Kisan Yojana: किसानों को हर महीने मिलेंगे 3,000 रुपये, जानिए कैसे उठा सकते हैं योजना का फायदा

Kisan Yojana: केंद्र सरकार द्वारा देश के किसानों के लिए विभिन्न योजनाओं के माध्यम से उनकी आमदनी बढ़ाने का प्रयास किया जाता है। जिनमे बहुत सी योजनाएं उनके लिए कृषि हेतु प्रोत्साहित करने के लिए , कुछ उनके भविष्य को सुरक्षित करने और कुछ उनके जीवन स्तर को सुधारने के लिए होती हैं। इन्ही सब में से एक स्कीम है किसान सम्मान मानधन योजना। इस योजना में सभी किसानों को 60 वर्ष से अधिक होने पर प्रतिमाह पेंशन प्रदान की जाएगी। इस स्कीम में लाभ लेने के लिए किसानों को अपना पंजीकरण कराना होगा। जिसके बाद उन्हें हर माह 3000 रूपए प्राप्त होंगे। जिससे वो वृद्धावस्था में अपनी गुज़र बसर कर सकते हैं।

किसान सम्मान मानधन योजना

पीएम किसान सम्म्मान योजना में सभी किसानों को लाभ प्राप्त होगा। इस योजन एके तहत उन्हें वृद्धावस्था में यानी की 60 वर्ष के होने पर प्रतिमाह 3,000 रूपए या फिर 36,000 रूपए सालाना के दर से गारंटीड पेंशन मिलेगी। योजना में आवेदन करने के लिए किसानों की उम्र 18 वर्ष से लेकर 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए। इस Kisan Yojana में किसानों को अपनी तरफ से भी कुछ राशि का योगदान देना होता है। योगदान हेतु दी जाने वाली धनराशि का निर्धारण किसान की योजना में प्रवेश के समय आयु पर निर्भर करता है। ये राशि 55 रूपए से लेकर 200 रूपए के बीच ही हो सकती है। इस योजना की एक और खासियत है की यदि किसान की आकस्मिक मौत हो जाती है तो ऐसे में भी आर्थिक सहायता मिलती है।

ये हैं आवश्यक दस्तावेज

किसानों को इस पेंशन योजना में आवेदन और पंजीकरण हेतु इन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। ये हैं वो दस्तावेज जो सभी किसानों को आवेदन के समय साथ रखने होंगे – किसान आवेदक का आधार कार्ड, बैंक खाता पासबुक, जमीन की खसरा-खतौनी आयु प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, स्थायी निवास प्रमाण पत्र, पहचान पत्र, मोबाइल नंबर और पासपोर्ट साइज फोटो।

ऐसे करें आवेदन

यदि आप भी किसान वर्ग से आते हैं तो आप को इस योजना में अवश्य ही आवेदन करना चाहिए। जिस से आप का भविष्य सुरक्षित हो सके। इस योजना में आवेदन कैसे करें? यहाँ जाने पूरी प्रक्रिया –

  • इसके लिए आप को सबसे पहले अपने नज़दीकी कॉमन सर्विस सेंटर पर जाना होगा।
  • यहाँ आप को अपना पंजीकरण करने के लिए मांगी गयी जानकारी देनी होगी।
  • इसके लिए अपना बैंक का आईएफएससी कोड नंबर, अपनी आधार संख्या, नाम, जन्मतिथि, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर व अन्य जानकारी दें।
  • अब सिस्टम सब्सक्राइबर द्वारा आवेदक की उम्र के आधार पर किसान द्वारा दी जाने वाली योगदान राशि तय की जाएगी।
  • योगदान राशि निर्धारित होने के बाद किसानों को पहली देय राशि का वहीँ पर भुगतान करना होगा।
  • इसके बाद किसानों को प्रिंट किये गए पंजीकरण फॉर्म में हस्ताक्षार करने होंगे।
  • जिसके बाद फॉर्म को स्कैन करके सिस्टम पर अपलोड किया जाएगा। और किसान का किसान पेंशन खाता संख्या KPAN बन जाएगा।

कृपया ध्यान दें की यदि कोई किसान किसान सम्मान मानधन योजना में आवेदन करना चाहते हैं और वो पहले से पीएम किसान योजना में पंजीकृत हैं तो उन्हें किसान मानधन योजना में पंजीकरण करवाते समय बहुत सहूलियत मिल जाएगी। दरअसल उन्हें आवश्यक कहे जाने वाले दस्तावेज दिखाने की आवश्यकता नहीं होगी। उनके रिकार्ड्स पहले से ही होंगे। आप की जानकारी हेतु बताते चलें की पीएम किसान योजना में सरकार द्वारा प्रतिवर्ष किसानों को 6000 रूपए की आर्थिक सहायता दी जाती है। ये धनराशि हर 4 माह में 2-2 हज़ार रूपए की किश्त में मिलती है। कुल मिलाकर इस योजना में मिलने वाली धनराशि उन्हें 3 किश्तों में मिलती है।

खुशखबरी! फिर से शुरू हुई गैस सिलेंडर की सब्सिडी, तुरंत चेक करें अपना बैलेंस

ऐसी ही और भी सरकारी व गैर सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment