lampi virus क्या है। जानें क्या हैं लंपी वायरस के लक्षण और बचाव के तरीके

भारत में गोधन करीब 18 करोड़ से ऊपर है वही भैंसों की संख्या 11 करोड़ के आस-पास है। भारत की आधे से अधिक आबादी पशुधन पर निर्भर है। देश में पशुओं में तेजी से फैलने वाली lumpy skin disease इस समय भारत के कई राज्यों में पशुओं की मौत का कारण बन चुका है। इस समय गुजरात ,राजस्थान ,पंजाब सहित कई राज्यों में यह बीमारी पशुओं में बड़ी ही तेजी से फ़ैल रही है जो की चिंता का विषय है। भारत के कई राज्यों में इसके चलते दुग्ध उत्पादन में भी कमी देखने को मिली है।

lampi virus kya hai
lampi virus kya hai

क्या होता है lampi virus और आखिर पशुओं को किस प्रकार से यह नुकसान पंहुचा रहा है जानेंगे सभी के बारे में विस्तार से। lampi virus symptoms and treatment (लंपी वायरस के लक्षण और बचाव) आदि की जानकारी के लिए यह लेख जरूर पढ़ें।

lampi virus क्या है? (Lumpy Skin Disease)

lampi स्किन डिसीज virus से पशुओं को होने वाला एक घातक रोग है । सबसे पहले अफ्रीका में यह बीमारी साल 1929 में पशुओं में देखी गयी थी। साल 2019 में चीन में इस वायरस की पहचान की गयी थी। जिसके बाद यह वायरस बांग्लादेश में डिटेक्ट किया गया जहाँ से अन्य देशों सहित भारत में इस वायरस की पुष्टि की गयी। वर्तमान समय में भारत के कई राज्यों में यह डिसीज फैल चुका है। यह संक्रामक रोग पॉक्सवीरिडे फॅमिली के एक वायरस के कारण होता है। इस रोग के कारण पशुओं की त्वचा में गांठें बन जाती है।

WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) द्वारा Lumpy Skin Disease को विशेष कैटेगरी में शामिल किया गया है। जिसे मुताबिक किसी देश में यदि यह बीमारी फैलती है तो तुरंत उस देश द्वारा विश्व पशु स्वास्थ्य संगठन को इसकी जानकारी दी जाएगी। पिछले साल यह डिसीज कर्नाटक ,तमिलनाडू जैसे राज्यों में देखने को मिली थी। अब भारत के कई राज्यों में इसका विस्तार हो चुका है।

लंपी वायरस के लक्षण

लंपी स्किन बीमारी एक वायरल डिसीज है जो की पशुओं में देखने को मिलती है। इस बीमारी में गाय, भैंस या अन्य पशुओं के शरीर पर गांठे बनने लगती हैं। ये गांठें पशुओं के जननांगों, सिर, और गर्दन पर होती है। इन गांठों के बड़े होने पर सरीर में जगह -जगह पर घाव बनने लगते हैं। घाव की पीड़ा से पशुओं को बुखार आने लगते हैं जिसके फलस्वरूप इसका यह असर होता है की दुधारू पशु दूध देना बंद कर देते हैं। कई मामलों में पशुओं की मौत तक हो जाती है। लंपी डिसीज के लक्षण को जान कर इस बीमारी को फैलने से रोका जा सकता है इसलिए आपके लिए यह जानना आवश्यक है की आखिर लंपी वायरस क्या के लक्षण होते हैं –

  • लंपी वायरस से संक्रमित जानवर का शरीर लगातार कमजोर होने लगता है तथा वजन कम होने लगता है।
  • जानवरों के मुँह से लार का लगातार निकलते रहना।
  • जानवरों के शरीर में गांठें बन जाती हैं। जो की त्वचा ही नहीं मांसपेशियों तक भी फ़ैल जाती है।
  • दुधारू पशुओं में दूध की मात्रा का कम होना।
  • पशुओं के आंख -नाक से पानी का बहना
  • पशुओं को लगातार बुखार आना

lampi virus से बचाव के तरीके

  • रोगी पशुओं के संपर्क में ना आएं ,दूरी बनाये रखें।
  • सामान को खुले में न फेंकें
  • पशुओं के एक दूसरे के संपर्क में आने से भी फैलता है ”लम्पी’ रोग
  • गोशाला में मच्छर ,मक्खी या कोई दूसरे कीट न पनपने दें।
  • यदि आपके आस-पास यह लक्षण किसी पशु में दिखें तो तुरंत पशु चिकित्सक को सूचित करें।
  • गोशालाओं में काम करने वाले दूसरी गोशाला में न जाएँ।
  • बीमार पशुओं के खाने पिने की अलग से व्यवस्था करें।
  • बीमार पशु का झूठा अन्य पशुओं को देने से बचें।
  • स्वस्थ पशुओं को संक्रमित पशुओं से अलग रखें।
  • कीटनाशक दवाई ,या स्प्रे का पशुओं के आस -पास छिड़काव समय समय पर करते रहें।
  • बीमारी फैली हो तो अपने पशुओं को मेला ,मंडी ,प्रदर्शनी आदि में ले जाने से बचें।
  • संक्रमित पशुओं के घावों को यदि फिटकरी के पानी से साफ़ किया जाए तो कुछ हद तक उन्हें राहत मिल सकती है।
  • बीमार पशुओं के आसपास साफ़ सफाई का विशेष ध्यान रखें।
  • पशुओं को उनकी इम्युनिटी बढ़ने के लिए दवा दी जा सकती है।
  • आप चिकित्सक की सलाह से ब्रोड स्पेक्ट्रम एंटीबायोटिक और कैल्शियम का इंजेक्शन भी पशुओं को दिला सकते हैं।

(यह भी जानें –आयुष्मान भारत योजना रजिस्ट्रेशन)

lampi virus क्या है वायरस के लक्षण और बचाव से सम्बंधित सवाल (FAQs)

क्या lampi virus इंसानो में भी फैल सकता है ?

जी नहीं ,यह रोग गैर -जूनोटिक है यानि इस बिमारी में इंसानो को संक्रमित पशुओं से डरने की आवश्यकता नहीं है। लेकिन यह ध्यान जरूर रखें की दुधारू संक्रमित पशुओं के दूध को हमेशा उबालकर ही पियें।

क्या lumpy skin disease से पशुओं की मौत हो सकती है ?

जी हाँ ! lumpy skin disease से कई मामलों में पशुओं की मौत भी हो सकती है।

वर्तमान में lampi virus कितने राज्यों में फैला हुआ है ?

देश में लंपी का संक्रमण 12 राज्यों के लगभग 165 जिलों में फैला चुका है।

Leave a Comment