Janani Suraksha Yojana: गर्भवती महिलाओं को मिलेंगे 6 हज़ार रूपए, जानें क्या है योग्यता

Janani Suraksha Yojana Eligibility: जननी सुरक्षा योजना की शुरुआत 12 अप्रैल 2005 में की गयी थी। इस योजन के अंतर्गत गर्भवती महिलाओं को लाभान्वित किया जाएगा। सभी पात्र महिलाओं को Janani Suraksha Yojana के तहत 6000 रुपयों की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। जिस से वो गर्भवस्था में अपने स्वास्थय का ध्यान रख सकें। आप की जानकारी के लिए बता दें की जननी सुरक्षा योजना (जेएसवाई), NHM (राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन) के तहत सुरक्षित मातृत्व हेतु चलाया जा रहा कार्यक्रम है। इस योजना का सञ्चालन भारत सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा किया जाता है। ये योजना और इसमें मिलने वाली आर्थिक सहायता पूरी तरह से केंद्र प्रायोजित है।

क्यों खास है जननी सुरक्षा योजना?

जेएसवाई स्कीम में मिलने वाली सम्मान राशि महिलाओं को डिलीवरी के बाद प्रदान की जाती है। इस स्कीम का उद्देश्य गर्भवस्था के दौरान महिलाओं और शिशु के बेहतर स्वास्थ्य के लिए उन्हें सम्मान राशि के माध्यम से आर्थिक सहायता देना है। साथ ही शिशु के जन्म के बाद माता और शिशु के स्वास्थ्य का ख्याल रखने के लिए भी इस स्कीम के तहत सुविधाएं दी जाएंगी। जैसा की गरीब परिवार की महिलाओं के पास गर्भावस्था के दौरान अपना ख्याल रखने के लिए पर्याप्त साधन और भरण पोषण हेतु सामग्री नहीं हो पाती। जिसकी वजह से डिलीवरी के समय उनके तथा नवजात शिशुओं की मृत्यु जैसी समस्या देखने को मिलती है। इन्ही सब तथ्यों को ध्यान में रखकर सरकार ने मातृ शिशु मृत्यु दर में कमी लाने हेतु Janani Suraksha Yojana की शुरुआत की है।

जननी सुरक्षा योजना से लाभ – Janani Suraksha Yojana

  • इसमें ग्रामीण और शहरी दोनों ही क्षेत्रों की महिलाओं को सुविधा दी जाएगी।
  • गर्भवती महिलाओं को निशुल्क डिलीवरी की सुविधा मिलेगी।
  • शहरी क्षेत्रों की गरीब परिवार की महिलाओं को डिलीवरी के बाद 1000 रूपए और ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को 1400 रूपए की धनराशि प्रदान की जाती है।
  • शिशु के जन्म के पश्चात भी आशा कार्यकर्त्रियो के माध्यम से शिशु और माता की स्वास्थ्य संबंधी देखरेख आदि की सुविधा प्राप्त होगी।
  • स्कीम के माध्यम से निश्चित अवधी पर लगने वाले सभी टीकाकरण से संबंधी जानकारी और निशुल्क टीकाकरण की सुविधा भी दी जाएगी।

Janani Suraksha Yojana Eligibility

इस योजना में आवेदन हेतु जानें क्या है योग्यता –

  • आवेदन करने वाली महिला की उम्र 19 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए।
  • गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाली महिलाएं इस स्कीम में पात्र होंगी।
  • ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्र की महिलाएं आवेदन कर सकती हैं जो सरकारी अस्पतालों में प्रसव कराने हेतु पंजीकरण कराएंगी।
  • सभी एससी और एसटी वर्ग की महलाएं सरकारी अस्पताल में प्रसव हेतु पंजीकरण कराने पर इसकी पात्र मानी जाएंगी।
  • इस योजना में प्रथम 2 बच्चों के जन्म में ही इस योजना का लाभ मिलेगा।

उत्तर प्रदेश फ्री लैपटॉप योजना का ऑनलाइन आवेदन शुरू, जल्दी करें अप्लाई

ऐसी ही और भी सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment