Google Search: गलती से भी Google पर न सर्च करें ये चीज़ें, हो सकती है जेल

Google Search : दोस्तों जैसा की हम सभी जानते हैं की आज के समय में छोटी से छोटी जानकारी का पता गूगल जैसे बड़े प्लेटफार्म में हमे आसानी से मिल जाती है। यह दुनिया भर में एक बेहद ही पसंदीदा सर्च इंजन इंजन है जिसमे हर सवाल का जवाब हम ढूंढ सकते हैं, ऐसे में सभी गूगल यूज़र्स के लिए यह बात जानना भी आवश्यक हैं की कुछ चीजें ऐसी भी हैं जिन्हे आपको भूलकर भी गूगल में सर्च नहीं करनी होती है, क्योंकि यदि आप ऐसा करते हैं तो आप बड़ी मुसीबत में फंस सकते हैं या इससे आपको जेल भी हो सकती है।

गलती से भी Google पर न सर्च करें ये चीज़ें

यदि आप भी अपनी किसी सवाल के जवाब के लिए गूगल पर कोई चीज सर्च करते हैं, तो इसके लिए आपको जान लेना चाहिए की ऐसी कौन सी बातें हैं जिन्हे आपको गूगल पर सर्च करने से बचना चाहिए, जिससे आपको आगे चलकर किसी समस्या का सामना न करना पड़े।

फिल्म पाइरेसी

गूगल पर किसी भी फिल्म या सीरीज के ऑनलाइन रिलीज होने से पहले फिल्म के पाइरेटेड वर्जन को लीक करना या डाउनलोड करना एक गैर क़ानूनी अपराध है, इसके लिए आपको सिनेमेटोग्राफी एक्ट 1952 के तहत 3 साल की सजा और 10 लाख रूपये तक का जुर्माना भरना पड़ सकता है, जिससे बचने के लिए कभी भी ऐसे किसी भी पाइरेटेड फिल्म को शेयर या डाउनलोड ना करें।

चाइल्ड पोर्नोग्राफी

गूगल पर किसी चाइल्ड पोर्नोग्राफी या उससे जुड़े किसी भी कंटेंट को सर्च करना भी एक अपराध माना गया है, बच्चों की सुरक्षा को लेकर भारत सरकार द्वारा सख्त कानून बनाए गए हैं जिसके तहत यदि कोई व्यक्ति ऐसा करते हुए पकड़ा जाता हैं, तो उसे POCSO (प्रोटेक्शन ऑफ़ चिल्ड्रन फ्रॉम सेक्सुअल ओफ्फेंसेस) एक्ट 2012 के सेक्शन 14) के तहत चाइल्ड पोर्नोग्राफी को देखने या किसी से शेयर करते हैं तो उन्हें इसके लिए 5 से 7 साल की जेल की सजा हो सकती हैं, इसके लिए गूगल पर इससे जुड़े किसी भी कंटेंट को सर्च करने से बचना चाहिए।

गर्भपात से जुडी विडियो

यदि आप गूगल पर किसी गर्भपात से जुडी कोई वीडियो सर्च करते हैं तो इसे भी एक तरह से अपराध ही माना जाता है, क्योंकि देश में बिना डॉक्टर के मंजूरी के गर्भपात करवाना भी एक गैरकानूनी अपराध में शामिल किया जाता है, जिसके लिए गर्भपात करवाने के तरीके सर्च करने पर आपको जेल भी हो सकती है।

पीड़िता का नाम और फोटो

गूगल पर ऐसा कंटेंट जिसमे छेड़छाड़ या दुर्व्यवहार का शिकार हुई किसी पीड़िता का असली नाम, पता या फोटो अपलोड करना भी एक गैर कानूनी अपराध माना गया है, जिस पर सुप्रीम कोर्ट के नियमों के मुताबिक़ यदि कोई ऐसा करता है तो ऐसे में किसी पीड़िता से जुडी जानकारी को उजागर करने या उसे शेयर करने पर जेल की सजा भी सुनाई जा सकती है।

बम बनाने की विधि

यदि कोई गूगल पर बम बनाने की विधि सर्च करता है, तो ऐसी जानकारियाँ देश में आंतरिक सुरक्षा को लेकर आपराधिक मानी जाती है, जिसमे यदि कोई व्यक्ति बम बनाने से जुडी या इससे संबंधित कोई जानकारी सर्च करता है तो उसके सिस्टम की डिटेल व आईपी एड्रेस सीधा पुलिस व जाँच एजेंसियों तक पहुँच जाती है, इससे उन्हें जेल भी जाना पड़ सकता है, इसके लिए ऐसे किसी जानकारी को गूगल करने से आपको बचना चाहिए।

ऐसी ही और भी सरकारी व गैर सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment