NEET PG Exam Postponed: जानें क्या कहा सुप्रीम कोर्ट ने आज, एग्जाम postponed होगा या नहीं?

NEET PG Exam Postponed : शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट द्वारा राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा स्‍नातकोत्तर (NEET PG 2022) परीक्षा को स्थगित करने संबंधी मांग को मानने से इंकार कर दिया गया है। इस के बाद ये तय हो गया है की नीट पीजी 2022 की परीक्षा पूर्व निर्धारित समय पर ही आयोजित की जाएगी। अब सभी उम्मीदवारों को ये परीक्षा 21 मई 2022 को ही देनी होगी। आप को ज्ञात होगा कि डॉक्टरों के समूह द्वारा इस परीक्षा को पोस्टपोन (NEET PG Exam Postponed ) करने की याचिका दायर की थी। जिसे सर्वोच्च अदालत ने आज ठुकरा दिया है।

NEET PG Exam Postponed : क्या कहना है सुप्रीम कोर्ट का ?

नीट पीजी परीक्षा को पोस्टपोन करने की याचिका को सुप्रीम कोर्ट द्वारा नकार दिया गया है। इसके पीछे सर्वोच्च न्यायालय का कहना है की ऐसा करने से मरीजों की देखभाल पर असर पड़ेगा। जबकि मरीजों की देखभाल सर्पोपरी है। सुप्रीम कोर्ट ने आगे कहा की इससे उन सभी उम्मीदवारों के साथ गलत होगा जो परीक्षा के लिए पंजीकरण करवा चुके हैं। इसके अलावा अस्पतालों में भी डॉक्टरों की कमी हो जाएगी।

बता दें की काफी समय से मेडिकल उम्मीदवार NEET PG 2022 की परीक्षा को कुछ हफ़्तों के लिए पीछे करने के लिए आग्रह कर रहे थे। जिसके लिए वो अलग अलग मीडिया प्लेटफॉर्म्स का इस्तेमाल कर रहे थे। सोशल मीडिया के माध्यम से भी अभियान चलाये जा रहे थे लेकिन इन सभी पर सुप्रीम कोर्ट ने ये कहते हुए अब विराम लगा दिया है की परीक्षा पूर्व निर्धारित समय पर होगी।

अब जबकि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद नीट पीजी परीक्षा का आयोजन 21 मई को ही किया जाएगा तो एडमिट कार्ड भी 16 मई को ही जारी किया जा सकता है। इस के साथ ही परीक्षा के परिणाम के जून 2022 में ही आने की उम्मीद है।

NEET Exam Date: नीट 2022 रजिस्ट्रेशन की डेट आगे बढ़ी, जल्दी करें आवेदन

आखिर क्यों उठ रही थी परीक्षा को पोस्टपोन करने की मांग ?

जैसे की आप को जानकारी है कि परीक्षा के उम्मीदवार और साथ ही डॉक्टर भी इस परीक्षा को पोस्टपोन करने की मांग कर रहे थे। जिस से छत्रों को इस परीक्षा के लिए तैयारी का समय मिल सके। IMA ने भी सरकार से इस संबंध में अनुरोध किया था और इस मामले पर जल्द फैसला लेकर आदेश पारित करने हेतु लिखा था। इसके पीछे उम्मीदवारों को तैयारी का अवसर और नीट पीजी2021 काउंसलिंग प्रक्रिया में देरी को वजह बताया जा रहा था। उनका कहना था की कॉउंसलिंग प्रक्रिया में देरी के चलते उन्हें तैयारी के लिए पर्याप्त समय नहीं मिल पा रहा था। साथ ही ये भी कहा गया था की कोविड महामारी के दौरान विभिन्न अस्पातालों में सेवा देने वाले मेडिकल इंटर्न मेडिकल प्रवेश परीक्षा हेतु तैयारी करने का समय न मिलने से असफल हो सकते हैं।

NEET PG Counselling: नीट पीजी काउंसलिंग को सुप्रीम कोर्ट ने दिखाई हरी झंडी, लागू होगा OBC और EWS आरक्षण

ऐसी ही और भी सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment