MBBS, बीडीएस और डेंटल कॉलेज की फीस स्ट्रक्चर में हुआ बड़ा बदलाव, जानें नया फीस स्ट्रक्चर

MBBS BDS Fee Update: जैसा की आप जानते ही है MBBS, BDS एवं डेंटल कॉलेजेस में प्रवेश लेने के लिए हर साल कई सारे उम्मीदवार भाग लेते है। इन सभी कॉलेजेस में एडमिशन लेने के लिए उम्मीदवारों के लिए NTA द्वारा नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट यानी NEET परीक्षा का आयोजन किया जाता है। NEET की परीक्षा क्वालीफाई करने वाले कुछ हाई मेरिट वाले उम्मीदवार ही इन सभी के सरकारी कॉलेजेस में प्रवेश कर पाते है इसके साथ ही जिन उम्मीदवारों की रैंक कम होती है उन्हें मजबूरी में प्राइवेट कॉलेजेस में एडमिशन लेना पड़ता है लेकिन जैसा की आप सभी जानते है कि प्राइवेट कॉलेजेस की फीस कितनी महंगी होती है जिससे हर कोई इसमें एडमिशन नहीं ले पाते। ऐसे में आपको यह जानकर ख़ुशी होगी कि मोदी सरकार ने एक बड़ा जो की MBBS, बीडीएस और डेंटल कॉलेज की फीस स्ट्रक्चर को लेकर हुआ है।

देश में कई ऐसे नागरिक है जिनकी आर्थिक स्थिति ज्यादा ठीक नहीं है और जो गरीब होने के कारण प्राइवेट एडमिशंस में एडमिशन नहीं ले पाते है लेकिन सरकार के इस फैसले के बाद अब 50% मेडिकल सीट्स पर सरकारी कॉलेजेस जितनी ही फीस ली जाएगी। चलिए जानते है इससे जुडी जानकारियों को।

इस दिन हुआ यह एलान

बता दें, प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा 7 मार्च 2022 को जन औषिधि दिवस के दिन जन औषिधि योजना को शुरू किया गया इसके साथ ही मोदी जी ने यह फैसला भी लिया कि देश में जितने भी प्राइवेट मेडिकल कॉलेजेस है वहां आधी सीट्स पर सरकारी मेडिकल कॉलेजेस के बराबर ही फीस लगेगी। खबरों के मुताबित केंद्र सरकार के इस फैसले के बाद नेशनल मेडिकल कमीशन ने गाइडलाइन्स को तैयार कर लिया है जिसके बाद यह नियम अगले साल से लागू कर दिया जायेगा। सभी प्राइवेट यूनिवर्सिटीज के साथ-साथ यह फैसला डीम्ड यूनिवर्सिटीज में भी लागू किया जायेगा।

सरकारी व प्राइवेट कॉलेजेस में ली इतनी फीस

देश के जितने भी MBBS की पढाई कर रहे उम्मीदवार है उन्हें एक साल में 80 हजार रुपये फीस देनी होती है। उसी के साथ ही प्राइवेट कॉलेजेस में MBBS की पढाई कर रहे अभ्यर्थियों की एक साल की फीस 10 लाख रुपये से 12 लाख रुपये देनी होती है। देश में प्राइवेट कॉलेजेस में ज्यादा फीस होने के कारण सभी अभ्यर्थी MBBS की पढाई नहीं कर पाते और इसी के चलते वह पढ़ने के लिए दूसरे देश जैसे: यूक्रेन, रूस और चीन में चले जाते है।

ऐसी ही और भी सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment