EPFO: कर्मचारियों का वेतन सीमा बढ़ाकर 21,000 रुपये, उच्च स्तरीय समिति ने रखा प्रस्ताव

EPFO: कर्मचारियों का वेतन सीमा बढ़ाकर 21,000 रुपये– देश के लाखों कर्मचारियों के लिए ईपीएफओ के माध्यम से एक खुशखबरी प्रदान की गयी है। यदि सब कुछ सही रहा तो कर्मचारियों के वेतन में वृद्धि हो सकती है। तक होम सैलरी भले ह ही कम हो लेकिन नौकरी पेशा श्रेणी के के लिए यह काफी लाभान्वित होने वाला है। सेवानिवृत निधि निकाय कर्मचारी भविष्य निधि संगठन EPFO पेंशन के लिए मौजूदा वेतन सीमा को 15000 रूपये से बढाकर 21000 रूपये करने पर विचार कर रहा है। ईपीएफओ के सदस्य पेंशन योग्य वेतन में मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह जानकारी मिली है की EPFO वेतन बढ़ाने के पक्ष में है।

पेंशन योग्य वेतन की सीमा पर आखिरी संसोधन वर्ष 2014 में किया गया। जिसमें सरकार ने PF वेतन सीमा 6500 रूपये से बढाकर 15 हजार रूपये कर दिया था।

EPFO salary increasment
EPFO – कर्मचारियों का वेतन सीमा बढ़ाकर 21,000 रुपये हुआ

EPFO: कर्मचारियों का वेतन सीमा बढ़ाकर 21,000 रुपये

कर्मचारियों के वेतन सीमा को बढ़ाकर जहा एक ओर नई सीमा से अधिक लोगो को दायरे में लाया जायेगा वही सरकार के लिए यह काफी बोझ भी बनेगा। फ़िलहाल अभी सरकार के द्वारा इसके लिए हरी झंडी नहीं दी गयी है। सरकार को बढ़ी हुई वेतन सीमा के लिए 6,750 करोड़ रूपये का खर्च वहन करना होगा। ईपीएस में वेतन सीए 15 हजार से बढाकर 21 हजार रूपये करने का विचार किया गया है।

कर्मियों की सैलरी में EPFO के बोर्ड के सदस्य इस सीमा को बढ़ाकर 21,000 करने के पक्ष में हैं लेकिन अभी इसको लेकर सरकार की मंजूरी जरुरी है। इसके लिए सरकार को अतरिक्त प्रावधान करना होगा जिसको लेकर 6 हजार 750 करोड़ रूपये खर्च किये जायेंगे।

लाभार्थी के मूल वेतन हेतु सरकार 1.16 फीसदी योगदान करती है। 15 हजार रूपये कमाने वालो के लिए ईपीएफ योजना आवश्यक है। 75 लाख कर्मचारियों को वेतन सीमा बढ़ाने से फायदा होगा। वर्ष 2014 में EPF की सीमा 15 हजार रूपये की गयी थी।

01-09-2014 के अनुसार योगदान की वर्तमान दरों के अनुसार एक मौजूदा ईपीएस सदस्य के मामले में जिसका पेंशन योगदान पूर्व में ईपीएस वेतन सीमा 6500 रूपये का भुगतान किया गया था। 1 सितम्बर 2014 से 15 हजार वेतन सीमा से ऊपर के योगदान में योगदान देता है।

Leave a Comment