Government Scheme: मात्र 7 रुपये बचाने पे मिल सकती है 60 हजार रुपये पेंशन, Tax में भी छूट

New Yojana Update: मोदी सरकार ने देश के नागरिकों के लिए साल 2015 में अटल पेंशन योजना को शुरू किया था। इस योजना में निवेश आपकी आयु के अनुसार किया जाता है। इस योजना में नागरिक मात्र 7 रूपये बचाकर 60 साल पूरे होने के बाद हर महीने 5 हजार रूपये (यानी सालाना 60 हजार) पेंशन के रूप में प्राप्त कर सकता है। इस योजना में सदस्यों की संख्या 2.23 करोड़ से भी ज्यादा हो गयी है। इस योजना के माध्यम से आप अपना बुढ़ापा सुरक्षित कर सकते है और आपको बुढ़ापे में किसी पर निर्भर रहने की आवश्यकता भी नहीं पड़ेगी।

आपको बता दें इस योजना की शुरुवात अंसगठित क्षेत्र में काम कर रहे नागरिकों के लिए की गयी थी परन्तु अब देश का कोई भी नागरिक जिसकी उम्र 18 से 40 साल होगी वह इस योजना में निवेश करके अपने बुढ़ापे को सिक्योर कर सकता है। आवेदक चाहे तो बैंक या पोस्ट ऑफिस में से किसी में भी पैसे इन्वेस्ट कर सकता है।

जानिए क्या है अटल पेंशन योजना

इस स्कीम के तहत नागरिक अपनी उम्र के अनुसार इन्वेस्ट कर सकते है। योजना में आपको कम से कम 1000 रुपये से लेकर 5000 रूपये तक की पेंशन मिल सकती है। आवेदक को स्कीम का लाभ पाने के लिए रजिस्ट्रेशन करवाना बहुत जरुरी है। इसके लिए उनके पास खुद का सेविंग अकाउंट, आधार नंबर, और मोबाइल नंबर होना जरुरी है।

जानिए कैसे मिलेंगे 5000 रूपये मासिक पेंशन

जो भी नागरिक रोज के 7 रुपये जमा करते है यानी महीने के 210 रूपये जमा करेंगे उन्हें 60 साल बाद हर महीने 5000 रुपये की पेंशन मिलेंगी। इसी तरह अगर आप महीने के केवल 42 रुपए जमा करते है तो आपको 1000 रूपये, महीने के 84 रूपये जमा करने पर 2000 रूपये, 126 रूपये महीने के जमा करने पर 3000 रूपये और 168 रूपये महीने के निवेश करने पर 4000 रूपये निर्धारित समय में मिलने शुरू हो जायेंगे।

लाभार्थियों को मिलती है टैक्स में छूट

अटल पेंशन योजना में इन्वेस्ट करने वाले नागरिक को इनकम टैक्स सेक्शन 80C के तहत 1.5 लाख रूपये तक की छूट भी मिलेगी। इसमें टैक्सेबल इनकम को घटा दिया जाता है। इसके साथ ही कुछ चीजों में 50 हजार का टैक्स में छूट भी मिलता है यानी कुल मिलकर 2 लाख तक का डिडक्शन लाभार्थी को मिल जाता है।

जानिए 60 साल से पहले मृत्यु होने पर क्या है प्रावधान

अगर किसी लाभार्थी की मृत्यु 60 साल से पहले जो जाती है तो ऐसी स्थिति में उसकी पत्नी या पति योजना में पैसे जमा करना जारी रख सकते है और निर्धारित समय के बाद पेंशन पा सकते है। या पत्नी /पति जमा की राशि को एकमुश्त में निकाल सकती है। अगर पत्नी की भी मृत्यु हो जाती है तो यह राशि नॉमिनी को दे दी जाती है।

Leave a Comment