Mukhyamantri Swavlanvan Yojana: योजना में बदलाव! अब एक व्यक्ति ही पात्र, ढाई लाख महिलाओं की आय बढ़ाएगी प्रदेश सरकार

Mukhyamantri Swavlanvan Yojana के अंतर्गत हिमांचल राज्य सरकार के माध्यम से सभी राज्य के सभी परिवारों को लाभान्वित करने के लिए योजना में कुछ बदलाव किये गए है। इन नए बदलावों के आधार पर योजना के तहत परिवार के केवल एक ही सदस्य को लाभ प्राप्त होगा। पहले योजना के तहत स्कीम का लाभ प्राप्त करने हेतु एक परिवार के 3 से 4 सदस्यों को लाभ प्राप्त करने हेतु शामिल किया गया था। लेकिन राज्य में सभी परिवारों को योजना का लाभ न मिल पाने के कारण इस योजना में संसोधन किये गए है की अब एक परिवार के एक ही सदस्य को योजना का लाभ लेने हेतु पात्र माना जायेगा। इसके साथ ही राज्य के नागरिकों को योजना अधिक लाभ प्रदान करने हेतु 18 नई गतिविधियों को योजना में शामिल किया गया है।

क्या हुए सीएम स्वावलंबन योजना में बदलाव

प्रदेश सरकार के माध्यम से राज्य की सभी जनता को इस योजना का लाभ पहुंचाने के लिए इसमें कई बदलाव एवं गतिविधियों को शामिल किया गया है। अब योजना के तहत एक परिवार के एक सदस्य व्यक्ति को योजना के तहत ऋण लेने की सुविधा प्रदान की जाएगी। इस योजना हेतु 18 वर्ष से लेकर 45 वर्ष की आयु वाले सभी पात्र नागरिकों को योजना के तहत ऋण राशि लेने हेतु शामिल किया गया है। साथ ही राज्य की ढाई लाख से अधिक महिलाओं की आय में सरकार वृद्धि करेगी।

Mukhyamantri Swavlanvan Yojana के अंतर्गत राज्य की महिलाओं को आवेदन करने से संबंधी एक विशेष प्रकार की छूट प्रदान की जा रही है। इस योजना के तहत उन सभी महिलाओं को आवेदन करने हेतु आयु सीमा में 5 वर्ष की छूट दी जा रही है। अंतर्गत अभी तक राज्य के कुल 1350 आवेदन पत्रों को बैंकों के माध्यम से ऋण लेने हेतु स्वीकृति प्रदान की गयी है। हिमांचल सरकार की यह योजना राज्य में ज्यादा से ज्यादा संख्या में युवाओं को स्वरोजगार देने हेतु प्रयास कर रही है।

ढाई लाख महिलाओं की आय बढ़ाएगी प्रदेश सरकार

मुख्यमंत्री स्वालंबन योजना के अंतर्गत महिलाओं को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाने के उद्देश्य से भी निरंतर प्रयास किये जा रहे है। राज्य की लगभग 2 लाख 50 हजार महिलाओं की आय में सरकार बढ़ोतरी करने का निर्णय ले रही है। इन महिलाओं में वह सभी महिलाएं शामिल है जो स्वयं सहायता समूह से जुड़ी हुई है। हर वर्ष योजना के तहत स्वयं सहायता समूह की आय में योजना के तहत 50 हजार रूपए तक की बढ़ोतरी की जाएगी।

महिलाओं के माध्यम से इन समूहों के तहत तैयार किये गए सभी उत्पादों की सप्लाई एवं कार्यों की डिमांड हेतु हिमाचल सरकार के द्वारा प्रदेश में एक मैकेनिज्म शुरू करने की तैयारी की जाएगी। इस प्रक्रिया के अनुसार स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा मिलेगा। महिलाओं की आय में वृद्धि करने हेतु महिला एवं बाल विकास विभाग को यह रणनीति तैयार करने के निर्देश सरकार के माध्यम से दिए गए है। यह स्वयं सहायता समूहों से जुड़ी महिलाओं की आय में वृद्धि करने के लिए एक विशेष पहल शुरू की गयी है।

खुशखबरी! फिर से शुरू हुई गैस सिलेंडर की सब्सिडी, तुरंत चेक करें अपना बैलेंस

ऐसी ही और भी सरकारी व गैर सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment