वेरिफिकेशन में मिल रहे फर्जी राशन कार्ड, ऐसे चेक करें आपका राशन कार्ड फर्जी तो नहीं

Fake Ration Card : आजकल देश में बहुत से राज्यों में फर्जी राशन कार्ड पकड़ में आ रहे हैं। बात करें पहाड़ी क्षेत्रों की तो इसी तरह पूरे उत्तराखंड में सबसे ज्यादा फ़र्ज़ी राशन कार्ड देहरादून में पाए गए है। उत्तराखंड में 6 लाख 46 हजार 337 राशन कार्ड फ़र्ज़ी पाए गए हैं। ये पिछले 8 सालों में पाए गए फर्जी राशन कार्ड हैं , जिन्हे रद्द कर दिया गया है। उत्तराखंड के बाद नाम आता है असम का , जहाँ फर्जी राशन कार्ड की संख्या लगभग 3 लाख 40 हजार 831 है , ये आंकड़े वर्ष 2014 से 2021 के बीच के हैं। अन्य पहाड़ी क्षेत्रों की तुलना में सबसे कम फर्जी राशन कार्ड मिजोरम में मिले जिनकी संख्या 4103 है।

Fake Ration Card

 राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत देश में निर्धारित योग्यता के अनुसार परिवारों के राशन कार्ड बनाये जाते हैं। जिस से उन्हें राशन कार्ड के अनुसार सरकार द्वारा लायी जाने वाली योजनाओ का लाभ मिलता है और हर माह निर्धारित राशन न्यूनतम दामों पर उपलब्ध कराया जाता है। हालाँकि राशन कार्ड स्कीम के तहत बहुत से फर्जीवाड़े की शिकायत सामने आ रही है। जो लोग राशन कार्ड बनाने के दायरे में नहीं आते वो भी इसे बनवा रहे हैं और इसके तहत मिलने वाली सुविधाओं का अनुचित लाभ ले रहे हैं। इसी समस्या को देखते हुए सरकार ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत सत्यापन अभियान चलाया जिससे ये फर्जी राशन कार्ड पकड़ में आये।

केंद्र सरकार ने राशन कार्ड लाभार्थियों के लिए किया बड़ा ऐलान, जानें विस्तार में

रद्द किये गए फर्जी राशन कार्ड की सूची

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो राष्ट्रीय स्तर पर ऐसे 4.28 करोड़ फर्जी राशन कार्ड रद्द किये गए हैं। जिन भी लोगों के राशन कार्ड सार्वजनिक वितरण प्रणाली नियंत्रण आदेश (टीपीडीएस) के तहत निर्धारित किये गए मानकों से बाहर होंगे उन्हें रद्द कर दिया गया है। साथ ही राशन कार्ड को आधार से लिंक करने, बायोमैट्रिक प्रणाली से राशन वितरण शुरू होने से भी फर्जी राशन कार्ड पकड़ में आए। नीचे दी गयी सूची में देख सकते हैं।

  • उत्तराखंड  –  6,46,337
  • असम    – 3,40,831
  • त्रिपुरा – 1,91,793
  • हिमाचल –  65,694
  • जम्मू कश्मीर – 85,859
  • मणिपुर – 61,198
  • मेघालय –  13,109
  • अरुणाचल – 5,626
  • मिजोरम – 4,103
  • नगालैंड – 45,347

ऐसे चेक करें आपका राशन कार्ड फर्जी तो नहीं

आप की जानकारी के लिए बता दें की सार्वजनिक वितरण प्रणाली नियंत्रण आदेश (टीपीडीएस) के तहत जो राशन कार्ड उपभोक्ता मानकों से बाहर होंगे उनका राशन कार्ड रद्द कर दिया जाएगा। इसलिए समय समय पर सत्यापन अभियान चलाया जाएगा। बता दें की यदि आप भी राशन कार्ड बनाने के लिए निर्धारित की गयी योग्यता को पूरा नहीं करते या उन मानकों पर खरे नहीं उतरते तो आप का राशन कार्ड भी फर्जी माना जाएगा और रद्द कर दिया जाएगा। आगे आप टीडीपीएस द्वारा निर्धारित किये गए मानकों को पढ़ सकते हैं। इन लोगों के राशन कार्ड नहीं बनेंगे। अन्यथा उन्हें रद्द किया जाएगा।

  1. परिवार का कोई भी सदस्य सरकारी नौकरी में है तो ऐसे में राशन कार्ड नहीं बनेगा। या रद्द कर दिया जाएगा।
  2. परिवार का कोई सदस्य टैक्स जमा न करता हो। वरना उनका कार्ड नहीं बनेगा।
  3. जिस परिवार के पास पांच या दस एकड़ जमीन है , उनका राशन कार्ड नहीं बनेगा।
  4. जिनके परिवार के किसी सदस्य के पास चार पहिया वाहन नहीं होना चाहिए।
  5. किसी परिवार का कोई सदस्य राज्य सरकार द्वारा पंजीकृत उद्यम का संचालक नहीं होना चाहिए।
  6. जिनके पास फ्रिज, एयरकंडीशन, वाशिंग मशीन हो वो भी राशन कार्ड सूची से बाहर होंगे।
  7. जिस परिवार के पास ट्रैक्टर या चार पहिए वाले कृषि उपकरण हों।

Leave a Comment