एक सोलर पैनल की कीमत 60 से 70 हजार रूपये रह जाती है, जिससे नागरिकों को सोलर पैनल की खरीद पर 20% से 40% तक की सब्सिडी का लाभ मिलता है।

Solar Panel के लिए लेना होगा लाइसेंस

सोलर पैनल की स्थापना यदि आप अपने घर की कार्यालयों की छतों में करते हैं, तो आप सरकार द्वारा जारी योजनाओं के तहत सब्सिडी का लाभ प्राप्त कर सकेंगे, लेकिन यदि आप बड़े पैमाने पर बिजनेस को शुरू करने के लिए सोलर पैनल स्थापित करना चाहते हैं तो आपको लोक्ल बिजली कंपनियों से लाइसेंस लेना आवश्यक होगा, इसके लिए आपको कंपनियों से परचेज एग्ग्रीमेंट साइन करना होगा, जिसके बाद आप सोलर पैनल के बिजनेस बड़े पैमाने पर स्थापित कर सकेंगे।

हर महीने कर सकेंगे लाखों की कमाई

केंद्र व राज्य सरकारें मिलकर अक्षय ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए नागरिकों को सोलर पैनल खरीद के लिए सब्सिडी को लाभ प्रदान करवाती है, जिसके लिए बहुत सी योजनाएँ जैसे कुसुम योजना, सोलर सब्सिडी स्कीम, रूफटॉप सोलर पैनल योजना से नागरिकों को सोलर पैनल की खरीद पर अलग-अलग किलोवॉट के सोलर पैनल लगवाने पर सब्सिडी का लाभ प्रदान किया जाता है, जिसमे रूफटॉप सोलर पैनल योजना के तहत नागरिकों को 3 किलोवॉट तक के सोलर पैनल स्थापित करने पर 40% सब्सिडी और 5 से 10 किलोवॉट तक के सोलर पैनल पर 20% सब्सिडी का लाभ नागरिकों को प्रदान किया जाएगा, इसकी खरीद से नागरिक प्रतिमाह विद्युत कंपनियों को बिजली बेचकर प्रति यूनिट के आधार पर एक लाख रूपये से अधिक की कमाई कर सकेंगे।

ऐसे करें सोलर पैनल की खरीद

जो नागरिक सोलर पैनल बिजनेस की शुरुआत करने के लिए सोलर पैनल की खरीद करना चाहते हैं, उन्हें अपने राज्य सरकार की रिन्यूएबल एनर्जी डेवलपमेंट अथॉरिटी से संपर्क करना होगा, जिसके राज्यों के कई मुख्य शहरों में कार्यालय बनाए गए हैं। नागरिकों को सब्सिडी के लिए अथॉरिटी कार्यालय से फॉर्म प्राप्त हो जाएगा, जिसे भरकर वह सोलर पैनल पर मिलने वाली सब्सिडी का लाभ प्राप्त कर सकेंगे।

सोलर पैनल बिजनेस से होने वाले लाभ

सोलर पैनल बिजनेस के शुरुआत करके नागरिकों को इससे होने वाले लाभ की जानकारी कुछ इस प्रकार है।

  • नागरिकों को अपने सोलर पैनल बिजनेस की शुरुआत करने के लिए नागरिकों को 20% से 40% तक की सब्सिडी का लाभ मिल सकेगा।
  • सोलर पैनल की खरीद कर नागरिक उससे बनने वाली बिजली को DISCOM कंपनी को बेचकर बेहतर आय अर्जित कर सकेंगे।
  • कोई भी व्यक्ति अपने घर व कार्यालयों की छतों में सोलर पैनल की स्थापना कर प्रतिमाह निःशुल्क बिजली की सुविधा प्राप्त कर सकेंगे।
  • सोलर पैनल के तहत 25 वर्षों तक फ्री बिजली की सुविधा से कंपनी को बिजली बेचकर आप तीन से चार सालों में सोलर पैनल की खरीद पर लगने वाले भुगतान की भरपाई भी कर लेंगे।
  • प्रतियेक 2 से 3 किलोवाट के सोलर पैनल द्वारा धूप से प्रतिमाह 300 यूनिट की बिजली का उत्पादन कर आप महीने में 1 लाख रूपये से अधिक की कमाई कर सकेंगे।

कम निवेश में कर सकेंगे सोलर पैनल का मेंटेनेंस

सोलर पैनल लगवाने पर इसके मेंटेनेंस पर अधिक खर्चा नहीं लगता है, इसे एक स्थान से दूसरे स्थान आसानी से लेकर जाया जा सकता है। एक सोलर पैनल 25 वर्ष तक इस्तेमाल किया जा सकता है, लेकिन इसकी बैटरी को हर 10 साल में एक बार बदलनी आवश्यक होती है, जिसमे करीब 20,000 रूपये तक का खर्चा लगता है।

यह भी पढ़ें:-

ऐसी ही और भी सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment