जल जीवन मिशन स्कीम (ग्रामीण) | Jal Jeevan Mission (Rural) Scheme

भारत सरकार द्वारा देश के नागरिकों के लिए बहुत सी योजनाओं का आरम्भ किया जाता है। सरकार ने ऐसे ही एक और स्कीम लांच की है जिसका नाम जल जीवन मिशन स्कीम है। इस स्कीम के लिए सरकार द्वारा इस मिशन के लिए 3.60 लाख करोड़ बजट देने का प्रावधान किया है। जिसमे राज्य सरकार व केंद्र सरकार द्वारा अलग-अलग बजट दिया जाएगा। jal jeevan mission (rural) scheme के माध्यम ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के घरों में पीने के पानी के लिए जल कनेक्शन लगाये जाएंगे। अभी तक कुल 3.27 करोड़ ग्रामीण परिवारों को वाटर कनेक्शन प्रदान किया गया है। जल जीवन मिशन स्कीम 202 सम्बन्धित अधिक जानकारी आर्टिकल में दी जा रही है उम्मीदवार लेख में दिए गए स्टेप्स को फॉलो कर के पंजीकरण प्रकिया को पूरा कर सकते हैं।

जल-जीवन-मिशन-स्कीम
Jal Jeevan Mission (Rural) Scheme

जल जीवन मिशन स्कीम

जल जीवन मिशन स्कीम ( JJM मिशन) की शुरुआत प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष में 15 अगस्त 2019 को की गयी। देश के लगभग 50% ऐसे ग्रामीण क्षेत्र है जहां अभी भी लोगो को पानी की समस्या होती है उन क्षेत्रों में पीने के पानी को पहुंचाने के लिए मोदी की ने इस स्कीम का शुभारम्भ किया। Department of Drinking Water and Sanitation के आंकड़ों के तहत अभी तक 18.33 प्रतिशत ग्रामीण क्षेत्रों के परिवारों को पानी की सुविधा उपलब्ध करवाई गयी है। jal jeevan mission (rural) scheme सम्बन्धित अधिक जानकारी जैसे- जल जीवन मिशन स्कीम का लाभ किसे प्रदान किया जाएगा ? सरकार द्वारा स्कीम के लिए कितना बजट देने का प्रावधान किया गया व किन-किन राज्यों में स्कीम का लाभ प्रदान किया जाएगा आदि आर्टिकल में दिया जा रहा है। JJM की अन्य जानकारी आर्टिकल से प्राप्त कर सकते हैं।

Jal Jeevan Mission Rural Scheme Details

आर्टिकल जल जीवन मिशन स्कीम
विभाग पेयजल और स्वच्छता विभाग जल शक्ति विभाग
योजना शुरू 15 अगस्त 2019
लाभार्थी देश के नागरिक
शुरुआत पीएम नरेंद्र मोदी जी द्वारा
उद्देश्य सभी राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की सुविधा
उपलब्ध करवाना
आवेदन ऑनलाइन
ऑफिसियल वेबसाइट jaljeevanmission.gov.in

योजना का उद्देश्य

jal jeevan mission का उद्देश्य राज्यों के उन ग्रामीण इलाको में पानी की सुविधा उपलब्ध करवाना है। बढ़ती जनसंख्या के साथ साथ पानी जैसी समस्या भी बढ़ती जा रही है ऐसे कई ग्रामीण क्षेत्र है जहां पानी की सुविधा उपलब्ध नहीं है और लोगो को कई दूर पैदल चल कर पानी लाना पड़ता है। पानी की कमी से किसानों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इन सभी परेशानियों को देख कर सरकार ने जल जीवन मिशन स्कीम / JJM मिशन की शुरुआत की है। इस मिशन के तहत जिन इलाकों में पानी नहीं है वहां हर घर में पाइप लाइन के माध्यम से पानी पहुंचाया जाएगा इस मिशन को सरकार ने हर घर जल योजना का नाम भी दिया है। स्कीम का लाभ लेने के लिए उन लाभार्थियों को पात्र माना जाएगा जिनके घर में पानी का कनेक्शन नहीं है।

JJM (Jal Jeevan Mission) के लाभ

जल जीवन मिशन स्कीम के माध्यम से देश के नागरिकों को कौन-कौन से लाभ प्राप्त होते हैं उन सभी लाभों की जानकारी लेख में नीचे दी जा रही है। jal jeevan mission के सभी लाभों की सूची नीचे लेख से प्राप्त करें।

  • jal jeevan mission के माध्यम से राज्यों के जिन इलाकों में पानी की सुविधा नहीं है वहां पानी पहुंचाया जाएगा।
  • इस स्कीम (जल जीवन मिशन स्कीम) लाभ ग्रामीण व शहरी दोनों क्षेत्रों के लोगों को प्रदान किया जाएगा।
  • जल जीवन मिशन स्कीम के लिए सरकार ने 3.60 लाख करोड़ का बजट देने का प्रावधान दिया जाएगा।
  • स्कीम के माध्यम से 6 करोड़ घरों में पानी पहुँचाया जाएगा।
  • घरों में पहुंचाया जाने वाले जल का प्रयोग उम्मीदवार पीने के लिए भी कर सकते हैं।
  • इस मिशन (जल जीवन मिशन स्कीम) के माध्यम से जल संरक्षण को भी बढ़ावा मिलेगा।
  • सभी उम्मीदवारों को अपने घरों में ही पानी का कनेक्शन प्राप्त हो जाएगा।
  • अब उन्हें पीने का पानी लेने के लिए कहीं दूर नहीं जाना पड़ेगा जिससे लाभार्थियों के समय की भी बचत होगी।
  • जल जीवन मिशन स्कीम के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों को Functional Household Tap Connection उपलब्ध करवाना है।
  • स्कीम के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों के सार्वजानिक स्थानों पर भी जल कनेक्शन लगाए जाएंगे।
  • अभी तक 18.33 प्रतिशत ग्रामीण इलाकों में पानी का कनेक्शन प्रदान किया गया है।
  • 19 करोड़ 17 लाख ,20 हजार 832 ग्रामीण परिवारों को पानी का कनेक्शन प्राप्त किया गया है।
  • JJM Mission के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों के लोगो को राहत मिलेगी।
  • अभी तक 18 जिलों के लोगों को स्कीम का लाभ प्रदान किया गया है।

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट

लाभान्वित राज्यों की प्रतिशतता

gramin jal jeevan mission scheme का लाभ अभी तक जिन राज्यों के ग्रामीण क्षेत्रों में प्रदान किया गया है उसकी जानकारी लेख में दी जा रही है उम्मीदवार दी गयी सूची में लाभान्वित ग्रामीण क्षेत्रों की प्रतिशतता देख सकते हैं। पूरी लिस्ट नीचे दी गयी है।

राज्यलाभान्वित ग्रामीण क्षेत्रों
की प्रतिशतता
तेलंगाना 69.56 प्रतिशत
बिहार54.38 प्रतिशत
हिमाचल प्रदेश19.99 प्रतिशत
असम 3.39 प्रतिशत
केरल1.78 प्रतिशत
झारखंड3.36 प्रतिशत
गोवा24.3 प्रतिशत
महाराष्ट्र 15.4 प्रतिशत
उत्तराखंड 14.97 प्रतिशत
जम्मू-कश्मीर 14.94 प्रतिशत
कर्नाटक 1.40 प्रतिशत
लद्दाख2.25 प्रतिशत
राजस्थान3.69 प्रतिशत
पश्चिम बंगाल1.44 प्रतिशत
हरियाणा21.12 प्रतिशत
मिजोरम23.19 प्रतिशत
मणिपुर 20.78 प्रतिशत

जल जीवन मिशन स्कीम से लाभान्वित राज्य

jal jeevan mission / जेजेएम  का लाभ गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, मेघालय, पंजाब, सिक्किम उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल आदि राज्यों के उम्मीदवारों को प्रदान किया जा रहा है। हालाँकि अभी इस स्कीम को सभी राज्यों में लागू नहीं किया गया है। सरकार द्वारा बताया गया है की इस स्कीम का लाभ 2024 तक देश के सभी राज्यों को प्रदान किया जाएगा। अभी तक गोवा के सभी ग्रामीण क्षेत्रों में ग्रामीण जल जीवन मिशन का लाभ प्रदान किया गया है जिससे गोवा jal jeevan mission का लाभ लेने वाला पहला राज्य बना है। जिन लाभार्थियों द्वारा आवेदन किया गया है केवल उनको की इस मिशन के तहत लाभान्वित किया जाएगा।

जेजेएम के लिए मापदंड व पात्रता :-

gramin jal jeevan mission scheme का लाभ लेने के लिए लाभार्थियों को कुछ पात्रता व मापदंडों को ध्यान में रखना होता है। जिसकी सूची नीचे दी जा रही है।

  • जल जीवन मिशन स्कीम का लाभ लेने के लिए उम्मीदवार जिस राज्य में निवास करता है वे वहां के मूल निवासी होने चाहिए।
  • jal jeevan mission का लाभ लेने के लिए उम्मीदवार ग्रामीण इलाके में आना चाहिए।
  • स्कीम के तहत उपलब्ध करवाया जाने वाला पानी पीने योग्य होना चाहिए।
  • gramin jal jeevan mission scheme का लाभ लेने के लिए उम्मीदवारों के पास कुछ दस्तावेज जैसे- आधार कार्ड, मूल निवास प्रमाण पत्र, बैंक अकाउंट आदि होने चाहिए।
  • जल जीवन मिशन स्कीम का लाभ गरीबी रेखा से नीचे आने वाले लोगो को प्रदान किया जाएगा।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

जल जीवन मिशन स्कीम के लिए बजट

jal jeevan mission के लिए सरकार द्वारा 3,50 लाख करोड़ रूपए बजट देने का निर्णय लिया गया है। जिसमे राज्य सरकार द्वारा 1,50 लाख करोड़ रूपए बजट देने का व केंद्र सरकार द्वारा 2 लाख करोड़ रूपए बजट देने का प्रावधान किया गया है। इस स्कीम के माध्यम से 24 महीनों में राज्यों के ग्रामीण क्षेत्रों में पानी का कनेक्शन प्रदान किया जाएगा। सरकार द्वारा जल जीवन मिशन स्कीम के लिए अतिरिक्त बजट देने के लिए भी मंजूरी प्रदान की गयी है।

इस स्कीम के तहत सरकार ने पहाड़ी क्षेत्रों वाले राज्यों के लिए केंद्र और राज्य सरकार द्वारा दी जाने वाली फण्ड शेयरिंग को अलग से निर्धारित किया है। जैसे की –

  • उत्तराखंड राज्य में इस स्कीम के तहत केंद्र सरकार द्वारा फण्ड शेयरिंग में 90 प्रतिशत भाग और राज्य सरकार द्वारा 10 प्रतिशत राशि देने का निर्धारण किया है।
  • उत्तर पूर्वी राज्यों जैसे हिमाचल प्रदेश राज्य के लिए पूरी 100 प्रतिशत राशि केंद्र सरकार द्वारा ही दी जाएगी। जबकि अन्य राज्यों के लिए ये प्रतिशत 50 प्रतिशत केंद्र और बाकी का 50 प्रतिशत राज्य सरकार द्वारा दिया जाएगा।

जल जीवन मिशन की पूरी जानकारी के लिए पीडीएफ डाउनलोड करें -: Click Here

JJM (Jal Jeevan Mission) से संबंधित आंकड़ें :-

क्रम संख्या जल जीवन मिशन से संबंधित आंकड़े
1Total number of households (HHs)19,18,67,736
2Households with
tap water connections
(as on 15 Aug 2019)
3,23,62,838
(16.87%)
3Households with
tap water connections
(as on date)
9,67,75,782
(50.44%)
4Households provided with tap water connection since launch of the Mission6,44,12,944 (33.57%)

JJM सम्बन्धित कुछ प्रश्न उत्तर

jal jeevan mission की शुरुआत किसने की ?

जल जीवन मिशन स्कीम की शुरुआत प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा की गयी है।

सरकार द्वारा जल जीवन मिशन स्कीम के लिए कितना बजट देने का प्रावधान किया गया है ?

JJM के लिए सरकार ने 3.60 लाख करोड़ का बजट दिया है।

जल जीवन मिशन स्कीम की शुरुआत कब की गयी ?

जेजेएम की शुरुआत 15 अगस्त 2019 को की गयी।

क्या jal jeevan mission का लाभ केवल ग्रामीण क्षेत्रों के लोगो को प्रदान किया जाएगा ?

नहीं, स्कीम का लाभ ग्रामीण व शहरी दोनों क्षेत्रों के लोगो को प्रदान किया जायेगा।

राज्य के उम्मीदवारों को JJM के क्या -क्या लाभ प्रदान किये जाएंगे ?

जल जीवन मिशन स्कीम के माध्यम से ग्रामीण व शहरी इलाकों को जहां पानी की सुविधा नहीं है उनको लाभान्वित किया जायेगा। अभी तक jal jeevan mission के तहत 18.33 प्रतिशत ग्रामीण इलाकों में पानी के कनेक्शन लगवाए गए हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में 19 करोड़ लगभग लोगों के घरों में पानी का कनेक्शन लगवाया गया है।

जल जीवन मिशन स्कीम के माध्यम से किन-किन राज्यों को लाभान्वित किया गया है ?

 गोवा, मिजोरम, हरियाणा, मणिपुर, हिमाचल प्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, केरल, लद्दाख, असम, झारखंड, राजस्थान आदि राज्यों में JJM का लाभ प्राप्त किया गया है।

jal jeevan mission के लिए केंद्र सरकार व राज्य सरकार द्वारा कितना-कितना बजट देने का प्रावधान किया गया है ?

स्कीम के लिए केंद्र सरकार द्वारा 2 लाख करोड़ रूपए बजट और राज्य सरकार द्वारा 1,50 लाख करोड़ रूपए बजट देने का का प्रावधान तय किया गया है।

अभी तक कितने ग्रामीण क्षेत्रों में योजना का लाभ प्रदान किया गया है ?

जल जीवन मिशन स्कीम के तहत अभी तक 17.8 करोड़ ग्रामीण को लाभान्वित किया गया है जिनमे 3.27 करोड़ ग्रामीण परिवारों को जल का कनेक्शन प्रदान किया गया है।

जल जीवन मिशन स्कीम को किस विभाग द्वारा जारी किया गया है ?

इस मिशन को पेयजल और स्वच्छता विभाग जल शक्ति विभाग DEPARTMENT OF DRINKING WATER AND SANITATION MINISTRY OF JAL SHAKTI द्वारा जारी किया गया है।

यदि उम्मीदवारों को जल जीवन मिशन स्कीम सम्बन्धित किसी प्रकार की अन्य जानकारी प्राप्त करनी हो तो उन्हें कहाँ सम्पर्क करना होगा ?

jal jeevan mission का लाभ लेने के लिए लाभार्थियों को पेयजल और स्वच्छता विभाग जल शक्ति विभाग के हेल्पलाइन नंबर-011-24362705 पर सम्पर्क करना होगा। इसके अलावा उम्मीदवार ईमेल आईडी – [email protected] पर मेसेज भी कर सकते है।

ग्रामीण इलाकों में पानी के मुख्य स्रोत क्या है?

भूजल (कुँआ) , नदी या झीलें आदि ही ग्रामीण क्षेत्रों में जल / पानी का मुख्य स्रोत होते हैं।

जल जीवन मिशन की पूरी जानकारी के लिए पीडीएफ कहाँ से डाउनलोड कर सकते हैं ?

योजना की पूरी जानकारी के लिए पीडीएफ DEPARTMENT OF DRINKING WATER AND SANITATION MINISTRY OF JAL SHAKTI की ऑफिसियल वेबसाइट jaljeevanmission.gov.in से डाउनलोड कर सकते हैं।

हेल्पलाइन नंबर

Jal Jeevan Mission Yojana सम्बन्धित सभी जानकारियां आर्टिकल में दे दी गयी हैं। यदि लाभार्थियों को कोई अन्य जानकारी प्राप्त करनी है तो उन्हें हेल्पलाइन नंबर -011-24362705 पर सम्पर्क करना होगा। यदि मेसेज के माध्यम से शिकायत दर्ज करना चाहते हैं तो वे ईमेल आईडी – [email protected] पर मेसेज कर के भी जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं। आपके प्रश्नो का उत्तर जल्द से जल्द उपलब्ध करवाया जाएगा।

यह भी पढ़ें :-

Leave a Comment