Patna Coaching Classes Closed: बिहार में 138 कोचिंग क्लास बंद होंगे, जानें इसके पीछे की वजह

Patna Coaching Classes Closed : बिहार की राजधानी पटना में जिला प्रशासन द्वारा 138 कोचिंग क्लास बंद किये जाएंगे। इन कोचिंग संस्थानों को मानकों के अनुसार नहीं पाए जाने पर ये आदेश पटना के जिला पदाधिकारी डॉ. चन्द्रशेखर सिंह द्वारा दिया गया है। ये फैसला जिला पदाधिकारी के अध्यक्षता में हुई एक बैठक में लिया गया है। इस बैठक में डीईओ अमित कुमार, समिति की सदस्य सचिव सह पटना वीमेंस कालेज की प्राचार्या बैठक में शामिल थीं। इस फैसले (Patna Coaching Classes Closed) के बाद भी यदि कोई कोचिंग क्लास खोली जाती है तो ऐसी स्थिति में उन संस्थानों पर 25 हजार रूपए से लेकर 1 लाख रूपए तक जुर्माना लगाये जाने का प्राविधान है। इस के साथ ही उनपर कानूनी कार्यवाही भी की जाएगी।

बिहार में 138 कोचिंग क्लास बंद होंगे

Patna Coaching Classes Closed

पटना में 138 कोचिंग क्लासेज को बंद करने के निर्देश दिए गए हैं। इस के पीछे उनका मानकों को पूरा न कर पाना बताया जा रहा है। बता दें की  बिहार कोचिंग संस्थान (नियंत्रण एवं विनियमन) अधिनियम, 2010 के अंतर्गत जिन संस्थानों के आवेदन प्राप्त हुए थे उनमे से जो भी जांच के दौरान इन मानकों को पूरा नहीं कर पाया , उन्हें तत्काल प्रभाव से बंद करने के निर्देश दिए गए है। आप को जानकारी दे दें की ऐसे कुल 609 संस्थानों से आवेदन प्राप्त हुए थे जिनमे से 287 कोचिंग संस्थानों का रजिस्ट्रेशन किया गया। जबकि कुल 111 संसथान ऐसे थे जिन्हे जांच के दौरान अयोग्य पाया गया। और इसीलिए उनका रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिया गया। और बंद करने का आदेश पारित कर दिया गया। शेष बचे 211 आवेदनों में से 27 संस्थानों को मंगलवार को अयोग्य घोषित कर दिया गया।

Bihar ITI CAT 2022: बिहार आईटीआई कोर्स में एडमिशन के लिए आवेदन शुरू

मानकों पर खरे न उतरने पर किये गए बंद

आप को बताते चलें कि कोचिंग संस्थानों का पंजीकरण कराने के समय ये आवश्यक है कि संस्थान में मूलभूत सुविधाओं की पूर्ती करता हो। जैसे की – बेहतर क्लासरूम जिसमें पर्याप्त संख्या में बेंच , डेस्क आदि हो। इसके अतिरिक्त बेहतर लाइट , पीने के पानी की सुविधा , शौचालय , अग्नि सुरक्षा संबंधी उपाय , फर्स्ट ऐड बॉक्स , और शिक्षकों की पर्याप्त संख्या आदि। जो भी संस्थान ये सुविधाएं और मानक पूरे करते हैं उन्हें ही मान्यता प्राप्त होती है। अन्यथा मानकों पर खरे न उतरने पर उनका रजिस्ट्रेशन कैंसिल हो जाता है। इसी के चलते पटना में भी 138 कोचिंग संस्थानों को बंद कर दिया गया है।

यदि संस्थान बंद करने के निर्देशों का पालन नहीं किया जाता है तो ऐसे में उन संस्थानों पर सख्त कानूनी कार्यवाही की जाएगी। इस के साथ ही संस्थानों से एक लाख रूपए तक का जुरमाना वसूले जाने की बात कही गयी है।

Leave a Comment