Pradhanmantri Kisan Sinchai Yojana: इस स्कीम से 22 लाख किसानों को होगा फायदा, सरकार ने दी मंजूरी

Pradhanmantri Kisan Sinchai Yojana: प्रधानमंत्री किसान सिंचाई योजना भी देश के किसानों के हित में लायी गयी है । इस योजना की शुरुआत वर्ष 2015 में अम्ब्रेला स्कीम के तहत की गयी थी। पीएम किसान सिंचाई योजना का सञ्चालन जलशक्ति मंत्रालय द्वारा किया जाता है। इस योजना (Pradhanmantri Kisan Sinchai Yojana) के विस्तार होने के बाद इस में कुल 93,068 करोड़ रुपए का खर्चा आएगा। इस योजना के विस्तार होने से देश के अनेक हिस्सों में सिंचाई की समस्या में कमी हो जाएगी। कुल मिलाकर इसमें 22 लाख किसानों को लाभ मिलेगा।

Pradhanmantri Kisan Sinchai Yojana क्या है ?

प्रधानमंत्री किसान सिंचाई योजना के माध्यम से केंद्र सरकार ने किसानों को सिचाई संबंधी समस्याओं में सहायता करने के लिए उन्हें विभिन्न सिचाई के उपकरणों में सब्सिडी देने का प्रावधान किया है। साथ ही सरकार पानी के संचयन , भूजल विकास व अन्य ऐसे ही परियोजनाओं के माध्यम से किये जाने वाले कार्यों को बढ़ावा देगी। जिस से सिंचाई हेतु पानी की कमी की समस्या को पूरा किया जा सके। जो भी किसान सिंचाई के लिए उपकरण लगाएंगे उनके उपकरणों की खरीद पर 80 से 90 प्रतिशत तक सब्सिडी दी जाएगी।

22 लाख किसानों को होगा इस से फायदा

प्रधानमंत्री किसान सिंचाई योजना में केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में हुई योजना के विस्तारीकरण संबंधी घोषणा से से लगभग 22 लाख किसानों को इस से फायदा पहुंचेगा। इस योजना में सभी वर्गों के किसानों को लाभ मिलेगा। आप को बता दें की योजना के 5 वर्ष के लिए हुए विस्तारीकरण से लगभग 2.5 लाख अनुसूचित जाती और 2 लाख अनुसूचित जनजाति वर्ग के किसानों को लाभ मिलेगा। इस योजना में सरकार द्वारा दिए गए बयान के अनुसार 93,068 करोड़ रुपए की लागत आने का अनुमान है। इस बैठक में रेणुकाजी बांध परियोजना (हिमाचल प्रदेश) और लखवार बहुउद्देश्यीय परियोजना नाम से चल रही राष्ट्रीय परियोजनाओं के लिए 90 % केंद्रीय वित्तपोषण प्रदान करने का निर्णय लिया गया है।

सरकार ने दी मंजूरी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में कुछ महत्वपूर्ण विषयों पर निर्णय लिए गए हैं। 15 दिसंबर 2021 को हुई इस बैठक में प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना (PMKSY) को अगले 5 सालों के लिए बढ़ाने के लिए मंजूरी दे दी है। कैबिनेट मिनिस्टर गजेंद्र सिंह शेखावत (Gajendra Singh Shekhawat) ने बताया की PMKSY को अब आगे भी जारी रखा जाएगा। ये योजना अब अगले वित्त वर्ष 2021 – 2026 तक चलेगी। योजना को मंजूरी मिलने से 22 लाख लोगों को इसका लाभ मिलेगा।

परियोजनाओं को वित्तीय सहायता हेतु कार्यक्रम

त्वरित सिंचाई लाभ कार्यक्रम का उद्देश्य देश में चल रहे सिंचाई परियोजनाओं को वित्तीय सहायता प्रदान करना है। इस कार्यक्रम के तहत नई परियोजनाओं के साथ अन्य चल रही 60 परियोजनाओं को पूरा करने का प्रयास किया जाएगा। हर खेत को पानी खंड के अंतर्गत सतही जल स्रोतों के माध्यम से जल निकायों पुनर्जीवित करने के लिए 4.5 लाख हेक्टेयर सिंचाई और उपयुक्त ब्लॉकों में भूजल सिंचाई के तहत 1.5 लाख हेक्टेयर की सिंचाई हो सकेगी। हर खेत को पानी (HKKP) का उद्देश्य खेतों तक ज्यादा से ज्यादा पहुंच सुनिश्चित करना है। साथ ही सुनिश्चित सिंचाई के अंतर्गत खेती योग्य उपजाऊ भूमि का विस्तार हो।

खुशखबरी! एसबीआई में आई बंपर भर्तियाँ, जल्दी करें आवेदन

ऐसी ही और भी सरकारी व गैर सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment