PM Kisan Maandhan Yojana: अब 60 की उम्र के बाद मिलेगी पेंशन, नहीं दिखाने पड़ेंगे कोई कागज, देखें प्रक्रिया

PM Kisan Maandhan Yojana: केंद्र सरकार द्वारा देश के सभी किसानों के लिए विभिन्न योजनाएं लायी जाती हैं। जिनका उद्देश्य देश के किसानों की आर्थिक सहायता करना और उन्हें कृषि हेतु प्रोत्साहित करने के साथ साथ उनकी इस दिशा में मदद करना भी होता है। ऐसी ही एक योजना है PM Kisan Maandhan Yojana जिसके माध्यम से केंद्र सरकार द्वारा किसानों के लिए पेंशन की व्यवस्था की है। इस योजना (प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना ) के तहत किसानों को 60 वर्ष के होने पर उन्हें पेंशन प्रदान की जाएगी जिस से उन्हें वृद्धावस्था में आर्थिक सहयता मिल सके। आइये जानते हैं पीएम किसान मानधन योजना के बारे में।

PM Kisan Maandhan Yojana: अब 60 की उम्र के बाद मिलेगी पेंशन, नहीं दिखाने पड़ेंगे कोई कागज, देखें प्रक्रिया
PM Kisan Maandhan Yojana: अब 60 की उम्र के बाद मिलेगी पेंशन, नहीं दिखाने पड़ेंगे कोई कागज, देखें प्रक्रिया

अब 60 की उम्र के बाद मिलेगी पेंशन

केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं में किसान की आमदनी बढ़ाने और उसके भविष्य को सुरक्षित करने के लिए आर्थिक सहायता व अन्य सुविधाएं प्रदान की जाती है। PM Kisan Maandhan Yojana के तहत किसानों के वृद्धावस्था हेतु पेंशन की शुरुआत की गयी है। इस पेंशन को किसान के 60 वर्ष के हो जाने के बाद शुरू कर दिया जाएगा। आप की जानकारी के लिए बता दें की पीएम किसान मानधन योजना में लाभर्थियों को 3000 रूपए प्रतिमाह या फिर 36000 हजार रूपए सालाना के हिसाब से गारंटीड पेंशन दी जाएगी। इसके लिए किसानों को प्रतिमाह 55 रूपए से लेकर 200 रूपए का निवेश करना होगा। इस योजना में 18 वर्ष से लेकर 40 वर्ष तक के किसान आवेदन कर सकते हैं।

PM Kisan Maandhan Yojana में फैमिली पेंशन का भी प्रावधान है। इसके तहत लाभार्थी खाताधारक की मृत्यु होने की स्थिति में उसके जीवनसाथी को कुल पेंशन राशि की 50 प्रतिशत तक की पेंशन निर्बाध रूप से मिलती रहेगी। इस प्रावधान में सिर्फ पति पत्नी ही लाभार्थी होंगे।

नहीं दिखाने पड़ेंगे कोई कागज

जैसा की अभी हमने बताया की इस योजना के तहत आवेदन करने पर सभी किसानों को 60 वर्ष की आयु के बाद प्रतिमाह 3000 रूपए की पेंशन दी जाएगी। आप की जानकारी के लिए बताते चलें की PM Kisan Maandhan Yojana के तहत किसानों को आवेदन हेतु अलग से कोई कागजात/डाक्यूमेंट्स दिखाने की आवश्यकता नहीं होगी। ऐसा तभी होगा जब आप पहले से पीएम किसान योजना में पंजीकृत हैं। ऐसे में आप को आवेदन के समय किसी भी प्रकार के दस्तावेजों को दिखाने की आवश्यकता नहीं होगी। संक्षेप में आप को बता दें की पीएम किसान योजना (प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि योजना ) में हर साल केंद्र सरकार द्वारा छोटे और सीमान्त किसानों को 6000 रूपए सालाना प्रदान करती है। किसानों को इस योजना में मिलने वाली धनराशि तीन किश्तों में मिलती है। ये किश्त 2000 रुपयों की होती है जो की हर 4 महीनों में दी जाती है।

ये हैं आवश्यक दस्तावेज

यदि आप पीएम किसान सम्मान निधि योजना में पंजीकृत नहीं हैं तो आप को इन दस्तवेजों की आवश्यकता पड़ सकती है। यहाँ जानें PM Kisan Maandhan Yojana में आवश्यक दस्तावेज – आवेदक किसान का आधार कार्ड ,आयु प्रमाणपत्र, बैंक खाता पासबुक, आय प्रमाण पत्र, भूमि के खसरा खतौनी, पहचान पत्र, मोबाइल नंबर और पासपोर्ट साइज फोटो।

ऐसे कर सकते हैं आवेदन

  • सबसे पहले अपने नज़दीकी कॉमन सर्विस सेंटर पर जाएँ।
  • इसके बाद आप को रजिस्ट्रेशन के लिए अपने आधार संख्या, आईएफएससी कोड, नाम, जन्मतिथि, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर आदि सभी जानकारी दे दें।
  • इसके बाद सिस्टम सब्सक्राइबर द्वारा आवेदक की उम्र के अनुसार योगदान हेतु देय राशि का निर्धारण होगा।
  • इसके बाद निर्धारित देय राशि का पहला भुगतान करें।
  • इसके बाद पजीकरण फॉर्म प्रिंट किया जाएगा। आवेदक को हस्ताक्षार करने होंगे।
  • फिर स्कैन करने के बाद इसे सिस्टम में अपलोड किया जाएगा।
  • अब किसान की यूनीक किसान पेंशन खाता संख्या (KPAN) बनेगा।
  • अंत में किसान कार्ड को पिंट कर सकते हैं।

खुशखबरी! फिर से शुरू हुई गैस सिलेंडर की सब्सिडी, तुरंत चेक करें अपना बैलेंस

ऐसी ही और भी सरकारी व गैर सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment