Insurance Policy Tax: ये पालिसी दिलाएगी 1.5 लाख की टैक्स छूट! 31 मार्च तक कर लें ये काम

Insurance Policy Tax– वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करने की तिथि 15 मार्च 2022 तक बढ़ा दी गयी है। इनकम टैक्स अधिनियम 80C के अंतर्गत इंडिविजुअल और HUF लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने या फिर पहले से चल रही पॉलिसी प्रीमियम के पेमेंट पर अन्य इस्टूमेंट के साथ-साथ कुल 1.5 लाख रुपये तक का डिडक्शन क्लेम कर सकते है। लेकिन इसके लिए आपको 31 मार्च तक आपको यह प्रक्रिया पूरी करनी होगी। तो आइये जानते है की आप अपनी कमाई और दूसरे तरह के पेमेंट्स पर कैसे क्लेम कर सकते है। आज हम आपको टैक्स डिडक्शन से जुड़ी जानकारी को साझा करने जा रहे है। लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें की यह टैक्स डिडक्शन नए टैक्स सिस्टम के लिए नहीं है।

Insurance Policy Tax: ये पालिसी दिलाएगी 1.5 लाख की टैक्स छूट! 31 मार्च तक कर लें ये काम
Insurance Policy Tax

Insurance Policy Tax टैक्स में मिलेगी जबरदस्त छूट 

यदि आप इनकम टैक्स अधिनियम 80C के अंतर्गत इनकम टैक्स में छूट का लाभ प्राप्त करना चाहते है और अभी तक आपके द्वारा डिडक्शन क्लेम नहीं किया गया है तो लाइफ इंश्योरेंस के प्रीमियम पर टैक्स में 1 लाख 50 हजार रुपये तक की छूट प्राप्त कर सकते है।

लाइफ इंश्योरेंस के प्रीमियम पर मिलेगी टैक्स में छूट

इंडिविजुअल और HUF लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी (Life Insurance Policy) के प्रीमियम के पेमेंट पर Income Tax Act के सेक्शन 80C के अंतर्गत अब अन्य इंस्टूमेंट के साथ कुल मिलाकर 1 लाख 50 हजार रुपये का डिडक्शन क्लेम कर सकते है डिडक्शन क्लेम करने के लिए आपको Indian Insurance Company से insurance policy खरीदना अनिवार्य नहीं है। इसी के साथ यदि NRI या विदेशी नागरिक का इंडिया में taxable income बनता है तो ऐसी स्थिति में देश से कही अन्य जगह पर भी पॉलिसी डिडक्शन क्लेम कर सकता है।

इंश्योरेंस की इन पॉलिसी पर मिलती है छूट

Insurance Policy में कौन-कौन सी पॉलिसी हेतु Tax में छूट प्रदान की जाती है।

इंशोरेंस पॉलिसी में क्लेम टर्म इंश्योरेंस की सुविधा Pure Insurance Products से लेकर ULIP जैसे इंश्योरेंस कम इन्वेस्टमेंट प्रोडक्ट पर भी की जा सकती है। कोई भी टैक्सपेयर अपने खुद या फिर बच्चों की लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी के प्रीमियम के पेमेंट पर छूट के लिए क्लेम किया जा सकता है।

टैक्स में छूट

1 अप्रैल 2012 के बाद कराई गयी किसी भी पॉलिसी के सम इंश्योर्ड 10 प्रतिशत या उससे कम प्रीमियम के पेमेंट पर छूट के लिए क्लेम किया जा सकता है। इसी के साथ विकलांग नागरिकों के लिए यह दायरा 15 प्रतिशत का है। आपकी जानकारी के लिए बता दें की 1 अप्रैल 2012 से पहले खरीदी गयी पॉलिसी पर 20 प्रतिशत तक छूट लिया जा सकता है।

टैक्स में छूट का लाभ प्राप्त करने हेतु पॉलिसी के लिए कुछ नियम और शर्ते भी तैयार किये गए है। जिसके आधार पर लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी पर टैक्स में छूट प्राप्त करने के लिए पॉलिसी कम से कम 2 वर्षो तक एक्टिव होनी चाहिए।

ऐसी ही और भी सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment