मातृत्व वंदना योजना: सरकार देगी गर्भवती महिलाओं को 6000 रुपये की आर्थिक मदद, ऐसे करें आवेदन

Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana : जैसा की आप सभी जानते है कि महिलाओं के लिए सरकार कई सारी सुविधाएं प्रदान करने के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाओं को शुरू कर रही है। केंद्र सरकार द्वारा ऐसी एक योजना को गर्भवती महिलाओं और स्तनपान करवाने वाली महिलाओं के लिए शुरू किया गया है जिसका नाम है मातृत्व वंदना योजना। इस योजना के माध्यम से सरकार गर्भवती महिलाओं को 6000 रुपये की आर्थिक वित्तीय सहायता राशि प्रदान करती है। बता दें कि देश की 1 करोड़ से ज्यादा महिलाओं को मिल रहा है योजना का लाभ। यदि आप भी योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते है तो इसके लिए आपको आंगनबाड़ी या स्वास्थ्य केंद्र जाकर तीन आवेदन फॉर्म भरने होंगे जिसके बाद पंजीकरण फॉर्म को भरके नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र या आंगनबाड़ी केंद्र जाना होगा।

योजना को पहले मातृत्व सहयोग योजना कहा जाता था। 2010 में इसे इंदिरा गाँधी मातृत्व सहयोग योजना के नाम से शुरू किया गया। जिसके बाद 2014 में इस पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार ने इसका नाम मातृ सहज योजना किया। इसके बाद 1 जनवरी 2017 को इसे प्रधानमंत्री मातृ वंदना के नाम से देश में लागू किया गया।

हर साल होती है 56 हजार से भी अधिक गर्भवती महिलाओं की मृत्यु

देश के आकड़ों के मुताबित सही चिकित्षा सुविधा व प्रसव के दौरान सही देखभाल न होने के कारण देश में 56000 से भी ज्यादा गर्भवती महिलाओं की मृत्यु हो जाती है। इस योजना की शुरुवात महिलाओं को पर्याप्त सुविधा और सुधार लाने और महिलाओं की मदद हेतु की गयी है। सरकार द्वारा योजना के माध्यम से गर्भवती महिला के डिलीवरी होने से पहले उनके खाते में 6 हजार रुपये की वित्तीय सहायता राशि भेज दी जाएगी जिससे वह डिलीवरी के समय अपनी जरुरत का सामान ले सकेंगे।

क्या है Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana का उद्देश्य

योजना का उद्देश्य देश में जितनी भी गर्भवती महिला या स्तनपान कराने वाली महिला है उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान करना है। जिससे जच्चा और बच्चा दोनों सुरक्षित रह सके। अक्सर देखा जाता है सही खान-पान ना मिलने पर डिलीवरी के समय बच्चे व माँ की मृत्यु भी हो जाती है। लेकिन इस योजना के माध्यम से महिला और बच्चे को पर्याप्त पोषण और अच्छे स्वास्थ्य हेतु सहायता राशि प्रदान करना है। योजना का लक्ष्य महिला को आर्थिक रूप से मजबूत बनाना है जिससे वह अपने बच्चे का ध्यान रख सके।

तीन किस्तों में दी जाएगी प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना से मिलने वाली सहायता राशि

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के तहत महिलाओं को 6000 रूपये की मदद राशि दी जाती है लेकिन यह राशि सरकार द्वारा तीन किस्तों में बांटी जाती है। इसमें पहली क़िस्त 1000 रुपये की होती है जो डिलीवरी के समय रजिस्ट्रेशन करने पर दी जाती है। दूसरी क़िस्त 2000 रूपये गर्भधारण के 6 महीने के अंदर लैब में जांच कराने के समय तथा तीसरी क़िस्त 2 हजार रूपये बच्चे के जन्म पंजीकरण तथा टीकाकरन जैसे: (BCG, DPT, OPV) आदि के बाद दिए जायेंगे।

जाने योजना से जुड़े आवश्यक दस्तावेज

आवेदक के पास सभी जरुरी दस्तावेज जैसे: आधार कार्ड की फोटोकॉपी, बैंक या पोस्ट ऑफिस की पासबुक, पहचान पत्र, PHC या सरकारी हॉस्पिटल से जारी हेल्थ कार्ड आदि उपलब्ध होना चाहिए

ऐसे करें योजना का आवेदन

आवेदक महिला को योजना के तहत 3 फॉर्म भरने होंगे। इसके लिए उन्हें सबसे पहले अपने नजदीकी आंगनबाड़ी या स्वास्थ्य केंद्र जाना होगा। जिसके बाद केंद्र में जाकर पंजीकरण हेतु पहला फॉर्म भरना है और जमा करवा देना है। अब आपको निर्धारित समय के अंदर आंगनबाड़ी या स्वास्थ्य केंद्र जाकर दूसरा और तीसरा फॉर्म भरकर वही जमा करवा देना है। जब आपको तीनो फॉर्म भर जायेंगे तो आपको केंद्र द्वारा एक स्लिप दी जाएगी। जिसके पश्चात आपका आवेदन पूरा हो जायेगा। आवेदक चाहे तो योजना की आधिकारिक वेबसाइट (wcd.nic.in) पर जाकर आवेदन फॉर्म को डाउनलोड कर सकते है।

उत्तर प्रदेश फ्री लैपटॉप योजना का ऑनलाइन आवेदन शुरू, जल्दी करें अप्लाई

ऐसी ही और भी सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment