अब मंहगे पेट्रोल की होगी छुट्टी, भारत में इस नई टेक्नोलॉजी से चलने वाली कार आई, नितिन गडकरी ने की सवारी

Hydrogen Car हाइड्रोजन कार : अब जल्द ही भारत में भी हाइड्रोजन कार सड़कों पर दिखाई देंगी। आप की जानकारी के लिए बता दें की भारत में पहली हाइड्रोजन कार आ चुकी है। एक पायलट प्रोजेक्ट के रूप में इसी ग्रीन हाइड्रोजन से चलने वाली कार में बैठकर केंद्रीय सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी संसद पहुंचे। इस कार का नाम है – टोयोटा मिराई (Toyota Mirai)। ‘मिराई ‘ एक जापानी शब्द है जिस का अर्थ होता है ‘ भविष्य ‘ .

पेट्रोल डीजल पर निर्भरता होगी कम

केंद्रीय परिवाहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा की आज पेट्रोल, डीजल और गैस की कीमतें लगातार बढ़ती जा रही हैं। जिस से देश पर पेट्रोल-डीज़ल को आयात करने का आर्थिक बोझ भी बढ़ रहा है। उन्होंने कहा की प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत के सपने को पूरा करने के लिए हमें तेल में भी आत्मनिर्भर होना होगा। ताकि बाहर से तेल के आयात पर रोक लग सके। इसी दिशा में काम करते हुए जल्द ही भारत में अब ग्रीन हाइड्रोजन (Hydrogen Car) का निर्माण शुरू किया जाएगा। जिससे पेट्रोल और डीज़ल पर निर्भरता कम हो सके।

3000 करोड़ का मिशन

नितिन गडकरी ने आगे बताया की भारत सरकार द्वारा 3000 करोड़ रुपये का मिशन शुरू किया गया है और बहुत जल्द हम हाइड्रोजन का निर्यात करने वाला देश बन जाएंगे। जहां भी कोयले का उपयोग होता है वहां ग्रीन हाइड्रोजन का इस्तेमाल किया जाएगा। इस प्रोजेक्ट से न केवल आत्मनिर्भरता बढ़ेगी बल्कि इसमें रोजगार के नए नए अवसर भी खुलेंगे। पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर शुरू की गयी ये कार – टोयोटा मिराई , एक महत्वपूर्ण पहल है जो जीवाश्म ईंधन पर निर्भरता को कम करके स्वच्छ ऊर्जा और पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देगी और इस तरह 2047 तक भारत को ‘ऊर्जा आत्मनिर्भर’ बनाएगी।

देश को ऊर्जा आत्मनिर्भर बनाना है उद्देश्य

ग्रीन हाइड्रोजन के निर्माण से देश में एक ग्रीन हाइड्रोजन आधारित इकोसिस्टम बनाना इस प्रोजेक्ट का उद्देश्य है। इसके साथ ही भारत देश को आत्मनिर्भर बनाने का उद्देश्य भी इस से पूरा हो जाएगा। भारत में ग्रीन हाइड्रोजन से चलने वाली कार आने से देश में एक बड़ी क्रान्ति आएगी। ग्रीन हाइड्रोजन के प्रोडक्शन होने से न सिर्फ तेलों का आयात कम होगा बल्कि हम ग्रीन हाइड्रोजन का निर्यात कर सकेंगे। बता दें की ग्रीन हाइड्रोजन का निर्माण पानी से होता है। देश को 2047 तक ऊर्जा आत्मनिर्भर बनाने का लक्ष्य पूरा करने के लिए ये प्रोजेक्ट काफी कारगर होगा।

क्या खास है टोयोटा मिराई में

टोयोटा ने हाल ही में मिराई को लॉन्च किया है, जिससे यह भारत की पहली हाइड्रोजन फ्यूल सेल EV (FCEV) बन गई है।देश के परिवहन मंत्री नितिन गडकरी द्वारा नई दिल्ली में 16 मार्च को इसका शुभारम्भ किया गया। इस कार की खासियत ये है कि इसके टैंक को एक बार फुल कराने के बाद 650 km की रेंज तक चल सकती है। ये कार पर्यावरण के लिए सुरक्षित है और इसमें पानी का उत्सर्जन होता है। इसमें रिफिल के लिए भी अधिक समय नहीं लगता ऐसे की बैटरी वाली गाड़ियों में लगता है।

Leave a Comment