Hybrid Mode Exam: क्या होगा है हाइब्रिड मोड एग्जाम का तरीका, ध्यान रखने योग्य बातें

Hybrid Mode Exam: जैसा की आप सभी जानते है कि छात्रों की कक्षा 10वी व 12वी की बोर्ड परीक्षाएं जल्द ही शुरू होने वाली है। ऐसे में सीबीएसई (सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ सेकेंडरी एजुकेशन) और CISCE (कॉउंसल फॉर दि इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन) के बोर्ड एग्जाम से जुड़ा मामला सुप्रीम कोर्ट में दर्ज किया गया है। बता दें, CBSE व ICSE क्लास के कुछ 6 बच्चों ने मिलकर 10वी व 12वी बोर्ड एग्जाम को हाइब्रिड मोड (Hybrid Mode Exam) पर करवाने की याचिका कोर्ट में दर्ज की थी। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने ऑनलाइन व ऑफलाइन मोड पर आयोजित करने वाली मांग वाली याचिका (रिक्वेस्ट) को टाल दिया है। जस्टिस AM खानविलकर और जस्टिस सीटी रवि कुमार की बेंच के सामने 15 नवंबर को यह मामला प्रस्तुत था, जिसकी सुनवाई 18 नवंबर को की गयी। चलिए जानते है हाइब्रिड मोड एग्जाम से जुडी अन्य जानकारियों को

Hybrid Mode Exam: जानिए क्या है हाइब्रिड मोड एग्जाम (परीक्षाएं)

10वी व 12वी की बोर्ड के छात्रों ने हाइब्रिड मोड (Hybrid Mode) में एग्जाम यानी ऑफलाइन व ऑनलाइन दोनों मोड में परीक्षाओं को कराने की अनुमति मांगी थी यानी छात्र अपनी सहमति से परीक्षा देने के लिए इन दोनों ऑप्शन में से एक ऑप्शन को चुन सके। हाइब्रिड मोड एग्जाम की मांग इसलिए की गयी क्यूंकि कोरोना वायरस के कारण छात्रों के लिए ऑफलाइन परीक्षा से संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ रहा था। जिसके चलते उन्होंने ऑनलाइन व ऑफलाइन में से दोनों मोड के विकल्प सेलेक्ट करने की मांग की थी।

क्या है हाइब्रिड मोड के फायदे | Hybrid Mode Exam Benefits

  • हाइब्रिड मोड (Hybrid Mode) के जरिये छात्र छात्र ऑफलाइन या ऑनलाइन दोनों माध्यम से एक माध्यम के जरिये परीक्षा दे सकते है। यदि वह परीक्षा केंद्र में उपस्थित नहीं होंगे तो वह ऑनलाइन मोड से परीक्षा दे सकते है।
  • जैसा की आप जानते है यह परीक्षाएं OMR आधारित परीक्षा है तो इसमें डिस्क्रिप्टिव आंसर से जयादा जल्दी हो सकेंगी।

सुप्रीम कोर्ट ने किया हाइब्रिड मोड में परीक्षा कराने को इंकार

सुप्रीम कोर्ट ने 18 नवंबर 2021 को सुनवाई के दौरान यह कहा कि छात्रों की परीक्षाएं शुरू हो चुकी है ऐसे में परीक्षाएं ऑनलाइन मोड में कैसे कराई जा सकती है। इसके लिए समय भी बहुत कम है परीक्षा में 40 लाख से भी अधिक बच्चे शामिल होंगे। इसलिए सुप्रीम कोर्ट ने याचिका को ख़ारिज (रिजेक्ट) करते हुए कहा कि परीक्षा के समय कोरोना वायरस से बचने के लिए उचित व्यवहार और प्रोटोकॉल अपनाया जायेगा।

ऐसी ही और भी सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment