नितिन गडकरी का बड़ा ऐलान, 60 किलोमीटर से पहले कोई टोल टैक्स नहीं लगेगा, जानें विस्तार में

नितिन गडकरी का बड़ा ऐलान– केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री श्री नितिन गडकरी जी के द्वारा टोल टैक्स को लेकर एक बड़ी घोषणा की गयी है। नेशनल हाईवे पर सफर करने वाले लोगो के लिए एक बड़ी खुशखबरी है। केंद्रीय मंत्री के द्वारा की गयी इस घोषणा के आधार पर अब जल्द ही टोल टैक्स को लेकर नए नियम लागू होने वाले है। तो आइये जानते है केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी जी के द्वारा टोल टैक्स को लेकर क्या घोषणा की गयी है।

नितिन गडकरी का बड़ा ऐलान

सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय की कमान नितिन गडकरी जी के द्वारा वर्ष 2014 से संभाली गयी है। इन 8 वर्षों की अवधि में भारत में सबसे अधिक बेहतरीन निर्माण कार्य सड़कों का हुआ है। जिसमें से देश में बने कई हाईवेज ने सफर को बेहद आसान बना दिया है। इन्ही के चलते एक बार फिर से केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी जी टोल टैक्स को लेकर चर्चाओं में है।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी जी के द्वारा नेशनल हाईवे टोल टैक्स को लेकर एक बड़ा फैसला लिया गया है जिसमें यह कहा गया है की 60 किलोमीटर के सफर के लिए अब कोई टोल टैक्स नहीं देना होगा। टोल टैक्स के संबंध इस नए नियम को अब जल्द ही लागू किया जायेगा। 60 किलोमीटर से कम के सभी टोल समाप्त किये जायेंगे। इसके लिए स्थानीय लोगो को लेकर केंद्रीय मंत्री जी के द्वारा यह जानकारी दी गयी है की लोकल लोगो को अपने क्षेत्र में टोल से निकलने के लिए आधार कार्ड आधारित ई पास बनाये जायेंगे।

60 किलोमीटर से पहले कोई टोल टैक्स नहीं लगेगा, जानें विस्तार में

आमतौर पर टोल टैक्स 60 किलोमीटर से अधिक का सफर तय करने के लिए ही टोल टैक्स वसूल किया जाता है। यदि इससे कम दूरी पर टोल टैक्स लिया जा रहा है तो दूरी के हिसाब से आपसे टैक्स वसूल किया जा सकता है। टोल टैक्स लेने के लिए कुछ फैक्टर्स भी होते है जैसे पुल, बाईपास, सुरंग, हाइवे की चौड़ाई एवं अन्य तरह की विभिन्न शर्ते।

टोल टैक्स वसूल करने के लिए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी जी के द्वारा यह कहा गया है की 60 किलोमीटर के अंदर एक टोल प्लाजा होना चाहिए। हालाँकि कई स्थानों में अभी भी ऐसा नहीं है लेकिन उनके द्वारा लोकसभा में दी गयी जानकारी के अनुसार यह कहा गया है की 3 महीने के अंदर या सुनिश्चित किया जायेगा की 60 किलोमीटर के अंदर एक टोल प्लाजा हो। इस संबंध में स्थानीय लोगो के लिए खास तौर पर पास बनाये जायेंगे।

FASTag – फास्टैग Recharge Online

टोल टैक्स क्या है ?

सड़के एवं राजमार्ग किसी भी देश की संपत्ति होती है। ऐसे में इनका निर्माण करने के लिए बहुत सारा पैसा खर्च होता है। नेशनल हाइवे /एक्स्प्रेसवे बनाने में बहुत व्यय होता है। सड़क बनाने में खर्च होने वाली लागत को वसूल करने के लिए लोगो से टैक्स लिया जाता है। इसी के साथ इसकी देखरेख साफ-सफाई के लिए भी टैक्स वसूल किया जाता है। हाईवे की लागत रिकवर हो जाने के बाद टोल टैक्स 40 प्रतिशत हो जाता है जो मेंटेनेंस के लिए उपयोग किया जाता है।

Leave a Comment