Navratri 2022: इस नवरात्रि व्रत के दौरान इन बातों का रखें खास ध्यान, होगी मनोकामना पूरी

Navratri 2022: 02 अप्रैल 2022 से चैत्र नवरात्रे की शुरुआत हो रही है। इन दिनों माँ आदिशक्ति की उपासना करने वाले भक्तों पर माँ दुर्गा की असीम कृपा बरसती है। माँ अपने सभी भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरी करती है। नवरात्रे 9 दिनों चलते हैं। जो कि इस बार 11 अप्रैल 2022 तक रहेंगे। इन 9 दिनों में भक्त माँ दुर्गा के 9 अलग अलग स्वरूपों की आराधना करते हैं। इसलिए आज इस लेख में हम आप को बताएंगे की यदि आप भी चैत्र नवरात्रे का व्रत करते हैं तो आप को किन किन बातों का खास ख्याल रखना चाहिए जिससे आप की पूजा और व्रत में कोई विघ्न न पड़े। आइए जानते हैं –

Navratri 2022 पूजा संबंधी बातें

  • नवरात्रे के समय लोग घरों में कलश की स्थापना करते हैं , जिसके लिए आवश्यक है की इसे सही दिशा में स्थापित जड़ें जिससे पूजा करने वाले व्यक्ति के मुख से सामने कलश हो।
  • पूजन से पहले माँ दुर्गा के आसान की स्थापना सही मुहूर्त पर करें।
  • घट स्थापना हेतु स्वच्छ स्थान की मिट्टी का उपयोग करें। और साफ़ पानी का छिड़काव करें।
  • पूजा करते समय कलश पर लाल रंग की चुनरी अर्पण करें।
  • पूजन के समय जब नारियल चढ़ाएं तो ध्यान रखें की इसका मुख आप की तरफ होना चाइये। नारियल को भगवान गणेश का प्रतीक माना जाता है।
  • यदि आप ने कलश के साथ अखंड ज्योति की स्थापना की है तो ध्यान रखें की इसमें समय समय पर घी डालते रहें जिससे ये अगले 9 दिनों तक अनवरत रूप से जलती रहे।
  • यदि आप का 9 दिनों तक का व्रत है तो आप को नियमित रूप से आरती और पूजन अवश्य करना चाहिए। और आप को पूजा के बाद प्रसाद अवश्य ग्रहण करना चाहिए।
  • पूजन से पूर्व आप माँ दुर्गा के सभी श्रृंगार सामग्री को नवरात्रि से पहले प्रबंध कर लेना चाइये।

Navratri 2022 आचरण संबंधी बातें

  • हमारे धर्म शास्त्रों के अनुसार ये बताया गया है की जो भी व्यक्ति नवरात्रि का उपवास करते हैं उन्हें पलंग पर सोने की बजाए जमीन पर सोना चाहिए। यदि जमीन पर नहीं सो सकते तो आप लकड़ी के तख़्त पर सो सकते हैं।
  • व्रत के दौरान आप को नमक का प्रयोग नहीं करना चाहिए। इस के साथ ही अधिक भोजन नहीं करना चाहिए। आप खाने में कुट्टू का उपयोग कर सकते हैं।
  • उपवास रखने वाले व्यक्ति को ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए।
  • व्रत रखने वाले व्यक्ति को काम क्रोध , मोह और लोभ से दूर रहना चाहिए।
  • ऐसा माना जाता है कि व्रत रखे हुए व्यक्ति को झूठ नहीं बोलना चाहिए और सत्य के साथ रहना चाहिए। अधिक जल नहीं पीना चाहिए साथ ही गुटखा तम्बाकू जैसे नशीले पदार्थों का सेवन त्यागना चाहिए।
  • व्रती जातकों को नौ दिनों तक माँ दुर्गा की उपासना के बाद अपने इष्ट / कुल देवता का ध्यान अवश्य करना चाहिए।

ऐसी ही और भी सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment