SBI Vs Post Office RD: निवेश पर ज्यादा ब्याज मिलेगा इस योजना पर, यहाँ पढ़ें विस्तार में

SBI Vs Post Office RD: यदि आप भी उन निवेशकों में से हैं जो रिकरिंग डिपाजिट पर ज्यादा भरोसा करते हैं तो आप के पास पोस्ट ऑफिस में या फिर बैंक में अकाउंट / खाता खोलने का विकल्प होता है। जैसे की आप जानते ही होंगे की अलग अलग बैंकों में अलग अलग ब्याज दर होते हैं, जिन्हे आप अपनी सुविधा के अनुसार चुनाव कर सकते हैं। फिलहाल हम बात करेंगे देश के चर्चित बैंक एसबीआई की। आप चाहें तो बैंक में या फिर पोस्ट ऑफिस में अपनी आरडी खुलवा सकते हैं। लेकिन इनमे से किस योजना में मिलता है निवेश पर ज्यादा ब्याज (SBI Vs Post Office RD) यहाँ जानते हैं लेकिन आइये उससे पहले जानते हैं की आरडी होती क्या है ?

SBI Vs Post Office RD: जानें किस योजना में मिलता है निवेश पर ज्यादा ब्याज, यहाँ पढ़ें विस्तार में

पोस्ट ऑफिस आरडी क्या है ?

आरडी यानी रिकरिंग डिपाजिट (Recurring Deposit) यदि आप भी किसी बैंक या पोस्ट ऑफिस में आरडी खुलवाते हैं तो आप को एक निश्चित राशि, एक निश्चित समय के लिए हर महीने जमा करवानी होती है। जिसके बाद आप को निर्धारित ब्याज दर पर आपकी जमा की हुई मूल धनराशि वापस मिल जाती है। यानी की उसके मैच्योरिटी पीरियड पर मिलने वाली धनराशि पर मिला ब्याज आप का लाभ होता है। इसमें यदि आप आरडी खुलवाते समय जिस धनराशि को निर्धारित करते हैं उसे आप बदल नहीं सकते। जिसका अर्थ है की आप उस धनराशि को न ही बढ़ा सकते हैं और न ही उसे कम कर सकते हैं। आप को उतनी ही राशि हर माह निश्चित अवधि तक जमा करनी होगी। तो चलिए अब जानते हैं की एसबीआई बैंक या पोस्ट ऑफिस (SBI Vs Post Office RD) में आरडी खुलवाने में क्या अन्तर है ?

जानें किस योजना में मिलता है निवेश पर ज्यादा ब्याज

SBI Vs Post Office RD में कौन सी योजना पर ज्यादा ब्याज मिलता है और कौन सी योजना ज्यादा फायदेमंद है , इस बारे में जानने के लिए हमे पोस्ट ऑफिस (डाकघर) और एसबीआई के आरडी योजना के बारे में जानना होगा।

पोस्ट ऑफिस आरडी (Post Office RD)

यदि आप पोस्ट ऑफिस में अपना आरडी अकाउंट (RD Account) खुलवाना चाहते हैं तो आप यहाँ कितनी भी राशि की आरडी खुलवा सकते हैं। इसके लिए पोस्ट ऑफिस में कोई अधिकतम राशि की लिमिट नहीं है। इस (Post Office RD) में आप 100 रूपए से लेकर कितनी भी राशि की प्रतिमाह किश्त जमा कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रखें जो आप शुरुआत में भरेंगे वही आप को हर माह भरनी होगी। आप की जानकारी के लिए बता दें की पोस्ट ऑफिस में 5.8 फ़ीसदी की दर से ब्याज मिलता है।

SBI Vs Post Office RD

पोस्ट ऑफिस में अपना Post Office RD कोई भी बालिग़ / व्यस्क व्यक्ति खुलवा सकता है। इसके अतिरिक्त यदि कोई नाबालिग है या व्यस्क नहीं है तो उसके नाम पर उसके अभिभावक ये खाता खुलवा सकते हैं। जिसका सञ्चालन आरडी धारक के व्यस्क होने तक उसके अभिभावक कर सकते हैं।

अगर आप Post Office RD में पैसे जमा करते हैं और 12 किश्तें जमा कर चुके हैं तो आप पोस्ट ऑफिस से लोन भी ले सकते हैं। इसके लिए आप अभी तक जमा की हुई राशि का 50 प्रतिशत तक का लोन ले सकते हैं।

SBI RD एसबीआई आरडी

यदि आप एसबीआई आरडी में निवेश करते हैं तो आप को SBI RD Account खुलवाना होगा। आप को बता दें की इसमें बैंक आप को आरडी खुलवाने पर सामान्य अकाउंट पर 5 से लेकर 5.4 % प्रतिशत का ब्याज देता है। वहीँ वरिष्ठ नागरिकों के लिए ये ब्याज दर अलग होती है। एसबीआई बैंक वरिष्ठ नागरिकों के लिए 0.50 % ज्यादा ब्याज प्रदान करता है। ये ब्याज दरें जनवरी 2021 से ही लागू हैं।

SBI Vs Post Office RD

एसबीआई बैंक में आरडी की मक्योरिटी पीरियड 1 वर्ष से लेकर 10 वर्षो तक की है। यहाँ भी आप प्रतिमाह कितनी भी धनराशि को जमा कर सकते हैं। इसमें भी अधिकतम धनराशि (किश्त) की कोई सीमा नहीं है और न्यूनतम धनराशि 10 के गुणकों में 100 रूपए है।

SBI Life Saral Pension Scheme: सरल पेंशन प्लान से बनायें अपने रिटायरमेंट को बेहतर, ऐसे करें आवेदन

ऐसी ही और भी सरकारी व गैर सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

SBI Vs Post Office RD में कौन बेहतर है ?

ये कहना तो मुश्किल होगा क्योंकि दोनों के इंटरेस्ट रेट उनके टाइम और प्रीमियम के साथ अलग-अलग है।

पोस्ट ऑफिस में किस दर से ब्याज मिलता है ?

पोस्ट ऑफिस में 5.8% की दर से ब्याज मिलता है।

एसबीआई में किस दर से ब्याज मिलता है ?

एसबीआई 5.4% ब्याज देता है।

Leave a Comment